अब वर्ष में दो बार होंगी बोर्ड परीक्षाएं, शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने की घोषणा, शैक्षणिक वर्ष 2025-26 से लागू

अगले वर्ष बोर्ड परीक्षाएं देने जा रहे देश भर के स्टूडेंट्स के लिए महत्वपूर्ण अपडेट। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है कि अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। यह व्यवस्था शैक्षणिक वर्ष 2025-26 से लागू होगी। ऐसे में केंद्रीय बोर्डों (CBSE, CISCE) के साथ-साथ विभिन्न राज्यों के शिक्षा बोर्डों से सम्बद्ध स्कूलों में वर्ष 2023-24 के दौरान कक्षा 8 और कक्षा 10 में पढ़ाई कर रहे छात्र-छात्राओं के लिए शैक्षणिक वर्ष 2025-26 में क्रमश: 10वीं और 12वीं के लिए बोर्ड परीक्षाएं वर्ष में दो बार आयोजित की जाएंगी।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति से प्रेरित है कदम

शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार, 19 फरवरी 2024 को छत्तीसगढ़ में प्राइम मिनिस्टर स्कूल्स फॉर राइजिंग इंडिया (PM SHRI) योजना की शुरूआत करते हुए जानकारी दी कि वर्ष में दो बार बोर्ड परीक्षाएं आयोजित किए जाने का निर्णय राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) 2020 से प्रेरित है। राज्य के रायपुर स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में आयोजित समारोह में संबोधित करते हुए उन्होंने बताया कि NEP में स्टूडेंट्स के उपर शैक्षिक तनाव को कम करने की दिशा में कदम उठाए जाने के सुझाव दिए गए हैं।

बेस्ट स्कोर होगा फाइनल

इसके साथ ही शिक्षा मंत्री ने कहा कि केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा न्यू करिकुलम फ्रेमवर्क (NCF) की घोषणा पिछले वर्ष की गई थी। इसके अनुसार वर्ष में दो बार बोर्ड परीक्षाएं लागू किया जाएगा ताकि स्टूडेंट्स को तैयारी का पर्याप्त समय मिले और वे बेहतर प्रदर्शन कर सकें। दो बार बोर्ड परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले स्टूडेंट्स के दोनों में से बेस्ट स्कोर को फाइनल रखने की छूट होगी। शिक्षा मंत्री ने समारोह में उपस्थित छात्र-छात्राओं से पूछा कि क्या वे सरकार के इस फैसले से खुश हैं और उन्हें बताय कि वे बेस्ट मार्क्स को ही अंतिम मान सेकेंगे।


...

पुलिस भर्ती की परीक्षा देने आई पत्नी ने कर दिया हंगामा

पुलिस भर्ती परीक्षा से पहले बीएसए केंद्र के बाहर पति को देखकर एक महिला भड़क गई और हंगामा करने लगी। महिला का आरोप था कि वह पुलिस की परीक्षा देने आई है। पति उसके पीछे आ गया और परीक्षा देने का विरोध कर रहा है।

हंगामा देख केंद्र पर तैनात पुलिस कर्मी आए। उन्होंने महिला को गेट के अंदर किया और पति को पकड़ लिया। पूछताछ में पता चला कि पति चचेरे भाई को परीक्षा दिलाने आया है तो पुलिस ने उसे छोड़ दिया।

लिस की परीक्षा देने पहुंची थी महिला

सादाबाद के छताया गांव की रहने वाली सविता अपने पिता भगवान दास के साथ पुलिस की परीक्षा देने के लिए परीक्षा केंद्र बीएसए कालेज आई थी। दोपहर पौने एक बजे केंद्र के बाहर उसका पति देवेंद्र प्रताप निवासी बलदेव दिख गया। पत्नी को देख देवेंद्र उसके पास पहुंचकर बच्चों से बात कराने की कहने लगा। इसी बीच दोनों में विवाद होना शुरू हो गया। महिला हंगामा करते हुए आरोप लगाने लगी कि पति उसे परीक्षा देने से रोक रहा है।

पुलिस ने पति को पकड़ लिया

केंद्र पर तैनात पुलिस कर्मियों ने महिला को सुरक्षित गेट के अंदर कराया और पति को पकड़ लिया। पति देवेंद्र प्रताप ने बताया, दो महीने बच्चे को बहन के घर ले जाने को लेकर पत्नी से विवाद हो गया था। इस पर ससुर पत्नी को लेकर घर चले गए थे। रविवार को वह अपने चचेरे भाई मोहित को परीक्षा दिलाने के लिए आया था।

संयोग से दोनों के सेंटर एक ही जगह

संयोग निकला कि पत्नी का भी परीक्षा केंद्र बीएसए कालेज पड़ गया। पत्नी को देख उसने बच्चों से बात कराने की बात कही। इस पर वह भड़क गई और विवाद करने लगी। पति और पत्नी का आपसी विवाद देख पुलिस कर्मियों ने पति को किसी तरह का विवाद नहीं करने की नसीहत देकर छोड़ दिया।


...

UP Police कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के लिए एग्जाम सिटी स्लिप जारी

यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा का आयोजन 3 हजार से अधिक केंद्रों पर 17 और 18 फरवरी को किया जाएगा. एग्जाम सिटी स्लिप आज जारी कर दी गई है. कैंडिडेट यहां बताए जा रहे स्टेप्स के जरिए आसानी से सिटी स्लिप डाउनलोड कर सकते हैं.

उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड (UPPRPB) ने कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के लिए एग्जाम सिटी स्लिप यानी की प्री एमडिट कार्ड जारी कर दिया है. स्लिप UPPRPB की आधिकारिक वेबसाइट uppbpb.gov.in पर जारी की गई है. कैंडिडेट अपने एप्लीकेशन नंबर के जरिए सिटी स्लिप डाउनलोड कर सकते हैं. इस संबंध में बोर्ड ने नोटिस भी जारी किया है. कांस्टेबल पदों के लिए लिखित परीक्षा का आयोजन 17 और 18 फरवरी को किया जाएगा. आइए जानते हैं कि एग्जाम के लिए एडमिट कार्ड कब तक जारी किया जाएगा.

कांस्टेबल भर्ती के लिए लगभग 50 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है. भर्ती परीक्षा का आयोजन दो पालियों में किया जाएगा. पहली पाली में परीक्षा सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक और दूसरी पाली में एग्जाम दोपहर 3 बजे से शाम 5 बजे तक होगा.

ऐसे डाउनलोड करें प्री एडमिट कार्ड

UPPRPB की आधिकारिक वेबसाइट uppbpb.gov.in पर जाएं.

होम पेज पर उपलब्ध परीक्षा शहर लिंक पर क्लिक करें.

एक नया पेज खुलेगा जहां ‘शहर सूचना’ लिंक पर क्लिक करना होगा.

आवेदन संख्या आदि मांगी गई जानकारी को दर्ज करें.

एग्जाम सिटी स्लिप आपकी स्क्रीन पर आ जाएगी.

कब जारी होगा एमडिट कार्ड?

यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड 13 फरवरी को जारी किया जाएगा. एडमिट कार्ड डाउनलोड करने के लिए अभ्यर्थियों को आवेदन संख्या और जन्म तिथि दर्ज करनी होगी. हाॅल टिकट पर कैंडिडेट का नाम, रोल नंबर, परीक्षा का दिन, शिफ्ट, समय और परीक्षा केंद्र का स्थान आदि कई महत्वपूर्ण चीजें लिखी होगी.

बता दें कि राज्य के 75 जिलों में आयोजित होने वाली इस परीक्षा में बड़ी संख्या में अभ्यर्थी शामिल होंगे, जिसके लिए राज्य में 3 हजार से ज्यादा परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं. इसलिए किसी भी गड़बड़ी को रोकने के लिए हर परीक्षा केंद्र पर जैमर लगाए जाएंगे. साथ ही अधिकारी कंट्रोल रूम में बैठकर सीसीटीवी के जरिए पूरी परीक्षा की निगरानी करेंगे. इन सीसीटीवी का कंट्रोल रूम पुलिस कार्यालय में स्थापित किया जाएगा, जहां पुलिस टीम सभी परीक्षार्थियों पर पैनी नजर रखेगी.


...

मनी लॉन्ड्रिंग केस में ED ने लालू और तेजस्वी यादव को पूछताछ के लिए बुलाया

प्रवर्तन निदेशालय ने लालू यादव और तेजस्वी यादव को इस महीने के अंत में पटना कार्यालय में उपस्थित होने के लिए कहा है.

ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद और उनके बेटे उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को समन जारी किया है. प्रवर्तन निदेशालय ने उन्हें इस महीने के अंत में पटना कार्यालय में उपस्थित होने के लिए कहा है. दोनों नेताओं पर जमीन के बदले रेलवे में नौकरी के कथित घोटाले से जुड़ा मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है.

ईडी के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि प्रसाद को जहां 29 जनवरी को पेश होने के लिए कहा गया है, वहीं तेजस्वी को 30 जनवरी को बुलाया गया है. अधिकारियों ने बताया कि एक टीम समन देने के लिए लालू प्रसाद की पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के पटना स्थित आधिकारिक आवास पर गई थी.

धर राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू यादव ने आज ही बिहार के मुख्यमंत्री एवं जेडीयू प्रमुख नीतीश कुमार से उनके आवास पर मुलाकात की. इस मौके पर लालू प्रसाद के बेटे और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी उनके साथ थे.

बैठक के बाद अपने आवास पर लौटे तेजस्वी यादव ने संवाददाताओं से कहा कि दरार की अफवाहें जमीनी हकीकत से बिल्कुल अलग हैं.

माना जा रहा है कि महागठबंधन में शामिल जनता दल (यूनाइटेड) के नेता सीट-बंटवारे को लेकर तेजी से फैसला किए जाने पर जोर डाल रहे हैं. हालांकि, कुछ दिन पहले ही लालू ने इन दावों को खारिज कर दिया था.


...

यूपी में सरकारी टीचर्स को अब नहीं मिलेगा मनचाहे जिले में ट्रांसफर

यूपी के बेसिक स्कूलों में टीचर्स के एक से दूसरे जिले में ट्रांसफर से जुड़ी बड़ी खबर आई है. ट्रांसफर को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट का महत्वपूर्ण फैसला आया है. हाईकोर्ट ने कहा, टीचर्स को मनचाहे जिले में ट्रांसफर पाने का कोई संवैधानिक अधिकार नहीं है. अदालत ने कहा कि ट्रांसफर नीति प्रशासनिक फैसला होती है. यह कोई वैधानिक प्रावधान नहीं है.

अदालत ने कहा कि ट्रांसफर प्रक्रिया के मूल अधिकार में शामिल नहीं होने की वजह से कोर्ट इस मामले में सीधे तौर पर दखल नहीं दे सकती. हाईकोर्ट ने कहा, जब तक किसी मामले में मनमानी न हो, तब तक सीधे तौर पर दखल देना उचित नहीं है. हाईकोर्ट ने इसी आधार पर कई टीचर्स द्वारा दाखिल की गई चारों याचिकाओ को खारिज कर दिया. यह सभी टीचर्स प्रमोट होकर हेड मास्टर हो गए थे.

बेसिक शिक्षा परिषद ने प्रमोशन के आधार पर इनका ट्रांसफर निरस्त कर दिया था. कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि याचिकाकर्ता टीचर्स ऐसे जिलों में ट्रांसफर होकर जा रहे हैं, जहां इन्हीं के बैच के कई दूसरे असिस्टेंट टीचर्स पहले से कार्यरत हैं. यदि इनका ट्रांसफर किया गया तो उन जिलों में असहज स्थिति हो सकती है.

सहकर्मी के साथ  असामंजस्यता की वजह से इन टीचरों के कामकाज पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है. बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूलों में पढ़ा रही श्रद्धा यादव, मिथिलेश यादव, मीनाक्षी गुप्ता और विवेक श्रीवास्तव समेत 16 टीचर्स ने याचिका दाखिल की थी. अदालत ने सभी चारों याचिकाओं को खारिज किया.

चारों याचिकाओं पर कोर्ट ने एक साथ सुनवाई की थी. अदालत में यूपी सरकार को इस बारे में बनी हुई नीति के नियमों को और स्पष्ट करने को भी कहा है. जस्टिस सौरभ श्याम शमशेरी की सिंगल बेंच ने फैसला सुनाया. यूपी सरकार ने पिछले साल 2 जून को एक से दूसरे जिले में ट्रांसफर की नीति जारी की थी.

टीचर्स से ऑनलाइन आवेदन मांगे गए थे. तमाम टीचर्स के ट्रांसफर भी किए गए थे. कुछ के ट्रांसफर किए गए, लेकिन उन्हें रिलीज नहीं किया गया था. जिस पर हाईकोर्ट में यह याचिका दाखिल की गई थी. अदालत ने हिंदी में सोलह पन्नों का फैसला दिया है.










...

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को लेकर यूपी में 22 जनवरी को सार्वजनिक अवकाश

 यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा समारोह के अवसर पर पूरे प्रदेश में सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया है। इस दिन सभी शिक्षण संस्थाएं व सरकारी कार्यालय समेत अन्य प्रतिष्ठान बंद रहेंगे।

अयोध्या जाने वाली सड़कों पर ग्रीन कॉरिडोर बनाने का निर्देश

मुख्यमंत्री ने अयोध्या की ओर जाने वाले सभी मार्गों को ग्रीन कॉरिडोर बनाने और इन पर कहीं भी अतिक्रमण न होने का कड़ा निर्देश भी दिया है। उन्होंने गुरुवार रात प्राण प्रतिष्ठा समारोह, मकर संक्रांति, माघ मेला और गणतंत्र दिवस पर किए जा रहे प्रबंधों व कानून-व्यवस्था की समीक्षा की।

यूपी में 14 जनवरी से प्रदेशव्यापी स्वच्छता अभियान

वरिष्ठ अधिकारियों के साथ हुई बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि रामलला के नूतन विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा विपुल आस्था, आह्लाद और आनंद का ऐतिहासिक अवसर है। 14 जनवरी से स्वच्छता का प्रदेशव्यापी अभियान चलेगा और हर गांव-शहर में साफ-सफाई होगी।

इस अभियान से शिक्षकों, विद्यार्थियों, मंगल दलों, सामाजिक कार्यकर्ताओं को जोड़ने का निर्देश दिया। कहा कि हर देव मंदिर, चिकित्सालय, विद्यालय, सड़क-गली की साफ-सफाई हो। सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग न करने के लिए जागरुकता भी बढ़ाई जाए।

छत्तीसगढ़ में भी स्कूल-कॉलेजों में अवकाश

अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह को लेकर छत्तीसगढ़ में भी 22 जनवरी को सभी शासकीय और गैरशासकीय स्कूल, कालेजों में अवकाश की घोषणा कर दी गई है। छत्तीसगढ़ के शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने यह घोषणा की है।

इससे पहले बृजमोहन अग्रवाल ने छुट्टी घोषित करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय को पत्र भेजा था। वहीं, दूसरी ओर सामाजिक और कर्मचारी संगठनों ने सार्वजनिक अवकाश घोषित किए जाने की मांग की थी।


...

यूपी का सबसे स्वच्छ शहर बना नोएडा, मिली फाइव स्टार रैंकिंग

इस बार स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 पुरस्कार कई मायनों में नोएडा शहर के लिए खास है। पहली बार नोएडा को उत्तर प्रदेश के सबसे स्वच्छ शहर के रूप में चुना गया है। नोएडा को इस सर्वेक्षण में फाइव स्टार रैंकिंग मिली है। इसके साथ ही नोएडा को गार्बेज फ्री सिटी होने के लिए भी फाइव स्टार रैंकिंग मिली है। साथ ही वाटर प्लस शहर की श्रेणी में भी सर्टिफिकेट मिला।


...

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा निमंत्रण पत्र की पहली झलक

अयोध्या में बन रहे राम मंदिर में 22 जनवरी को दोपहर 12:30 बजे रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होगी। श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट देशभर से विशिष्ट अतिथियों को आमंत्रित कर रहा है। इसके लिए विशेष प्रकार का निमंत्रण पत्र तैयार किया गया। ये निमंत्रण पत्र देश के 6000 से ज्यादा विशिष्ट अतिथियों को भेजा गया है। इनमें 4000 संत और 2200 अन्य मेहमान हैं। साथ ही छह दर्शनों (प्राचीन विद्यालयों) के शंकराचार्य और लगभग 150 साधु-संत भी प्राण-प्रतिष्ठा समारोह में भाग लेंगे।

आपको उस ओरिजिनल निमंत्रण पत्र की पहली झलक दिखा रहा है। कार्ड के कवर पर प्रभु राम के बाल स्वरूप की तस्वीर है और अंत में श्रीराम मंदिर की यात्रा का सारांश दिया गया है।

निमंत्रण पत्र को बेहद पेशेवर तरीके से डिजाइन किया गया है। इसमें धार्मिक अनुष्ठानों का ब्योरा तो है ही, हर अतिथि का QR कोड भी तय है। आने के समय, गाड़ी के लिए तय पार्किंग की जगह और प्राण प्रतिष्ठा की अवधि शामिल है।

सके कवर पर लिखा है- अनादिक निमंत्रण, श्रीराम धाम अयोध्या। इस निमंत्रण पत्र के बॉक्स में 5 चीजें भेंटस्वरूप रखी गई हैं।

पहली भेंट: अयोध्या में निर्माणाधीन श्री जन्मभूमि मंदिर की तस्वीर वाला कार्ड, जिस पर श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र का लोगो छपा है।

दूसरी भेंट: एक छोटे से लिफाफा में रखा पीला अक्षत।

तीसरी भेंट: कार्यक्रम वाले दिन के लिए वाहन पास, जिस पर वाहन नंबर लिखने की जगह है। साथ ही गूगल मैप का QR कोड भी है जिससे अतिथि आसानी से पार्किंग एरिया तक पहुंच सकते हैं।

चौथी भेंट: संकल्प संपोषण पुस्तिका। इसमें साल 1528 से लेकर 1984 तक राम जन्मभूमि आंदोलन से जुड़े 20 लोगों का संक्षिप्त विवरण है। इनमें सबसे पहले देवरहा बाबा और सबसे अंत में अशोक सिंघल का जिक्र है।

पांचवी भेंट- कार्यक्रम की जानकारी देने वाला एक कार्ड है। इसमें पीएम नरेंद्र मोदी, संघ प्रमुख मोहन भागवत, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, सीएम योगी आदित्यनाथ और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास के नाम हैं।

कार्यक्रम का विवरण

निमंत्रण पत्र में कार्यक्रम का समय के साथ विवरण है। अतिथियों के आने का समय सुबह 11:30 बजे रखा गया है। 11:30 से 12:30 बजे तक गर्भगृह में प्राण प्रतिष्ठा होगी। 12:30 बजे से अतिथियों का भाषण होगा। फिर मंदिर में दर्शन प्रारंभ हो जाएंगे। इस कार्ड में मेहमानों के लिए कुछ निर्देश और निवेदकों के नामों का भी जिक्र है।

राम मंदिर से जुड़ी खबरें 

 रामलला की तीनों मूर्तियां मंदिर में लगेंगी, इनमें से गर्भगृह में लगने वाली मूर्ति पर फैसला काशी के आचार्य करेंग

अयोध्या के राम मंदिर के गर्भगृह में रामलला की कौन-सी मूर्ति विराजमान होगी, अभी तक यह फैसला नहीं हो सका है। मंदिर के ट्रस्टी का कहना है कि मूर्तिकारों के बीच किसी भी तरह का कॉम्पिटिशन ना करवाकर तीनों ही मूर्तियों को भव्य राम मंदिर में लगाया जाएगा। हालांकि गर्भगृह में कौन-सी मूर्ति लगेगी, इसका अंतिम निर्णय काशी के आचार्य गणेश्वर शास्त्री लेंगे। 

प्राण प्रतिष्ठा के दिन उपवास रखेंगे PM मोदी, सरयू नदी में स्नान भी कर सकते हैं

अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के मुख्य यजमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उपवास (व्रत) रखेंगे। वह सरयू नदी में स्नान भी कर सकते हैं। मुख्य यजमान के लिए व्रत रखना जरूरी है। अयोध्या में भाजपा के जिला प्रवक्ता रजनीश सिंह ने पीएम के व्रत रखने की बात कही है। 


...

UP पुलिस में 985 कंप्यूटर ऑपरेटर की वैकेंसी

उत्तर प्रदेश में पुलिस विभाग में नौकरियों की बहार आई हुई है. सरकारी नौकरी की इच्छा रखने वाले युवाओं के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नत्ति बोर्ड (UPPRPB) की तरफ से कॉन्स्टेबल और सब इंस्पेक्टर के बाद अब कंप्यूटर ऑपरेटर के पदों पर भर्ती (UP Police Computer Operator Recruitment) के खाली पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी हुआ है. इस वैकेंसी के माध्यम से कुल 985 पदों पर भर्तियां होंगी.

यूपी पुलिस की तरफ से जारी इस वैकेंसी के लिए आवेदन प्रक्रिया 7 जनवरी 2024 से शुरू होगी. इस वैकेंसी में आवेदन करने के लिए कैंडिडेट्स को 28 जनवरी 2024 तक का समय दिया जाएगी. UP Police में सरकारी नौकरी के लिए जारी नोटिफिकेशन के अनुसार, आवेदन करने वाले उम्मीदवार 30 जनवरी 2024 तक एप्लीकेशन फॉर्म में सुधार कर सकते हैं.

UP Police Recruitment के लिए करें अप्लाई

यूपी पुलिस की तरफ से जारी इस वैकेंसी में आवेदन प्रक्रिया शुरू होने के बाद कैंडिडेट्स सबसे पहले UPPRPB की ऑफिशियल वेबसाइट uppbpb.gov.in पर जाना होगा.

वेबसाइट की होम पेज पर Latest Updates पर जाएं.

इसके बाद Uttar Pradesh UP Police Computer Operator and Programmer Recruitment 2023 Apply Online for 985 Post के लिंक पर क्लिक करना होगा.

अगले पेज पर पहले मांगी गई डिटेल्स से रजिस्ट्रेशन कर लें.

रजिस्ट्रेशन के बाद एप्लीकेशन कर सकते हैं.

यूपी पुलिस को कॉन्स्टेबल, एसआई, लिपिक संवर्ग, कंप्यूटर ऑपरेटर, जेल वार्डर, रेडियो ऑपरेटर और कंप्यूटर प्रोग्रामर जैसे विभिन्न पदों पर अवसर भरने की उम्मीद है. हाल ही में कॉन्स्टेबल के 60000 से ज्यादा पदों पर वैकेंसी निकली के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू हुई है.

कौन कर सकता है अप्लाई?

यूपी पुलिस में कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर निकली इस वैकेंसी में आवेदन करने के लिए कैंडिडेट्स के पास किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं पास होना जरूरी है. इसके अलावा O Level और कंप्यूटर एप्लीकेशन में डिप्लोमा होल्डर भी आवेदन कर सकते हैं. वहीं, उम्मीदवारों के उम्र में की बात करें तो 18 साल से 28 साल के बीच उम्र वाले इसके लिए आवेदन के पात्र हैं. ज्यादा जानकरी के लिए ऑफिशियल नोटिफिकेशन देखें.


...

अयोध्या के 84 कोसी परिक्रमा क्षेत्र में अब कभी नहीं बिकेगी शराब

अयोध्या में होने वाली 84 कोसी परिक्रमा को लेकर यूपी आबकारी विभाग के मंत्री ने बड़ा निर्देश देते हुए पूरे परिक्रमा क्षेत्र में शराब की बिक्री को पूर्ण रूप से प्रतिबंधित किया गया. मंत्री ने कहा कि उस क्षेत्र की सभी दुकानें हटाई जाएंगी.

अयोध्या दौरे पर पहुंचे आबकारी विभाग के मंत्री नितिन अग्रवाल ने श्री राम तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय से मुलाकात की   इस मुलाकात के दौरान उन्होंने तमाम विषयों पर चर्चा की. मंत्री नितिन अग्रवाल ने चंपत राय से मुलाकात के दौरान अयोध्या में होने वाली 84 कोसी परिक्रमा के पूरे परिक्रमा क्षेत्र में शराब की बिक्री को पूर्ण रूप से प्रतिबंधित करने की बात कही. मंत्री ने कहा कि उस क्षेत्र की सभी दुकानें हटाई जाएंगी.  

84 कोस तक शराब की दुकानों को हटाएंगे

उन्होंने बताया कि श्रीराम मंदिर क्षेत्र को पहले से ही मदिरा मुक्त किया जा चुका है.  उन्होंने 84 कोस तक शराब की दुकानों को हटाने की बात कही. बोले इसके लिए निर्देश दिए जा चुके हैं. 84 कोसी परिक्रमा क्षेत्र को मद्य निषेध घोषित किया जा चुका है. इस क्षेत्र में आने वाली सभी दुकानें हटाई जाएंगी. 

अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियां जोरों पर चल रही है. जिसकी वजह से अयोध्या में प्रदेश के मंत्रियों के साथ ही आला अधिकारी का जमावड़ा लग रहा है. प्राण प्रतिष्ठा समारोह में प्रधानमंत्री भी आ रहे हैं. प्राण प्रतिष्ठा से पहले 30 दिसंबर को पीएम मोदी श्रीराम एयरपोर्ट का उद्घाटन करने अयोध्या आएंगे. प्राण प्रतिष्ठा को ऐतिहासिक बनाने के लिए पूरी सरकार ने ताकत झोंक दी है. अयोध्या में राम मंदिर की प्राण श्रेष्ठ कार्यक्रम को लेकर के पूरे अयोध्या को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है. जो भी लोग इस दौरान अयोध्या पहुंचेंगे उनको अयोध्या में प्रभु श्री राम के मंदिर के साथ-साथ नव्य, दिव्य और भव्य अयोध्या देखने को मिलेगी.


...