प्लेटफॉर्म पर सो रही पत्नी को जगाकर चलती ट्रेन के आगे धकेला, महिला की मौत

मुंबई: एक पति ने रेलवे प्लेटफॉर्म पर सो रही अपनी पत्नी को उठाकर चलती ट्रेन के आगे फेंक दिया. जिसके कारण उसकी मौत हो गई. वहीं आरोपी पति मौके से फरार हो गया. ये वारदात मुंबई के वसई रेलवे स्टेशन की है. पुलिस के अनुसार घटना सोमवार सुबह 4 बजे की है. रेलवे स्टेशन में लगे CCTV में ये पूरी घटना कैद हुई है. वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे एक शख्स एक सो रही महिला को आधी नींद से उठा कर प्लेटफॉर्म के किनारे तक ले गया. उसके बाद ट्रेन के आगे उसे धक्का दे दिया. फिर आरोपी प्लेटफॉर्म पर सोए अपने दो बच्चों को उठाकर वहां से भाग गया. 

हालांकि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि आरोपी का महिला से क्या संबंध था. लेकिन माना जा रहा है कि वो उसका पति है. घटना पर वसई पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी, महिला और बच्चों के साथ रविवार दोपहर से प्लेटफॉर्म नम्बर पांच पर मौजूद था. सुबह 4 बजे के करीब शख्स ने सो रही महिला को उठाया और उसे अवध एक्सप्रेस के आगे धकेल दिया. जिसके कारण महिला की मौके पर ही मौत हो गई और आरोपी अपने बच्चों के साथ फरार हो गया. पुलिस ने ंमामले की जांच शुरू कर दी है और आरोपी की तलाश में लग गई है. आसपास के सीसीटीवी की मदद से ये पता लगाने में लगी है कि  आरोपी कहां भागा है. 

...

पाली में पटवारी व दलाल 30 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

जयपुर। राजस्थान के पाली में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की टीम ने एक पटवारी व उसके दलाल को 30 हजार रुपये की कथित रिश्वत लेते हुए मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया।

 

यहां जारी बयान के अनुसार, एसीबी की टीम ने पाली के हल्का पटवारी कमल किशोर व उसके दलाल चिकूराम सांसी (निजी व्यक्ति) को परिवादी से 30 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

 

परिवादी ने शिकायत देकर आरोप लगाया था कि एसडीएम अदालत के फैसले के तहत रिकॉर्ड दुरुस्तीकरण करने की एवज में पटवारी कमल किशोर अपने दलाल के माध्यम से 30 हजार रुपये की रिश्वत मांग रहा है।

 

एसीबी की टीम ने शिकायत का सत्यापन कर मंगलवार को जाल बिछाकर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

...

महात्मा गांधी पर अपमानजनक टिप्पणी मामला: अब ठाणे पुलिस ने कालीचरण महाराज को किया गिरफ्तार

ठाणे (महाराष्ट्र)। महाराष्ट्र के ठाणे शहर की पुलिस ने महात्मा गांधी के खिलाफ कथित रूप से अपमानजनक टिप्पणी करने के मामले में हिंदू धर्मगुरु कालीचरण महाराज को छत्तीसगढ़ से गिरफ्तार कर लिया है। अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।

 

नौपाड़ा थाने के एक अधिकारी ने बताया कि कालीचरण महाराज को बुधवार रात छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से गिरफ्तार किया गया, जहां वह ऐसे ही एक मामले में जेल में बंद था। उसे ट्रांजिट रिमांड पर ठाणे लाया जा रहा है और बृहस्पतिवार शाम तक स्थानीय अदालत में पेश किया जाएगा।

 

इससे पहले, पिछले साल 26 दिसंबर को छत्तीसगढ़ की राजधानी में आयोजित एक कार्यक्रम में महात्मा गांधी के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणियां करने के आरोप में रायपुर पुलिस ने कालीचरण महाराज को गिरफ्तार किया था। वहीं, 12 जनवरी को महाराष्ट्र के वर्धा की पुलिस ने उसे इसी तरह के एक मामले में गिरफ्तार किया था।

 

नौपाड़ा थाने के अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रपिता के खिलाफ कथित टिप्पणी को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) नेता एवं महाराष्ट्र के मंत्री जितेंद्र अव्हाड की शिकायत के आधार पर कालीचरण के खिलाफ दर्ज मामले में रायपुर से उसे गिरफ्तार किया गया।

 

इससे पहले, पुणे पुलिस ने भी 19 दिसंबर 2021 को वहां आयोजित ‘शिव प्रताप दिन’ कार्यक्रम में कथित रूप से भड़काऊ भाषण के मामले में कालीचरण महाराज को गिरफ्तार किया था। छत्रपति शिवाजी महाराज द्वारा मुगल सेनापति अफजल खान को मारे जाने की घटना की याद में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था।

...

साढ़े तीन साल के मासूम बच्चे से कुकर्म और हत्या के एक और मामले में सुरेंद्र कोली बरी

उत्तर प्रदेश। गाजियाबाद स्थित स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने नोएडा के निठारी कांड से जुड़े हत्या के एक और मामले में सुरेंद्र कोली को बरी कर दिया। कोली पर साढ़े तीन साल के मासूम को अगवा कर कुकर्म के बाद हत्या और शव नाले में छिपाने का आरोप था। अदालत ने पुख्ता साक्ष्य के अभाव में सुरेंद्र कोली को दोषमुक्त ठहराया।

 

सीबीआई के विशेष न्यायाधीश राकेश त्रिपाठी की अदालत में गुरुवार को निठारी कांड के 15वें मामले में अंतिम सुनवाई हुई। कोली पर नोएडा के सेक्टर 31 के जलकल कंपाउंड के बाहर से 23 फरवरी 2006 की शाम साढ़े तीन साल के बच्चे के अपहरण कर हत्या करने का आरोप था। अगले दिन बच्चे के पिता ने नोएडा के सेक्टर-20 थाने में अज्ञात के खिलाफ बेटे के अपहरण का मुकदमा कराया था। पुलिस ने छानबीन शुरू की। उस दौरान निठारी गांव से लगातार बच्चे-बच्चियों के गायब होने के मामले सामने आए थे।

 

पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर 29 दिसंबर 2006 को सेक्टर 31 के कोठी नंबर डी-पांच के नौकर सुरेंद्र कोली को गिरफ्तार कर लिया। उसके बाद में कोठी मालिक मोनिंदर सिंह पंढेर को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। सभी केसों को सीबीआई के हवाले कर दिया गया था। पुलिस ने सुरेंद्र कोली को गिरफ्तार कर गायब बच्चों के बारे में पूछताछ की तो उसने काफी राज उगले। इसी आधार पर कोठी के सामने के नालों में तलाशी ली तो कई के कंकाल, कपड़े, बालों के गुच्छे और जूते-चप्पल बरामद हुए।

 

पुलिस के बुलावे पर बच्चे के पिता ने बरामद एक चप्पल से बेटे की हत्या होने की बात कही। सीबीआई ने अपहरण कर कुकर्म के बाद हत्या कर शव छिपाने का मुकदमा कर विवेचना शुरू की थी। साल 2009 में दाखिल आरोप पत्र में सीबीआई ने सिर्फ सुरेंद्र कोली को सभी मामलों में आरोपी बनाकर आरोप पत्र पेश किया था। इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से कुल 32 गवाह पेश किए गए। विशेष अदालत ने गुरुवार के कोली के 15 वें मामले में अगवा कर हत्या, कुकर्म और साक्ष्य छिपाने के सभी आरोपों से बरी करने के आदेश दिए।

...

पति ने पत्नी को होटल में मिलने बुलाकर मौत के घाट उतारा

गाजियाबाद। गाजियाबाद के खोड़ा इलाके के एक होटल में एक विवाहित महिला की हत्या करने का मामला सामने आया है। कथित तौर पर हत्या का आरोप मृतका के पति पर लगाया जा रहा है। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

 

जानकारी के अनुसार, हापुड़ जनपद के बहादुरगढ़ थाना क्षेत्र में रहने वाला पेट्रोल पंप कर्मचारी अर्जुन ने खोड़ा में मीडिया हाउस के पास स्थित दर्शन होटल में 2 दिन पहले कमरा किराये पर लिया था। अर्जुन का अपनी पत्नी के साथ 1 साल से विवाद चल रहा था। सोमवार सुबह उसने अपनी पत्नी को बात करने के लिए होटल के कमरे में बुलाया था।

 

यहां पर किसी बात को लेकर उन दोनों के बीच फिर विवाद हो गया। इस दौरान गुस्से में आए अर्जुन ने सुबह लगभग 10 बजे चाकुओं से गोदकर पत्नी की हत्या कर दी। वारदात के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। होटल स्टाफ द्वारा पुलिस को वारदात की सूचना दी गई।

 

पुलिस ने शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस और फॉरेंसिक टीम कमरे से सबूत जुटाने के साथ ही होटल में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है।पुलिस की टीमें आरोपी को पकड़ने के लिए दबिश दे रही हैं। 

 

...

घर में प्रिंटर से छाप रहे थे एकदम असली जैसे नकली नोट

गाजियाबाद। गाजियाबाद में स्वाट टीम ने नकली नोट बनाने वाले गैंग का खुलासा करते हुए मास्टरमाइंड समेत सात लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार, आरोपी नगर कोतवाली क्षेत्र के इस्लामनगर से नकली नोटों का धंधा चला रहे थे। इनके कब्जे से 6.59 लाख रुपये के नकली नोट बरामद किए गए हैं। इनमें 100 से लेकर 2000 के नोट शामिल हैं। गैंग के मास्टरमाइंड ने नकली नोट बनाने का तरीका यू-ट्यूब से सीखा था और करीब चार महीने में वह नकली नोट बनाने का एक्सपर्ट हो गया था। पुलिस का कहना है कि देश की अन्य एजेंसियों को भी सूचना दे दी गई है।

 

एएसपी आकाश पटेल ने बताया कि स्वाट टीम को इस्लामनगर निवासी यूनुस के मकान में नकली नोट बनाए जाने की सूचना मिली थी। छापेमारी की गई तो मकान से 6.59 लाख के नकली नोट, कंप्यूटर, स्कैनर, प्रिंटर और कागज के बंडल बरामद हुए। मौके से यूनुस के अलावा नगर कोतवाली के कालकागढ़ी निवासी अमन, मोती मस्जिद के पीछे कैलाभट्टा निवासी रहबर व सोनू उर्फ गंजा, चमन कॉलोनी निवासी आजाद, लालकुआं स्थित राज कंपाउंड निवासी आलम उर्फ आशीष तथा विजयनगर के पुराना कैलाश नगर निवासी फुरकान अब्बासी को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस के अनुसार, आठवीं पास आजाद गिरोह का मास्टरमाइंड है। आजाद, सोनू और यूनुस नकली नोट बनाने का काम करते थे, जबकि बाकी आरोपी नकली नोटों को बाजार में चलाने का काम करते थे। 

 

पुलिस का कहना है कि नकली नोट चलाने के लिए आरोपी बाजारों के छोटे दुकानदारों से संपर्क करते थे। पैठ बाजार में ठेली-पटरी वाले दुकानदार इनके निशाने पर रहते थे। आरोपी रहबर का भाई घंटाघर मार्केट में चूड़ियों की दुकान करता है। इस दुकान के जरिये ग्राहकों को बड़ी तादाद में नकली नोट खपाए जाते थे। रहबर का भाई असली नोटों के बीच में नकली नोट रखकर ग्राहकों को थमा देता था।

 

पूछताछ में मास्टरमाइंड आजाद ने बताया कि कुछ समय पहले उसने पेट्रोल पंप पर एक व्यक्ति से रुपये खुले करवाए थे। उसने उसे नकली नोट थमा दिए। पता लगने पर उसने बाजार में वो नोट चलाने कोशिश की तो नकली नोट चल गए, जिसके बाद उसके दिमाग में नकली नोट बनाने का विचार आया। एएसपी सदर ने बताया कि मई 2021 में उसने यू-ट्यूब से नकली नोट बनाने का तरीका जाना। करीब चार महीने की ट्रेनिंग के बाद वह नकली नोट बनाने का एक्सपर्ट हो गया। इसके बाद उसने अन्य साथियों के साथ मिवकर नकली नोट बनाना और उन्हें बाजार में चलाना शुरू कर दिया।

 

एएसपी ने बताया कि आरोपी नकली नोट बनाने में मोल्ड कागज का इस्तेमाल करते थे। इसके अलावा नोट छपने के बाद आरोपी उस पर हरे रंग की बर्थ-डे टेप काटकर चिपका देते थे, ताकि हरी लाइन स्पष्ट दिखाई दे और लोग नोट को असली समझ लें। आरोपी नकली नोट इस तरह तैयार करते थे कि असली नोटों के बीच में कोई भी व्यक्ति आसानी से उसे पकड़ न सके। एएसपी का कहना है कि अभी तक किसी बाहरी संगठन या विदेशी ताकत से आरोपियों का कोई लिंक सामने नहीं आया है। फिर भी देश की एजेंसियों को सूचना दे दी गई है।

 

एएसपी ने बताया कि आरोपी एक हजार के बदले तीन हजार रुपये के नकली नोट देते थे। मुखबिर से सूचना मिलने पर स्वाट टीम का एक सदस्य नोटों की सौदाबाजी करने भेजा गया था। आरोपियों ने कहा था कि डेढ़ लाख रुपये के बदले साढ़े चार लाख रुपये के नकली नोट दे दिए जाएंगे। सूचना पुख्ता होने के बाद मौके पर छापेमारी की गई थी। एएसपी का कहना है कि आरोपी बाजार में करीब 12 लाख रुपये खपा चुके हैं।

...

चेन्नई में अपमान से आहत होकर कॉलेज के छात्र ने की आत्महत्या

चेन्नई : चेन्नई के प्रेसीडेंसी कॉलेज में एमए के प्रथम वर्ष के छात्र एम. कुमार ने अपने दोस्तों और परिवार को एक ऑडियो संदेश भेजने के बाद डबल डेकर ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। संदेश में कहा गया कि वह पचियप्पा के कॉलेज के छात्रों द्वारा भिक्षा के रूप में दिया गया जीवन नहीं जीना चाहता था, जो उसका अपमान करते थे।


पुलिस ने कहा कि ट्रेन और बस से यात्रा के दौरान कॉलेजों के छात्रों के बीच नियमित रूप से झड़पें हुईं और हाल ही में, प्रेसीडेंसी कॉलेज, चेन्नई के छात्रों ने अवादी और हिंदू कॉलेज रेलवे स्टेशनों के पास एक रेल रोको का मंचन किया, क्योंकि रेलवे सुरक्षा बल के जवानों ने एक छात्र को ट्रेन में केक काटकर उसका जन्मदिन मनाने के लिए एक यात्री द्वारा चेन खींचने के बाद हिरासत में ले लिया था।


पुलिस के अनुसार, 21 वर्षीय कुमार ने अपने परिवार और दोस्तों को एक ऑडियो संदेश भेजा था, जिसमें कहा गया था कि वह पचियप्पा कॉलेज, चेन्नई के छात्रों द्वारा किए गए अपमान को सहन करने में असमर्थ है और वह प्रतिद्वंद्वी छात्रों द्वारा भिक्षा के रूप में दिया गया जीवन नहीं जीना चाहता था।


उन्होंने अपनी मां और दोस्तों से माफी मांगी और ऑडियो क्लिप एक ट्रेन की गड़गड़ाहट के साथ खत्म हो गई।


मंगलवार दोपहर कक्षाओं में भाग लेकर घर लौटा कुमार ने अपनी मां से कहा कि उसे एक शादी में शामिल होना है और देर से घर वापस आएगा।


शुरूआत में कुमार के परिवार और दोस्तों ने ऑडियो क्लिप को खारिज कर दिया, लेकिन जब वह बुधवार सुबह तक घर नहीं लौटा और तलाशी ली गई, तो पुलिस को उसका शव रेलवे ट्रैक पर मिला।


मामले की जांच कर रही थिरुनिनरावुर पुलिस ने कहा कि कुमार ने थिरुनिनरावुर रेलवे स्टेशन से कुछ मीटर की दूरी पर रात करीब 8.40 बजे डबल डेकर ट्रेन के सामने छलांग लगा दी।


पुलिस ने पचियप्पा के कॉलेज के कुछ छात्रों को हिरासत में लिया है और कुमार की मौत के कारणों की जांच कर रही है। 





...

उत्तराखंड रक्षा अभियान की ओवैसी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग

देहरादून : उत्तराखंड रक्षा अभियान के संस्थापक दर्शन भारती ने एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ कथित तौर पर हिंदू धर्म के खिलाफ लोगों को भड़काने और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खुली धमकी देने के लिए देहरादून के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) जन्मेजय खंडूरी को शिकायत की है।


वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) को बुधवार को सौंपे गए एक पत्र में भारती ने हैदराबाद के सांसद पर लोगों को हिंदू धर्म के खिलाफ भड़काने और उसे मानने वालों को धमकाने का आरोप लगाया। उन्होंने पत्र में कहा, ‘‘उन्होंने (ओवैसी) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खुली धमकी दी है और उनकी जान को खतरे में डाला है।’’


भारती ने उस वीडियो क्लिप का उल्लेख किया जो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। इस वीडियो में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) अध्यक्ष ओवैसी कथित तौर पर यह कहते सुने गए कि जब योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री नहीं रहेंगे और अपने मठ या कहीं और होंगे... तो उन्हें कौन बचाएगा।


भारती ने कहा कि एआईएमआईएम के नेता देश में सांप्रदायिक सद्भाव के लिए खतरा हैं। ओवैसी के खिलाफ एक मामला दर्ज किया जाना चाहिए और उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।


उत्तराखंड रक्षा अभियान वही संगठन है जिसने वेब सीरीज ‘तांडव’ के निर्माताओं के खिलाफ भी शिकायत की थी और दारुल उलूम देवबंद के उन दावों पर भी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी, जिसमें बद्रीनाथ को बदरुद्दीन की मजार बताया गया था।





...

यूपी पुलिस ने आवारा पशुओं को स्कूल में बंद करने के आरोप में 10 लोगों को किया गिरफ्तार

शाहजहांपुर (उत्तर प्रदेश) : उत्तर प्रदेश के एक प्राथमिक विद्यालय के अंदर आवारा पशुओं के झुंड को बंद करने के आरोप में दस लोगों को गिरफ्तार किया गया और बाद में रिहा कर दिया गया। किसानों ने बुधवार को विरोध प्रदर्शन किया और पुलिस को मवेशियों को छोड़ने से रोकने की कोशिश की। घटना लेहरावर गांव की है, जो जलालाबाद थाना क्षेत्र के अंतर्गत आता है। मवेशियों की खोज स्कूल के शिक्षकों ने की, जिन्होंने पुलिस को बुलाया।


जलालाबाद के थाना प्रभारी कमल सिंह अपनी टीम के साथ स्कूल पहुंचे और स्कूल परिसर के अंदर 30 आवारा मवेशियों को देखा। उनकी टीम ने गेट खोलने का प्रयास किया तो किसानों ने उन्हें रोकने की कोशिश की और एक वरिष्ठ अधिकारी से आश्वासन की मांग की। इसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया और बाद में चेतावनी देकर छोड़ दिया।


एक महिला जो मवेशियों की समस्या का भी विरोध कर रही थी, उसने कहा, हम बस चाहते हैं कि आवारा मवेशियों को हमारे गांव से बाहर रखा जाए क्योंकि वे हमारी फसलों को नष्ट कर रहे हैं, स्थानीय निवासियों पर हमला कर रहे हैं और हमारे जीवन को परेशान कर रहे हैं। हम उन्हें नहीं खिला सकते हैं, सरकार को उनके लिए एक आश्रय गृह स्थापित करना चाहिए। हम इस मुद्दे को जल्द से जल्द सुलझाना चाहते हैं।


मीडिया को संबोधित करते हुए, कमल सिंह ने कहा, स्कूल लगभग एक घंटे की देरी के बाद खोला गया और उसके बाद अधिकांश छात्र कक्षाओं में उपस्थित हुए। हमने ग्राम पंचायत अधिकारियों से आवारा मवेशियों को किसी भी नजदीकी गौशाला में स्थानांतरित करने का भी अनुरोध किया है।





...

पत्नी के प्रेमी ने साथियों संग की थी श्रीराम की हत्या, टेस्‍ट ड्राइव के बहाने लखनऊ से क‍िया था अपहरण

लखनऊ : लोहिया संस्थान से अगवा कर्मचारी श्रीराम की हत्या कर दी गई। हत्या की साजिश के आरोप में पुलिस ने श्रीराम की पत्नी संगीता व उसके प्रेमी समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। एसीपी विभूतिखंड अनूप सिंह के मुताबिक संगीता ने अपने प्रेमी अवशिष्ट कुमार से पति को रास्ते से हटाने के लिए कहा था। इसके बाद अवशिष्ट ने अपने साथियों की मदद से घटना को अंजाम दिया।


पुलिस के मुताबिक संगीता का राजकीय पालीटेक्निक जहांगीराबाद में प्रोफेसर अवशिष्ट से पहले से प्रेम प्रसंग था। दोनों अक्सर छिपकर मिलते थे। इस बात की जानकारी श्रीराम को हो गई थी। श्रीराम ने संगीता को इसके लिए टोका था और आए दिन दोनों में विवाद होता था। पति के रोकटोक से परेशान संगीता ने अवशिष्ट से श्रीराम को रास्ते से हटाने के लिए कहा था। इसके बाद अवशिष्ट ने पालीटेक्निक कालेज के पास मछली पालन करने वाले दो परिचितों सुमैया नगर कोतवाली बाराबंकी निवासी सुशील और संतोष से संपर्क किया।


अवशिष्ट ने दोनों को श्रीराम की हत्या के लिए तैयार कर लिया। साजिश के तहत सुशील और संतोष श्रीराम के पास उनकी गाड़ी का खरीदार बनकर पहुंचे। दोनों ने टेस्ट ड्राइव की बात कही और साथ में निकल गए। बीबीडी के पास दोनों ने साजिश के तहत अपनी परिचित महिला कुंती को गाड़ी में बिठा लिया। आरोपितों ने उसे परिवार का सदस्य बताकर गाड़ी पसंद करने के लिए बुलाने की बात कही। श्रीराम को उनकी बातों पर यकीन हो गया। इसके बाद आरोपित उन्हें गाड़ी में घुमाते रहे। अंधेरा होने पर किसान पथ कुर्सी राेड लेकर गए।


पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि इस दौरान अवशिष्ट अपनी कार से पीछे पीछे चल रहा था। नहर के किनारे आरोपितों ने गाड़ी रोकी। तभी अवशिष्ट भी वहां आ गया। इससे पहले कि श्रीराम कुछ समझते सुशील ने तमंचे से उनके सीने में गोली मार दी। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि शव को ठिकाने लगाने के लिए उसे इंदिरा नहर में फेंक दिया था। पुलिस ने इंदिरा नहर में गोताखोरों की मदद से शव की खोजबीन की, लेकिन सफलता नहीं मिली। पुलिस का कहना है कि शव की तलाश की जा रही है। हत्या में इस्तेमाल तमंचा पुलिस ने मटियारी से बरामद कर लिया है।




...

सी-टीईटी परीक्षा दिलाने वाले सॉल्वर गैंग का पर्दाफाश, पांच महिला समेत 18 गिरफ्तार

नोएडा : थाना सेक्टर 58 पुलिस ने सॉल्वर गैंग का पर्दाफाश करते हुए पांच महिलाओं समेत 18 लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में एक दिल्ली पुलिस का एएसआई और सीआरपीएफ का सिपाही है। पुलिस का दावा है कि आरोपी  वीरवार को आयोजित की गई केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सी-टीईटी) में लाखों रुपया लेकर असली अभ्यर्थियों की जगह सॉल्वर को बैठाकर परीक्षा दिलाने पहुंचे थे। पांचों महिला अभ्यर्थी हैं जो कुरुक्षेत्र, मथुरा और मुरादाबाद में परीक्षा देने के लिए आई थीं। इन सभी को सेक्टर 60 स्थित ओयो होटल से वीरवार को गिरफ्तार किया गया है। गैंग का सरगना अधिवक्ता समेत तीन लोग फरार हैं। 


नोएडा जोन के डीसीपी राजेश एस ने बताया कि वीरवार तडक़े जोन में आधी रात के बाद एक औचक चैकिंग का अभियान शुरू किया गया था। इसी अभियान के तहत करीब साढ़े तीन बजे सेक्टर-60 चौकी इंचार्ज को सेक्टर-60 सांई मंदिर के पास एक कार को खड़ी पाया तो उसमें सवार युवकों ने बताया कि वह परिजनों को पेपर दिलाने आए हैं। इस पर सख्ती से पूछताछ की तो सेक्टर-60 स्थित एक ओयो होटल में एक ही कमरे में 10-12 लोग मिले। जो कुछ दस्तावेज से पढाई करा रहे थे। इनमें पांच महिलाएं भी शामिल थीं जो परीक्षा देने के लिए आई थी। पुलिस की दबिश की सूचना पर सेक्टर-71 स्थित ओयो होटल में ठहरे गिरोह के सरगना सोनीपत निवासी विनय दहिया अपने साथी अंकित और रवि के साथ पेनड्राइव को लेकर फरार हो गए। एसी पेन ड्राइव में आउट पेपर था। घटना की सूचना मिलने पर एसीपी रजनीश वर्मा मौके पर पहुंचे और आरोपियों से पूछताछ की। 

 

तीन से पांच लाख रुपए लेकर कराते हैं परीक्षा

आरोपियों ने कबूल किया है कि वह सीटीईटी का पेपर आउट कराने वाले विनय, रवि और अंकित के लिए काम करते हैं। तीनों पेपर आउट कराकर पेनड्राइव में लाते हैं। उसी को लेपटॉप के माध्यम से अभ्यर्थियों को पेपर रटाते हैं और दो घंटे का तीन से पांच लाख रुपये ले लेते हैं। आरोपी पिछले करीब तीन वर्षों से यह काम कर रहे थे। आरोपियों की पहचान  दिल्ली के न्यू ललितपुर थाना जगतपुरी निवासी राजेश(साल्वर), राजस्थान के झुनझुन नवासी भवानी शर्मा(सीआरपीएफ का सेवानिवृत सिपाही) हरियाणा के सोनीपत निवासी विकास(मीडिएटर-दिल्ली पुलिस एएसआई-2006 बैच ), राजस्थान भरतपुर निवासी शिवराम सिंह (मीडिएटर- सीआरपीएफ 2007 बैच), हाथरस निवासी रवि (मीडिएटर), पलवल निवासी राम पेपर वाले लोगों की तलाश करने का काम करता था। संभल निवासी सुनी (मीडिएटर), संभल निवासी अनिल कुमार (मीडिएटर),दिल्ली के पालम निवासी अमित (मीडिएटर), गुरुग्राम निवासी ब्रजेश (मीडिएटर), हाथरस निवासी प्रमोद कुमार (मीडिएटर) व हाथरस निवासी गजेंद्र सिंह (मीडिएटर) का काम करते थे। 


सी-टीईटी परीक्षा दिलाने के साथ पेपर लीक का शक, जांच हुई तेज 

नोएडा जोन एसीपी रजनीश वर्मा ने बताया कि फरार आरोपी गैंग का सरगना विनय दहिया निवासी सोनीपत, रवि और निवासी सोनीपत अभी फरार चल रहे हैं। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है। विनय का एक बड़ा नेटवर्क है वह पिछले करीब तीन वर्षों से यह काम कर रहा है। गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में विनय और उसके नेटवर्क के बारे में बहुत कुछ बताया है। जिसे जांच में शामिल किया गया है। आरोपियों द्वारा अब तक दर्जनों अभ्यर्थियों को पास कराकर नौकरी लगवाई गई है। शक है कि आरोपी सी-टीईटी परीक्षा दिलाने के साथ पेपर लीक भी कराने वाले थे। एसीपी ने बताया कि आरोपी के पास से एसएससी जीडी, इलाहाबाद हाई कोर्ट रिकरूट मैन परीक्षा (ए0आर0ओ0), इंडियन कोस्ट गार्ड, एचएसएससी, सेन्ट्रल एयरमैन सेलेक्शन बोर्ड, यूपीएसईएसएसबी टीजीटी परीक्षा, आदि आदि प्रतियोगी परीक्षाओ के एडमिट कार्ड मिले है पूरी सम्भावनाा है कि इन परीक्षाओ में अपने सॉल्वर बैठाते है, जिसकी जांच की जा रही है। इनके कब्जे से अब तक कब्जे से तीन लैपटाप, 20 मोबाइल फोन, एक प्रिन्टर एचपी लेजर जैट, पांच चार पहिया वाहन, दो घडिय़ां, 36 हजार रुपए की नकदी और 50 प्रवेश पत्र विभिन्न परीक्षा केन्द्र के बरामद हुए हैं। 


आरोपियों ने पेपर आउट करके महिलाओं को पढ़ाने के लिए बुलाया था नोएडा 

गिरोह के सदस्यों ने सी टीईटी का पेपर आउट करके उनको पढ़ाने के लिए नोएडा बुलाया था। पेपर देने के लिए यूपी के संभल निवासी संध्या व मथुरा निवासी शैली, हरियाणा सोनीपत निवासी सुदेश, गुरुग्राम निवासी शर्मिला व पूनम अभ्यर्थियों को नोएडा बुलाया गया था।



...

तीन साल की मासूम की हत्या का मामला, मां ने सास और देवर पर जताया शक

नोएडा : थाना फेस-2 क्षेत्र में पुलिस ने तीन साल की बच्ची को अगवा कर हत्या करने का मामला दर्ज किया है। बच्ची की मां ने अपनी सास और देवर पर हत्या की आशंका जाहिर करते हुए पुलिस में शिकायत दी है।


थाना फेस-2 अध्यक्ष सुजीत उपाध्याय ने बताया कि याकूबपुर निवासी नीरज ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि 24 दिसंबर से उनकी तीन वर्षीय पोती माही लापता है। उन्होंने बताया कि मंगलवार को बच्ची के परिजन ने पुलिस को सूचना दी कि उन्हें शक है कि बच्ची का शव इलाहाबास गांव में एक निर्माणाधीन भवन में हो सकता है।


मौके पर पहुंची पुलिस ने जब पड़ताल की तो वहां पर बच्ची का शव पड़ा मिला। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई कि बच्ची की मौत चोट लगने से हुई है।


उन्होंने बताया कि इस मामले का खुलासा करने के लिए पुलिस की चार टीमें बनाई गई है। पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की है। उन्होंने यह भी बताया कि मंगलवार रात को बच्ची की मां सुमन ने पुलिस में शिकायत दी कि उसे शक है कि बच्ची की हत्या में उसकी सास नीरज और देवर का हाथ है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने अपहरण के मामले को हत्या की धारा में जोड़ लिया है। थाना अध्यक्ष ने बताया कि जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि मृतका का पिता सचिन हत्या के आरोप में जेल में बंद है। उसकी मां सुमन घर छोड़कर चली गई थी और वह जनपद बदायूं स्थित अपने मायके में रह रही है। माही अपनी दादी के पास रह रही थी। बच्ची को अपने पास रखने के लिए दादी और मां के बीच अदालत में मामला चल रहा है।


पुलिस को शक है कि बच्ची की हत्या में करीबियों का हाथ है।



...

दिल्ली पुलिस ने सागरपुर इलाके में कार में महिला को लिफ्ट देकर सामूहिक दुष्कर्म करने के दो आरोपियों को दबोचा

नई दिल्ली : सागरपुर इलाके में लिफ्ट देने के बहाने महिला का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म करने के दो आरोपियों को पुलिस ने दबोच लिया है। वारदात में शामिल कार को भी जब्त कर लिया गया है। पुलिस ने दो दिन पहले ही पीड़िता की शिकायत पर हरि नगर थाने में मामला दर्ज कर जांच आरंभ की थी। पुलिस के अनुसार, 32 वर्षीय पीड़िता सागरपुर इलाके में अपने पति के साथ रहती है। पीड़िता का रविवार देररात अपने पति से किसी बात पर विवाद हो गया। इसपर पति से नाराज होकर वह घर से निकल गई। वह उत्तम नगर अपने एक रिश्तेदार के घर जाना चाह रही थी तभी रास्ते में एक कार उसके पास आकर रुकी। चालक ने उसे लिफ्ट की पेशकश की तो पीड़िता ने लिफ्ट ले ली। बाद में कार सवार दोनों आरोपियों ने उसे जबरन शराब पिलाई और सामूहिक दुष्कर्म किया। इसके बाद तड़के करीब साढ़े चार बजे निहाल विहार इलाके में निलोठी गांव के पास उतारकर फरार हो गए। पीड़िता ने इसकी सूचना पुलिस को दी, जिसके बाद एफआईआर दर्ज कर जांच आरंभ की गई थी।





...

आप विधायक की मुहर पर बन रहे फर्जी आधार कार्ड, तीन गिरफ्तार

गाजियाबाद :  थाना लोनी बार्डर पुलिस ने आम आदमी पार्टी के विधायक हाजी यूनुस की मुहर पर दिल्ली के पते का फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इनसे लैपटाप, फिगर व रेटिना स्कैनिग के साथ इनके क्रास मैच की डिवाइस, वेब कैमरा, पांच मोहर, पहचान पत्र और आधार कार्ड के भरे हुए प्रारूप, भरण-पोषण भत्ता के भरे हुए प्रारूप, आंखों के रेटिना की जगह इस्तेमाल किया जाने वाले फोटो, तीन मोबाइल और 19.50 हजार रुपये मिले हैं। महज दो हजार रुपये के लिए देश की सुरक्षा से खिलवाड़ : एसपी ग्रामीण डा.ईरज राजा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित लोनी बार्डर के आर्यनगर निवासी आसिफ उर्फ बिट्टू, उसका भाई खालिद और दिल्ली के पुराना मुस्तफाबाद निवासी जावेद हैं। बिट्टू आरडब्ल्यूए का अध्यक्ष है और जावेद ने पूर्व में दिल्ली के कनाट प्लेस स्थित केनरा बैंक में कामन सर्विस सेंटर पर तीन साल तक आधार कार्ड बनाए थे।


 यह केंद्र खत्म होने पर उसकी आइडी बंद कर दी गई थी। जावेद का साला शहजाद अभी भी आधार कार्ड बनाता है। कार्ड बनाने के लिए रबर के अंगूठे पर शहजाद के अंगूठे के निशान छापकर आंखों को फोकस करते हुए हाई डेफिनेशन वाली कई फोटो निकाल लीं। तीनों लंबे समय से इन्हीं का प्रयोग कर फर्जी आधार कार्ड बना रहे थे। हैरानी की बात यह कि हर कार्ड के लिए सिर्फ दो हजार रुपये लेकर देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहे थे। मुहर लगाकर तैयार करते एड्रेस प्रूफ : एसआइ सौरव कुमार ने बताया कि यह गिरोह मांग पर पूरा सेटअप घर या कार्यालय में ले जाकर आधार कार्ड बनाता था। आर्यनगर आरडब्ल्यूए का अध्यक्ष आसिफ अक्सर अपने घर पर लोगों के आधार कार्ड बनवाता था। पुलिस के मुताबिक बिहार, बंगाल व उत्तर प्रदेश में बड़ी संख्या में रोजगार के लिए आए लोग लोनी बार्डर क्षेत्र में किराये के मकान में रहते हैं। मुस्तफाबाद के विधायक हाजी यूनुस के लेटरहेड पर इन लोगों के दिल्ली में किसी मकान का पता डालकर मुहर लगा देते थे। उन लोगों के गांव के पहचान पत्र और इस लेटरहेड के आधार पर दिल्ली का निवासी दिखाते हुए आधार कार्ड बना देते थे। दिल्ली में रहने वाले ऐसे ही लोगों के गाजियाबाद के पते के आधार कार्ड बनाने को आसिफ अपनी आरडब्ल्यूए के लेटरहेड व मुहर का इस्तेमाल करता था। बाक्स..


विधायक की भूमिका की जांच रही पुलिस इस मामले में पुलिस ने अभी तक चार लोगों को ही आरोपित बनाया है। लेटरहेड और मुहर का प्रयोग होने को लेकर पुलिस विधायक हाजी यूनुस, प्रधानाचार्य व बाकी दोनों मुहर वाले लोगों से पूछताछ करेगी। गाजियाबाद पुलिस ने इसकी सूचना एटीएस समेत खुफिया एजेंसियों को दे दी है। ये टीम डासना जेल जाकर इन आरोपितों और बाकी लोगों से पूछताछ करेंगी।







...

दिल्ली बिजली चोरी मामला : गेस्ट हाउस मालिकों को तीन साल की सजा

नई दिल्ली :  तीस हजारी की एक विशेष अदालत ने बिजली चोरी के एक मामले में दरियागंज के एक गेस्ट हाउस के दो मालिकों को तीन साल कठोर कारावास की सजा सुनाते हुए उन पर 33 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। बिजली आपूर्ति कंपनी बीएसईएस के एक प्रवक्ता ने बुधवार को यह जानकारी दी।


बीएसईएस प्रवक्ता के मुताबिक, बिजली चोरी के ही एक अन्य मामले में अदालत ने दरियागंज के एक होटल मालिक पर 23.70 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। जुर्माना नहीं चुकाने पर उसे छह महीने कारावास की सजा हो सकती है।


प्रवक्ता के मुताबिक मध्य दिल्ली के दरियागंज में एक इमारत में बिना मीटर के 26 किलोवाट बिजली की सीधी चोरी हो रही थी। निरीक्षण में पता चला कि परिसर में 30 कमरों का गेस्ट हाउस चलाया जा रहा था।


इसके बाद, डीईआरसी (दिल्ली विद्युत नियामक आयोग) के दिशा-निर्देशों के अनुसार बिजली चोरी का बिल पेश किया गया। जब गेस्ट हाउस मालिकों ने तय समय सीमा के भीतर जुर्माने का भुगतान नहीं किया, तो इसको लेकर जामा मस्जिद पुलिस थाने में एक प्राथमिकी दर्ज की गयी। इस महीने की शुरुआत में ही तीस हजारी की विशेष अदालत ने गेस्ट हाउस के दो मालिकों को दोषी करार देते हुए उन्हें तीन साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई थी और उन पर 33 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था।





...

अदालत ने यातायात पुलिसकर्मी को कार से घसीटने वाले व्यक्ति को दोषी करार दिया

नई दिल्ली : दिल्ली की एक अदालत ने एक व्यक्ति को गलत तरीके से कार चलाने के दौरान मोबाइल फोन पर बात करने और जांच के लिए रोके जाने का इशारा करने पर यातायात पुलिसकर्मी को कार के बोनट पर घसीटने का दोषी करार दिया है।


प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने आरोपी पुष्प अग्रवाल को गलत तरीके से वाहन चलाने और लोकसेवक को चोट पहुंचाने तथा कर्तव्य निभाने में बाधा पहुंचाने का दोषी करार दिया।


हालांकि, न्यायाधीश ने कहा कि वाहन को खतरनाक और अंधाधुंध तरीके से चलाने का अपराध किया गया लेकिन ऐसा नहीं कहा जा सकता कि अग्रवाल का इरादा कांस्टेबल रूपेश कुमार को जानलेवा चोट पहुंचाने का था। इसके साथ ही अदालत ने अग्रवाल को हत्या का प्रयास के आरोप से बरी कर दिया।


सुनवाई के दौरान अग्रवाल ने दावा किया था कि उसने इसलिए कार नहीं रोकी क्योंकि उसे डर था कि पुलिसकर्मी उसकी पिटाई कर सकते हैं। साथ ही बाद में कहा था कि उसके पास पैसे थे और उसे रकम लूटे जाने को लेकर चिंता थी।


जांच के दौरान रॉबिन नाम का एक गवाह भी सामने आया था, जिसने दावा किया था कि उसने पूरी घटना को देखा और उसे फोन में कैद भी किया।




...

धनशोधन मामला : ईडी ने अनिल देशमुख के खिलाफ पूरक आरोपपत्र दाखिल किया

मुंबई :  प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को धनशोधन के एक मामले में महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ पूरक आरोपपत्र दाखिल किया।


जांच एजेंसी ने यहां धनशोधन निषेध अधिनियम (पीएमएलए) से संबंधित मामलों की सुनवाई से जुड़ी एक विशेष अदालत के समक्ष 7,000 पन्नों का आरोपपत्र दायर किया, जिसमें देशमुख के बेटों को भी आरोपी बनाया गया है।


ईडी ने इससे पहले देशमुख के निजी सचिव (अतिरिक्त जिलाधिकारी स्तर के अधिकारी) संजीव पलांदे और निजी सहायक कुंदन शिंदे समेत 14 आरोपियों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था। ईडी ने देशमुख को इस साल एक नवंबर को संबंधित मामले में गिरफ्तार किया था और फिलहाल वह न्यायिक हिरासत में हैं।


केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा इस साल 21 अप्रैल को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के वरिष्ठ नेता के खिलाफ भ्रष्टाचार और आधिकारिक पद के दुरुपयोग के आरोप में प्राथमिकी दर्ज किए जाने के बाद ईडी ने देशमुख और उनके सहयोगियों के खिलाफ जांच शुरू की थी।


ईडी का मामला यह है कि राज्य के गृह मंत्री के रूप में देशमुख ने कथित तौर पर अपने पद का दुरुपयोग किया और पुलिस अधिकारी सचिन वाजे के माध्यम से मुंबई के कई बार से 4.70 करोड़ रुपये की वसूली की थी। वाजे को 'एंटीलिया' बम और मनसुख हिरन की हत्या के मामलों में गिरफ्तारी के बाद सेवा से बर्खास्त कर दिया गया था।


धनशोधन का यह मामला देशमुख परिवार के नियंत्रण वाले शैक्षणिक ट्रस्ट नागपुर स्थित श्री साईं शिक्षण संस्थान से संबंधित है। धनशोधन रोधी एजेंसी के अनुसार, पलांदे और शिंदे दोनों ने बेहिसाबी धन के प्रसार और शोधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।


इस साल की शुरुआत में राज्य के गृह मंत्री पद से इस्तीफा देने वाले देशमुख ने अपने खिलाफ लगे आरोपों से बार-बार इनकार किया है।






...

महाराष्ट्र के कोल्हापुर में कन्नड़ ध्वज को जलाने के विरोध में दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन

नई दिल्ली : महाराष्ट्र के कोल्हापुर में हाल ही में कन्नड़ ध्वज को जलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर कन्नड़ समर्थक एक संगठन ने मंगलवार को राजधानी दिल्ली के जंतर मंतर पर प्रदर्शन किया।


दरअसल, कुछ बदमाशों ने 14 दिसंबर को कथित तौर पर कोल्हापुर में कन्नड़ प्रतीक वाले झंडे को जला दिया था, उसी दौरान बेलागवी में कर्नाटक विधानसभा का सत्र चल रहा था। बेलागवी महाराष्ट्र की सीमा के काफी नजदीक है।


महाराष्ट्र बेलागवी और कुछ अन्य सीमावर्ती क्षेत्रों के राज्य में विलय की मांग कर रहा है, महाराष्ट्र का दावा है कि इन इलाकों में मराठी भाषी लोग बड़ी संख्या में रहते हैं।


जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन करने वाले संगठन जया कर्नाटक जनापारा वेदिके ने एक बयान में कहा कि केंद्र सरकार को इस मामले में तुरंत हस्तक्षेप करना चाहिए और इसमें शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।





...

अमेठी में दलित किशोरी को पीटे जाने, उससे छेड़खानी किए जाने का वीडियो वायरल होने के बाद मामला दर्ज

अमेठी (उप्र) : उत्तर प्रदेश के अमेठी में 16 वर्षीय एक दलित किशोरी को कथित रूप से पीटे जाने और उससे छेड़खानी किए जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस ने आरोपियों के विरूद्ध मामला दर्ज किया है और उनकी तलाश शुरू कर दी है।


अमेठी के पुलिस उपाधीक्षक अर्पित कपूर ने मंगलवार को बताया कि सोशल मीडिया पर एक दलित नाबालिग लड़की की पिटाई और उससे छेड़खानी किए जाने का वीडियो वायरल होने के बाद थाना अमेठी पुलिस ने पीड़िता से संपर्क किया और उसके पिता की तहरीर पर यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पॉक्सो) कानून, अनुसूचित जाति- जनजाति अधिनियम (एससी-एसटी) कानून और भारतीय दंड संहिता की अन्य गंभीर धाराओं के तहत आरोपी सूरज सोनी, शिवम और साकाल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।


कपूर ने बताया कि पीड़िता अमेठी जिले के संग्रामपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली है और यह घटना अमेठी थाना क्षेत्र के कस्बा रायपुर फुलवारी की है।



...

महात्मा गांधी पर टिप्पणी: महाराष्ट्र में कालीचरण महाराज के खिलाफ मामला दर्ज

अकोला : महाराष्ट्र में पुलिस ने महात्मा गांधी के खिलाफ अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल करने के आरोप में हिंदू धार्मिक नेता कालीचरण महाराज के खिलाफ मामला दर्ज किया है।


एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि अकोला के शिवाजीनगर निवासी कालीचरण महाराज उर्फ अभिजीत सारग ने छत्तीसगढ़ के रायपुर में एक कार्यक्रम के दौरान रविवार को यह टिप्पणी की थी।


लोगों की भावनाओं को आहत करने के आरोप में स्थानीय कांग्रेस नेताओं ने सोमवार को उनके खिलाफ यहां सिटी कोतवाली थाने के बाहर धरना दिया।


कोतवाली पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि स्थानीय कांग्रेस पदाधिकारी प्रशांत गावंडे की शिकायत के आधार पर पुलिस ने कालीचरण महाराज के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 294 (आपत्तिजनक हरकत) और 505 (सार्वजनिक तौर पर शरारत करने वाले बयान) के तहत मामला दर्ज किया है।


रविवार शाम रायपुर में दो दिवसीय 'धर्म संसद' (धार्मिक संसद) के समापन के दौरान, कालीचरण महाराज ने महात्मा गांधी के खिलाफ कथित तौर पर अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था और उनके हत्यारे नाथूराम गोडसे की प्रशंसा की थी। उन्होंने लोगों से धर्म की रक्षा के लिए सरकार के मुखिया के रूप में एक कट्टर हिंदू नेता को चुनने के लिए भी कहा था। बाद में रायपुर में उनके खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की गई।


उनकी टिप्पणियों की छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी कड़ी आलोचना की और इस मुद्दे की गूंज सोमवार को महाराष्ट्र विधानसभा में भी सुनाई दी।


बघेल ने कहा था कि अगर कोई "पाखंडी" सोचता है कि वह राष्ट्रपिता को गाली देकर और समाज में जहर फैलाकर अपने इरादे में सफल हो सकता है, तो यह उसका भ्रम है।


उन्होंने यह भी कहा कि अगर कोई इस तरह की टिप्पणी कर लोगों को भड़काने की कोशिश करेगा तो कानून के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी।


महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री नवाब मलिक ने राज्य विधानसभा में इस मुद्दे को उठाया था और मांग की थी कि धार्मिक नेता पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया जाए और उन्हें गिरफ्तार किया जाए।


महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने कहा, 'एमवीए (महा विकास आघाडी) सरकार कालीचरण महाराज की टिप्पणियों के संबंध में रिपोर्ट मांगेगी और सख्त कार्रवाई करेगी।




...

इत्र व्यापारी से सपा का कोई संबंध नहीं, भाजपा ने गलती से अपने ही व्यवसायी पर मारा छापा : अखिलेश

उन्नाव (उप्र) :  समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को कानपुर के इत्र व्यापारी पीयूष जैन के उनकी पार्टी से किसी तरह के संबंध से इनकार किया और मजाक में कहा कि भाजपा ने "गलती से" अपने ही व्यवसायी पर छापा मारा।


यहां समाजवादी रथ यात्रा शुरू होने से पहले पत्रकारों से बातचीत में सपा प्रमुख ने कहा कि व्यापारी के सीडीआर (कॉल डिटेल रिकॉर्ड) से कई भाजपा नेताओं के नाम सामने आएंगे जो उनके संपर्क में थे।


उन्होंने कहा, ''गलती से भाजपा ने अपने ही कारोबारी पर छापा मारा।'' उन्होंने दावा किया कि समाजवादी इत्र (इत्र) सपा एमएलसी पुष्पराज जैन द्वारा लांच गया था न कि पीयूष जैन ने लांच किया था।


भाजपा पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा, '' सत्तारूढ़ भाजपा ने डिजिटल भूल से अपने ही व्यवसायी (पीयूष जैन) के यहां छापा मारा।''


गौरतलब है कि आयकर और केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड द्वारा गत दिनों की गई छापेमारी में कानपुर में इत्र व्यापारी के घर से लगभग 257 करोड़ रुपये नकद, 25 किलो सोना और 250 किलो चांदी बरामद की गई थी। अदालत के आदेश पर पीयूष जैन को सोमवार को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।


सपा प्रमुख ने कहा कि भारी मात्रा में नकदी की वसूली ने साबित कर दिया है कि नोटबंदी और जीएसटी विफल हो गए हैं।


इससे पहले भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया था कि इत्र कारोबारी पीयूष जैन से समाजवादी पार्टी के संबंध रहे हैं।


केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी मंगलवार को हरदोई की सभा में कहा कि कुछ दिन पहले आयकर विभाग ने छापा मारा तो भाई अखिलेश के पेट के अंदर मरोड़ होने लगा, कहने लगे कि राजनीतिक द्वेष के कारण छापा मारा गया है और आज उन्हें जवाब सूझ नहीं रहा है कि समाजवादी इत्र बनाने वाले के यहां से छापे (कन्नौज और कानपुर में इत्र व्यापारी के यहां छापा) में ढाई सौ करोड़ रुपये मिला है।




...

दूसरे धर्म में शादी के बाद परेशान युवक ने दी जान, सोशल मीडिया में पोस्ट किया सुसाइड नोट

नोएडा : आईटी कंपनी में काम करने वाले सेक्टर-54 निवासी युवक ने कथित तौर पर शनिवार रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। युवक ने मरने से पहले अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक सुसाइड नोट भी पोस्ट किया था। इस सुसाइड नोट में उसने अपने दूसरे धर्म के ससुरालियों के अलावा एक थाने में तैनात दारोगा पर भी उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। घटना के बाद उसके पिता की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।


अलीगढ़ निवासी सत्येंद्र सिंह नोएडा में एक सरकारी विभाग में तैनात हैं और और वह अपने परिवार के साथ नोएडा में रहते हैं। उन्होंने सेक्टर-24 थाने में शिकायत दर्ज कराते हुए आरोप लगाया कि उनके 24 वर्षीय बेटे मोहित सेक्टर-24 थाना क्षेत्र में रहने वाली दूसरे धर्म की युवती से शादी की थी। युवती बालिग थी और एक आईटी कंपनी में काम करती थी। वहीं पर दोनों की मुलाकात हुई थी। शादी के बाद दोनों जयपुर चले गए थे। आरोपी है कि शादी के बाद युवती के परिजन जबरन उसे अपने साथ नोएडा ले आए।


मोहित पत्नी को घर वापस लाने के लिए कई बार पुलिस के पास गया और ससुरालियों से भी उसे भेजने की गुहार लगाता रहा। आरोप है कि ससुरालियों ने उसे नहीं भेजा और धमकी भी दी।


दारोगा पर अपने धर्म वाले की मदद करने का आरोप


पीड़ित पिता का कहना है कि उनके बेटे ने थाने की एक चौकी में तैनात दारोगा से पत्नी को वापस लाने में मदद की गुहार लगाई थी, मगर उसने भी अपने धर्म का पक्ष लिया और मोहित की कोई मदद नहीं की। इस कारण उसने मानसिक रूप से परेशान होकर आत्महत्या जैसा कदम उठाया।


एडीसीपी ने बताया कि पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने ससुरालियों के खिलाफ आत्महत्या का केस दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। दारोगा के मामले में जांच की जा रही है। 





...

मुरादनगर में मौसा पर लगाया बंधक बनाकर 11 साल तक जबरन अवैध संबंध बनाने का आरोप

मुरादनगर : एक युवती ने अपने मौसा पर 11 वर्ष तक बंधक बनाकर जबरन अवैध संबंध बनाने का आरोप लगाया है। रविवार को थाने पहुंचकर युवती ने पुलिस से गुहार लगाई है। थानाक्षेत्र के एक गांव निवासी युवती का कहना है कि 11 वर्ष पूर्व वह 17 वर्ष की थी। आरोप है कि उस समय उसका मौसा उसे बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गया था। इसके बाद मौसा ने उसे मकान के अंदर बंधक बनाकर रखा और उसके साथ जबरन अवैध संबंध बनाता चला आ रहा है। आरोप है कि उसका मौसा उससे जबरन कोर्ट मैरिज व मंदिर में शादी करना चाहता था। लेकिन उसने शादी का विरोध किया। वह किसी तरह मुक्त होकर दिल्ली चली गई थी। पीड़िता ने बताया कि मेरे घर वाले 11 वर्ष से मेरी तलाश कर रहे थे। इसी बीच युवती की फेसबुक पर मेरठ निवासी एक युवक से दोस्ती हो गई, वह युवक से शादी करना चाहती है। आरोप है कि शादी करने पर मौसा जान से मारने की धमकी दे रहा है। उसने बताया कि कुछ दिन पूर्व उसका भाई दिल्ली सीमापुरी क्षेत्र में मिल गया, जिसने उसे पहचान लिया। एसओ सतीश कुमार का कहना है कि युवती की तहरीर पर मामले की जांच की जा रही है।






...

होशंगाबाद में बच्ची की बलात्कार के बाद हत्या, अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज

होशंगाबाद : मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिला मुख्यालय से लगभग 50 किलोमीटर दूर सोहागपुर थाना क्षेत्र में पांच साल की एक बच्ची की कथित तौर पर बलात्कार के बाद गला घोंटकर हत्या कर दी गई। पुलिस के एक अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी।


सोहागपुर थाने के निरीक्षक विक्रम रजक ने बताया कि शनिवार को लड़की का शव उसके घर की छत पर कपड़े में लिपटा मिला। उन्होंने बताया कि इस सिलसिले में पुलिस संदेह के आधार पर बालिका के पड़ोस में रहने वाले एक व्यक्ति को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ कर रही है। उन्होंने बताया कि 25 दिसंबर को अपराह्न करीब तीन बजे बालिका लापता हो गई थी। उन्होंने बताया कि परिजनों ने बच्ची की तलाश की और गांव में न मिलने पर इस संबंध में शिकायत दर्ज करायी। उन्होंने कहा कि बाद में बच्ची का शव छत पर कपड़े में लिपटा मिला।


उन्होंने बताया कि रविवार को प्रारंभिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आयी कि बच्ची के साथ बलात्कार किया गया था और फिर गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी गई। रजक ने कहा कि पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ बलात्कार एवं हत्या के लिए भारतीय दंड संहिता संबंधित धाराओं तथा यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पोस्को) अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।







...

दुर्लभ प्रजाति के कछुओं की 80 किलोग्राम झिल्ली बरामद, दो तस्कर गिरफ्तार

लखनऊ : उत्तर प्रदेश पुलिस के विशेष कार्यबल (एसटीएफ) ने सोमवार को अंतरराज्यीय स्तर पर कछुओं की तस्करी करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार करके उनके कब्जे से दुर्लभ प्रजाति के कछुओं की लगभग 80 किलोग्राम झिल्ली बरामद की।


एसटीएफ के सूत्रों ने बताया कि सूचना मिलने पर सुल्तानपुर के रोडवेज बस अड्डे के पास सुबह विनोद तथा जैन कुमार नामक व्यक्तियों को पकड़कर उनकी तलाशी ली गई तो उनके कब्जे से सात थैलों के अंदर भरी कछुए की लगभग 80 किलोग्राम झिल्ली बरामद की गई। उन्होंने बताया कि इसके बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।


उन्होंने बताया कि एसटीएफ को सूचना मिली थी कि इटावा, एटा, मैनपुरी, औरैया और फर्रुखाबाद जिलों में बड़े पैमाने पर नरम खोल वाले कछुओं की झिल्ली काटकर बड़े पैमाने पर उसका अवैध व्यापार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि यह भी जानकारी मिली थी कि ऐसे व्यापारी अपना माल बेचने के लिए पश्चिम बंगाल के व्यापारियों के संपर्क में रहते हैं जहां से उस माल को बांग्लादेश और म्यांमा के रास्ते चीन, हांगकांग और मलेशिया भी भेजा जाता है।


सूत्रों के अनुसार गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों से कछुए की झिल्ली खरीद कर पश्चिम बंगाल में ऊंचे दामों पर बेचते थे, जहां से इसे बांग्लादेश आदि देशों में भेजा जाता है।






...

सोता रहा परिवार, मकान से 20 लाख के गहने ले गए चोर

गाजियाबाद : सिहानी सद्दीकनगर में चोरों ने प्रापर्टी कारोबारी के मकान से 20 लाख रुपये के गहने चुरा लिए। घटना शनिवार आधी रात के बाद की है, जब परिवार के सभी छह सदस्य मकान के अंदर ही सो रहे थे। आशंका है कि चोर पास वाले मकान के बाहर बने टायलेट से पहली मंजिल पर चढ़े और जाल के खुले ताले का फायदा उठाकर चोरी की। थाना नंदग्राम पुलिस व फारेंसिक टीम रविवार सुबह घटनास्थल पर पहुंची और मौके से साक्ष्य जुटाकर छानबीन कर रही है। चार माह पहले चोरी हुई थी बाइक : नवीन त्यागी उर्फ पिटू ने बताया कि वह पत्नी और दोनों बेटी भूतल पर और दोनों बेटे प्रथम तल पर बने कमरों में सो रहे थे। पत्नी सीमा सुबह उठीं तो बेटियों के कमरे की अलमारी खुली मिली। कपड़े व अन्य सामान बिखरा था। अलमारी में रखा टिन का डिब्बा गायब था, जिसमें सोने वा चांदी के 20 लाख रुपये के गहने थे। 31 अगस्त को घर के बाहर से उनकी बाइक भी चोरी हुई थी। नवीन ने बताया कि पहली मंजिल पर सुरक्षा की ²ष्टि से उन्होंने जाल लगवाया है। मुख्य द्वार और जाल पर ताला लगाते हैं। शनिवार को बेटी ने कपड़े सुखाने के लिए डाले थे, जिसके बाद वह ताला लगाना भूल गई। आइफोन व रुपये बच गए : चोर पहली मंजिल पर जाल से घर में दाखिल हुआ तो अंदर उसे सभी दरवाजे खुले मिले। पहले ऊपर के कमरे खंगाले और फिर नीचे से गहने लेकर फरार हो गया। आइफोन-12 और वन प्लस के तीन कीमती फोन को चोर ने हाथ नहीं लगाया और एक डिब्बे में रखे पांच हजार रुपये व एक अन्य बैग में रखा नेकलेस पर उसकी नजर नहीं गई। सीसीटीवी कैमरों में करीब चार बजे एक व्यक्ति बाइक पर जाता दिखा है। पुलिस इसकी पहचान के प्रयास में है। एसएचओ अमित कुमार का कहना है कि सभी एंगल पर छानबीन कर रहे हैं। जल्द मामले का पर्दाफाश करेंगे।






...

महिला की गला रेतकर हत्या, पति सहित दो लोग गिरफ्तार

फतेहपुर (उप्र) : फतेहपुर जिले की खागा कोतवाली क्षेत्र के कूरा गांव के मजरा गुलरियनपर में एक महिला की कथित तौर पर धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी गयी।


पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने रविवार को बताया कि खागा कोतवाली क्षेत्र के कूरा गांव के मजरा गुलरियनपर में शनिवार की रात धारदार हथियार से गला रेतकर योगमाया (26) की हत्या कर दी गयी।


इस सिलसिले में आज महिला के पति इंद्रमोहन और गोरखपुर जिले की रहने वाली एक महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है।


उन्होंने बताया कि महिला के पति के अवैध संबंध होने की बात सामने आ रही है और शायद हत्या के पीछे की वजह अवैध संबंध ही है।


शव को पोस्टमार्टम के लिए सरकारी अस्पताल भेज दिया गया है और आगे की कार्रवाई की जा रही है।








...

बच्चों के झगड़ने पर खूनी संघर्ष, एक की मौत

दनकौर : ग्रेटर नोएडा के दौला रजपुरा गांव में शनिवार दोपहर बच्चों के झगड़े में दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। इस खूनी संघर्ष में एक युवक की मौत हो गई और आधा दर्जन लोग घायल हुए हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। गांव में शांति बनाए रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।


दौला रजपुरा गांव में जाहिद और कासिम पड़ोसी हैं। जाहिद के घर के सामने ही उपले बने हुए थे। इसी दौरान कासिम के बच्चे ने बैल को छोड़ दिया। बैल ने जाहिद के उपले फोड़ दिए। इस बात को लेकर जाहिद पक्ष के बच्चों और कासिम के बच्चों में झगड़ा हो गया। बच्चों के झगड़े के बाद दोनों पक्षों के बड़े लोगों में काफी देर तक कहासुनी और गली गलौच होता रहा।


कहासुनी और गली गलौच के बाद दोनों पक्ष लाठी-डंडे और सरिया लेकर एक दूसरे के सामने आ गए। दोनों में जमकर लाठी-डंडे और पथराव हुआ। पथराव में एक पक्ष के कासिम, साजिद, माजिद और दूसरे पक्ष के सलीम, वाहिद कबीर और जाहिद गंभीर रूप से घायल हो गए। चीख पुकार सुनकर अन्य पड़ोसी भी मौके पर आए और घायलों को कोतवाली दनकौर ले आए। पुलिस ने घायलों को ग्रेटर नोएडा के काशीराम अस्पताल में भर्ती कराया। अस्पताल में उपचार के दौरान जाहिद --Ü23 वर्ष-- की मौत हो गई। कुछ और घायलों की हालत गंभीर बनी हुई है। इस संबंध में जाहिद के भाई मंजूर ने कोतवाली में छह लोगों के खिलाफ तहरीर दी है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।


गांव में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पुलिस उपायुक्त ग्रेटर नोएडा अमित कुमार और अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त विशाल पांडे ने घटनास्थल का निरीक्षण कर अधीनस्थों को गांव में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं। पुलिस ने इस संबंध में कई लोगों को हिरासत में लिया है।


दो पक्षों में बच्चों के विवाद के बाद खूनी संघर्ष हुआ है। इसमें एक युवक की मौत हुई है और कई लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर कुछ लोगों में को हिरासत में लिया है। गांव में शांति व्यवस्था बनाए रखने के अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।


-अमित कुमार, डीसीपी, ग्रेटर नोएडा




...

नोएडा में सोशल मीडिया फ्रेंड ने शादी का झांसा लूटी युवती की आबरू, प्रेग्नेंट होने पर दो बार कराया गर्भपात

नोएडा : नोएडा में रहने वाली एक 19 वर्षीय युवती ने अपने सोशल मीडिया फ्रेंड पर उसे शादी का झांसा देकर कई बार उसका बलात्कार करने का आरोप लगाया है। युवती ने कहा कि इस बीच वह दो बार गर्भवती भी हुई तो आरोपी ने जबरन उसका गर्भपात करवा दिया। पुलिस शिकायत दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।


पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह के प्रवक्ता ने बताया कि सेक्टर-19 में रहने वाली एक युवती ने शनिवार को थाना सेक्टर-20 में शिकायत दर्ज कराई कि 2020 में सोशल मीडिया के माध्यम से उसकी सफक नामक युवक से दोस्ती हुई थी।


पीड़िता का आरोप है कि सफक ने एक दिन नोएडा के सेक्टर-18 स्थित एक होटल में युवती को बुलाया तथा उसे कोल्ड ड्रिंक में कोई नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाने के बाद उसके साथ बलात्कार किया।


प्रवक्ता ने पीड़िता की शिकायत के आधार पर बताया कि जब उसने इस बात का विरोध किया तो आरोपी ने उससे शादी करने का वादा किया। पीड़िता के अनुसार, आरोपी ने शादी का झांसा देकर कई दिनों तक उसका कथित रूप से बलात्कार किया। युवती ने कहा कि इस बीच वह दो बार गर्भवती हुई और आरोपी ने उसका गर्भपात करवा दिया।


उन्होंने बताया कि पीड़िता के अनुसार, आरोपी अब उससे शादी करने से इनकार कर रहा है। पीड़िता ने कहा कि जब उसने आरोपी के परिजन से इस बात की शिकायत की, तो उन्होंने भी सफक का साथ दिया। प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस शिकायत दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।


ग्रेटर नोएडा थाना सूरजपुर क्षेत्र के एक गांव से किशोरी को अगवा कर उसके साथ दुष्कर्म करने के आरोप में पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता ने शनिवार को बताया कि गांव के एक व्यक्ति ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उनकी बेटी को सचिन नामक युवक ने 20 दिन पूर्व अगवा किया था। उन्होंने बताया कि मामले की जांच कर रही थाना सूरजपुर पुलिस ने शनिवार को आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और किशोरी को उसके कब्जे से मुक्त करा लिया। मेडिकल जांच में किशोरी के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश किया, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। 


वहीं, नोएडा के सेक्टर-125 स्थित एक निजी विश्वविद्यालय के शिक्षक पर एक छात्र का मोबाइल फोन छीनकर उसका निजी डेटा जबरन ट्रांसफर करने का आरोप लगाया गया है। सेक्टर-39 के थानाध्यक्ष राजीव बालियान ने बताया कि नोएडा के एक निजी विश्वविद्यालय में बी-टेक की पढ़ाई कर रहे प्रखर नागर की मां नीरू नागर ने थाने में शिकायत दर्ज कराई कि शिक्षक योगेश सिंह राठौर ने एक दिन उसके बेटे का मोबाइल फोन छीन लिया और उसका पासवर्ड भी उससे जबरन हासिल कर लिया।


उन्होंने बताया कि महिला का आरोप है कि राठौर ने प्रखर नागर के मोबाइल फोन से उसका निजी डेटा भी जबरन ट्रांसफर कर लिया। उन्होंने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है।







...

कार सवारों ने गनमैन से मोबाइल और बंदूक लूटी

ग्रेटर नोएडा : नोएडा जल बोर्ड की सेक्टर 153 स्थित साइट पर तैनात गनमैन से शुक्रवार रात कार सवार बदमाशों ने लूटपाट की। लुटेरों ने गनमैन को गन प्वाइंट पर लेकर उनकी लाइसेंसी बंदूक और मोबाइल लूट लिया। वारदात को अंजाम देने के बाद लुटेरे कार में सवार होकर फरार हो गए। पीड़ित ने घटना की सूचना थाना नॉलेज पार्क पुलिस को दी है।


हरदोई का रहने वाला शिव पूजन नोएडा जल बोर्ड की सेक्टर 153 स्थित साइट पर गनमैन तैनात है। उसने बताया शुक्रवार रात कार सवार चार बदमाश साइट के गेट पर पहुंचे। इनमें से दो बदमाश गाड़ी से नीचे उतर कर आए और उन्हें गेट की तरफ बुलाया। जैसे ही वह उनके पास पहुंचा एक बदमाश ने उनकी कनपटी पर पिस्टल तान दी और उनकी डबल बैरल लाइसेंसी बंदूक और मोबाइल लूट लिया। विरोध करने पर लुटेरों ने जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद बदमाश कार में बैठकर फरार हो गए।


पीड़ित ने तुरंत घटना की सूचना पुलिस और अपने सिक्योरिटी इंचार्ज को दी। सूचना पर नॉलेज पार्क थाना पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल की। पीड़ित की तहरीर पर नॉलेज पार्क थाना पुलिस ने लुटेरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस का कहना है कि लुटेरों को तलाश किया जा रहा है। लुटेरों को जल्द गिरफ्तार कर घटना का खुलासा किया जाएगा।






...

भाजपा ने माफियाओं की जमीन छीनकर गरीबों के मकान बनवाए : दिनेश शर्मा

गाजियाबाद/मुरादनगर : मुरादनगर में भाजपा जनसंदेश यात्रा में शनिवार को उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा पहुंचे। उन्होंने अपने भाषण में कहा कि भाजपा ने प्रदेश में अभी तक विकास किया। दूसरे दलों ने अपनी चिट् तिजोरियों को भरने का काम किया है। भाजपा ने माफियाओं द्वारा कब्जाई जमीन को छीनकर गरीब लोगों के मकान बनवाएं हैं। उप मुख्यमंत्री ने पूर्व की सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा कि पूर्व की सरकारों में शिक्षा के भी माफिया हुआ करते थे। किसी की जगह कोई दूसरा परीक्षा देता था, लेकिन आज सब कुछ बंद हो गया है। अब परीक्षा से लेकर भर्तियों में भी पारदर्शिता बरती जा रही है।


उन्होंने कहा कि चौधरी चरण सिंह के नाम पर वोट तो पाया लेकिन विकास नहीं किया यह सपना भाजपा ने साकार करके दिखाया है। मुरादनगर में कई जगह पर भाजपा की जन संदेश यात्रा का भव्य स्वागत हुआ। जन संदेश यात्रा में उमड़ती भीड़ को देखकर उन्होंने कहा कि इस बार चुनाव में पिछली बार का भी रिकॉर्ड टूटने वाला है। उपमुख्यमंत्री बोले आज बीजेपी के सामने कोई नहीं टिक रहा है। दूसरे नंबर को लेकर लड़ाई चल रही है। बसपा सोच रही किसी तरह वह दूसरे नंबर पर आ जाये, सपा कांग्रेस सब यही सोच रहे। ओवेसी पर निशाना साधते हुए कहा कि हैदराबाद वाले भाई जान बीजेपी को गाली दे रहे हैं, लेकिन मोदी जी ने घर घर लोगों को गैस दी। इन


बल्कि हिंदू व मुसलमान इसके सभी लाभार्थी हैं। लेकिन वो लोग कौन थे जिन्होंने कारसेवकों पर गोली चलवाई। शिवभक्तों पर पत्थर बरसने वाले लोग सुन लो। देश व प्रदेश में आज मोदी और योगी की सरकार है। अब भक्तों पर पत्थर नहीं हेलीकॉप्टर से फूल बरसाए जाएंगे। हम कहते थे काशी हमारी आस्था है लेकिन कोई पार्टी का नेता वहां नहीं जाता था। मोदी व योदी ने काशी का कायाकल्प करने की शुरुआत की और आज काशी बम बम बोल रहा है। पिछली सरकारों में बम बम बोलने पर साम्प्रदायिक हो जाते थे और कारसेवकों पर गोली चलवाकर धर्म निरपेक्ष हो जाते थे। अब सभी को समझ आ गया है कि यहां राम नाम का जाप करना पड़ेगा वरना हालत खराब हो जाएंगे। अब लोग हनुमान चालीसा का पाठ सीखने लगे हैं।


अब सबको समझ आ गया कि तुष्टिकरण कर अगर बहुसंख्यकों को ठेस पहुंचाई तो जनता जवाब देगी। देश व प्रदेश में विकास की लहर चल रही है। जगह-जगह एम्स व स्कूल,कालेज व विश्वविद्यालय खुल रहे हैं। हाईस्पीड ट्रैन चल रही है। एक समय यहां माफियाराज था। पांच बजे के बाद बहन-बेटियां घर से बाहर नहीं निकलती थी। महिलाएं खुद को असुरक्षित महसूस करती थी। कई इलाकों में लोग अपने मकान बेचकर पलायन के लिए मजबूर हो गए, लेकिन योगी सरकार ने इन सब पर विराम लगा दिया।





...

सुकेश ने जैकलीन फर्नांडिस से कहा था- तुम एंजेलिना जैसी, लियोनार्डो की फिल्‍म में दिलवाऊंगा लीड रोल

मुंबई :  बॉलिवुड ऐक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडिस इस समय चर्चा में हैं। कॉनमैन सुकेश चंद्रशेकर मामले में उनका नाम सामने आने के बाद वो लगातार सुर्खियों में हैं। इस मामले की जांच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कर रहा है। कुछ देर पहले ही खबर आई कि ऐक्ट्रेस को क्रिसमस के मौके पर घर जाने की इजाजत नहीं मिल पाई है और अब इस केस से जुड़ा एक नया खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि सुकेश ने जैकलीन को महंगे तोहफे देने के साथ-साथ एक हॉलिवुड मूवी का ऑफर भी दिया था, जिसमें वो पॉप्युलर ऐक्टर लियोनार्डो डिकैप्रियो के साथ नज़र आतीं। दरअसल, सुकेश ने जैकलीन से ये भी कहा था कि उनका चेहरा काफी हद तक एंजेलिना जोली से मिलता-जुलता है। इसलिए वो लियोनार्डो के साथ फिल्म में लीड रोल दिलवाएगा।


सूत्रों के अनुसार, कॉनमैन सुकेश चंद्रशेखर ने जैकलीन फर्नांडिस पर न सिर्फ महंगे गिफ्ट्स की बौछार की थी, बल्कि कई लुभावने वादे भी किए थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, सुकेश ने जैकलीन को एक हॉलिवुड मूवी में रोल दिलाने का वादा भी किया था।


इंडिया टुडे को सूत्रों ने बताया है कि सुकेश ने जैकलीन को हॉलिवुड सुपरस्टार लियोनार्डो डिकैप्रियो के साथ एक फिल्म का ऑफर दिया था। उन्होंने दावा किया कि उनके लोग पहले से ही अमेरिकी ऐक्टर के संपर्क में थे और वे जैकलीन के साथ मीटिंग करने के लिए तैयार हैं।


200 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं। पहले नोरा फतेही का नाम सामने आया। बाद में सुकेश ने बताया कि वो ऐक्टर हरमन बावेजा, शिल्पा शेट्टी और श्रद्धा कपूर के संपर्क में भी था। खैर, सुकेश ने जैकलीन को तकरीबन 10 करोड़ के गिफ्ट्स दिए, जिसे ईडी जब्त करने के प्रोसेस में है।


जैकलीन ने अपने बयान में ईडी को बताया था कि वो साल 2017 से सुकेश के संपर्क में हैं। सुकेश ने अपना परिचय देते हुए उन्हें बताया था कि वो सन टीवी के मालिक हैं और दिवंगत जयललिता के परिवार से है।







...

बलिया के जिला सामुदायिक प्रक्रिया प्रबंधक अनुशासनहीनता व भ्रष्टाचार के आरोप में बर्खास्त

बलिया (उप्र) : बलिया के जिला सामुदायिक प्रक्रिया प्रबंधक (डीसीपीएम) पुष्पेन्द्र सिंह शाक्य को अनुशासनहीनता और भ्रष्टाचार के आरोप में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की निदेशक ने बर्खास्त कर दिया है।


स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के आधिकारिक सूत्र ने शनिवार को यह जानकारी दी। जानकारी के मुताबिक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की निदेशक अपर्णा उपाध्याय ने शाक्य को बर्खास्त कर दिया है।


मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ तन्मय कक्कड़ ने शनिवार को इसकी औपचारिक रूप से पुष्टि की है।


अधिकारियों ने बताया कि डीसीपीएम के खिलाफ अनुशासनहीनता ,कार्य के प्रति लापरवाही, नकारात्मक कार्य व्यवहार व आचरण, उच्चाधिकारियों के आदेशों की अवहेलना व अवांछित व्यवहार समेत कई गंभीर शिकायतें विभाग के उच्‍चाधिकारियों को मिली थीं।


उन्होंने बताया कि शिकायतों की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति गठित की गई और समिति ने प्रस्तावित मानदेय से अधिक धनराशि लेने, धन उगाही करने तथा अनुशासनहीनता की शिकायतें सही पाईं,जिसके बाद शाक्य को बर्खास्त कर दिया गया।




...

कैंसर संस्थान की निदेशक का व्हाट्सएप हैक

नोएडा : सेक्टर-39 स्थित राष्ट्रीय कैंसर रोकथाम एवं अनुसंधान संस्थान (एनआईसीपीआर) की निदेशक डॉ. शालिनी सिंह का व्हाट्सएप अकाउंट हैक होने का मामला सामने आया है। उन्होंने मामले की सोशल मीडिया के जरिए इस बात की जानकारी दी है। साथ ही लोगों से अनुरोध किया है कि यदि उनके नंबर से किसी से भी पैसे या अन्य चीजों की मांग की जाती है तो वह विश्वास न करें।


डॉ. शालिनी ने जानकारी दी है कि कुछ दिन पहले उनके पास व्हाट्सएप पर छह अंकों के एक नंबर से कॉल आया और उन्होंने उनकी वूस्टर डोज के लिए एक तिथि बताई, जिसके बाद वह नंबर व्हाट्सएप से गायब हो गया। थोड़ी देर बाद उन्होंने पाया कि उनका व्हाट्सएप हैक हो गया और आरोपी उनके मोबाइल में सेव कंटेक्ट्स में जाकर लोगों से पैसों की मांग कर रहा है। इसकी कई शिकायत उनके पास पहुंची है। डॉ. शालिनी ने मामले में पुलिस से भी शिकायत की है। उन्होंने अनुरोध किया है कि यदि किसी के पास उनके नंबर से कोई संदेश या पैसों की मांग की जाती है तो भूलकर भी उसपर भरोसा न करें।





...

रिश्वत नहीं दिया तो विधवाओं को नहीं मिला प्रधानमंत्री आवास

बांदा :  सरकार द्वारा उन गरीब व्यक्तियों को प्रधानमंत्री आवास उपलब्ध कराए जा रहे हैं जिनके पास रहने के लिए पक्के मकान नहीं है। लेकिन नौकरशाहों के चलते गरीबों को यह सुविधा नहीं मिल पा रही है।


ताजा मामला बिसंडा ब्लाक के अंतर्गत ग्राम साथी का है। जहां से आई दर्जनों विधवा महिलाओं ने आरोप लगाया कि उन्होंने रिश्वत की रकम नहीं दी तो उन्हें प्रधानमंत्री आवास नहीं मिला है।


क्षेत्र के समाजसेवी पीसी पटेल जनसेवक में बताया कि ग्राम पंचायत साथी में जो विधवा महिलाएं पात्र थी, जिनके पास रिश्वत देने के लिए पैसा नहीं था। उन्हें सचिव ने प्रधानमंत्री आवास आवंटित नहीं किए। इन महिलाओं के पास कच्चे मकान हैं। इनके पास न तो कोई वाहन है और न पैसा है जिससे यह अपात्र की श्रेणी में आते हो।


इस संबंध में जब लाभार्थियों ने दबाव डाला तो सचिव ने अभद्रता करते हुए कहा कि मैं बिना पैसे के कॉलोनी आवंटित नहीं करूंगा। पीसी पटेल जनसेवक ने कहा कि इस ग्राम पंचायत में केवल प्रधानमंत्री आवास योजना में धांधली नहीं हुई बल्कि मनरेगा के अंतर्गत चमराहा तालाब की मिट्टी निकालने का काम हो या मेड़बंदी अथवा समतलीकरण का कार्य हो सभी में भ्रष्टाचार किया गया है।


इस मामले की जांच होनी चाहिए। इस दौरान गांव की पीड़ित महिला माया देवी ने बताया कि गांव के सचिव अंकित अवस्थी ने हमें इसलिए प्रधानमंत्री आवास आवंटित नहीं किया क्योंकि हम उसकी मुंह मांगी रिश्वत देखने देने में नाकाम रहे। आज हम जिला अधिकारी के यहां अपनी शिकायत दर्ज कराने आए हैं।







...

डीएपी के बाद यूरिया की कालाबाजारी से किसान परेशान

इटावा : जनपद में डीएपी के बाद यूरिया की कालाबाजारी को लेकर किसान परेशान है और प्रशासन आंकड़े बाजी कर कह रहा है कि जनपद में खाद की कोई कमी नही है।


डीएपी के बाद यूरिया की किल्लत तथा कालाबाजारी को लेकर एक बार फिर से प्रशासन को जगाते हुए जिला कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष उदय भान सिंह यादव ने बताया कि जनपद का आज किसान डीएपी के बाद यूरिया खाद के लिये जितना परेशान है, उतना शायद ही कभी नहीं रहा होगा।


एक ओर सरकार किसानों के लिये डीएपी, यूरिया, एनपी के खाद की उपलब्धता बताते नहीं थकती, दूसरी ओर किसान एक-एक बोरी के लिये घंटों लाइन में खड़े होकर भीषण सर्दी में अपनी बारी का इंतजार करता है। उससे कहा जाता है कि अब खाद समाप्त हो चुकी है।


उदय भान सिंह ने कहा कि किसानों द्वारा शिकायतें मिल रहीं है सोसाइटी के अध्यक्ष और सचिव स्वयं मिलकर और केंद्रों पर बैठ कर अपनों अपनों को खाद दिलवाने में ज्यादा रूचि दिखा रहे है। इन्ही सब स्मस्याओं को लेकर आगे कहा कि भाजपा सरकार में खाद का कृतिम अभाव पैदा किया जा रहा है जिससे किसान परेशान हो रहा है। प्रशासन इस प्रकार के खेल बंद करें और किसानों के धैर्य की परीक्षा न लेकर खाद की किल्लत को दूर कर किसानों को राहत प्रदान करें।




...

इंटेलीजेंस की जांच में विदेशी बताने वाला रेल यात्री निकला भारतीय

मीरजापुर :  रेलवे स्टेशन पर उस समय हड़कंप मच गया, जब शुक्रवार की सुबह एक व्यक्ति खुद को विदेशी नागरिक बताते हुए डिप्टी एसएम कार्यालय में घुस गया। उसने बताया कि उसके साथ ट्रेन में कुछ लोगों ने मारपीट की और सामान भी चुरा लिया।


मौके पर पहुंची जीआरपी और आरपीएफ ने उस व्यक्ति के बारे में जांच पड़ताल करने के बाद इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दे दी।


मौके पर पहुंची इंटेलीजेंस की टीम ने उसके बारे में पूछताछ की तो उसने अपने को अमेरिका के कोलंबिया शहर का निवासी बताते हुए अपना नाम श्रीकांत व मां का नाम श्रीदेवी बताया। लेकिन टीम की छानबीन में यह पाया गया कि युवक विदेश का रहने वाला नहीं है बल्कि वह इसी देश का रहने वाला लग रहा है और वह मानसिक रूप से बीमार दिख रहा है। जीआरपी ने उसे मंडलीय अस्पताल मेडिकल के लिए पुलिस कर्मियों की सुरक्षा में भेज दिया।


शुक्रवार की सुबह एक 32 वर्षीय युवक ताप्ती गंगा एक्सप्रेस से मीरजापुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म एक पर उतरा। वह परेशान दिख रहा था। किसी यात्री ने उसे प्लेटफार्म नंबर दो पर पहुंचा दिया। इसके बाद वह डिप्टी एसएम कार्यालय में घुस गया और अपने काे एनाआरआई बताते हुए शोर मचाने लगा। उसकी भाषा किसी को समझ में नहीं आ रही थी। युवक की हरकत देख कर्मचारियों ने घटना की सूचना जीआरपी को दी।


मौके पर जीआरपी व आरपीएफ पहुंची। लगभग एक घंटे तक खुद को विदेशी बताने वाला यात्री कार्यालय में बैठा रहा और इशारे से सामान चोरी करने के साथ मारने-पीटने का आरोप लगा रहा था। मौके पर पहुंचे जीआरपी प्रभारी हरिशरण सिंह यादव व आरपीएफ की टीम ने युवक को एसएम कार्यालय से बाहर निकालकर उसे पार्सल कार्यालय में ले गए। यहां उसे चाय-पानी पिलाने के बाद उसे शांत कराया गया। तब तक कुछ ही देर में इंटेलीजेंस की टीम पहुंच गई और युवक से पूछताछ करने लगी तो वह अपना नाम श्रीकांत और मां का नाम श्रीदेवी बताया। हालांकि काफी प्रयास के बाद उसके गले में मिले माला और एक कार्ड की पहचान कराई तो वह भारत का ही निकला। टीम ने पूछताछ करने के बाद बताया कि युवक कुछ मानसिक रूप से बीमार है और वह दक्षिण भारत का रहने वाला लग रहा है।


प्रभारी जीआरपी हरिशरण सिंह यादव ने बताया कि युवक को मेडिकल जांच के लिए मंडलीय अस्पताल भेजा जा रहा है। युवक विदेशी है या भारतीय, इसकी कोई सही जानकारी नहीं हो पा रही है। छानबीन के बाद ही इसकी पूरी जानकारी हो पाएगी।





...

समाजवादी इत्र बनाने वाले कारोबारी के यहां बरामद कैश को लेकर संबित पात्रा ने साधा सपा पर निशाना

नई दिल्ली : समाजवादी पार्टी के कार्यालय में समाजवादी इत्र लॉन्च करने वाले कारोबारी के यहां पड़े जीएसटी के छापे में करोड़ों रुपये की कैश बरामदगी को लेकर भाजपा ने सपा पर तीखा निशाना साधा है।


भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने समाजवादी इत्र लॉन्च करने वाले पीयूष जैन के यहां पड़े जीएसटी छापे में 100 करोड़ से ज्यादा की कैश बरामदगी पर सवाल उठाते हुए पूछा है कि यह कौन से समाजवाद की काली कमाई है।


संबित पात्रा ने ट्वीट कर सपा पर तीखा हमला बोलते हुए लिखा, समाजवादियों का नारा है , जनता का पैसा हमारा है!


संबित ने आगे अपने ट्वीट में लिखा, समाजवादी पार्टी के कार्यालय में समाजवादी इत्र लॉन्च करने वाले पीयूष जैन के यहां जीएसटी के छापे में बरामद 100 प्लस करोड़ कौन से समाजवाद की काली कमाई है ?


दरअसल, कर चोरी की आशंका के मामले में जीएसटी इंटेलिजेंस महानिदेशालय की टीम ने गुरुवार को इत्र कारोबारी के घर, फैक्ट्री, ऑफिस और इनसे जुड़े अन्य ठिकानों पर छापा मारा था जिसमें भारी मात्रा में नकद राशि भी बरामद हुई। भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने इसी को लेकर सपा पर राजनीतिक हमला बोला है।


आपको बता दें कि, पिछले महीने 9 नवंबर को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी कार्यालय में इत्र कारोबारी द्वारा बनाए गए समाजवादी इत्र को लॉन्च किया था। उस समय यह दावा किया गया था कि इसके निर्माण में कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक 22 तरह के प्राकृतिक इत्र का प्रयोग किया गया है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा था कि इसे 2022 के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बनाया गया है और इसकी खुशबू का असर 2022 के चुनाव में दिखाई देगा।


2022 विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा और सपा में राजनीतिक बयानबाजी और घमसान लगातार जारी है और अब समाजवादी इत्र बनाने वाले कारोबारी के यहां पड़े छापे और कैश बरामदगी को लेकर भी आने वाले दिनों में राजनीतिक घमासान मचना तय ही माना जा रहा है। 




...

लोन घोटाले में पीएनबी का बर्खास्त एजीएम रामनाथ गिरफ्तार

नई दिल्ली  : लोन के नाम पर बैंकों को 4 सौ करोड़ रुपए से अधिक का चूना लगाने वाले माफिया लक्ष्य तंवर से मिलीभगत करने वाला पीएनबी का बर्खास्त एजीएम रामनाथ मिश्रा को आखिरकार पुलिस ने गिरफ्तार कर ही लिया। लोन घोटाले की जांच कर रही एसआईटी रामनाथ मिश्रा को दिल्ली से पकड़ कर लाई है। जहां वह अपने एक रिश्तेदार के घर में छिप कर रह रहा था। रामनाथ पर लोन माफिया लक्ष्य तंवर से साठगांठ कर खुद के ही पीएनबी बैंक को 50 करोड़ रुपए से अधिक का चूना लगाने का आरोप है। लोन फर्जीवाड़े में लक्ष्य तंवर का साथ देने वाले बैंकों के अन्य कर्मचारी और अधिकारी भी एसआईटी की रडार पर हैं। पुलिस का कहना है कि लक्ष्य तंवर से साठगांठ रखने वाले बैंकों के अन्य आरोपी कर्मचारियों व अधिकारियों को भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।    


पुलिस का कहना है कि लोन घोटाले में मंगलवार को पीएनबी की बर्खास्त मैनेजर प्रियदर्शिनी को गिरफ्तार किया गया था। इसी क्रम में वीरवार को पीएनबी के बर्खास्त एजीएम रामनाथ मिश्रा को भी गिरफ्तार किया गया है। पकड़ में आया रामनाथ मिश्र मूलरूप से बिहार के पटना जिले के थाना श्रीकृष्णपुरी क्षेत्र का रहने वाला है। वर्तमान में वह दिल्ली में रहने वाले अपने रिश्तेदार के घर में छिपकर रह रहा था। पुलिस से बचने के लिए वह अपना ठिकाना बदल रहा था, लेकिन पुख्ता सूचना के आधार पर उसे पकड़ लिया गया। पुलिस ने रामनाथ से लोन घोटाले के बारे में विस्तृत पूछताछ की। जिसके बाद उसे कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया। वहीं, बैंकों के अन्य अधिकारी व कर्मचारी भी पुलिस की रडार पर हैं। उन्हें भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। 


पुलिस का कहना है कि लोन के नाम पर 4 सौ करोड़ रुपए से अधिक का फर्जीवाड़ा करने वाले लोन माफिया लक्ष्य तंवर के खिलाफ 39 मामले विभिन्न थानों में दर्ज हैं। जिनमें से 12 मामलों में रामनाथ मिश्रा भी आरोपी है। अन्य मामलों में भी उसकी भूमिका की जांच की जा रही है। पुलिस की मानें तो रामनाथ मिश्रा 3 जून 2015 से 8 जून 2017 तक पीएनबी की चंद्रनगर शाखा में बतौर चीफ मैनेजर तैनात था। अपनी तैनाती के दौरान रामनाथ मिश्र ने लक्ष्य तंवर के साथ मिलकर लोन देने में 30 करोड़ रुपए से अधिक का फर्जीवाड़ा किया। इसके बाद रामनाथ मिश्र प्रमोशन पाकर एजीएम बन गया और बैंक ने उसे आगरा में नई तैनाती दे दी। आरोप है कि रामनाथ ने आगरा में भी लक्ष्य के फर्जीवाड़े में उसका साथ देकर बैंक को करोड़ों रुपए का चूना लगाया। लेकिन लोन घोटाला उजागर होने पर विभागीय जांच के बाद बैंक ने जुलाई 2021 में उसे नौकरी से बर्खास्त कर दिया। जिसके बाद से रामनाथ मिश्र पुलिस को चकमा देकर फरार चल रहा था। 


पुलिस का कहना है कि लोन के फर्जीवाड़े में बर्खास्त मैनेजर प्रियदर्शिनी और बर्खास्त एजीएम की गिरफ्तारी के बाद बैंकों के अन्य अधिकारी और कर्मचारी भी एसआईटी की रडार पर हैं। इनमें उत्कर्ष कुमार, बर्खास्त मैनेजर संजय तितरवे, मैनेजर दुर्गा प्रसाद व लोन मैनेजर तारिक हुसैन मुख्यरूप से शामिल हैं। साथ ही इनके सह आरोपियों में वरुण  त्यागी, नरेश बग्गा, उसका बेटा दक्ष बग्गा, अनिल भारद्वाज, एसपी कपूर और यासू कौशिक के नाम भी शामिल हैं। इसके अलावा लक्ष्य तंवर की पत्नी प्रियंका तंवर, मां रेनू, शीलू, शीलू की पत्नी अलका, बेटी गौरी बहल, दामाद विशेष बहल,  राजरानी कालरा, उसका बेटा सूरज कालरा और पुत्रवध सिंपी भी विभिन्न मुकदमों में आरोपी हैं। इन सभी आरोपियों को भी गिरफ्तार करने का प्रयास किया जा रहा है।  


एसपी सिटी निपुण अग्रवाल ने बताया कि लोन घोटाले में पीएनबी के बर्खास्त एजीएम रामनाथ मिश्रा को गिरफ्तार किया गया है। उसके खिलाफ लोन घोटाले के 12 मामले दर्ज हैं। रामनाथ पर लक्ष्य तंवर के साथ मिलकर लोन घोटाला करने का आरोप है। रामनाथ की गिरफ्तारी के बाद बैंक के अन्य आरोपी अधिकारियों को भी जल्द गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। 





...

नौकरी के नाम पर युवती से की अश्लील हरकत

मोदीनगर : नगर की एक कॉलोनी निवासी युवती नोएडा स्थित एक निजी कंपनी में काम करती है। युवती के अनुसार काफी संमय से एक वह कंपनी बदलने का मन बना रही थी। इस विषय में उसकी अपने परिचित व्यक्ति से बात हुई जो कि पूर्व में उसके साथ काम कर चुका है। उक्त व्यक्ति ने दो दिन पूर्व युवती को हाईवे स्थित अपने घर बुलाया। पीड़िता का आरोप है कि उक्त व्यक्ति ने अकेली पाकर उसके साथ अश्लील हरकत की। पीड़िता ने आरोपी की हरकत का विरोध किया तो आरोपी ने उसे धमकी देते हुए मुंह बंद रखने के लिए कहा। पीड़िता ने घर आकर अपने परिजनों को इस बारे में बताया। पीड़िता व उनके परिजनों ने आरोपी के खिलाफ शिकायत करके कार्रवाई की मांग की। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

...

नोएडा : नाबालिग साली को अगवा कर दुष्कर्म

नोएडा :  सेक्टर-39 थाना क्षेत्र की कॉलोनी में एक व्यक्ति ने अपनी नाबालिग साली को अगवा कर उसके साथ दुष्कर्म किया है। पुलिस ने मामले में केस दर्ज आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। थाना प्रभारी ने बताया कि दिल्ली के ओखला निवासी व्यक्ति ने 30 नवंबर को पुलिस को शिकायत दी थी। उन्होंने बताया कि उनकी 12 साल की बेटी है। उनकी बड़ी बेटी की शादी सुमित नाम के युवक से हुई है। आरोप है कि सुमित उनकी नाबालिग बेटी को बहला फुसलाकर अगवा कर ले गया था। इसके बाद आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी थी। इसके तहत पुलिस ने मोरना बस स्टैंड से गुरुवार को सुमित को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से किशोरी को भी बरामद किया गया है। पुलिस ने पीड़िता की मेडिकल जांच भी कराई है। आरोपी मूलरूप से इटावा के नंगला वलसिंह का रहने वाला है। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया।





...

नेता ने स्टेडियम में गोल्फ खेल रहे लोगों पर पिस्तौल तानी

नोएडा :  समाजवादी पार्टी के नेता ने बुधवार रात को नोएडा स्टेडियम के अंदर गोल्फ का अभ्यास कर रहे लोगों पर पिस्तौल तान दी। इससे गोल्फ खेल रहे लोगों में हड़कंप मच गया। लोगों ने आरोपी से पिस्तौल छीन ली और उसे पुलिस को सौंप दिया। वहीं, आरोपी मौके से फरार हो गया। इस संबंध में सेक्टर-24 थाने में केस दर्ज किया गया है।


सेक्टर-21ए स्थित नोएडा स्टेडियम में गोल्फ का अभ्यास होता है। इसका संचालन दीपक यादव करते हैं। उन्होंने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि रात करीब आठ बजे लोग गोल्फ का अभ्यास कर रहे थे। इसी बीच रवि शर्मा नाम का व्यक्ति पिस्तौल लहराता हुआ आया। उसने वहां गोल्फ खेल रहे लोगों से गाली-गलौज शुरू कर दी। जब लोगों ने विरोध किया तो आरोपी ने उन पर पिस्तौल तान दी। इससे गोल्फ खेल रहे लोगों में हड़कंप मच गया। आरोपी के गोली चलाने से पहले ही लोगों ने रवि शर्मा के हाथ से उसकी पिस्तौल छीन ली और पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस के मौके पर पहुंचने से पहले ही रवि मौके से फरार हो गया। लोगों ने पिस्तौल को पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने आरोपी की पिस्तौल का लाइसेंस निरस्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि रवि शर्मा ने हाल में समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है।





...

लुधियाना जिला न्यायालय परिसर में हुए विस्फोट की खबर सुनकर स्तब्ध हूं : सीजेआई

हैदराबाद : भारत के प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) एन. वी. रमना ने गुरुवार को यहां कहा कि वह पंजाब के लुधियाना जिला न्यायालय परिसर में हुए विस्फोट की खबर सुनकर स्तब्ध हैं।


लुधियाना जिला न्यायालय परिसर में गुरुवार को हुए विस्फोट में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि कम से कम चार लोगों के घायल होने की खबर है।


न्यायमूर्ति रमना ने अदालत परिसरों में पर्याप्त सुरक्षा की कमी पर गंभीर चिंता व्यक्त की। इसके साथ ही उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि कानून लागू करने वाली एजेंसियां अदालत परिसरों और सभी हितधारकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक ध्यान देंगी। उन्होंने कहा कि देश भर में इस तरह की घटनाएं तेजी से हो रही हैं जो चिंताजनक है।


न्यायमूर्ति रमना, जो हैदराबाद में हैं, ने पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश, न्यायमूर्ति रविशंकर झा को फोन किया और घटनाक्रम के बारे में जानकारी ली।


न्यायमूर्ति रमना ने शोक संतप्त परिवारों के सदस्यों के प्रति संवेदना व्यक्त की और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।





...

ईडी ने ‘लॉटरी बादशाह’ सैनटियागो मार्टिन की 19.59 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की

नई दिल्ली :  प्रवर्तन निदेशालय ने बृहस्पतिवार को बताया कि उसने ‘लॉटरी बादशाह’ सैनटियागो मार्टिन और अन्य के खिलाफ धन शोधन मामले की जांच के तहत मार्टिन की 19.59 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति जब्त की है।


केन्द्रीय जांच एजेंसी द्वारा जारी बयान के अनुसार, धन शोधन निषेध कानून (पीएमएलए) के तहत एजेंसी ने तमिलनाडु में भूखंड के रूप में मौजूद संपत्तियों को जब्त करने का एक अस्थायी आदेश जारी किया था।


सीबीआई के कोच्चि स्थित कार्यालय द्वारा मार्टिन के खिलाफ भारतीय दंड संहिता और लॉटरी (नियमन) कानून, 1998 की विभिन्न धाराओं में आरोपपत्र दाखिल किए जाने के बाद, इस पर स्वत: संज्ञान लेते हुए ईडी ने मार्टिन तथा अन्य के खिलाफ धन शोधन का मामला दर्ज किया।


जांच में पता चला है कि एम. जे. एसोसिएट्स के साझेदार सैनटिएगो मार्टिन और एन. जयमुरुगन ने ‘‘गैरकानूनी तरीके से लाभ कमाया और सिक्किम की सरकार को उतनी ही राशि, 910,29,87,566 रूपये (करीब 910.29 करोड़ रुपये) का चूना लगाया। उन्होंने एक अप्रैल, 2009 से 31 अगस्त, 2010 के बीच इनाम जीतने वाली लॉटरियों के दावों को बढ़ाकर ऐसा किया। यह पीएमएलए के तहत अपराध है।’’


एजेंसी ने इससे पहले भी इसी मामले में संपत्ति जब्त की है। नये आदेश के बाद अभी तक कुल 277.59 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की जा चुकी है।



...

बैंक ऋण धोखाधड़ी मामले में ईडी ने 100 करोड़ रूपये की संपत्ति कुर्क की

नई दिल्ली : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बृहस्पतिवार को कहा कि ऋण लेकर पुराने ऋण चुकाने वाले एक ‘आदतन अपराधी’ की 100 करोड़ रूपये की संपत्ति कुर्क की है तथा आंध्रप्रदेश में आईडीबीआई बैंक की शाखा के साथ कथित धोखाधड़ी से जुड़े धनशोधन को लेकर उसकी जांच की जा रही है।


ईडी ने एक बयान में कहा कि आंध्रप्रदेश एवं तेलंगाना में रेब्बा सत्यनारायण की कृषि जमीन, मत्स्य पालन तालाबों, वाणिज्यिक स्थलों, भूखंडों एवं फ्लैट को धनशोधन रोकथाम अधिनियम के तहत अंतरिम रूप से कुर्क किया है।


सत्यनारायण एवं उसके परिवार के सदस्यों पर आईडीबीआई बैंक की राजमुंद्री शाखा से 143 बेनामी उधारकर्ताओं के नाम से 112.41 करोड़ रूपये का केसीसी (किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम) मछली टैंक ऋण ‘धोखाधड़ी’ से लेने का आरोप है।


उसके विरूद्ध पहले इन आरोपों में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मामला दर्ज किया था जिसके बाद ईडी ने इस मामले का संज्ञान लिया था। ईडी ने कहा कि सत्यनारायण इन सभी उधारकर्ताओं को मिली केसीसी का आखिरी लाभार्थी था और उसने बैंक के अधिकारियों एवं अन्य के साथ साजिश रचकर अपने परिवार के सदस्यों, रिश्तेदारों एवं परिचितों के नाम पर ऋण लिया।


ईडी के अनुसार ये ऋण पहले उधारकर्ताओं के खातों में अंतरित किये गये और उनमें से ज्यादातर धनराशि बाद में नकद में निकाल ली जाती थी। इस नकद को आरोपी सत्यनारायण को सौंप दिया जाता था जिसका इस्तेमाल वह उन निकायों द्वारा पहले लिये गये कर्ज का भुगतान करने के लिए करता था जो उसके, उसके रिश्तेदारों एवं बेनामी नामों से होते थे लेकिन उनका नियंत्रण उसके हाथों में होता था।


ईडी का कहना है कि आरोपी ने कर्ज की राशि का इस्तेमाल अपने नाम, अपने रिश्तेदारों के नाम से तथा बेनामी नामों से कथित रूप से संपत्तियां खरीदने तथा आयात-निर्यात में निवेश में किया। एजेंसी का आरोप है कि इन नामों से खरीदी गयी संपत्तियों का फिर ‘ अन्य कारोबारी निकायों के वास्ते अन्य ऋण हासिल करने में गिरवी के तौर’ इस्तेमाल किया जाता है।



...

मायावती ने अयोध्या में जमीन खरीद घोटाले को बताया गंभीर मामला, बोलीं- दखल दे सुप्रीम कोर्ट

लखनऊ :  उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बहुजन समाज पार्टी ने जोरदार तैयारी शुरू कर दी है। लखनऊ में गुरुवार को पार्टी के 18 मंडल इंचार्ज तथा 75 जिलाध्यक्ष के साथ बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने बैठक की। माल एवेन्यू में पार्टी के प्रदेश कार्यालय में इस बैठक के बाद मायावती ने मीडिया को भी संबोधित किया और पार्टी की तैयारी पर जानकारी देने के साथ रामनगरी अयोध्या में जमीन खरीद के घोटाले पर अपनी मांग को बताया।

बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि अयोध्या में बने रहे राम मंदिर के आपसाप की जमीन खरीद के घोटाले में बड़े लोगों का नाम आना एक गंभीर मामला है। अब तो इस मामले में उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बेहतर होगा कि इस बड़े प्रकरण में सुप्रीम कोर्ट इस मामले में दखल दे। सुप्रीम कोर्ट को केन्द्र तथा राज्य सरकार को इस मुद्दे को गंभीरता से लेने के लिए निर्देश देना चाहिए। यह तो करोड़ों लोगों की आस्था से जुड़ा मामला है। अयोध्या में नेताओं और अफसरों द्वारा जमीन खरीदने के मामले में मायावती ने उच्च स्तरीय जांच की मांग की। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट को दखल देना चाहिए। रिटायर्ड जजों की कमेटी बनाकर मामले की जांच कराई जानी चाहिए।अगर गड़बड़ियां मिलती है सरकार को इस पर कार्रवाई करनी चाहिए । फोन टैपिंग मामले पर भी मायावती ने कहा कि जब कांग्रेस केंद्र सरकार में रहती है वह भी इसी तरीके के हथकंडे अपनाती है और अब भाजपा भी वही रही है । यह दोनों एक सिक्के के दो पहलू हैं। मतदाता पहचान पत्र को आधार कार्ड से जोड़ने के मामले पर मायावती ने समर्थन किया है। 

बसपा मुखिया मायावती ने कहा कि जैसा कि आप सभी को अवगत है कि हमारी पार्टी उत्तर प्रदेश में अकेले ही सभी 403 विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ रही है। हमारे कार्यकर्ता, नेता तथा प्रत्याशी इसके लिए जोरदार तैयारी में भी लगे हैं। आज की यह बैठक इन सभी की तैयारी परखने के लिए बुलाई गई है। मायावती ने कहा कि पार्टी की तरफ से सभी को स्पष्ट निर्देश है कि जनता के बीच जाकर अपने नाम को बताने के साथ ही उनको गुमराह करने वाले सभी दलों से बचकर रहने की सलाह दी जा रही है। हम लोगों को सावधान करेंगे कि किसी भी किसी दल के बहकावे में ना आएं। मायावती ने कहा कि हमने आज सभी जिला अध्यक्षों तथा मंडल इंचार्ज की बैठक में विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर समीक्षा की है। हर विधानसभा सीट की गहन समीक्षा की जा रही है। हमारी पार्टी के नेता तथा कार्यकर्ता गांव-गांव जाकर जनता से मिलेंगे। जनता को हम लोग जनविरोधी नीतियों के बारे बताएंगे। उन्होंने कहा कि सभी से कहा गया है कि प्रदेश में 2007 की तरह 2022 में बसपा की सरकार बनाने के लिए लगें। मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश का हर कमजोर, गरीब, मजदूर व किसान तो बसपा के साथ है। 

...

एनसीआर में साइबर ठगी की 50 वारदात करने वाले पांच गिरफ्तार

फरीदाबाद :  क्रेडिट कार्ड पर रिवार्ड प्वाइंट को कैश कराने का लुभावना आफर देकर लोगों के साथ ठगी करने वाले गिरोह के पांच बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित एनसीआर में साइबर अपराध की करीब 50 वारदात को अंजाम दे चुके हैं। पुलिस ने इनके खाते में पिछले एक साल में करीब 65 लाख रुपये का लेन-देन पाया है। गिरफ्तार किए गए आरोपितों के नाम विकास, रोहित, इमरान, मुजीब तथा अमानुल्लाह उर्फ गुड्डू हैं। आरोपित मुजीब उत्तर प्रदेश के बदायूं तथा बाकी आरोपित दिल्ली में रह रहे थे। 


आरोपित विकास तथा इसका एक साथी इन वारदात के मुख्य आरोपित हैं। विकास व इमरान पहले से तिहाड़ तथा सुमित मंडोली जेल में बंद थे, जिसमें से आरोपित विकास तथा इमरान को फरीदाबाद पुलिस द्वारा प्रोडक्शन वारंट पर लिया गया। आरोपित जेल से ही साइबर ठगी की इन वारदात को अंजाम देते थे। रोहित तथा अमानुल्लाह जेल के बाहर से मोबाइल को जेल में फेंकते थे, जहां से आरोपित इमरान उसे विकास तक पहुंचाता था। विकास जेल से ही अपने साथियों के साथ मिलकर साइबर ठगी की वारदात करते थे। आरोपितों के खिलाफ साइबर थाना में षड्यंत्र रचने तथा धोखाधड़ी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज है। आरोपितों ने फरीदाबाद के रहने वाले यशपाल के क्रेडिट कार्ड से करीब 95 हजार रुपये की धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम दिया था।


पुलिस उपायुक्त नीतीश अग्रवाल के अनुसार आरोपित शातिर किस्म के अपराधी हैं। आरोपित जस्ट डायल से इंडसइंड क्रेडिट कार्डधारकों का डाटा खरीदते थे। क्रेडिट कार्ड पर ट्रांजेक्शन करने से क्रेडिट कार्ड से कुछ रिवार्ड प्वाइंट मिलते हैं जिन्हें कैशबैक या कोई अन्य सामान खरीदने के लिए उपयोग में लिया जा सकता है। इसी का फायदा उठाकर आरोपित क्रेडिट कार्डधारकों को फर्जी लिक भेजते थे और उन्हें रिवार्ड प्वाइंट को कैश करवाने का लुभावना आफर देते थे। आरोपित विकास का एक साथी रोजाना एक लाख लोगों को बल्क में एसएमएस भेजता था। इंडसइंड बैंक के क्रेडिट कार्डधारकों को अपना निशाना बनाते थे, जिन्होंने बैंक से मिलती-जुलती वेबसाइट बनवा रखी थी। आरोपित क्रेडिट कार्डधारक को रिवार्ड प्वाइंट रीडिम करवाने के नाम पर एक लिक भेजते थे और उस लिक पर क्लिक करते ही इंडसइंड बैंक से मिलती-जुलती फर्जी वेबसाइट खुल जाती थी। इसमे कार्ड धारकों को अपनी क्रेडिट कार्ड की सारी जानकारी फिलअप करनी होती थी। वेबसाइट से आरोपितों के पास क्रेडिट कार्ड की सारी डिटेल पहुंच जाती थी। इसके अलावा आरोपित हाउसिग डाट काम वेबसाइट का उपयोग करते थे, जिस पर आमजन अपना-अपने मकान का रेंट भर सकते हैं। आरोपित इस वेबसाइट पर कार्डधारक के नाम से अकाउंट बनाकर उसमें वालेट बनाते थे और उसमें पैसा डालने के लिए क्रेडिट कार्ड का उपयोग किया जाता था, जिसके लिए कार्डधारक की ईमेल आइडी पर एक ओटीपी प्राप्त होता था। आरोपियों के पास कार्ड धारक की ईमेल का पासवर्ड पहले से होता है जो उन्हे फर्जी वेबसाइट के माध्यम से प्राप्त हुआ था। आरोपित इस ईमेल आइडी को खोलकर उसमें से ओटीपी ले लेते थे और ईमेल को डिलीट कर देते थे। ओटीपी डालते ही क्रेडिट कार्ड से पैसा वेबसाइट के वालेट में आ जाता था, जिसके पश्चात उस वालेट से पैसे को आसानी से किसी भी बैंक अकाउंट में भेजा जा सकता है। आरोपी हाउसिग डाट काम वेबसाइट में अपना बैंक अकाउंट जोड़ देते थे और वालेट से पैसा सीधा आरोपियों के बैंक अकाउंट में आ जाता था। वारदात में आरोपित मुजीब फर्जी आइडी पर सिम उपलब्ध करवाता था। आरोपित रोहित ने हाउसिग डाट काम वेबसाइट पर अपना अकाउंट जोड़ रखा था, जिसमें इनको पैसे प्राप्त होते थे। आरोपित विकास तथा उसका एक साथी इसमें साइबर मुख्य साइबर क्रिमिनल है जो वर्ष 2017 से साथ मिलकर कई साइबर अपराध को अंजाम दे चुके हैं। आरोपितों के कब्जे से 9100 रुपये, वारदात में प्रयोग दो मोबाइल फोन व सिम कार्ड बरामद किए गए हैं। आरोपित विकास के खिलाफ एनसीआर में साइबर ठगी के 18 मुकदमे दर्ज हैं। इसमे नौ मुकदमे दिल्ली, सात गुरुग्राम तथा दो मुकदमे फरीदाबाद के शामिल हैं। आरोपित इमरान के खिलाफ भी हत्या का एक मुकदमा दिल्ली में दर्ज है। आरोपित सुमित को मंडौली जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर गिरफ्तार किया जाएगा। 

...

जिला अस्पताल में मृत विवाहिता का शव- पति के इन्तजार में पति लापता पुलिस तलाश में जुटी

फ़िरोज़ाबाद :  फिरोजाबाद जिला अस्पताल में भर्ती एक विवाहिता ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया था इसके बाद उसका कथित पति फरार हो गया जो मंगलवार की देर शाम तक जिला अस्पताल नहीं पहुंचा तब पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेकर जांच पड़ताल की तो पुलिस ओपीडी रजिस्टर में दर्ज कराए पते पर गांव पिपरौल पहुंची पता चला इस नाम की कोई महिला और पुरुष वहाँ नहीं है इससे मामला संदिग्ध और रहस्यमय बन गया है इस मामले का रहस्य सरकारी ट्रामा सेंटर में लगे सीसीटीवी कैमरे खोल पाएंगे यह चर्चा का विषय बना हुआ है थाना नारखी के गांव पिपरौली निवासी 35 वर्षीय शिवानी पत्नी मनोज कुमार कि रविवार की रात तबीयत खराब हो गई पति उसे इलाज के लिए सरकारी ट्रामा सेंटर लेकर आया चिकित्सक ने उसका उपचार शुरू कर दिया इसी मध्य पति कहीं चला गया फिर नहीं लौटा सोमवार की प्रातः उसने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया पति के वापस ना आने के कारण शव को विच्छेदन गृह में रखवा दिया और सूचना पुलिस को भेजी थी जब मृतका का पति भर्ती कराने के बाद वापस नहीं लौटा तो पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और गांव पिपरौली पहुंची पता चला गांव में इस नाम कोई दंपत्ति नहीं रहते हैं जिससे मामला संदिग्ध और रहस्यमय बन गया है क्या इस रहस्य से सरकारी ट्रामा सेंटर में लगे सीसीटीवी कैमरे पर्दाफाश कर सकेंगे मृतका कहां की रहने वाली थी और उसका पति कौन है गौरतलब है मृतका का कथित पति जब उसको भर्ती कराने के लिए ट्रामा सेंटर में आया था तब होमगार्ड की ड्यूटी थी और वहां सीसीटीवी कैमरे भी लगे हुए हैं इसके बाद वह वार्ड में पहुंचा तो वहां भी सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं फिर वह ओपीडी में नाम दर्ज कराने के लिए पहुंचा था तब वहां भी सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं क्या पुलिस और जिला अस्पताल प्रशासन सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगालेगा और भर्ती कराने वाले कथित पति तक पुलिस पहुंच सकेगी यह चर्चा का विषय बना हुआ है गौरतलब है कि पूर्व में भी ऑक्सीजन सिलेंडर चोरी हो गया था और एक सड़क दुर्घटना में घायल जिसकी मां की मौत हो गई थी उसकी जेब से 72 सो रुपए निकाल लिए गए थे जिनका आज तक पुलिस और जिला अस्पताल प्रशासन पता नहीं लगा सका जबकि सरकारी ट्रामा सेंटर में कई जगह सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं |




...

उपमुख्यमंत्री द्वारा उत्तरी दिल्ली नगर निगम पर लगाए गए आरोप निराधार व तथ्यहीन : महापौर

नई दिल्ली : उत्तरी दिल्ली के महापौर, राजा इकबाल सिंह, स्थायी समिति के अध्यक्ष, जोगी राम जैन और नेता सदन छैल बिहारी गोस्वामी ने आज सिविक सेंटर में आयोजित प्रैसवार्ता को संबोधित करते हुए उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया द्वारा उतरी दिल्ली नगर निगम पर बकाया फंड को लेकर लगाए गए झूठे आरोपों का खंडन किया। महापौर राजा इकबाल सिंह ने कहा कि पहले आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता उत्तरी दिल्ली नगर निगम पर झूठे आरोप लगाने का कार्य करते थे अब दिल्ली के उपमुख्यमंत्री भी इस कार्य में लग गए हैं। उन्होंने कहा कि किसी संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति को बिना तथ्यों व पूर्ण जानकारी हासिल किए बिना झूठे आरोप नहीं लगाने चाहिए। निगम के बकाया फंड के संबंध में हम किसी भी सार्वजनिक मंच पर बहस करने के तैयार हैं। 


प्रैस वार्ता के दौरान महापौर द्वारा दिल्ली सरकार पर बकाया फंड को लेकर आंकडे़ पेश किये गए। राजा इकबाल सिंह ने बताया कि वर्ष 2019-20, 2020-21 व 2021-22 में योजना मद के अंतर्गत कुल 660.68 करोड़ रूपये उत्तरी दिल्ली नगर निगम का दिल्ली सरकार पर बकाया है। दिल्ली सरकार ने अपने बजट प्रावधानों में उत्तरी दिल्ली नगर निगम को दिए जाने वाले फंड में 20% यानी लगभग 328.60 करोड़ रूपये की कटौती की है। दिल्ली सरकार पर इस वर्ष बी.टी.ए का 145.70 करोड़ रूपये, शहरी विकास मद में 45.70 करोड़ रूपये व शिक्षा मद में 137.20 करोड़ रूपये यानी कुल 328.60 करोड़ रूपये बक़ाया है। उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार निगम को आर्थिक रूप से पंगु बनाने के लिए बकाया फंड जारी नहीं कर रही है। 


महापौर, राजा इकबाल सिंह ने कहा कि दिल्ली सरकार ने दिल्ली परिवहन निगम व दिल्ली जल बोर्ड को 54000 करोड़ रूपये का ऋण दिया हुआ है जिसके कारण दिल्ली सरकार को हर साल करोड़ो रूपये का नुकसान हो रहा है। आम आदमी पार्टी ने दिल्ली को गैस चैंबर बना दिया है, यमुना नदी साफ करने के नाम पर करोड़ो रूपये का घोटाला किया गया है, दिल्ली में 850 शराब के ठेके खोलने के लिए नई आबकारी नीति लागू की है। उन्होंने बताया कि आम आदमी पार्टी अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए उत्तरी दिल्ली नगर निगम पर झूठे आरोप लगा रही है। उन्होंने दिल्ली सरकरा से निवेदन किया कि नागरिकों के लिए विकास कार्य करने व कर्मचारियों के समय पर वेतन देने के लिए निगम का बकाया फंड जल्द से जल्द जारी करें। 


जोगी राम जैन ने बताया कि आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता समय समय पर बिना तथ्यों की जानकारी के उत्तरी दिल्ली नगर निगम पर झूठे आरोप लगाने का कार्य करते हैं ताकि वो नागरिकों को गुमराह कर सके। उन्होंने बताया कि दिल्ली के माननीय उपराज्यपाल ने भी निगम के बकाया फंड के लिए दिल्ली सरकार को पत्र लिखा था मगर इसके बाद भी निगम का बकाया फंड जारी नहीं किया गया। उन्होंने बताया कि आम आदमी पार्टी जिस 2500 करोड़ रुपये के किराए घोटाले के आरोप उत्तरी दिल्ली नगर निगम पर लगा रही है उसके लिए पूर्व में ही स्पष्ट कर दिया गया था कि स्थायी समिति अध्यक्ष ने दक्षिणी दिल्ली नगर निगम से किराए के रूप में लिए जाने वाले 2500 करोड़ रूपये को अपने बजट प्रावधानों में दर्शाया था। इसके साथ ही उत्तरी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त ने दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त को इस संबंध में एक पत्र भी लिखा है।


स्थायी समिति अध्यक्ष, जोगी राम जैन ने बताया कि भलस्वा लैंडफिल साइट पर चलने वाली ट्रॉमल मशीनों को 18.5 लाख रुपये किराये पर नहीं लिया गया है बल्कि इन सभी मशीनों के लिए 306 रूपये प्रति मैट्रिक टन के हिसाब से भुगतान किया जाता है जिसमें मानवबल, अन्य मशीनें व डीज़ल शामिल हैं। आम आदमी पार्टी जान बूझकर नागरिकों गुमराह करने के लिए इस प्रकार के झूठ बोलती है। उन्होंने बताया कि ए.सी. ब्लॉक शालीमार बाग़ स्थित निगम प्राथमिक विद्यालय की ख़ाली भूमि का लैंड यूज़ चार वर्ष पूर्व ही बदल दिया गया था, ताकि वहाँ नागरिकों के लिए पार्किंग व्यवस्था विकसित की जा सके। इस भूमि पर पी.पी.पी मॉडल के आधार पर 354 कारों के लिए बहुस्तरीय पार्किंग बनाने की योजना है। इस बहुस्तरीय पार्किंग के लिए आरक्षित मूल्य 126 करोड़ रूपये रखा गया है, जो सर्कल रेट से ज़्यादा है। इस पार्किंग का 75 फ़ीसदी हिस्सा उत्तरी दिल्ली नगर निगम के पास रहेगा। उन्होंने बताया कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम पर आरोप लगाया गया कि 2500 करोड़ रूपये मार्किट रेट की 2800 वर्ग मी भूमि को 126 करोड़ रूपये में बेच दिया गया यानी करीब एक करोड़ रूपये वर्ग मी.। आम आदमी पार्टी बताए की एक करोड़ रूपये वर्ग मी. मार्किट रेट कहा पर है। 


नेता सदन, छैल बिहारी गोस्वामी ने बताया कि आम आदमी पार्टी पहले झूठे आरोप लगाती है फिर बाद में माफी मांगती है और इसके कई उदाहरण हमने पूर्व में भी देखे है। हमें अपने बकाया फंड के लिए मुख्यमंत्री के आवास पर 13 दिनों के लिए धरना भी दिया था मगर इन्होंने इस संबंध में एक बार भी चर्चा करने की कोशिश भी नहीं की। उन्होंने बताया कि आज दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक की क्या स्थिती है वो हम सब जानते है। उन्होंने बताया कि कुत्तों के बंध्याकरण के संबंध में आम आदमी पार्टी द्वारा लगाए गए सभी आरोप लगाए झूठे है। उत्तरी दिल्ली नगर ने कुत्तों के बंध्याकरण के लिए गैर सरकारी संगठन को वर्ष 2020 के लिए 1.98 करोड़ रूपये का और वर्ष 2021 के लिए 1.28 करोड़ रूपये का भूगतान करना है जो अभी तक निगम ने नहीं किया है।





...

जनकपुरी में नामी कंपनी के शोरूम का ताला तोड़कर 56 लाख रुपये ले उड़े बदमाश

नई दिल्ली : राजधानी के जनकपुरी इलाके में बाटा शोरूम में चोरी का मामला सामने आया है। बदमाशों ने शोरूम का शटर तोड़कर अंदर मेन लॉकर में रखे करीब 56 लाख रुपये पर हाथ साफ कर दिया। शातिर बदमाशों ने पुलिस से बचने के लिए अंदर लगे सीसीटीवी कैमरे और डीवीआर भी तोड़ दिया। पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है।


जानकारी के मुताबिक जनकपुरी मेन मार्केट में बाटा के जूतों का शोरूम है। यहां सागरपुर निवासी प्रकाश सिंह मैनेजर हैं। प्रकाश ने पुलिस में दी शिकायत में बताया 18 दिसंबर को उन्होंने रात करीब साढ़े 9 बजे शोरूम बंद करवाया था। अगले दिन बिल्डिंग मालिक ने कॉल कर शोरूम का शटर और अंदर मेन गेट का शीशा टूटा होने की सूचना दी। सूचना मिलते ही प्रकाश शेरूम के अन्य कर्मियों के साथ वहां पहुंचे और मामले की जानकारी पुलिस को दी। शोरूम के अंदर जाकर स्टोर की जांच की गई तो मेन लॉकर टूटा मिला। उसकी जांच में लॉकर में रखी करीब 55.68 लाख से अधिक की नकदी गायब मिली। जनकपुरी थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मौके से क्राइम टीम ने साक्ष्य एकत्र कर उसे जांच के लिए भेज दिया है। पुलिस शोरूम के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद से आरोपियों की पहचान करने का प्रयास कर रही है। आशंका जताई जा रही है कि वारदात में शोरूम के ही किसी कर्मचारी का हाथ हो सकता है। पुलिस कर्मचारियों से भी पूछताछ कर रही है।





...