चीन और रूस की उड़ गई नींद... दुनिया के सबसे खतरनाक 'बमवर्षक' की पहली उड़ान कामयाब

दुनिया का सबसे आधुनिक, खतरनाक और चुपचाप हमला करने वाला स्टेल्थ बॉम्बर बी-21 रेडर ने बुधवार को उड़ान भरी। संयुक्त राज्य वायु सेना ने परमाणु म बमवर्षक, बी-21 रेडर की पहली उड़ान के दौरान ली गई तस्वीरें अपनी आधिकारिक सोशल मीडिया एक्स पर जारी कीं। 

बी-1 और बी-2 बमवर्षकों की लेगा जगह

बी-21 रेडर की फ्लाइट टेस्टिंग कैलिफोर्निया के एडवर्ड्स एयर फोर्स बेस पर शुरू हुआ। तस्वीरें जारी कर वायु सेना ने एक बयान में कहा, 'अमेरिकी वायुसेना के बमवर्षक बेड़े की रीढ़ बनने की दिशा में प्रगति जारी है।' वायु सेना के अधिग्रहण मामलों के सहायक सचिव एंड्रयू हंटर के हवाले से फॉक्स न्यूज ने बताया कि विमान रिलिज होने के मामले में ऑन-ट्रैक पर है। बता दें कि यह विमान बी-1 और बी-2 बमवर्षकों की जगह लेगा। 

कितना सक्षम है ये विमान?

हाल ही में जारी की गई तस्वीरों में बमवर्षक विमान को बादलों के ऊपर उड़ते हुए देखा जा सकता है, जबकि एक अन्य तस्वीर में विमान को रनवे के ठीक ऊपर देखा गया। उच्च तकनीक वाला यह स्टेल्थ बमवर्षक विमान परमाणु बम और पारंपरिक हथियार ले जाने में सक्षम है। साथ ही इसे चालक दल के बिना भी उड़ान भरने के लिए डिजाइन किया गया है।

दुश्मनों पर रखेगा पैनी नजर

F-22 और F-35 युद्धक विमानों की तरह, B-21 में भी स्टेल्थ तकनीक होगी, जो विमान के शेप और उसमें इस्तेमाल की गई सामग्री के जरिए उसके एरिया को कम कर देती है, जिससे दुश्मनों के लिए उसका पता लगाना मुश्किल हो जाता है।

100 नए बमवर्षक विमान बनाने की उम्मीद

यूएसएएफ ने एक बयान में बताया कि बी-21 लंबी दूरी का, अत्यधिक टिकाऊ, भेदने वाला स्ट्राइक स्टेल्थ बॉम्बर है जो धीरे-धीरे बी-1 और बी-2 बॉम्बर्स की जगह लेगा और राष्ट्रीय सुरक्षा उद्देश्यों को पूरा करने में प्रमुख भूमिका निभाएगा। इसे ओपन सिस्टम आर्किटेक्चर के साथ डिजाइन किया गया है। 

बी-21 को दक्षिण डकोटा के एल्सवर्थ एयर फोर्स बेस में सेवा में शामिल किए जाने की उम्मीद है, जिसे नए विमान के लिए पहला मुख्य परिचालन बेस बनाने की योजना है। वायु सेना ने पहले बताया था कि उसे अंततः कम से कम 100 नए बमवर्षक विमान मिलने की उम्मीद है।


...

अहमदाबाद में पीएम ने डाला वोट, बच्ची को खिलाया, बुजुर्ग महिला ने बांधी राखी

लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में गुजरात की सूरत छोड़ बाकी सभी 25 सीटों पर वोटिंग हो रही है। सूरत सीट पर भाजपा प्रत्याशी मुकेश दलाल पहले ही निर्विरोध चुनाव जीते गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद में अपना वोट डाला। इस दौरान पीएम मोदी के साथ गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे।

पीएम नरेंद्र मोदी गुजरात के गांधीनगर में राजभवन से मतदान करने सीधे अहमदाबाद के निशान हायर सेकेंडरी स्कूल पहुंचे। यहां गृह मंत्री मोदी ने पीएम मोदी का स्वागत किया। इसके बाद मोदी ने पोलिंग बूथ में जाकर मतदान किया। गांधीनगर लोकसभा सीट से अमित शाह दूसरी बार चुनाव मैदान में किस्मत आजमा रहे हैं।

मतदान करने के बाद पीएम मोदी ने लोगों को अभिवादन किया। अपनी अंगुली पर लगी स्‍याही भी दिखाई। इसके बाद पीएम मोदी ने लोगों से वोट डालने की अपील की। मोदी ने कहा, ''मैं हमेशा यहीं पर वोट डालता हूं। अमित भाई यहां से भाजपा प्रत्‍याशी हैं, चुनाव लड़ रहे हैं। हमारे देश में दान का खास महत्‍व है और इसी भावना से देशवासियों को ज्‍यादा से ज्‍यादा मतदान करना चाहिए। गर्मी है  तो अपने स्वास्थ्य का ख्‍याल रखिए। खूब पानी पिएं।''

बुजुर्ग महिला ने मोदी को राखी बांधी

वोट डालने के बाद जब पीएम मोदी वहां मौजूद लोगों का अभिवादन कर रहे थे। तभी एक बुजुर्ग महिला आगे आई और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कलाई पर राखी बांधी।

पीएम मोदी ने बच्चे को गोद में लिया

पीएम मोदी बूथ पर मौजूद से बातचीत कर रहे थे तो एक महिला अपने बच्चे को गोद में लिए खड़ी थी। मोदी ने बच्चे को गोद में लिया, दुलार किया।

बच्ची बोली- मैं बहुत खुश हूं

पीएम मोदी को उनका स्केच भेंट करने वाले देवर्ष पंड्या ने कहा, ''मैंने पीएम मोदी से पूछा कि ड्राइंग कैसी है। उन्होंने कहा कि यह अच्छी है। मैंने इसे पिछली रात बनाई थी। प्रधानमंत्री मोदी ने इस पर हस्ताक्षर भी किए हैं।' पीएम को स्केच भेंट करने वाली एक अन्य लड़की ने कहा, ''मैंने इसे खुद बनाया है। पीएम मोदी ने मेरा स्केच देखा, पेन मांगा और मुझे ऑटोग्राफ दिया। मैं बहुत खुश हूं।''

शब्दों में बयां नहीं कर सकती

सिया पटेल ने भी पीएम मोदी को उनकी तस्वीर भेंट की। सिया पटेल ने इस पल का अनुभव साझा किया। वह कहती हैं, ''मैंने प्रधानमंत्री मोदी से ऑटोग्राफ मांगा। मैं इस दिन का इंतजार कर रही थी। मैं इसे शब्दों में बयां नहीं कर सकती। उन्होंने बस मुझे ऑटोग्राफ दे दिया। जब से मैंने पोर्ट्रेट बनाया है तब से मैं इस दिन का इंतजार कर रही थी। मैं इसे शब्दों में बयां नहीं कर सकती। यह एक शानदार अनुभव था।''


...

Ghaziabad की साया गोल्ड सोसायटी में दूषित पानी पीने से 200 से ज्यादा लोग बीमार

इंदिरापुरम की साया गोल्ड सोसायटी में दूषित पानी पीने से 200 से ज्यादा लोग बीमार हो गए हैं। लोगों का कहना है कि पानी में कई दिन से सीवर का पानी मिलकर आ रहा था, जिसे लोग पी रहे थे।

पानी पीने से 100 से ज्यादा बच्चे और बड़े कुल मिलाकर 200 से ज्यादा लोग बीमार हो गए हैं। सोसायटी में इतने ज्यादा लोगों के बीमार होने से सोसायटी के लोगों में आक्रोश है।

शुरुआत में नहीं पता चली बीमारी की वजह

शुरुआत में लोगों को पता नहीं चला कि आखिर लोग बीमार क्यों हो रहे हैं, लेकिन बाद में जब जानकारी की गई तो पता चला कि दूषित पानी पीने से सोसायटी में 200 से ज्यादा लोग बीमार हो गए हैं।

लोग इसके विरोध में सोसायटी में शुक्रवार को हंगामा कर रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम सोसायटी में पहुंची है। काफी संख्या में लोग दवा ले रहे हैं।

लोगों ने बताया कि बच्चों को उल्टी-दस्त, पेट में दर्द सहित अन्य दिक्कत हो रही है। सोसाइटी में 1500 से ज्यादा फ्लैट हैं। बिल्डर इसका मेंटेनेंस देखता है।


...

उत्तर प्रदेश में 28 सांसद जीत की हैट्रिक के लिए मैदान में

इस लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश के 28 सांसद जीत की तिकड़ी लगाने के इरादे से चुनावी संग्राम में उतरे हैं। इन सांसदों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, भारी उद्योग मंत्री महेन्द्र नाथ पांडेय, केंद्रीय राज्य मंत्री पंकज चौधरी, संजीव बालियान, भानु प्रताप सिंह वर्मा, कौशल किशोर व अनुप्रिया पटेल भी शामिल हैं। इनमें से अपना दल (एस) की अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल को छोड़ बाकी 27 सांसद भाजपा के हैं।

ये चौथी जीत के लिए मैदान में

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह यूं तो लखनऊ सीट से जीत की हैट्रिक लगाने के लिए मैदान में हैं, लेकिन उनकी निगाहें लगातार चौथी जीत हासिल करने पर टिकी हुई है। राजनाथ ने वर्ष 2009 का चुनाव गाजियाबाद सीट से जीता था। इसके बाद उन्होंने लखनऊ से 2014 व 2019 का चुनाव जीतकर संसद में लखनऊ का प्रतिनिधित्व किया।

बासगांव के भाजपा सांसद कमलेश पासवान भी पिछले तीन लोकसभा चुनाव लगातार जीत चुके हैं और अब चौथी बार विजय प्राप्त करने के लिए जोर लगा रहे हैं। इसी कड़ी में जगदंबिका पाल भी आते हैं। बतौर भाजपा प्रत्याशी डुमरियागंज सीट पर तो वह हैट्रिक लगाने के इरादे के साथ उतरे हैं। इससे पहले 2009 में कांग्रेस के टिकट पर इस सीट पर जीत चुके हैं।

दो बार हैट्रिक लगा चुकी हैं मेनका

सांसद मेनका गांधी अपने संसदीय सफर में चुनावी जीत की दो हैट्रिक लगा चुकी हैं। वर्ष 1996, 1998 व 1999 में पीलीभीत सीट से चुनाव जीतकर उन्होंने पहली हैट्रिक लगाई थी। 1998 में वह जनता दल के टिकट पर तो 1998 व 1999 में निर्दलीय प्रत्याशी की हैसियत से चुनाव लड़ी थीं। वहीं बतौर भाजपा प्रत्याशी 2004, 2009 व 2014 के तीन लोकसभा चुनाव लगातार जीतकर उन्होंने दूसरी बार तिकड़ी लगाई।

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी भी दूसरी हैट्रिक लगाने के लिए चुनाव मैदान में उतरे हैं। चौधरी ने भाजपा प्रत्याशी के रूप में वर्ष 1991,1996 व 1998 के लोकसभा चुनाव महराजगंज सीट से जीते थे। इसके बाद चौधरी ने 2004 में भगवा परचम लहराया। 2014 व 2019 में इसी सीट को फिर जीते।


...

अखिलेश यादव कन्नौज से लड़ सकते हैं चुनाव! आज हो सकता है नाम का ऐलान

उत्तर प्रदेश की कन्नौज लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव खुद चुनावी मैदान में उतर सकते हैं. यह दावा सूत्रों ने किया है. सपा मुखिया गुरुवार को कन्नौज दौरे पर थे. इस दौरान उन्होंने सपा पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं, सेक्टर/बूथ प्रभारियों से मुलाकात की. जिसके बाद इस तरह के कयास तेज हो गए हैं. 

समाजवादी पार्टी की ओर से अब तक कन्नौज लोकसभा सीट पर प्रत्याशी के नाम को लेकर अब तक सस्पेंस बरकरार है. ऐसे में सपा अध्यक्ष के कन्नौज दौरे के बाद अखिलेश यादव के नाम को लेकर अटकलें और तेज हो गई है. सूत्रों की माने तो लगभग अखिलेश यादव का कन्नौज से चुनाव लड़ना तय माना जा रहा है. आज पार्टी की ओर से उनके नाम का एलान भी किया जा सकता है. 

कन्नौज से चुनाव लड़ सकते हैं अखिलेश

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कोई खुलकर कन्नौज से चुनाव लड़ने की बात नहीं की लेकिन कई बार इशारों में वो यहां से चुनाव लड़ने की बात कह चुके हैं. पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए भी उन्होंने कन्नौज का अपना घर बताया था और कहा था कि इस क्षेत्र से उनके परिवार को दो दशकों से भी ज्यादा का रिश्ता रहा है वो कन्नौज को नहीं छोड़ सकते हैं. लेकिन सपा की कई लिस्ट आने के बाद भी जब कन्नौज से प्रत्याशी घोषित नहीं किया गया तो कई कयास भी लगने शुरू हो गए. 

कन्नौज लोकसभा सीट समाजवादी पार्टी का गढ़ मानी जाती है. इस सीट से समाजवादी पार्टी 1998 से 2014 तक सभी चुनाव में जीत हासिल करती आई है. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और डिंपल यादव भी यहां सांसद रहे हैं. हालांकि 2019 के चुनाव में बीजेपी के सुब्रत पाठक में डिंपल यादव को क़रीब 13 हजार वोटों के अंतर से हरा दिया था. 

बीजेपी ने इस सीट से सांसद सुब्रत पाठक को ही मैदान में उतारा है वहीं बसपा के ओर अकील अहमद को टिकट दिया गया है. अकील ने लंबे समय तक सपा के लिए काम किया है. खबरों के मुताबिक अखिलेश यादव 23 अप्रैल को अपना नामांकन पत्र भी दाखिल कर सकते हैं. इसके लिए पार्टी की ओर से तैयारियां की जा रही हैं.








...

रामनवमी पर अयोध्या जाने के लिए 400 बस लगाई गई

रामनवमी के मौके पर प्रदेश के विभिन्न जिलों से अयोध्या जाने के लिए 400 बस लगाई गई हैं। अयोध्या, देवीपाटन, आजमगढ़ और गोरखपुर से यह रोड़वेज बसें लगाई गई हैं।

परिवहन निगम के एमडी ने दिया निर्देश, मेला अधिकारी नियुक्त

परिवहन निगम के एमडी मासूम अली सरवर का कहना है कि श्रद्धालुओं को रामनवमी मेला स्थल और भगवान राम के दर्शन करने में किसी तरह की कोई असुविधा न हो, इसका खास ख्याल रखते हुए हर रूट पर बसों को चलाया जा रहा है।

उन्होंने इसको लेकर अवध बस अड्डे पर निरीक्षण भी किया है। वहीं , अयोध्या डिपो के सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक आदित्य कुमार यह जिम्मेदारी निभाएंगे। परिवहन निगम प्रशासन ने ड्यूटी में लगे कर्मचारियों की छुट्टी भी रद कर दी है।

अभी तीन दिन चलेगी मेला स्पेशल बस

17 अप्रैल से 20 अप्रैल तक मेला में भीड़ रहेगी। श्रद्धालु 20 अप्रैल तक वापस जाएंगे। इसे देखते हुए क्षेत्र के सभी सहायक क्षेत्रीय प्रबंधकों को निर्देश दिया गया है कि आवंटन के अनुसार बसों को मेला क्षेत्र में भेजते हुए मेला प्रभारी से संपर्क कर चालक परिचालकों को निर्देशित करें।

नया घाट गोंडा बहराइच बस स्टेशन पर 15 बसें, नया घाट गोंडा बस स्टेशन से पांच बसें, नया घाट गोंडा बस स्टेशन से 10 बसें अमेठी डिपो की, नया घाट बस्ती बस स्टेशन से चार बसें लगाई गई हैं।

अयोध्या के लोकल क्षेत्र में चलेंगी यह बसें

अयोध्या डिपो की नया घाट बस्ती बस स्टेशन, सुल्तानपुर डिपो , नया घाट गोरखपुर बस स्टेशन से अयोध्या डिपो की, नया घाट गौर बाजार से बसें अयोध्या की, नया घाट बभनान से बसें अयोध्या, नया घाट घनघटा से दो बसें अयोध्या की, नया घाट अकबरपुर आजमगढ़ बस स्टेशन, अकबरपुर डिपो की, नया घाट जहांगीरगंज राजेसुल्तानपुर से अकबरपुर डिपो की होंगी।


...

200 यूनिट फ्री बिजली, बिहार को विशेष राज्य का दर्जा

 बिहार के नेता प्रतिपक्ष और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने एलान किया है कि देश मे अगर I.N.D.I.A  गठबंधन की सरकार बनती है तो देश में 5 साल में एक करोड़ रोजगार दिए जाएंगे। साथ ही महिलाओं को सलाना 1 लाख रुपये देने का एलान भी किया।

सरकार बनने पर महिलाओं को 1 लाख रुपये सालाना देंगे

तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने कहा कि रक्षाबंधन पर गरीब वर्ग की महिलाओं को प्रत्येक वर्ष एक लाख रुपए की सहायता दी जाएगी। इतना ही नहीं बिहार को विशेष राज्य का दर्जा और विशेष पैकेज भी दिया जाएगा।

तेजस्वी यादव ने शनिवार को पार्टी कार्यालय में 2024 के लोकसभा चुनाव का परिवर्तन पत्र जारी किया। उन्होंने कहा हम जो कहते हैं उसे पूरा भी करते हैं। परिवर्तन पत्र में जो वचन दिए गए हैं उन्हें पूरा किया जाएगा।

अग्निवीर योजना को समाप्त करेंगे (RJD Ghoshna Patra 2024)

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान नेता प्रतिपक्ष ने एलान किया कि हमारी सरकार बनी तो चार वर्ष की अग्निवीर योजना समाप्त की जाएगी। उन्होंने पुरानी पेंशन योजना को लागू करने का भी एलान किया।

लोगों को 200 यूनिट फ्री बिजली देंगे

तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार में लोगों को 200 यूनिट फ्री बिजली देंगे। गरीब लोगों और किसान भाइयों को सहूलियत होगी।

तेजस्वी बोले- सरकार बनने पर 1 करोड़ नौकरी देंगे

तेजस्वी यादव ने कहा बिहार में 17 साल बनाम 17 महीने के तर्ज पर हम सभी सरकारी विभागों और सार्वजनिक संस्थानों में रिक्त 30 लाख पदों के अलावा 70 लाख पदों का सृजन कर कुल  1 करोड़ नौकरियां देंगे। आने वाले 15 अगस्त से बेरोजगारी खत्म करने की पहल शुरू हो जाएगी।

बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देंगे

तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार के विशेष राज्य के दर्जे की मांग लगभग दो दशक पुरानी है बिहार के विकास के बगैर देश विकसित नहीं हो सकता। उन्होंने ऐलान किया केंद्र में अगर हमारे गठबंधन की सरकार बनी तो बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाएगा साथ ही 1.60 लाख करोड़ का विशेष पैकेज भी दिया जाएगा। बिहार की प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र को 4000 करोड रुपए की विशेष धनराशि मिलेगी जो इस पैकेज के तहत होगी।

गैस सिलेंडर 500 रुपये में देंगे

नेता प्रतिपक्ष ने ऐलान किया कि देश में आज गैस के सिलेंडरों की कीमत आसमान छू रही है महागठबंधन की सरकार बनने पर घरेलू गैस सिलेंडर कीमत ₹500 निर्धारित की जाएगी इससे अधिक नहीं होगी उन्होंने कहा बिहार में सर्वाधिक महंगी बिजली है सरकार बनने पर बिजली की बेतहाशा की बढ़ती की मुद्दों पर लगाम लगाने के लिए एक आयोग का गठन किया जाएगा साथ ही हर एक घरेलू उपभोक्ता को हर महीने 200 यूनिट फ्री बिजली दी जाएगी।

कुछ अन्य प्रमुख घोषणाएं

 सी भर्ती प्रक्रिया में तेजी लाई जाएगी ड्यूटी के दौरान अर्धसैनिक बलों के जवान की मृत्यु होने पर उसे शाहिद का दर्जा दिया जाएगा

 रेलवे की नियुक्ति 2014 के पूर्व बालको पर ले जाकर इसे दोगुना करते हुए निराश युवाओं को नौकरी देने का अवसर प्रदान किया जाएगा

 शानदार कनेक्टिविटी के लिए बिहार में पूर्णिया गोपालगंज मुजफ्फरपुर भागलपुर एवं रक्सौल में एयरपोर्ट का निर्माण कराया जाएगा राज्य के आर्थिक विकास पर्यटन एवं युवतियों की सहूलियत के लिए यह एयरपोर्ट आवश्यक है सभी प्रदेशों और पूर्वी पड़ोसी देशों के साथ हमारी कनेक्टिविटी तब और बेहतर होगी

 बिहार के कृषि उत्पादों के लिए अधिकतम खुदरा मूल्य सुनिश्चित करेंगे। कृषकों को समर्पित नीतियां किसानों के साथ बैठकर बनाएंगे

 स्वामीनाथन रिपोर्ट की सिफारिश से लागू करेंगे

 वंचितों, उपेक्षितों के कल्याण के लिए मंडल कमीशन की शेष सिफारिश को लागू किया जाएगा।


...

थाईलैंड में समलैंगिक विवाह को वैध बनाने की तैयारी

थाईलैंड में समलैंगिक विवाह को वैध बनाने की तैयारी हो रही है। संसद के निचले सदन ने बुधवार को विवाह समानता विधेयक को भारी बहुमत से पारित कर दिया है। 415 में से 400 सांसदों ने पक्ष में मतदान किया। कानून बनने पर थाईलैंड दक्षिण पूर्व एशिया का पहला और ताइवान और नेपाल के बाद एशिया का तीसरा देश बन जाएगा।

थाईलैंड की संसद ने बुधवार को विवाह समानता विधेयक को मंजूरी दे दी है। इस ऐतिहासिक कदम के साथ ही थाईलैंड समलैंगिक विवाह को वैध बनाने वाला तीसरा देश बन जाएगा। इस विधेयक को थाईलैंड की सभी प्रमुख पार्टियों का समर्थन प्राप्त था और इसे बनाने में एक दशक से अधिक का समय लगा। कानून बनने से पहले इसे अभी भी सीनेट से अनुमोदन और राजा से समर्थन की आवश्यकता है। यह कानून बनने में अभी 120 दिन का समय लगेगा।

इस विधेयक के माध्यम से 'पुरुष और महिला' और 'पति और पत्नी' शब्दों को 'व्यक्ति' और 'विवाह भागीदार' में बदलने के लिए सिविल एंड कमर्शियल कोड में संशोधन किया जाना है। यह एलजीबीटीक्यू प्लस जोड़ों की पहुंच पूर्ण कानूनी, वित्तीय और चिकित्सा अधिकारों तक बनाएगा।

विधेयक को सीनेट के पास भेजा जाएगा। निचले सदन से पारित किसी भी विधेयक को सीनेट ने शायद ही कभी खारिज किया हो, इसलिए इसका कानून बनना तय माना जा रहा है। वहां से इसे राजा के पास भेजा जाएगा।

सत्ताधारी फू थाई पार्टी के प्रवक्ता दानुफार्न पुन्नकांता ने कहा कि यह संशोधन हर किसी के लिए है। हम एलजीबीटीक्यू प्लस को अधिकार लौटाना चाहते हैं। ये मौलिक अधिकार हैं जो इस समूह के लोगों ने खो दिया है।


...

पुलिस द्वारा अवैध वाटर पैकेजिंग कंपनी के हित में किया जा रहा प्रचार

गाज़ियाबाद: उपभोक्ता जनघोष:- गाज़ियाबाद नगर निगम क्षेत्र में लग-भग 4 मीटर से ज्यादा प्रतिवर्ष ग्राउंड वाटर स्तर गिर रहा है जिससे नगर निगम द्वारा लगाए गए बड़े बोरवेल भी फेल हो रहे है जिसके कारण निगम का आर्थिक नुक्सान हो रहा है। हमारे यहाँ अवैध वाटर पैकेजिंग करने वाली कम्पनीयों की भरमार है जो ग्राउंड वाटर डिपार्टमेंट के लिए बहुत बड़ा चैलेंजे है। अनमोल वाटर कंपनी जो बहुत लम्बे समय से वाटर पैकेजिंग कर रही है जनपद गाज़ियाबाद में बिसलेरी के बाद यह दूसरे स्थान पर वाटर पैकेजिंग कर रही है जिसका पानी गाज़ियाबाद नॉएडा दिल्ली जैसे राज्य में भी बिक रहा है उक्त कंपनी का ग्राउंड वाटर रिचार्ज के लिए कोई योगदान नही है।

 अनमोल वाटर कम्पनी के मालिक ने लगभग 25 वर्ष पहले छोटे स्तर पर पानी बेचने का काम शुरू किया था जिसके बाद एरिया में ग्राउंड वाटर क्वालिटी/स्वाद ख़राब होने के कारण प्यासी जनता को पानी बेचने का धंदा उक्त व्यक्ति को फलफूल गया और इनकम लाखों से करोड़ों में पहुँच गई। जिसके बाद 2003 में अनमोल वाटर कंपनी की स्थापना की और अवैध बोरवेल से वाटर पैकेजिंग कर पानी बेचने का काम आसमान छूने लगा और देखते ही देखते बिसलेरी को टक्कर देने वाली यह कंपनी बन गई। लेकिन देखने वाली बात यह है कि अवैध वाटर पकेजिंग के इतने लम्बे कार्यकाल में अनमोल कंपनी के बोरवेल के विरुद्ध कोई कार्यवाही नही हुई, यदि ऐसी संचालित कंपनियों के पास अनुमति होती और अनुमति की शर्तों का पालन किया गया होता तो आज हमें ग्राउंड वाटर की यह गिरती स्तिथि नही देखनी पड़ती।

 डीएम साहब ने दिए कंपनी के अवैध बोरवेल को सील करने के आदेश, पुलिस बोर्ड लगाकर कंपनी के हित में कर रही प्रचार.....   

जनपद पुलिस उक्त अनमोल वाटर कंपनी के हित में बोर्ड लगाकर प्रचार करने पर तुली हुई है जिससे अवैध वाटर पैकेजिंग वाटर कंपनी की सेल में इजाफा हो जाये, बताया जा रहा है उक्त बोर्ड बनवाने का भुगतान अनमोल वाटर कंपनी द्वारा किया गया है सवाल ये है कि किस पुलिस अधिकारी द्वारा अनुमति दी गई है जिस कंपनी पर पांच लाख रुपये का जुर्माना करते हुए बोरवेल सील करने का आदेश डीएम साहब ने दिया है उसका प्रचार पुलिस कर रही है, गाज़ियाबाद लालकुआ एवं बज़रिय पुलिस चौकी के बोर्ड पर AQAFAST अनमोल वाटर कंपनी के बोर्ड लगे है जिले में और भी पुलिस थाने चौकी होंगे जिसपर यह बोर्ड लगे होंगें या लगें है।

जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने इतने लम्बे समय से संचालित अवैध वाटर पैकेजिंग के कारोबार का अंत करने की तेयारी कर दी है। जिला भूगर्भ जल प्रबंधन परिषद् के अध्यक्ष/जिलाधिकारी ने अनमोल वाटर कंपनी पर पांच लाख का जुर्माना और बोरवेल सील करने के आदेश दिए है। नोडल अधिकारी हरिओम ने बताया कि मजिस्ट्रेट नियुक्ति हो चुकी है समय मिलते ही डीएम साहब के आदेश का पालन किया जायेगा हमारे द्वरा पूर्व में अनमोल वाटर कंपनी को बोरवेल बंद/सील/ध्वस्तीकरण करके सूचना देने के लिए नोटिस जारी किया जा चुका था। 

ऐसे हुई कार्यवाही की शुरुआत.....

ग्राउंड वाटर के स्तर गिरने का जब नया सरकारी आंकड़ा सामने आया जिसमें चार मीटर से भी ज्यादा जनपद गाज़ियाबाद का भूजल स्तर प्रति वर्ष गिर रहा है चिंता का विषय है यही हाल रहा तो अगले 20 वर्षों में गाज़ियाबाद के हालात क्या होंगे। उपभोक्ता जनघोष के संपादक जानेआलम (Janu choudhary) को जब यह जानकारी हुई कि बिसलेरी के बाद AQAFAST अनमोल वाटर कंपनी का वाटर सबसे ज्यादा बिक रहा है और जानकारी के बाद पता चला अनुमति भी नही है जिससे अनुमति में दी गई शर्तों का पालन हो और ग्राउंड वाटर रिचार्ज हो सके। जानू चौधरी द्वारा शिकायत की गई जिसपर संज्ञान लेते हुए ग्राउंड वाटर पोर्टल के नोडल अधिकारी हरिओम द्वारा परिषद् की मीटिंग के बाद नोटिस जरी किया गया जिसमें अवैध बोरवेल सील करने को कहा गया था लेकिन कंपनी के मालिक ने नोटिस को नजरंदाज़ कर दिया। जिसके बाद ग्राउंड वाटर डिपार्टमेंट लखनऊ ने अग्रिम कार्यवाही करने को कहा जिसके बाद यह कार्यवाही की गई है। 

  1. अवैध बोरवेल से करोड़ों रुपये की वाटर पैकेजिंग। 
  2. लगभग बीस वर्षों से चल रहा अवैध कारोबार।  
  3. ग्राउंड वाटर डिपार्टमेंट से कोई अनुमति नही।  
  4. पुलिस कर रही अवैध बोरवेल कर वाटर पैकेजिंग करने वाली अनमोल वाटर कंपनी के हित में प्रचार। 
  5. शिकायत के बाद उत्तर प्रदेश ग्राउंड वाटर डिपार्टमेंट लखनऊ द्वारा संज्ञान के बाद जिलाधिकारी महोदय ने लगाया 5 लाख का जुर्माना एवं सील करने के आदेश दिए है। 
  6. जनपद गाज़ियाबाद व हापुड़ में जानेआलम (Janu choudhary) के सहयोग से अनुमति मिलने तक सभी संचालित कामर्शियल बोरवेल सील करने के सन 2018 में NGT ने आदेश दिए थे 
  7. भूजल स्तर गिरने के कारण केन्द्रीय भूजल प्राधिकरण (CGWA) ने 1998 में नगर निगम गाज़ियाबाद को अधिसूचित क्षेत्र घोषित किया था। 
...

इलाहाबाद हाई कोर्ट का जिला अदालतों के जजों को आदेश

इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने एक अहम आदेश में अपने अधीनस्थ सभी जिला अदालतों के जजों को आदेश दिया है कि आर्डर शीट पर आदेश को साफ-साफ और पठनीय तरीके से अंकित किया करें।

कोर्ट ने कहा कि सभी विचारण न्यायालय और अपीलीय न्यायालय अपने आदेशों को आर्डर शीट पर स्पष्ट तरीके से लिखें और संक्षिप्त शब्दों का प्रयोग करने से बचें। यह आदेश जस्टिस सुभाष विद्यार्थी की पीठ ने अजय सिंह उर्फ गोलू की ओर से दाखिल एक याचिका को निस्तारित करते हुए पारित किया।

याचिका पर सुनवाई करते हुए दिए आदेश

याचिका में तलबी आदेश को चुनौती देकर याची की अधिवक्ता अन्नपूर्णा अग्निहोत्री का तर्क था कि अमानत में खयानत के एक अपराधिक मामले में न्यायिक मजिस्ट्रेट तृतीय, लखनऊ ने याची के खिलाफ एनबीडब्ल्यू जारी कर दिया है, जबकि उसे कोई सम्मन प्राप्त नहीं हुआ है। मांग की गई कि उक्त एनबीडब्ल्यू को रद किया जाए।

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने पाया कि न्यायिक मजिस्ट्रेट तृतीय, लखनऊ के सामने चल रहे मामले में याची को सम्मन जारी किया गया था किंतु आर्डर शीट पर बिना यह अंकित किये कि उक्त सम्मन याची को प्राप्त कराया गया या नहीं, उसके खिलाफ एनबीडब्ल्यू जारी कर दिया गया। कोर्ट के सामने मामले की आर्डर शीट दाखिल की गई थी जिसके अवलोकन पर जस्टिस विद्यार्थी ने पाया कि आर्डर स्पष्ट नहीं था और बार-बार संक्षिप्त शब्दों का प्रयोग किया गया जिसे समझना कठिन है।

कोर्ट ने बताया- आदेश को साफ-साफ लिखना क्यों जरुरी

अंकित आदेश इस प्रकार लिखा गया है कि उसे पढ़ना भी मुश्किल है। कोर्ट ने कहा कि विचारण न्यायालय द्वारा पारित आदेशों से पक्षकारों के अधिकारों पर प्रभाव पड़ता है। आदेशों को आर्डर शीट पर साफ-साफ अंकित करना इसलिए भी अनिवार्य है कि यदि उक्त आदेश को किसी ऊपरी न्यायालय में चुनौती दी जाए तो वह न्यायालय उक्त आदेश की वैधानिकता की समीक्षा कर सके।

कोर्ट ने कहा कि पहले भी आदेश दिये गए हैं, किंतु प्रस्तुत आदेश को देखने से स्पष्ट है कि विचारण न्यायालय अभी भी आदेश को आर्डर शीट पर साफ-साफ लिखने की ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।

हाई कोर्ट ने कहा कि उसके आदेश को जनपद स्तर के सभी न्यायालयों के संज्ञान में लाया जाए। इस बीच कोर्ट ने याची को राहत देते हुए उसके खिलाफ जारी एनबीडब्ल्यू रद कर दिया। साथ ही याची को आदेश दिया कि वह सीआरपीसी की धारा 88 के तहत व्यक्तिगत बंधपत्र और दो जमानतें पेश कर विचारण की कार्यवाही में सहयोग करे



...