बात जब फैशन की हो तो कुछ चीजें सदाबहार

बचपन में आपने घेरदार फ्रॉक जरूर पहनी होगी। बड़े होने पर इस स्टाइल को अपनाने के बारे में कभी सोचा है क्या? फ्रिल्स फिर से फैशन में है। इसे कैसे अपने वॉर्डरोब का हिस्सा बनाएं, बता रहे हैं हम। बात जब फैशन की हो तो कुछ चीजें सदाबहार ही रहती हैं। ये चीजें बार-बार लौटकर आती हैं और लोगों पर अपना जादू चलाती हैं। अब फ्रिल्स को ही लें। फैशन की दुनिया में फ्रिल्स अब फिर से अपना जादू बिखेर रही है। 

 

अंतरराष्ट्रीय फैशन जगत के जाने-माने नाम मार्क जैकोब्स, सिमोन रोका, विकी मार्टिन से लेकर भारतीय डिजाइनर और बॉलीवुड के कलाकर फिर से फ्रिल्स से अपना स्टाइल स्टेटमेंट बना रहे हैं। कान फिल्म फेस्टिवल में सोनम कपूर की स्टाइलिश फ्रिल साड़ी से लेकर अन्य खास मौकों पर सिलेब्रिटीज के फ्रिल वाले क्रॉप टॉप और गाउन, फैशन की दुनिया में फ्रिल की वापसी की गवाही दे रहे हैं। फैशन एक्सपर्ट्स के अनुसार फ्रिल बेहद आसानी से ध्यान आकर्षित करने के मामले में उपयोगी है, लेकिन इसे किसी भी आउटफिट में बेहद कम मात्रा में इस्तेमाल करना चाहिए, ताकि आपका लुक ज्यादा स्टाइलिश दिखे। फ्रिल से आप भी स्टाइलिश लुक पा सकती हैं, लेकिन इससे जुड़ी कुछ जरूरी बातों को जानना भी जरूरी है, ताकि हर नजर आप पर ही जाकर टिके।

 

संतुलन है जरूरी

नजाकत भरा लुक देने में परफेक्ट फ्रिल्स को जब बेहद संतुलित तरीके से किसी भी परिधान पर सजाया जाता है तो यह आपको विक्टोरियन दौर का स्टाइलिश लुक देता है। इसलिए इस खास नियम को याद रखिएगा कि फ्रिल के इस्तेमाल में संतुलन बनाए रखना बेहद जरूरी है। अगर आप फ्रिल की नाजुक लेयर से सजी स्मार्ट शर्ट या गोल गले का टॉप पहन रही हैं तो ध्यान रखें कि ऐसे ही पैटर्न को अपनी स्कर्ट या पैंट में बिल्कुल न दोहराएं। फ्रिल को अपने आउटफिट के केवल एक हिस्से तक ही सीमित रखकर आप अपनी ड्रेस की खूबसूरती बरकरार रख सकती हैं। फ्रिल का इस्तेमाल बॉडी फ्रेम को संतुलित करने के लिए बेहद अच्छी तरह किया जा सकता है। जैसे कि अगर आपका ऊपरी हिस्सा भारी है, तो ड्रेस में नीचे की ओर फ्रिल लगाएं और अगर निचला हिस्सा भारी है तो फ्रिल को टॉप पर लगाना ठीक रहेगा।

 

ऐसे पाएं स्लिम लुक

फ्रिल्स आपकी चैड़ाई को बढ़ाएंगे, इसलिए अगर आप अपनी फिगर को स्लिम दिखाना चाहती हैं, तो लंबाई में सजे फ्रिल्स वाली ड्रेस ही पहनें। यह पहनकर न सिर्फ आप दुबली लगेंगी, बल्कि लंबी भी दिखेंगी। इसके अलावा अगर आपके नेकलाइन या शोल्डर के ऊपर फ्रिल है, तो फिगर की चैड़ाई को कम दिखाने के लिए टॉप को स्कर्ट या पैंट के अंदर डाल लें।

 

बनाएं एक केंद्र बिंदु

अपने लुक को स्टाइलिश बनाए रखने और फैशन में बने रहने के लिए फ्रिल को अपने लुक का केंद्र बिंदु बनाएं। यानी ऊपर या नीचे की फ्रिल के अलावा बाकी सब कुछ सादा और शालीन होना जरूरी है। निचले हिस्से को सादा रखना टॉप के आकर्षण को बढ़ा देगा।

 

ऐसे मिलेगा फॉमर्ल लुक

फॉर्मल लुक के लिए केवल कॉलर या कंधों पर फ्रिल वाला टॉप पहना जा सकता है। इस खूबसूरत टॉप को फॉर्मल ट्राउजर और ओपन-टो हील्स के साथ पहनें। बालों को पीछे बांध कर रखें, ताकि पूरी लुक में अधिक लेयर से बचा जा सके।

 

एक्सेसरीज हों बेहद कम

फ्रिल्स के साथ एक्सेसरीज कम-से-कम ही पहना जाए। खासतौर पर ड्रेस के जिस हिस्से में फ्रिल है, वहां कोई भी एक्सेसरी पहनने से बचें। कंधे के इर्द-गिर्द फ्रिल है, तो लंबे, भारी ईयररिंग्स या नेकपीस पहनने से बचें और अगर बांह पर फ्रिल है तो ब्रेसलेट या रिंग्स न पहनें। साथ में सादा क्लच लिया जा सकता है। फुटवियर में हाई हील शूज पहनें।

 

इन्हें न भूलें

-जरूरी है कि फ्रिल्स आपको व्यवस्थित लुक दें, न कि बेतरतीब दिखाई दें।

-अगर आपकी फिगर भारी है तो ज्यादा फ्रिल वाली ड्रेस से आप और ज्यादा भारी दिखेंगी। अगर फैशन के अनुरूप -फ्रिल पहनना चाहती हैं तो हल्की फ्रिल या पैरों में फ्रिल वाली फुटवियर पहन सकती हैं।

-ज्यादा बड़े फ्रिल्स आपके लुक को बनाने की जगह बिगाड़ देंगे, इसलिए इन्हें सादा और शालीन रखें और ऊंची हील्स पहनें।

...

आंखों के नीचे डार्क सर्कल खत्म करने के घरेलू और असरदार उपाय

डार्क सर्कल पीछे कई कारण हो सकते हैं। जिनमें सोने, हार्मोन्स में परिवर्तन होने, अव्यवस्थित लाइफस्टाल होने या फिर हेरेडेट्री होने की वजह से भी आंखों के नीचे काले घेरे बन जाते हैं। इसके उपायों के लिए बाजार में कई बहुत से ऐसे रासायनिक उत्पाद मौजूद है जो डार्क सर्कल को खत्म करने में कारगर है परंतु सेंसटिव स्क‍िन वाले इन उत्पादों को यूज नहीं कर पाते हैं। ऐसे में इन घरेलू नुस्खों को अपनाकर डार्क सर्कल्स को दूर किया जा सकता है:


1. एक खीरा लें और इसे ब्लेंड कर लें। अब इसके गूदे में एक चम्मच एलोवेरा जेल मिलाएं और पेस्ट बनाने के लिए इसे फिर से ब्लेंड करें। अब इस पेस्ट को डार्क सर्कल पर लगाएं और 15 मिनट के लिए लगा रहने दें। अब पानी से धो लें। 


2. डार्क सर्कल दूर करने के लिए टमाटर सबसे कारगर उपाय है. ये नेचुरल तरीके से आंखों के नीचे के काले घेरे को खत्म करने का काम करताहै. साथ ही इसके इस्तेमाल से त्वचा भी कोमल और फ्रेश बनी रहती है. टमाटर के रस को नींबू की कुछ बूंदों के साथ मिलाकर लगाने से जल्दी फायदा होता है.


3. डार्क सर्कल दूर करने के लिए आलू का भी प्रयोग किया जा सकता है. आलू के रस को भी नींबू की कुछ बूंदों के साथ मिला लें. इस मिश्रण को रूई की सहायता से आंखों के नीचे लगाने से काले घेरे समाप्त हो जाएंगे.


4. ठंडे टी-बैग्स के इस्तेमाल से भी डार्क सर्कल जल्दी समाप्त हो जाते हैं. टी-बैग को कुछ देर पानी में डुबोकर रख दें. उसके बाद इसे फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें. कुछ देर बाद इसे निकालकर आंखों पर रखकर लेट जाएं. 10 मिनट तक रोज ऐसा करने से फायदा होगा.


5. ठंडे दूध के लेप से भी आंखों के नीचे का कालापन दूर हो जाता है. कच्चे दूध को ठंडा होने के लिए रख दें. उसके बाद कॉटन की मदद से उसे आंखों के नीचे लगाएं. ऐसे दिन में दो बार करने से जल्दी फायदा होगा.


6. संतरे के छिलके को धूप में सुखाकर पीस लें. इस पाउडर में थोड़ी सी मात्रा में गुलाब जल मिलाकर लगाने से काले घेरे खत्म हो जाएंगे.


7. दही से काले घेरे कम करने के लिए दो चम्मच दही में दो चम्मच नींबू का रस मिलाएं। अब इस पेस्ट को आंखों के नीचे डार्क सर्कल पर लगाएं और 10-15 मिनट के लिए लगा छोड़ दें। अब पानी से इसे धो लें। बेहतरीन परिणाम के लिए इस पेस्ट को हफ्ते में दो बार लगाएं।



...

घर पर करें टोमेटो फेशियल, चेहरे पर आएगा पार्लर जैसा निखार

टमाटर चेहरे के खुले छिद्रों को बंद करने में मदद करता है। इसमें में मौजूद विटामिन-सी चेहरे की चमक को बढ़ाने का काम करता है। टमाटर चेहरे की अशुद्धियों को दूर कर चेहरे की रौनक बढ़ाने में शानदार काम करता है। क्या आप जानते हैं कि आप टमाटर के साथ घर पर ही फेशियल कर सकती हैं? अगर आप घर बैठे ही ब्राइट और फेयर स्किन टोन को पाने के लिए टमाटर फेशियल सबसे सेफ और प्रभावी तरीका है। घर पर 15 मिनट का फेशियल जो आपको पार्लर में किए जाने वाले फेशियल की तुलना में काफी बेहतर परिणाम दे सकता है। टमाटर के उपयोग से आप स्किन को ग्लोइंग बना सकती हैं। जी हां आज हम आपको टमाटर फेशियल के बारे में जानकारी देंगे, जिससे आपके चेहरे की एक नहीं बल्कि अनेकों परेशानियां दूर हो जाएंगी। तो चलिए जानते हैं टमाटर फेशियल करने का तरीका। 

 

क्लीजिंग

फेशियल के पहले स्टेप में हम क्लीजिंग करते हैं इसके लिए हमें टमाटर के गूदे और कच्चे दूध की जरूरत होती है। इन दोनों को एक साथ मिलाएं और अपने पूरे चेहरे और गर्दन पर कॉटन पैड की हेल्प से लगाएं।

 

स्क्रबिंग

फेशियल के दूसरे स्टेप में आपको स्क्रबिंग करना होता है। इसके लिए आधा टमाटर लें और कटे हुए हिस्से पर चीनी डालें। फिर अपने चेहरे पर इस टमाटर और चीनी के स्क्रब से धीरे से मसाज करें। इस स्टेप में आपको बहुत ज्यादा तेज नहीं करना है। नहीं तो चीनी के दाने स्किन को परेशान कर सकते हैं।

 

स्टीमिंग

टमाटर फेशियल के तीसरे स्टेप स्टीमिंग करनी चाहिए। इसके लिए इलेक्ट्रिक फेशियल स्टीमर को लें और इसे लगभग 5 मिनट तक गर्म होने दें। अपने चेहरे को लगभग 5 से 7 मिनट तक स्टीम करें।


मास्क

टमाटर फेशियल के चौथे स्टेप में आपको पैक बनाने के लिए टमाटर का गूदा, चंदन पाउडर और शहद की जरूरत होती है। इन सभी चीजों को एक साथ मिलाएं। फिर इसे अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएं और इसे लगभग 15 मिनट तक सूखने दें। अपने चेहरे को नॉर्मल नल के पानी से धोएं और अपने पसंदीदा मॉइस्चराइज़र या एलोवेरा जैल को लगाएं।




...

फिर से चलाइए फ्रिल्स का जादू

बचपन में आपने घेरदार फ्रॉक जरूर पहनी होगी। बड़े होने पर इस स्टाइल को अपनाने के बारे में कभी सोचा है क्या? फ्रिल्स फिर से फैशन में है। इसे कैसे अपने वॉर्डरोब का हिस्सा बनाएं, बता रही हैं ममता अग्रवालबा त जब फैशन की हो तो कुछ चीजें सदाबहार ही रहती हैं। ये चीजें बार-बार लौटकर आती हैं और लोगों पर अपना जादू चलाती हैं। अब फ्रिल्स को ही लें। फैशन की दुनिया में फ्रिल्स अब फिर से अपना जादू बिखेर रही है। 


अंतरराष्ट्रीय फैशन जगत के जाने-माने नाम मार्क जैकोब्स, सिमोन रोका, विकी मार्टिन से लेकर भारतीय डिजाइनर और बॉलीवुड के कलाकर फिर से फ्रिल्स से अपना स्टाइल स्टेटमेंट बना रहे हैं। कान फिल्म फेस्टिवल में सोनम कपूर की स्टाइलिश फ्रिल साड़ी से लेकर अन्य खास मौकों पर सिलेब्रिटीज के फ्रिल वाले क्रॉप टॉप और गाउन, फैशन की दुनिया में फ्रिल की वापसी की गवाही दे रहे हैं। फैशन एक्सपर्ट्स के अनुसार फ्रिल बेहद आसानी से ध्यान आकर्षित करने के मामले में उपयोगी है, लेकिन इसे किसी भी आउटफिट में बेहद कम मात्रा में इस्तेमाल करना चाहिए, ताकि आपका लुक ज्यादा स्टाइलिश दिखे। फ्रिल से आप भी स्टाइलिश लुक पा सकती हैं, लेकिन इससे जुड़ी कुछ जरूरी बातों को जानना भी जरूरी है, ताकि हर नजर आप पर ही जाकर टिके।


संतुलन है जरूरी

नजाकत भरा लुक देने में परफेक्ट फ्रिल्स को जब बेहद संतुलित तरीके से किसी भी परिधान पर सजाया जाता है तो यह आपको विक्टोरियन दौर का स्टाइलिश लुक देता है। इसलिए इस खास नियम को याद रखिएगा कि फ्रिल के इस्तेमाल में संतुलन बनाए रखना बेहद जरूरी है। अगर आप फ्रिल की नाजुक लेयर से सजी स्मार्ट शर्ट या गोल गले का टॉप पहन रही हैं तो ध्यान रखें कि ऐसे ही पैटर्न को अपनी स्कर्ट या पैंट में बिल्कुल न दोहराएं। फ्रिल को अपने आउटफिट के केवल एक हिस्से तक ही सीमित रखकर आप अपनी ड्रेस की खूबसूरती बरकरार रख सकती हैं। फ्रिल का इस्तेमाल बॉडी फ्रेम को संतुलित करने के लिए बेहद अच्छी तरह किया जा सकता है। जैसे कि अगर आपका ऊपरी हिस्सा भारी है, तो ड्रेस में नीचे की ओर फ्रिल लगाएं और अगर निचला हिस्सा भारी है तो फ्रिल को टॉप पर लगाना ठीक रहेगा।


ऐसे पाएं स्लिम लुक

फ्रिल्स आपकी चैड़ाई को बढ़ाएंगे, इसलिए अगर आप अपनी फिगर को स्लिम दिखाना चाहती हैं, तो लंबाई में सजे फ्रिल्स वाली ड्रेस ही पहनें। यह पहनकर न सिर्फ आप दुबली लगेंगी, बल्कि लंबी भी दिखेंगी। इसके अलावा अगर आपके नेकलाइन या शोल्डर के ऊपर फ्रिल है, तो फिगर की चैड़ाई को कम दिखाने के लिए टॉप को स्कर्ट या पैंट के अंदर डाल लें।


बनाएं एक केंद्र बिंदु

अपने लुक को स्टाइलिश बनाए रखने और फैशन में बने रहने के लिए फ्रिल को अपने लुक का केंद्र बिंदु बनाएं। यानी ऊपर या नीचे की फ्रिल के अलावा बाकी सब कुछ सादा और शालीन होना जरूरी है। निचले हिस्से को सादा रखना टॉप के आकर्षण को बढ़ा देगा।


ऐसे मिलेगा फॉमर्ल लुक

फॉर्मल लुक के लिए केवल कॉलर या कंधों पर फ्रिल वाला टॉप पहना जा सकता है। इस खूबसूरत टॉप को फॉर्मल ट्राउजर और ओपन-टो हील्स के साथ पहनें। बालों को पीछे बांध कर रखें, ताकि पूरी लुक में अधिक लेयर से बचा जा सके।


एक्सेसरीज हों बेहद कम

फ्रिल्स के साथ एक्सेसरीज कम-से-कम ही पहना जाए। खासतौर पर ड्रेस के जिस हिस्से में फ्रिल है, वहां कोई भी एक्सेसरी पहनने से बचें। कंधे के इर्द-गिर्द फ्रिल है, तो लंबे, भारी ईयररिंग्स या नेकपीस पहनने से बचें और अगर बांह पर फ्रिल है तो ब्रेसलेट या रिंग्स न पहनें। साथ में सादा क्लच लिया जा सकता है। फुटवियर में हाई हील शूज पहनें।


इन्हें न भूलें

जरूरी है कि फ्रिल्स आपको व्यवस्थित लुक दें, न कि बेतरतीब दिखाई दें। अगर आपकी फिगर भारी है तो ज्यादा फ्रिल वाली ड्रेस से आप और ज्यादा भारी दिखेंगी। अगर फैशन के अनुरूप फ्रिल पहनना चाहती हैं तो हल्की फ्रिल या पैरों में फ्रिल वाली फुटवियर पहन सकती हैं। ज्यादा बड़े फ्रिल्स आपके लुक को बनाने की जगह बिगाड़ देंगे, इसलिए इन्हें सादा और शालीन रखें और ऊंची हील्स पहनें।

(फैशन एक्सपर्ट राहुल नार्वेकर से बातचीत पर आधारित)





...

अपने होने वाले साथी से जानें पर्सनल लाइफ के बारे में

अतीत जानना भी जरूरी:- यह ठीक है कि अतीत से किसी का कुछ भी लेना-देना नहीं होता, क्योंकि जिससे शादी होने वाली है, वह हमेशा के लिए आपका हो जाने वाला है।इसलिए शादी से पहले जब लड़का-लड़की मिलते हैं तो लड़का भले ही लड़की से उसके अतीत के बारे में पूछ ले, लड़कियां कभी भी संकोच के मारे उनसे ऐसे सवाल नहीं पूछतीं, परंतु कुछ बातें शादी से पहले पूछ लेनी जरूरी हैं।जरूरी नहीं कि उसकी गर्ल फ्रैंड के बारे में जानना ही जरूरी हो, परंतु अपने सवालों से आपको यह अवश्य पता चल जाएगा कि वह अपने अतीत के लिए अभी भी सिंसीयर है या उससे जुड़ा हुआ है या कहीं वह दिलफैंक तो नहीं कि आपको बाद में कोई मुश्किल आए।इससे आप अपने होने वाले हमसफर की पर्सनैलिटी और सोच से रू-ब-रू हो सकेंगी।उनकी इच्छा, पसंद या नापसंद को जान कर भविष्य में आप उन बातों का ख्याल रख सकती हैं।


करियर या परिवार:- आपका जीवन साथी करियर को कितनी प्राथमिकता देता है तथा परिवार को कितना महत्व देता है यह जानना आपके लिए बहुत जरूरी है।यदि करियर उसके लिए सब कुछ है, तो नई जिंदगी में होने वाले बदलावों को वह कैसे मैनेज कर पाएगा? आप खुद भी शादी के बाद अपनी नौकरी जारी रखना चाहती हैं या नहीं, आपका प्रोफैशन, जॉब प्रोफाइल एवं आने-जाने का समय क्या है तथा आप स्वयं परिवार की जिम्मेदारियों को कैसे मैनेज करेंगी इत्यादि बातों पर चर्चा अवश्य कर लें।यदि उनका संयुक्त परिवार है तो आप शादी के बाद संयुक्त परिवार में रहना पसंद करेंगी या अकेले, क्योंकि हर परिवार के अपने नियम-कायदे एवं जिम्मेदारियां होती हैं तथा हर परिवार की नई बहू से कुछ अपेक्षाएं भी होती हैं।


आर्थिक स्थिति के बारे में जानें:- भावी साथी की आर्थिक स्थिति पर बात अवश्य करें और यह भी जानें कि भविष्य में वह आर्थिक जिम्मेदारियों को कैसे पूरा करेंगे।उनका निवेश किन-किन चीजों में और कहां-कहां है, बचत, अपना घर, नौकरी में तरक्की, परिवार में उनका योगदान सब पहले जान लेने में कोई बुराई नहीं है, आखिर आपको उनके साथ जीवन बिताना है।


शादी में मर्जी:- यह अवश्य जान लें कि आप का साथी शादी के बारे में क्या सोचता है, कहीं ऐसा न हो कि किसी के दबाव में या फिर जबरन शादी के लिए हामी भर चुका हो और वास्तव में वह कहीं और शादी करना चाहता हो।यदि ऐसा है तो आपके लिए शादी के बाद काफी मुश्किल आ सकती है। 


रुचियों को जानें:- अपने साथी की रुचियों को जानने की कोशिश करें।किस तरह की बातें उसे पसंद हैं, क्या गंभीर बातों में उसकी रुचि है, क्या वह अधिक घूमना-फिरना पसंद करता है, क्या उसे पार्टीज में जाना बेहद पसंद है इत्यादि बातें जानना भी आवश्यक है।


जानें पर्सनल लाइफ के बारे में:- शादी के पहले रोमांस के बारे में आपका साथी क्या सोचता है, कहीं उसकी सोच दकियानूसी तो नहीं?क्या वह शादी के बाद भी दोस्तों से वैसे ही संबंध बनाए रखेगा? क्या दोस्तों के घर आना-जाना पहले की तरह होगा या आपको पूरा वक्त देगा?


परिवार में उसकी पोजीशन:- परिवार में आपके साथी की क्या पोजीशन है? क्या परिवार वाले आपके साथी की रुचियों या व्यवहार को पसंद करते हैं? क्या परिवार में किसी गंभीर डिस्कशन में आपके साथी की राय मांगी जाती है और उस पर अमल भी होता है या नहीं? इससे आप अपने साथी की उसके परिवार में अहमियत को समझ पाएंगी।यदि उसकी कोई पोजीशन परिवार में है, तभी आपकी भी पोजीशन बनेगी।


जानें फ्यूचर प्लान:- आपके लिए यह जानना भी बेहद आवश्यक है कि आपके साथी के फ्यूचर प्लान क्या हैं।वह अपने करियर में क्या मुकाम हासिल करना चाहता है? समाज में उसे अपनी अलग पहचान बनानी है या आर्थिक तंगी है, इसलिए बस किसी तरह से नौकरी करते जाना है और जो जैसा चल रहा है, उसे वैसे ही चलने देना है। इससे आप उसकी पर्सनैलिटी से रू-ब-रू हो सकती हैं, यही नहीं उसके सपनों के बारे में जानें।इससे आपको उसके फ्यूचर प्लान की पूरी जानकारी मिल जाएगी, क्योंकि अपने सपने के बारे में बताना हर किसी को अच्छा लगता है।


हनीमून और बच्चों के बारे में जानें:- अपने जीवन साथी से हनीमून और बच्चों के बारे में जानने में संकोच न करें, खुलकर उससे परिवार नियोजन के विषय में उसकी राय पूछें।फैमिली प्लानिंग पर उसका भरोसा, कितने बच्चे होने चाहिएं, परवरिश कैसे होगी, हनीमून को लेकर उसकी क्या योजना है, जैसे सवाल आपके सामने उसकी छवि को सहज ही प्रकट कर देंगे। आखिर यह आपकी जिंदगी का सवाल है, इसलिए इसके जवाब आपको ही जानने होंगे, ताकि भविष्य का खाका बुनने में आपको आसानी हो सके।







...

होम साल्ट स्पा से पाएं साफ त्वचा...

हर रोज फ्रेश रहना चाहती हैं। चाहे मौसम कोई भी हो, पसीने की बदबू आपके आसपास भी न फटके। जरूर अपनाएं सॉल्ट स्पा, ताकि रिलैक्सेशन, फ्रेशनेस आपके साथ चले हर पल। अगर आप सप्ताह में एक बार सॉल्ट स्पा करती हैं, तो आपकी बॉडी से पसीना आना धीरे-धीरे कम हो जाएगा। वहीं, इससे बॉडी के रोम छिद्र भी खुल जाएगें। अगर आपकी बॉडी पर पैच वर्क है, तोवह भी धीरे-धीरे रिमूव हो जाएंगे और आपकी बॉडी फ्रेश व क्लीन दिखने लगेगी।  

आप सॉल्ट स्पा से न केवल रिफ्रेश फील करेंगी, बल्कि इसेस आपकी मसल्स भी रिलैक्स होंगी। दसरअसल, सॉल्ट स्पा से ऑथींटिक पेन और गठिया जैसी बीमारियों से आराम मिलता है। 


आप घर पर साल्ट स्पा लेना चाहती हैं, तो इसके लिए आप नॉर्मल नमक, सी साल्ट व सेंधा नमक ले सकती हैं। वैसे, मार्केट में स्पा के लिए अरोमा साल्ट, सी साल्ट और डैड सी मिनरल साल्ट भी आ रहे है। आप इन्हें भ्ीा इस्तेमाल कर सकती हैं। चूंकि यह बहुत हार्ड होते हैं और इन्हें खालिस इस्तेमाल करनेे से स्किन हार्ड सकती है, इसलिए आप साल्ट में दही, पपीता वगैरह मिला सकती है। वहीं, मसाज स्मूद हो इसके लिए ऑलिव ऑयल या आलमंड ऑयल मिला लें।


साल्ट स्पा लेने से बॉडी से 50 पर्सट पसीना कम आएगा। वहीं पसीने की बदबू भी कम आएगी। अगर आप साल्ट से मसाज नहीं कर पा रहे हैं, तो आप रोजाना नहाने के पानीमें एक चम्मच सी साल्ट डालकर नहाएं। इसेस भी आपकी बॉडी क्लीन व स्किन ग्लो करने लगेगी। 





...

घर के इन उपायों से दूर करें ब्लैकहेड्स, चेहरे पर भी आ जाएगा निखार

चेहरे की साफ-सफाई का ध्यान तो हर कोई रखता है लेकिन कई बार नाक और ठोढ़ी पर काले छोटे-छोटे धब्बे से दिखने लगते हैं जो ब्लैकहेड्स होते हैं। इन ब्लैकहेड्स की वजह से चेहरा गंदा नजर आता है और अक्सर हमें शर्मिंदगी का सामना भी करना पड़ता है। अगर चेहरे के इन ब्लैकहेड्स को दूर भगाना है तो घर के कुछ आसान से नुस्खें भी बड़े काम के होते हैं। तो चलिए जानें इन नुस्खों को।


अंडे का घोल

अंडे से त्वचा की गंदगी को आसानी से साफ किया जा सकता है। ये त्वचा की गंदगी को खींच कर निकाल देता है जिसकी वजह से रोमछिद्र सिकुड़ जाते हैं और ब्लैकहेड्स खत्म हो जाते हैं। अंडे का पैक बनाने के लिए सबसे पहले अंडे के सफेद हिस्से को अच्छी तरह से फेंट लें। जब इसमें से झाग निकलने लगे तो उसे चेहरे के ब्लैकहेड्स वाले हिस्से नाक और ठोढ़ी पर लगाएं। इसके ऊपर ब्लैकहेड्स स्ट्राइप लगाएं। इस तरह करके दो लेयर अंडे की और लगाएं। इसे चालीस मिनट तक लगा रहने दे इसके बाद हटा दें। इस पैक को सप्ताह में दो बार लगाएं। ये ब्लैकेड्स को खत्म करने का कारगर नुस्खा है।


चीनी का पैक

चीनी का पैक बनाने के लिए एक पैन में दो चम्मच चीनी, दो चम्मच शहद और एक नींबू का रस मिलाएं। अब इसमें दो से तीन बूंद ग्लिसरीन की मिलाकर हल्का गर्म करें। हल्के से गर्म पेस्ट को ही नाक और ब्लैकहेड्स वाले हिस्से पर लगाएं। बीस मिनट बाद इसे हटा दें।


दूध का पैक

एक चम्मच दूध में उतनी ही मात्रा में बिना फ्लेवर वाला जिलेटिन पाउडर डालें। इस पैक को माइक्रोवेव में गर्म करके चेहरे के ब्लैकहेड्स वाले हिस्से पर दो-तीन लेयर में लगाएं। इस पैक को बीस मिनट बाद हटा दें। चेहरे पर फर्क आपको एक ही प्रयोग के बाद नजर आने लगेगा। 





...

ठंड में ड्राई नहीं होगी स्किन, ग्लोइंग स्किन पाने के 4 बेस्ट तरीके

ठंड में ठिठुरने का मौसम आ गया है। इस दौरान आप गर्म कपड़े पहनकर शरीर को और तो ठंड से बचा सकती हैं लेकिन आपकी स्किन खासकर चेहरा ठंड से एक्सपोज होता रहता है। इस वजह से आपकी स्किन ड्राई, डल और पैची यानी पपड़ीदार हो जाती है। लिहाजा ठंड के मौसम में आपको अपनी स्किनकेयर रूटीन में कुछ खास बदलाव करने की जरूरत होती है ताकि ठंड में भी स्किन बनी रहे खूबसूरत और ग्लोइंग...


नॉर्मल नहीं टिंटेड मॉइश्चराइजर लगाएं

ठंड के मौसम में चेहरे पर फाउंडेशन लगाने से स्किन ड्राई हो सकती है लिहाजा टिंटेड मॉइश्चराइजर यूज करें। इन दिनों मार्केट में एक से बढ़कर एक बीबी क्रीम और सीसी क्रीम के ऑप्शन्स मौजूद हैं। टिंटेड मॉइश्चराइजर से न सिर्फ आपकी स्किन को जरूर पोषण मिलेगा बल्कि इवेन टोन भी मिलेगा। डेली वेअर के लिहाज से टिंटेड मॉइश्चराइजर ठंड के मौसम के लिए एकदम सही है।


लिप बाम लगाना न भूलें

सर्दी के मौसम में फटे होंठ की समस्या बड़ा परेशान करती है इसलिए इस मौसम में लिप बाम को अपना बेस्ट फ्रेंड बनाएं और इसे बिलकुल न भूलें। इस मौसम में अपने फेवरिट फ्लेवर और कलर वाले चैपस्टिक का चुनाव करें ताकि आपके होंठ मॉइश्चराइज्ड रहने के साथ-साथ प्लम्प भी दिखें। सर्दियों में लिपस्टिक लगाने से पहले लिप बाम जरूर अप्लाई करें। आप चाहें तो पूरे सीजन लिपस्टिक की जगह टिंटेड लिप बाम यूज कर सकती हैं। 


कॉम्पैक्ट की जगह फेस मिस्ट

सर्दियों के मौसम में क्विक ब्यूटी हैक के तौर पर फेस मिस्ट यूज करना न भूलें। आप चाहें तो मेकअप को टचअप देने के लिए कॉम्पैक्ट की जगह फेस मिस्ट यूज कर सकती हैं। ठंड में कॉम्पैक्ट यूज करने पर पाउडर चेहरे के पोर्स में चला जाता है जिसे स्किन ड्राई हो सकती है इसलिए फेस मिस्ट चुनें। मिस्ट की कुछ बूंदें स्किन को रिफ्रेश करने के साथ बेहतरीन लुक भी देगी।


ब्रश या स्पॉन्ज करें यूज

अगर आप भी उन लोगों में से हैं जो ब्रश या स्पॉन्ज की जगह उंगलियों से ही मेकअप को मिक्स और ब्लेंड करने में यकीन रखती हैं तो सर्दी के मौसम में ऐसा न करें। उंगलियों की जगह ब्रश और स्पॉन्ज यूज करें। सबसे बेस्ट तो ये रहेगा कि आप अपने मेकअप टूल को हल्का डैंप करने के बाद उससे मेकअप बेस बनाएं। फिर देखें स्किन पर कैसे जादू होगा।




...

फिर से लौट आया ईयर कफ का फैशन

अगर आप ईयर कफ पहनने के मूड में हैं, तो अपने हेयरस्टाइल पर जरूर विचार कर लें. खुले बालों के साथ ईयर कफ न ही पहने तो अच्छा है. 90 के दशक का सबसे लोकप्रिय स्टेटमेंट पीस ईयर कफ कुछ बदलाव के साथ फिर से फैशन में लौट आया है. अमेरिकन सिंगर और एक्ट्रेस एलिशिया कीज से लेकर एमा स्टोन तक डेकोरेटिव ईयर कफ का इस्तेमाल करती हैं.


बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा से लेकर दीपिका पादुकोण भी कई इवेंट में अलग-अलग डिजाइन की ईयर कफ पहने नजर आ चुकी हैं. ईयर कफ कान में पहने जाने वाली वह ज्वेलरी है जिसे पहनने का स्टाइल थोड़ा अलग जरूर होता है. इन लटकनों में कुछ मोटिव्स होते हैं, जो पूरी तरह से आपकी पसंद और आपके नेचर के ऊपर निर्भर करता है कि आपको क्या चाहिए? किस तरह के मोटिव्स चाहिए. कुछ लोग बटरफ्लाई लगाना पसंद करते हैं. कुछ थम्स लगाना चाहते हैं.


कुछ को दिल की शेप पसंद आती है, तो कुछ को छोटे-छोटे मोती ज्यादा पसंद आते हैं. यह काफी हद तक व्यक्तिगत पसंद की बात हो जाती है. आमतौर पर ईयर कफ पसंद करने वालों में एकदम यंग लड़कियां ही शामिल हैं, मगर इसे फैशन की शौकीन हर उम्र की महिलाएं पहन सकती हैं. ट्राइबल लुक लिए ईयर कफ्स इन दिनों ज्यादा चलन में हैं.


कुछ खास मौकों के लिए


ईयर कफ एक ऐसा स्टाइल स्टेटमेंट है, जिसे आप रूटीन में कैरी नहीं कर सकती. खास मौके या पार्टी में जाते वक्त ही यह कानों में अच्छा लगता है, इसलिए जहां लड़कियों के पास दर्जनों इयररिंग्स होती हैं, वहीं ईयर कफ तीन या चार ही काफी होता है.


बेशक कई महिलाएं इंडियन कपड़ों के साथ भी ईयर कफ पहन लेती हैं. कई तो साड़ी के साथ भी पहनती हैं, उन्हें लगता है कि यह गोल्डन टच में है, तो अच्छा लगेगा. लेकिन वह उतना जमता नहीं, जितना कि वेस्टर्न ड्रेसेज के साथ जमता है.


ईयर कफ आप इवनिंग गाउन, वन पीस ड्रेस, ट्यूनिक्स आदि के साथ पहन सकती हैं. यह इंडो-वेस्टर्न आउटफिट के साथ भी अच्छा लगता है. दरअसल, ईयर कफ हमारे भारतीय परिधान से जुड़ी ज्वेलरी नहीं है, इसलिए इंडियन आउटफिट के साथ बहुत अच्छी तरह मैच नहीं करती. अगर आप इंडो-वेस्टर्न कपड़ों के साथ पहनना चाहती हैं, तो ध्यान रखें कि ईयर कफ में ज्यादा शिमर न हो.


ईयर कफ एक कान में भी पहना जा सकता है और दोनों कानों पर भी. यह काफी कुछ आपकी हेयर स्टाइल पर भी निर्भर करता है. साथ ही आपकी खुद की पसंद पर भी निर्भर करता है कि आप इसे एक ही कान में पहनना चाहती हैं या फिर दोनों कानों में.


स्टाइल पर दें ध्यान


अगर आप ईयर कफ पहनने के मूड में हैं, तो अपने हेयरस्टाइल पर जरूर विचार कर लें. खुले बालों के साथ ईयर कफ न ही पहने तो अच्छा है, क्योंकि बालों को खुला रखने से कान ढक जाते हैं और ईयर कफ कानों के पीछे की तरफ पहना जाता है, इसलिए बेहतर यही है कि आप कुछ ऐसा हेयरस्टाइल बनाएं, जिससे आपके कान बालों से न ढकें और आपका ईयर कफ भी अच्छे से नजर आए. उसका लुक, उसका फील, उसकी ब्यूटी सब कुछ आराम से दिखाई दे और आपका चेहरा खूबसूरत लगे.


आमतौर पर लड़कियों के कानों में बालियों के लिए छेद रहता है. ऐसे में कई लड़कियां इसी कन्फ्यूजन में रहती हैं कि क्या इसके साथ बालियां या टॉप्स पहनना चाहिए. तो बता दें कि ईयर कफ के साथ टॉप्स पहने जा सकते हैं. बस इस बात का ख्याल रखें कि आपके टॉप्स ईयर कफ के साथ मैच करते हों.





...

कमाल का ब्यूटी प्रॉडक्ट है सरसों तेल, एलर्जी और ड्राईनेस रखता है दूर

सरसों के तेल में बना खाना जितना फायदेमंद होता है, उतना ही फायदेमंद होता है इस तेल को स्किन पर लगाना। लेकिन कुछ लोग इसकी झाल या कहिए कि इससे आनेवाली तीखी महक के कारण इसके उपयोग से बचते हैं। लेकिन ये तीखी महक इस तेल को अधिक प्रभावी बनाती है। यहां जाने त्वचा पर सरसों के तेल की मसाज और इसे लगाने के फायदे...


त्वचा को मॉइश्चराइज करे

सरसों का तेल बॉडी पर लगाने से यह स्किन मॉइश्चर को ब्लॉक करने का काम करता है। इससे त्वचा में रुखेपन की समस्या नहीं होती है। साथ ही सर्दियों में वुलन कपड़ों की वजह से होनेवाली ड्राईनेस को रोकता है।


एलर्जी से बचाए

सरसों का तेल ऐंटिऑक्सीडेंट्स की तरह काम करता है। बॉडी पर अगर डेली बेसिस पर सरसों तेल से मालिश की जाए तो यह फंगल इंफेक्शन, जलन और खुजली जैसी एलर्जी को पनपने नहीं देता है। 


रंगत निखारने में मददगार

बेसन और हल्दी के साथ सरसों तेल मिलाकर उबटन तैयार करके लगाया जाए तो यह त्वचा की सुंदरता को बढ़ाने का काम करता है। यही वजह है कि भारतीय समाज में शादी के वक्त होनेवाली दुल्हन और दूल्हे को सरसों तेल का उबटन लगाया जाता है।


फटी एड़ियों से निजात दिलाए

सर्दियों में एड़ियां फटने की समस्या बेहद आम है। लेकिन अगर आप हर रोज सरसों तेल से पैरों की मसाज करते हैं तो यह एड़ियों को फटने से बचाता है। खास बात यह है कि यह थकान दूर कर मसल्स को रिलैक्स भी करता है, जिससे स्किन पर ग्लो बढ़ता है। 




...

छोटे-छोटे टिप्स से घर को बनाएं सुंदर

अगर आपको अपना घर छोटा लगता है तो आप इस छोटे से घर में अपने सारे सामान को मैनेज करने से घबराते है और कोई नई चीजें खरीदने में भी संकोच करते है। अगर आप चाहते है कि आप का घर भी सुंदर और बड़ा दिखाई दें। आप अपने घर में सिर्फ जरूरत मंद चीजें ही रखें। ज्यादा वस्तुएं से घर तंग लगने लगता है। जो चीजें जरूरत की है उन्हीं चीजों को घर में इस तरह रखें ताकि घर सुंदर होने के साथ साथ बड़ा भी दिखाई दें। छोटे घर को सुंदर और आकार में बड़ा दिखाने के कुछ टिप्स


-घर में सिर्फ जरूरत की चीजें ही रखें। बेकार चीजों को घर से बाहर निकाल देना चाहिए। 


-घर में अगर जगह कम है तो घर में पड़ी चीजों को इस तरह रखें जिससे घर में इधर उधर जाते वक्त कोई रूकावट न आए। 


-हाथ से बनी चीजों को भी घर की दीवारों पर सजाने से घर की सुंदरता ओर बढ़ जाती है। 


-घर की दीवारों पर भी लाईट रंग करवाने चाहिए ताकि उस छोटे घर में भी तंग जगह का एहसास न हो। 


-घर में पर्दों का चुनाव भी सोच समझ कर करना चाहिए। छोटे से घर को सुंदर और बड़ा दिखाने के लिए पर्दें भी विशेष भूमिका निभाते है। 


-घर में बच्चों की किताबों की अलमारी और कपड़ों की अलमारी के लिए भी जगह कम हो तो अलमारी को दीवार में ही बनवाना चाहिए। 


-घर में कम फर्नीचर का इस्तेमाल करने से भी घर की खूबसूरती में चार चांद लग सकता है। 


-घर चाहें छोटा हो या बड़ा साफ सफाई का विशेष ध्यान देने से घर न केवल सुंदर दिखेंगा ब्लकि साफ होने के साथ-साथ आकार में भी बड़ा दिखाई देगा। 



...

घर पर ही बनाएं बाजार जैसा जेल आईलाइनर

जब भी आंखों के मेकअप की बात होती है तो आईलाइनर का इस्तेमाल अवश्य किया जाता है। इसके बिना आईमेकअप पूरा ही नहीं होता। आमतौर पर महिलाएं बाजार में मिलने वाले आईलाइनर का इस्तेमाल करती हैं, लेकिन अगर आप चाहें तो खुद घर पर भी जैल बेस्ड आईलाइनर बनाकर इस्तेमाल कर सकती हैं। तो चलिए जानते हैं इसे बनाने का तरीका-

 

इनकी होगी जरूरत

घर पर जेल आईलाइनर बनाने के लिए आपको ब्लैक या किसी कलर के आईशैडो, एक छोटा कंटेनर, आई प्राइमर व नारियल के तेल की आवश्यकता होगी। वैसे तो आईलाइनर बनाने के लिए ब्लैक आईशैडो का प्रयोग किया जाता है, लेकिन अगर आप कलरफुल आईलाइनर बनाना चाहती हैं तो उस कलर के आईशैडो का प्रयोग करें। इन सभी चीजों के इस्तेमाल से एक बेहतरीन आईलाइनर तैयार किया जा सकता है।

 

यूं बनाएं आईलाइनर

होममेड जेल आईलाइनर बनाने के लिए सबसे पहले ब्लैक आईशैडो को स्क्रैप करके कंटेनर में भरें। अब इसमें थोड़ा सा प्राइमर मिलाएं और तब तक मिक्स करें, जब तक इनकी कसिस्टेंसी एक जैसी न हो जाए। अब इसमें नारियल तेल की कुछ बूंदें मिलाएं और इन्हें फिर से अच्छी तरह मिक्स करें। आपका आईलाइनर बनकर तैयार है। 

 

होते हैं यह फायदे

होममेड जेल आईलाइनर बनाने के कई तरह के फायदे हैं। सबसे पहले तो आप इस तरीके से उन कलर्स के आईलाइनर भी बना सकते हैं, जो मार्केट में आसानी से अवेलेबल नहीं होते। इसके अतिरिक्त यह जेल आईलाइनर बेहद स्मूद लुक देता है और करीबन सात से आठ घंटे तक आराम से टिकता है।

 

इसका रखें ध्यान

 

अगर आप भी घर पर आईलाइनर बनाने का मन बना रही हैं तो कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें। जैसे कि आईलाइनर बनाने के लिए लूज आईशैडो का प्रयोग करें। 

 

अगर आप अपने आईलाइनर को शिमरी इफेक्ट नहीं देना चाहतीं तो बेहतर होगा कि आप मैट आईशैडो का प्रयोग करें।

 

वहीं जिस आईप्राइमर का आप इस्तेमाल करें, वह क्लीयर हो। अर्थात् उसका अपना कोई कलर न हो। अन्यथा अंत में आपके आईलाइनर का वह कलर नहीं आएगा, जिसकी आपको इच्छा है।

 

अगर आपके पास नारियल का तेल नहीं है तो आप उसके स्थान पर वैसलीन का प्रयोग भी कर सकती हैं।




...

जल्दी मोटापा घटाना चाहते है तो पिएं लौकी का जूस

अगर आप अपना वजन कम करना चाहते है तो आपको चाहिए कि आप वर्कआउट के साथ खानपान पर विशेष ध्यान दें। अक्सर देखा गया है कि वर्कआउट करने वाले लोगों को जो भी खाने को मिले वह खा लेते है और आपका वजन बढ़ता ही जाता है। लोग ज्यादा काम करने के बाद में कोई न कोई प्रोटीन शेक पी लेते है ताकि उनका स्टैमिना ठीक रहें। 


आज हम आपको बताएंगे कि अगर आप प्रोटीन शेक के रुप में लौकी का जूस पीएं तो उसे आपके शरीर को ज्यादा फायदा होगा, क्योकि लौकी हमारे शरीर के बहुत सी बीमारियों को को दूर करने में हमारी मदद करता है। पेट साफ करने के लिए लौकी को कच्चा खाया जाए तो आपको बहुत ही फायदा होगा।


पौष्टिकता:- लौकी में प्रोटीन, फाइबर, मिनरल, कार्बोहाइड्रेट से भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। दिल के साथ संबंधित बीमारियों को भी यह दूर करती है। इसके सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम किया जा सकता है। लौकी के बीजों का उपयोग कई तरह की दवाईयों में भी किया जाता है। जिनको गुर्दो की कोई तकलीफ हो उनके लिए इसका जूस फायदेमंद होता है। गर्म प्रकृति वालों के लिए लौकी का सेवन ठंडक और पोषण देने वाला एवं अधिक हितकारी है। इसका उपयोग पित्त व कफ को खतम करने के लिए भी किया जाता है।


मोटापा:- अगर आप चाहते है कि आप पर मोटापा न आए तो आपको हर रोज 100 ग्राम लौकी का जूस पीना चाहिए। इस जूस को पीने से पेट घंटो तक भरा रहता है, जिससे आपका मोटापा भी कम होता है। पर अगर यह आपके घर में उगाई गई हो तो ज्यादा रस पीना चाहिए क्योकि बाजार में इन्जेक्शन लगा कर बढाई गई लौकी आपको नुकसान पहुचा सकती है।


इस तरह घर पर बनाए लौकी का जूस...

आप घर पर ही लौकी का जूस बना कर पी सकते है। आप सबसे पहले लौकी को धोकर छाल लें और इसे दो टुकड़ों में काट लें। अब इसे ब्लेंडर में पुदीने की पत्तियां, लौकी के टुकड़े और घिसी अदरक डालकर एकसार होने तक पिसतो रहें। पिसने के बाद इसे छान के इसमें नमक डाल कर पीए। आप इसकी सब्जी भी बना कर खा सकती है। इसमें कैलोरी की मात्रा कम होने के साथ फाइबर भी होता है जो आपकी भीख को कंट्रोल करता है व पेट की समस्यांओं से भी बचाता है। 




...

घर पर स्क्रब करने का सही तरीका, चेहरा रहेगा खिला-खिला

फेस स्क्रब और बॉडी स्क्रब के अपने फायदे हैं। ये हमारी स्किन से डेड सेल्स हटाने में मददगार हैं। बदलते मौसम में यह दिक्कत नहीं ज्यादा होती है। खासतौर पर सर्दियों में ड्राइनेस के कारण स्किन जल्दी रूखी और बेजान नजर आने लगती है। इससे आपके चेहरे की रंगत फीकी पड़ जाती है। इस तरह की समस्या से बचने के लिए आप विंटर सीजन में हर दूसरे दिन घर पर ही स्क्रब करें। यहां जानें स्क्रब करने का आसान और सही तरीका...


- स्क्रबिंग द्वारा डेड सेल्स को हटाने से अंदर की हेल्दी स्किन बाहर आती है। साथ ही इस स्किन की सफाई हो जाने से यह खुलकर सांस ले पाती है, जिससे हमारी त्वचा अधिक ग्लोइंग लगती है।


- स्क्रबिंग एक ऐसी प्रकिया है, जो त्वचा को स्वस्थ और सुंदर बनती है। इस प्रक्रिया में त्वचा की बाहरी सतह पर जमा डेड सेल्स हटाने का काम किया जाता है। यह प्रॉसेस पार्लर में मौजूद मशीनों से या घर पर भी आसानी से की जा सकती है।


स्क्रब करने का सही तरीका


-नियमित रूप से स्किन को स्क्रब करने पर हमारी त्वचा के दाग-धब्बे दूर हो जाते हैं। स्क्रब का यूज करते समय पहले चेहरे को फेशवॉश से साफ करें और कॉटन के कपड़े से पौंछ लें।


-गुलाबजल में कॉटन भिगोकर चेहरे पल लगाएं और फिर उंगलियों पर स्क्रब लेकर सर्कुलर मोशन में घुमाएं। फॉरहेड और नेक को भी स्क्रब करें।


-5 से 6 मिनट तक पूरे चेहरे, गर्दन और गले पर स्क्रब करने के बाद हल्के गुनगुने पानी से चेहरा धोकर साफ करें और कॉटन के कपड़े से पौछ लें। अब अपनी पसंद का क्रीम लगाकर हल्की मसाज करें।


-जिन लोगों की स्किन ऑइली है या जिन्हें पिंपल्स की समस्या अक्सर हो जाती है, उनके लिए भी यह प्रक्रिया प्रभावकारी है। क्योंकि इससे त्वचा का अतिरिक्त तेल साफ हो जाता है। लेकिन जिस समय पिंपल्स चेहरे पर हों, उस समय इसे नहीं करना चाहिए।


-स्किन को स्क्रब करने पर त्वचा नरम व मुलायम भी रहती है। रफनेस कम होती है और सुंदरता बढ़ती है।


-ना केवल ऑइली स्किन वालों को बल्कि ड्राई स्किन वालों को भी इससे लाभ होता है। सफाई के बाद स्किन पर मॉइश्चराइजर लगाने से यह त्वचा में अंदर तक समा जाता है और लंबे समय तक स्किन को सॉफ्ट बनाए रखता है।


-स्क्रबिंग से त्वचा पर उम्र का असल जल्दी नहीं झलकता है। चेहरे की फाइनलाइन्स और उम्र के साथ खोनेवाली चमक पर यह कंट्रोल करता है। 



...

जींस के साथ पहन सकते है ऐसे टॉप्स, कार्डिगन और लम्बे श्रग

आफिस हो या पार्टी सदाबहार जींस हर मौके पर फबती है। लेकिन जींस को सही मैच के टाॅप या कुर्ते के साथ पहनना जरूरी होता है। उसी से आपका लुक निखर कर सामने आता है। क्या आपके लिए भी मुश्किल है ये तय करना कि जींस को कैसे टॉप या कुर्ते से मैच करके पहने तो हम आपके लिए लेकर आएं है कुछ आप्शन जो आपको आपकी जींस के साथ सही मैच करने में मदद करेगें।


लम्बे टॉप का कुल लुक: जब भी आप स्किन टच जींस पहनें तो इस पर लम्बे और थोड़े ढ़ीले टॉप चुनें। अगर जींस का रंग गहरा है तो इनपर हल्के या चटख रंग के टॉप चुनें। वहीं टॉप में गले का आकार वी या स्कूप चुनें।


कार्डिगन और लम्बे श्रग से पाएं स्टाइल: जींस के साथ लम्बा श्रग अच्छा लगता है। जींस पर छोटा या क्राप टॉप पहनें और ऊपर से श्रग डालें। सर्दी के मौसम में इसे कार्डिगन के साथ भी पहन सकती हैं।


जैकैट और ब्लेजर के साथ स्टाइलिश लुक: खासतौर पर सर्दी के मौसम में जींस सबसे सही ऑप्शन होता है। इस पर लैदर की जैकेट पहनकर आप खुद को स्टाइलिश लुक दे सकती हैं। इसके अलावा डेनिम की जैकेट और ब्लेजर भी खूब जंचेगा।


कुर्ती के साथ करें मैच: इन दिनों स्लिट या फ्रंट ओपन कुर्तियों का काफी चलन है। जींस के साथ कुर्तियां इंडो-वेस्टर्न लुक देने के साथ-साथ अलग स्टाइल भी देंगी। जींस के साथ आप शॉर्ट कुर्तियां भी पहन सकती हैं।


शर्ट के साथ दें फॉर्मल लुक: ऑफिस में जींस को शर्ट के साथ पहनने से फार्मल लुक आता है। आजकल शर्ट अंडर करके पहनने का भी फैशन है। ऐसे लुक पर जुड़ा आपको एकदम प्रोफेशनल दिखाता है।




...

शादी का लंहगा लेने जा रहे है, तो ध्यान रखे ये बातें

शादी एक लड़की के लिए बहुत मायने रखती है। और उसमें अपने पसंद की गहनें, मेकअप, लहंगा आदि न हो तो फिर बात ही क्या है। आज के दौर में फैशन का दौर है। छोटी सी पार्टी क्यो न हो उसमें भी पहले ड्रेस सोची जाती है कि क्या पहने। जिस लड़की की शादी हो तो फिर उसका तो पूरा हक है कि अपनी पसंद का लंहगा खरीदें। जिससे कि शादी के दिन वह बिल्कुल एक परी की तरह लगें और जिसे सभी देखते रह जाए।


जब लड़कियां लहंगा खरीदने जाती है तो उन्हें समझ नही आता कि किस तरह का लंहगा खरीदें या फिर उनके ऊपर कैसा अच्छा लगेगा। कभी-कभी होता है कि ठीक तरह या अपने फेयर के रंग को लहंगा न लेने से आपको बात में पछतावा होता है कि यह लंहगा आप पर ठीक नही लगता है। अगर आप शॉपिंग करने जा रही है और लंहगा लेना है तो याद रखें खरीदते समय ये बातें जिससें लहंगा चुनते समय समस्या उत्पन्न न हो।


-जब भी आप अपने लि लहंगा लेने जा रही हो तो इस बात का ध्यान रखे कि आपकी हाइट, स्किन का कलर. शारिरीक बनावट की तरह की है। क्योकि इसी से आप एक अच्छा लंहगा चुन सकती है। जिसे पहन कर आप बहुत खुबसूरत लगेगी।

-अगर आपकी हाइट ज्यादा है और आप पतली है तो आप घेरदार लहंगा लें। जिससे आपकी हाइट ज्यादा नही लगेगी और आप अच्छी भी लगेगी।

-लंहगा चुनते समय रंग का सबसे ज्यदा ख्याल रखा जाता है जिससे कि आप उसे पहने सो सुंदर लगे। इसीलिए अगर आपका रंग फेयर है यानी कि गोरा है तो आप किसी भी रंग का लहंगा ले सकती है। आप पर सभी रंग अच्छे लगेगे। आप चाहे तो सॉफ्ट पेस्टल, पिंक, पीच या लाइट सॉफ्ट ग्रीन कलर या फिर डार्क कलर ले सकती है। यह कलर आप पर अच्छे लगेगे।

-अगर आपकी हाइट कम है यै फिर आपकी हेल्थ ज्यादा है तो आप घेरदार लहंगा के बारें में तो बिल्कुल न सोचे। क्योंकि यह आपकी हाइट और मोटापा ज्यादा दिखाएगा। साथ ही लहंगा में जो डिजाइन हो वह बारीक कढ़ाई की या फिर डिजाइन की हो।

-आप लहंगा इतना भी भारी न हो कि आप उसे संभाल न सकें। अपने वजन के अनुसार ही लहंगे का चुनाव करें ताकि आप अपनी ही शादी में असहज न दिखाई दें।

-अगर आपका रंग डस्की है तो आप ब्राइट कलर का लहंगा चुने। इसके अलावा आप मजेंटा, लाल, नारंगी, नीला रंग भी चुन सकते है यह आप पर खूब जंचेगा।





...

सर्दियों में सिर्फ स्किन नहीं बालों का भी रखें खास ख्याल

सर्दियों का मौसम आ गया है और इस मौसम में आपके स्किन को एक्सट्रा केयर की जरूरत होती है क्योंकि सर्दी का मौसम स्किन के लिए बिलकुल अच्छा नहीं होता। सर्दी में चलने वाली सूखी हवा हमारे स्किन से मॉइश्चर यानी नमी को खींच लेती है और अगर इस ओर ध्यान न दिया जाए तो ड्राई स्किन की वजह से स्किन फटने लगती है और कभी कभार तो ब्लीडिंग तक हो सकती है। लेकिन सर्दियों में सिर्फ स्किन ही नहीं बल्कि बाल भी ड्राई हो जाते हैं जिस वजह से उनका भी खास ख्याल रखने की जरूरत पड़ती है। ऐसे में हम आपको बता रहे हैं कि आखिर कैसे आप इस कोल्ड वेदर के साइड इफेक्ट्स से अपने बालों को बचा सकते हैं...


बालों को कंडिशन करें

सर्दी के मौसम में स्किन के साथ-साथ बालों का भी मॉइश्चर छिन जाता है जिस वजह से वे ड्राई और फ्लैकी यानी पपड़ीदार हो जाते हैं। लिहाजा यह बेहद जरूरी है कि आप किसी अच्छे डीप-कंडिशनिंग सीरम या बाम का बालों पर इस्तेमाल करें। इससे बालों का खोया मॉइश्चर लौट आएगा। साथ ही इस वेदर में बालों में बहुत ज्यादा शैंपू भी यूज न करें। हर बार बाल धोने के बाद कंडिशनर जरूर लगाएं। इससे बालों में शाइन आएगी और बाल टूटेंगे नहीं।


हेयर ड्रायर यूज करने से बचें

सर्दी के मौसम में बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर यूज न करें। बाल नैचरली सूखें इसी में आपका फायदा है। अगर इमरजेंसी में कभी हेयर ड्रायर इस्तेमाल करना भी पड़े तो बालों को बहुत ज्यादा ड्राई न करें वरना बालों को नुकसान हो होगा ही वे बहुत ज्यादा फ्रिजी यानी उलझने भी लगेंगे। ड्रायर को कूल मोड पर सेट करें और जेंटली बालों पर इसका इस्तेमाल करें।


बालों को सुखाकर ही बाहर निकलें

सर्दी के मौसम में जहां तक संभव हो गीले बालों में घर से बाहर न निकलें। हमेशा बालों को पूरी तरह से सुखाकर ही घर से बाहर निकलें। ऐसा करने से न सिर्फ आप सर्दी और ठंड लगने से बच जाएंगी बल्कि आपके बाल भी ड्राई और कमजोर नहीं होंगे। साथ ही साथ हीट स्टाइलिंग टूल इस्तेमाल करने से पहले बालों में हीट स्प्रे या लीव-इन कंडिशनर जरूर लगाएं। ऐसा करने से आपके बाल हाइड्रेटेड, सॉफ्ट और शाइनी रहेंगे।


बालों को प्रोटेक्ट करें

सर्दी के मौसम में स्वेटर, जैकेट पहनने के साथ-साथ बालों को भी प्रोटेक्शन की जरूरत होती है। लिहाजा हैट या स्कार्फ का इस्तेमाल करें। मौसम में अचानक होने वाले बदलाव से बालों को काफी नुकसान हो सकता है। 






...

त्वचा और बालों के लिए बेहद लाभकारी है आंवला पाउडर

आंवले का इस्तेमाल लगभग हर घर में किया जाता हैं। लेकिन उसके बहुत से फायदे है जो लोग आज भी नहीं जानते और बाहर के तरीके अपनाते हैं। त्वचा और बालों के लिए आंवले का इस्तेमाल एक राम बाण इलाज हैं। इसमें मौजूद औषधीय गुणों के कारण यह कई तरह की स्किन और बालों की समस्याओं को दूर करने का माद्दा रखता है। 


त्वचा के दाग-धब्बे हटाने के लिए :

1. त्वचा के दाग-धब्बों को हटाने के लिए आप आंवले को स्क्रब बना कर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। आधा चम्मच आंवला पाउडर, आधा चम्मच पीसी हुई शक्कर के साथ गुलाब जल को अच्छे से मिलाकर उसे चेहरे पर स्क्रब करें। आप हफ्ते में 3 बार स्क्रब का इस्तेमाल कर सकते हैं। जल्द ही आपको इसके फायदे नज़र आने लगेंगे। 


2. त्वचा के दाग-धब्बों को दूर करने के लिए आंवला का इस्तेमाल किया जाता है। इसके लिए आप तीन बड़े चम्मच आंवला पाउडर लेकर उसमें एक चम्मच हल्दी और दो बड़े चम्मच नींबू का रस डालकर मिक्स करें और एक फाइन पेस्ट बनाएं। अब आप इसे अपने चेहरे पर लगाकर 15−20 मिनट के लिए छोड़ दें। अंत में पानी की मदद से स्किन साफ करें। आप सप्ताह में एक बार इस पैक का इस्तेमाल कर सकती हैं।


बालों को चुस्त दुरुस्त रखने के लिए भी आंवला है लाभकारी:

1. अगर आप डैंड्रफ से परेशान है तो आंवला आपकी जान बचा सकता हैं। आंवले के पाउडर को दही और निम्बू के साथ मिलाकर अच्छे से घोल बना ले। इसके बाद उस घोल को बालों की जड़ में अच्छे से लगा ले। इसे सूखने तक बालों में लगे रहने दे। इसके बाद बालों को पानी से अच्छे से धो ले और बाद में शैम्पू कर ले। 


2. बालों को झड़ने से रोकने के लिए, शाइन और सिल्किनेस बढ़ाने के लिए भी आप आंवले का इस्तेमाल कर सकते हैं। पाउडर को पानी के साथ घोल कर पूरे बालों में लगाएं और सूखने के बाद उसे पानी से धो ले। हफ्ते में एक से दो बार आप ऐसा कर सकते हैं। ऐसा करते रहने से आपके बाल हमेशा स्वस्थ रहेंगे। साथ ही लम्बे समय तक काले भी रहेंगे। 




...

टीवी स्क्रीन को साफ करते समय ना करें यह छोटी−छोटी गलतियां

टीवी के सामने बैठकर हम सभी अपने फेवरिट सीरियल व मूवी आदि देखते हैं, लेकिन जरा सोचिए कि आप टीवी खोले और आपको स्क्रीन गंदी नजर आए या फिर स्क्रीन के उपर उंगलियों के निशान हों तो यकीनन आपको स्क्रीन पर उतनी क्लीयरिटी नजर नहीं आएगी और फिर अपना फेवरिट सीरियल देखने का भी वह मजा नहीं आएगा, जो वास्तव में आना चाहिए। तो चलिए आज हम आपको टीवी स्क्रीन को साफ करने का आसान तरीका बता रहे हैं−

 

एलईडी व एलसीडी टीवी

एलईडी व एलसीडी टीवी काफी डेलिकेट होते हैं और उन्हें सामान्य तौर पर गीला करके क्लीन करना उचित नहीं माना जाता। इसके लिए सबसे पहले आप उसकी डस्ट साफ करें और इसके लिए माइक्रोफाइबर युक्त सूखे कपड़े का इस्तेमाल करें। इसके बाद अगर आपको स्क्रीन पर किसी तरह के निशान या धब्बे नजर आ रहे हैं तो उसके लिए आप वाइप्स का सहारा ले सकते हैं। आजकल इलेक्टानिक सामान के लिए वाइप्स अलग से मिलते हैं, आप उसका इस्तेमाल करें। इसके अलावा टीवी के बटन व पिछले हिस्से को क्लीन करने के लिए माइक्रोफाइबर कपड़े का इस्तेमाल करना अच्छा रहेगा। आप प्लाज्मा स्क्रीन को भी एलईडी टीवी की तरह ही आसानी से क्लीन कर सकते हैं।


ट्यूब टेलीविजन

इस तरह से टीवी पुराने समय में काफी चलन में थे, लेकिन आज भी लोग इनका इस्तेमाल करते हैं। अगर आपके पास ट्यूब टेलीविजन है तो आप इसे बेहद आसानी से साफ कर सकते हैं। यह बिल्कुल उसी तरह साफ किया जाता है, जिस तरह आप अपने घर का शीशा क्लीन करते हैं। इसके लिए आप माइक्रोफाइबर क्लीनिंग क्लॉथ को हल्का गीला करके उससे टीवी स्क्रीन को साफ करें या फिर आप विंडो क्लीनिंग स्प्रे की मदद से भी भी ट्यूब टीवी को क्लीन कर सकते हैं।

 

छोटी−छोटी बातें

अगर आप चाहते हैं कि आपका टीवी हमेशा चमकता रहे तो आप सप्ताह में कम से कम एक बार टीवी स्क्रीन को माइक्रोफाइबर कपड़े की मदद से साफ करें। कभी भी टीवी स्क्रीन पर सीधे कुछ भी स्प्रे न करें, भले ही वह ट्यूब टीवी क्यों न हो। जरूरत से ज्यादा स्प्रे आपके टीवी के कैबिनेट को नुकसान पहुंचा सकते हैं, यहां तक कि टीवी सेट को डैमेज कर सकते हैं। अपनी टीवी स्क्रीन पर ऐसे प्रॉडक्ट का इस्तेमाल न करें, जिसमें अमोनिया, एल्कोहॉल व एसीटोन का इस्तेमाल किया गया हो।




...

टैनिंग दूर करने में मददगार है आम, ऐसे करे इस्तेमाल

गर्मी के दौरान लोगों के बीच आम स्वादिष्ट भोजन में से एक है। आम ना केवल स्वाद को संतुष्ट करता है बल्कि इसमें बहुत से स्वास्थ्य गुण भी होते हैं। यदि आम सही तरीके से उपभोग किया जाता है, तो यह समग्र स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है। आम के सेवन के अलावा, चेहरे पर भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। जब मैंगो पल्प त्वचा पर लागू करते हैं, तो यह कई त्वचा की समस्या को कम कर सकते हैं, जिनमें से एक त्वचा की टैनिंग है। गर्मी के दौरान त्वचा की टैनिंग आम समस्या होती है। समस्या से छुटकारा पाने के लिए लोगों ने कई सौंदर्य उपचार अपनाए हैं। ये उपचार महंगें होते हैं और लंबी अवधि में त्वचा के लिए अच्छा नहीं होते हैं। हालांकि, बहुत से लोग इस तथ्य से अवगत नहीं हैं कि टैनिंग की समस्या का इलाज प्राकृतिक उत्पाद जैसे आम की मदद से भी किया जा सकता है। आम टैनिंग को कम करने के लिए प्रभावी होते हैं।


आम से बना फेस पैक टैनिंग दूर करने के लिए:


मैंगो पल्प फेस पैक : आम में एक्सफोलिएंटिंग गुण होते हैं जो त्वचा को हाइड्रेटेड रखती हैं। यह टैनिंग के बाद आपकी त्वचा पर चमक वापस लाने में मदद करता है। बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए, मैंगो पल्प निकालें और 2-3 मिनट के लिए अपने चेहरे पर उसे रगड़ें। फिर 5 मिनट सुखने के लिए छोड़ दें और ठंडे पानी से धो लें। इसके अलावा उबटन की मदद से टैनिंग कैसे हटाएं, जानने के लिए क्लिक करें।


आम और बेसन से बना फेस फैक : यह फेस पैक टैनिंग की समस्या को दूर करता है और त्वचा पर वापस चमक लाता है। इस फेस पैक को बनाने के लिए, मैंगो पल्स, दो चम्मच बेसन, 1/2 चम्मच शहद और कुछ बादाम लें और उनका पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को चेहरे पर लगाकर 10 से 12 मिनट तक छोड़ दें और फिर इसे पानी से धो लें।


आम और दही से बना फेस पैक : यदि आपकी त्वचा तैलीय है तो यह फेस पैक आपके लिए अच्छा साबित हो सकता है। इस पैक को बनाने के लिए, मैंगो पल्क लें और उसमें एक चम्मच दही और एक चम्मच शहद मिलाएं। इसे अच्छी तरह मिलाएं और चेहरे पर लगाकर इसे 10 मिनट तक छोड़ दें और फिर इसे धो लें।





...

पीरियड्स टाइम में क्या खाएं और क्या नहीं, महिलाओं का जानना जरूरी

महिलाओं को महीने के 6-7 दिन पीरियड्स की समस्या से गुजरना पड़ता हैं। पीरियड्स के दौरान अधिकतर महिलाओं को दर्द, चिड़-चिड़ापन और कमजोरी महसूस होती हैं। वहीं अक्सर पीरियड्स आने से पहले महिलाओं की पीठ, पेड़ू या कमर में दर्द होता है, जोकि नैचुरल है। मगर खान-पान में थोड़ी-सी सावधानी बरतकर आप पीरियड्स के दौरान होने वाली परेशानियों से छुटकारा पा सकती हैं। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि पीरियड्स के दौरान आपको किन-किन बातों का ख्याल रखना चाहिए।

 

पानी

पीरियड्स के दौरान ठंडे की बजाए गर्म पानी पीएं। दिनभर में कम से कम 1-2 कप चाय या दूध भी पीएं। इस दौरान आप ज्यादा से ज्यादा गर्म चीजों का सेवन करें।


आटे का हलवा

आटे के हलवे में गुड़ डालकर खाएं। इससे पेट अच्छी तरह से साफ हो जाएगा और आपका दर्द भी कम होगा।


गर्म पानी से स्नान

साथ ही नहाने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल करें। वहीं अगर आपको ज्यादा दर्द होता है तो शॉवर लेते समय 1 मग गर्म पानी पेड़ू पर जरूर डालें।


ना करें दवाओं का सेवन

अक्सर महिलाएं दर्द से छुटकारा पाने के लिए दवा का सेवन करती हैं जोकि गलत है। इसकी बजाए आप नैचुरल तरीके इस्तेमाल कर सकती हैं।


तला-भुना से परहेज

पीरियड्स में तला-भुना खाने से इंस्ट्रोजन हॉर्मोन का लेवल बिगड़ जाता है। इससे पेट और कमर दर्द होने की समस्या हो सकती है। साथ ही ठंडी तहसील वाली चीजें, ज्यादा मीठा, रैड मीट, आचार या खट्टी चीजें खाने से भी परहेज करें।


एेलोवेरा जूस

अगर पीरियड्स में ज्यादा दर्द रहता है तो एेलोवेरा जूस में 1 चम्मच शहद अौर पानी मिलाकर पीएं। इससे दर्द, कमोजरी और अधिक ब्लीडिंग से राहत मिलेगी।


तुलसी का काढ़ा

तुलसी भी पीरियड्स में काफी लाभकारी है। पानी में 7-8 तुलसी के पच्चे उबालकर, उसमें 1 चम्मच शहद मिलाए और रोजाना पीए। इससे पीरियड्स की सभी प्रॉबल्म दूर होगी।


गर्म पानी से सेंक

पेट दर्द होने पर गर्म पानी की बोतल या थैली पेट के निचले हिस्से या दर्द वाली जगह पर रखें। इससे गंदगी व रूका रक्त बाहर निकल जाता है और दर्द से तुरंत राहत मिलती है।




...

लिक्विड लिपस्टिक लगाते समय न करें यह गलतियां

लिक्विड लिपस्टिक यकीनन होंठों पर एक अलग ही लुक देती है और हर लड़की इसे लगाना पसंद करती हैं। लेकिन लिक्विड लिपस्टिक लगाते समय हमेशा एक ही समस्या होती है कि इसे लगाते समय हमेशा कुछ न कुछ गड़बड़ हो जाती है और इसलिए आपको एक परफेक्ट लुक नहीं मिल पाता। तो चलिए आज हम आपको ऐसी कुछ गलतियों के बारे में बता रहे हैं, जिसे अमूमन लड़कियां लिक्विड लिपस्टिक लगाते समय करती हैं...


पहले करें एक्सफोलिएट

अक्सर लड़कियां सीधे ही लिक्विड लिपस्टिक अप्लाई कर देती हैं, लेकिन अगर आप लिप्स को एक्सफोलिएट किए बिना लिक्विड लिपस्टिक लगाती हैं तो इससे आपके होंठ फ्लेकी और रूखे नजर आते हैं। इसलिए हमेशा पहले लिप्स की डेड स्किन सेल्स को निकालने के लिए एक्सफोलिएट करें। लिप्स को एक्सफोलिएट करने के लिए पहले होंठों पर पेटोलियम जेली लगाएं और फिर बच्चों के टूथब्रश की मदद से होंठों को हल्का सा रगड़ें। अंत में वाइप्स की मदद की होंठों को क्लीन करें।

 

करें लिप्स को तैयार

लिप्स को एक्सफोलिएट करने के बाद जरूरी है कि आप होंठों पर लिप बाम लगाएं। इससे आपकी लिक्विड लिपस्टिक को भी एक स्मूद टेक्सचर मिलता है। चूंकि लिक्विड लिपस्टिक आपके होंठों की नमी को सोख लेती है। इसलिए आप हमेशा हाई क्वालिटी के लिप बाम को लगाएं।


लिपलाइनर से मिलेगा परफेक्ट लुक

अगर आप चाहती हैं कि आपको लिक्विड लिपस्टिक लगाने पर एक परफेक्ट लुक मिले तो आप हमेशा पहले लिपलाइनर का इस्तेमाल करें। आप अपनी लिपस्टिक से मैच करता हुआ लिपलाइनर से पहले होंठों की आउटलाइन बनाएं। इसके बाद ही लिपस्टिक अप्लाई करें। इतना ही नहीं, जब आप लिपस्टिक लगा रही हैं तो कोशिश करें कि आप लिपस्टिक ब्रश से ही उसे लगाएं। इससे लिपस्टिक होंठों पर एकसमान लगती है और इसका लुक भी काफी अच्छा आता है।

 

चुनें सही प्रॉडक्ट

यह नियम सिर्फ लिक्विड लिपस्टिक के लिए ही नहीं, बल्कि हर तरह के मेकअप प्रॉडक्ट के लिए लागू होता है। कभी भी सस्ते के चक्कर में हल्की क्वालिटी का सामान खरीदने की गलती न करें। अगर आप सस्ते के चक्कर में गलत लिक्विड लिपस्टिक खरीदती हैं तो इससे आपके होंठों को काफी नुकसान होता है। कई बार होंठ काले पड़ जाते हैं। यहां तक कि उनकी नेचुरल ब्यूटी भी खत्म हो जाती है। इसलिए कभी भी अपने स्किन केयर व मेकअप प्रॉडक्ट के साथ किसी तरह का समझौता न करें।



...

त्वचा को कोमल बनाने के लिए अपनाएं टिप्स

त्वचा पर दाग-धब्बे, मुंहासे, पिंपल्स और ब्लैकहेड्स होने के कारण त्वचा की खूबसूरती छीन जाती है। इनके कारण त्वचा के रोमछिद्र बड़े होने, झुर्रियां, दानें होनें के कारण त्वचा की कोमलता भी खत्म हो जाती है। ऐसे में त्वचा को छूने पर खुरदुरापन महसूस होता है। हर कोई अपनी त्वचा को निखरी और कोमल बनाना चाहता है। ऐसे में अगर आप अपनी त्वचा की कोमलता को वापस पाना चाहते हैं तो हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ब्यूटी टिप्स। 


कोमल त्वचा पाने के तरीके-


1.शहद: त्वचा को कोमल और निखरी बनाने के लिए शहद उपयोगी होता है। शहद गाढ़ा होता है जो त्वचा पर मॉइश्चर की एक परत बना देता है, साथ ही इसमें एंटी-बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं जो पिंपल्स को खत्म कर देती हैं। मुंहासों और दाग-धब्बों को दूर करने के लिए शहद कैसे फायदेमंद होता है जानने के लिए क्लिक करें।


कैसे करें इस्तेमाल: शुद्ध शहद को 10 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें और फिर हल्के गर्म पानी से चेहरा धो लें। शहद और अंडे को मिलाकर फेसमास्क बना लें और 20 मिनट तक चेहरे पर लगाए रखने के बाद हल्के गर्म पानी से धो लें।


2.एलोवेरा जेल: एलोवेरा जेल त्वचा को कोमल बनाने के लिए लाभकारी होता है। इसकी सूदिंग प्रॉपर्टीज मुंहासे मिटाने के साथ त्वचा को हाइड्रेट भी रखती है और कोमल बनाए रखती हैं। 


कैसे करें इस्तेमाल: एलोवेरा जेल को चेहरे पर रातभर लगाकर रखें। एलोवेरा जेल को 2 चम्मच नींबू के रस और शहद में मिलाकर मिश्रण को चेहरे पर 20 मिनट लगाकर चेहरा धो लें।


3.खीरा: खीरे में एस्ट्रिजेंट प्रॉपर्टी के साथ ही पोषण देने के लिए आवश्यक मिनरल्स होते हैं। खीरे में सबसे ज्यादा पानी होता है। यह त्वचा के pH को बैलेंस रखता है और एसिड लेवल को बैलेंस करके त्वचा को कोमल और खूबसूरत बनाए रखता है। खीरे को त्वचा पर लगाना और खीरा खाना, दोनों ही त्वचा के लिए लाभकारी होता है।


कैसे करें इस्तेमाल: खीरे का रस निकालकर इसमें थोड़ा सा दूध मिला लें और इसे 20 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें। इसके बाद चेहरे को हल्के गर्म पानी से धो लें।


4.योगर्ट: प्रोटीन, लेक्टिक एसिड और एंजाइम्स से भरपूर योगर्ट को चेहरे पर लगाने से यह त्वचा को स्वस्थ और मुलायम बनाए रखता है।


कैसे करें इस्तेमाल: योगर्ट में नींबू का रस और एक चम्मच शहद मिलाकर चेहरे पर लगा लें और 20 मिनट बाद हल्के गर्म पानी से धो लें जिससे त्वचा मुलायम बनती है।


5.खूब पानी पीएं: पसीने और मूत्र के रुप में हमारे शरीर से पानी निकल जाता है। ऐसे में त्वचा को हाइड्रेट और कोमल बनाए रखने के लिए पानी पीना जरुरी होता है। खूबसूरत और कोमल त्वचा पाने के लिए दिनभर में 8-10 गिलास पानी जरुर पीएं।

...

सुंदरता के लिए कैसे करें बेबी वाइप्स का उपयोग

बेबी वाइप्स बच्चों के लिए लाभकारी होता है क्योंकि उनमें किसी प्रकार का हानिकारक केमिकल नहीं होता है और वो उनकी त्वचा पर इसका बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है। इसके अलावा ये उन्हें इंफेक्शन से भी बचाता है। बेबी वाइप्स ना कि सिर्फ बच्चों के लिए बल्कि युवाओं के लिए बहुत लाभकारी होता है। लोग इन्हें कई प्रकार से इस्तेमाल कर सकते हैं- जैसे- त्वचा को साफ करने के लिए, टेबल साफ करने के लिए, कारपेट से गंदगी हटाने के लिए या फिर हाथ पोछनें के लिए। सबसे बेहतरीन उपयोग इनका सुंदरता बढ़ाने के लिए किया जा सकता है। जैसे बच्चों की त्वचा पर इसका बुरा प्रभाव नहीं होता है वैसे ही युवाओं के लिए भी यह नुकसानदायक नहीं होता है। 


बेबी वाइप्स के लाभ...


नाखून स्वस्थ रखता है : बेबी वीइप्स का इस्तेमाल आपके नाखूनों की गंदगी को हटाने में मदद करता है और आपके आपके क्यूटिकल्स को मॉइश्चराइज रखने में मदद करता है। इसके अलावा आपके नाखूनों की सुंदरता भी बनाए रखता है। 


मेकअप हटाना : बेबी वाइप्स त्वचा से मेकअप हटाने के लिए बहुत लाभकारी होता है और आसानी से मेकअप हटा देता है। इसके इस्तेमाल से त्वचा को किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं होता है और ना ही त्वचा पर इसका कोई साइड इफेक्ट होता है।


अंडरआर्म्स को साफ करना : बेबी वाइप्स में एल्कोहल होता है जो अंडरआर्म्स में होने वाले एन्जाइम और बैक्टीरिया को नष्ट करता है जिससे बदबू और गंदगी दोनों कम हो जाती है। इसके अलावा बेबी वाइप्स में पानी की मात्रा अधिक होती है जो बैक्टीरिया और कीटाणुओं को अवशोषित कर लेती है। 


हेयर डाई के दाग को हटाना : बेबी वाइप्स माथे और गर्दन पर लगे हेयर डाई को साफ करता है क्योंकि इसमें उच्च मात्रा में एलोवेरा मौजूद होता है और त्वचा को हेयर डाई से होने वाले नुकसान से भी बचाता है। 


टैनिंग दूर करने के लिए : बेबी वाइप्स में एलोवेरा और विटामिन-ई मौजूद होता है जो आपकी त्वचा के लिए लाभकारी होता है और सूरज की हानिकारक किरणों के कारण होने वाली टैनिंग को दूर करता है।




...

महिलाओं के लिए हैं ये योगासन, पीसीओडी से मिलेगा छुटकारा

पॉलिसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम या पीसीओडी एक ऐसी बीमारी है जिसके तहत ओवरी में मल्टीपल सिस्ट हो जाते हैं। ये सीस्ट खास किस्म के तरल पदार्थ की थैलियां होती हैं। सिस्ट होने की असली वजह मासिक धर्म में अनियमतता को बताया जाता है। मासिक धर्म में अनियमतता के कारण ओवरी का साइज बढ़ जाता है नतीजतन एंड्रोजेन और एस्ट्रोजेनिक नामक हारमोन भारी मात्रा में प्रोड्यूस होते हैं। पॉलिसिस्टिक ओवरी नार्मल ओवरी की तुलना में आकार में काफी बड़े होते हैं। इसे स्टीन लिवंथन सिंड्रोम भी कहा जाता है। पीसीओडी के कारण गर्भास्था, मासिक धर्म, डायबिटीज जैसी बीमारी में परेशानियों का इजाफा करता है।


पीसीओडी के लक्षण : पीसीओडी के लक्षण बेहद खतरनाक ढंग से देखे जा सकते हैं। दरअसल इससे महिलाओं के शरीर में बाल बढ़ जाते हैं, स्तन का साइज छोटा हो जाता है, आवाज में फर्क महसूस होने लगता है, वजन बढ़ जाता है, सिर के बाल पतले होने लगते हैं। इतना ही नहीं जो महिलाएं पीसीओडी से पीड़ित होती हैं, उनमें एंग्जाइटी, डिप्रेशन, वजन बढ़ना जैसी समस्या भी देखने को मिलती है। इन दिनों पीसीओडी वयस्क महिलाओं की कम उम्र की युवतियों में देखने को मिल रही है। इसकी असली वजह काम का तनाव, अस्वस्थ खानपान, एंग्जाइटी, डिप्रेशन, व्यायाम न करना है। साथ ही जो युवतियां कम सोती हैं, उन्हें भी पीसीओडी होने का खतरा रहता है। जो महिलाएं अपनी जीवनशैली के कारण पीसीओडी का शिकार हो रही हैं, वे चाहें तो कुछ आसनों की मदद से स्वस्थ जीवन जी सकती हैं। उनमें पीसीओडी का खतरा भी कम हो जाता है। 


कपालभाती : कपालभाती शब्द दो शब्दों को जोड़कर बनाया गया है। एक कपाल यानी माथा और भाती यानी चमकना। माना जाता है कि नियमित व्यायाम करने से चेहरे पर ग्लो आता है और शरीर स्वस्थ रहता है। कपालभाती वास्तव में एक शत क्रिया है। यह एक तरह शरीर की क्लीनिंग प्रक्रिया है जिसकी मदद से शरीर से जहरीले पदार्थों को निकाला जाता है। इसके तहत आपको योगिक आसन में बैठना होता है और फिर पूरी प्रक्रिया सांसों के लेने और छोड़ने पर निर्भर करती है। 


योनि मुद्रा : यह एक ऐसा योगासन है जिसे करते हुए महिला किसी भी रूप में बाहरी दुनिया से जुड़ाव महसूस नहीं करती। इसलिए इसे योनि मुद्रा कहा जाता है। यह हमें अपनी अंदरूनी दुनिया से जोड़ता है इसलिए इसे योनि मुद्रा कहा जाता है। यह गर्भाशय में शिशु के होने का आभास कराता है।


पवनमुक्त आसन : पवनमुक्त आसन हमारे पेट के लिए सबसे ज्यादा लाभकारी आसन है। साथ ही यह हमारी पाचन क्रिया को भी बेहतर करता है। पवनमुक्त आसन से एब्डोमिनल और पीठ की मसल्स को मजबूती मिलता है साथ ही रक्त संचार का प्रवाह भी बेहतर होता है। 


हलासन : हल एक तरह का जमीन जोतने के लिए इस्तेमाल होने वाला उपकरण है जिसे किसान द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। हलासन को सर्वांगासन के बाद ही किया जाता है जो वास्तव में कंधों से जुड़ा हुआ आसन है। यह आसन भी पीसीओडी में राहत देने में मदद करता है। 


धनुर्सान : यह आसन टेंशन और डिप्रेशन को दूर भगान के लिए किया जाता है। अतः यदि किसी महिला में पीसीओडी के जरा भी लक्ष्ण दिखें या उन्हें जबरदस्त तनाव होता है तो उन्हें यह आसन अवश्य करना चाहिए। इससे पीसीओडी के आशंका में काफी कमी आती है।








...

सीधे बालों को कर्ल करने के आसान तरीके

लड़कियो कि असली खूबसूरती का राज उनके बाल होते हैं। अपने बालों को नया लुक देकर जब आप खुद को एक नये अंदाज में देखते हैं तो इस खुशी का अंदाजा लगाना भी मुश्किल होने लगता है। लेकिन बाल जब एक ही तरह के दिखते हैं तब आप खुद में बोरियत पन का अहसास करने लगते हैं। और फिर बाल अगर सिल्की स्ट्रेट हो तब तो कोई भी स्टाइल बना पाना और भी मुश्किल हो जाता है। 


इससे ज्यादा बोरिंग और क्या होगा कि आप कहीं भी जाए बस एक ही हेयर स्टाइल हो। कई बार तो ऐसा भी होता है कि पार्टी में जाने के लिए बालों को एक नया लुक देने के लिए आप पार्लर में न जाने कितना पैसे खर्च करते हैं लेकिन जैसे ही आप सैलून से बाहर निकलती हैं ये लॉक्स फिर से फ्लैट हो जाते हैं। इसीलिए हम आपको बताते हैं कुछ ऐसे टिप्स, जिन्हें फॉलो कर आप अपने घर पर ही इन कर्ल्स को ज्यादा टाइम तक टिका सकती हैं।


सावधानियां :- बालों में ज्यादा कंडीशनर उन्हें और फिर सिल्की बनाता है और इससे बालों में कर्ल्स टिक नहीं पाते। इसीलिए कंडीशनर कम लगाएं। साथ ही हमेशा हेयर वॉश करने के अगले दिन ही बालों को कर्ल करें। क्योंकि ऐसे में बालों में नैचुरल ऑयल होगा, यदि आप बालों में कर्लिंग आयरन लगा रहे है तो ध्यान दे कि इससे पहले बालों में मूस लगा लें। एक बेसबॉल साइज जितना मूस लें और बालों की जड़ों से लेकर एंड्स तक लगाएं। ये आपके बालों के ऊपर एक कवच बनाएगा, जिससे कर्ल्स अच्छे से टीके रहेंगे। आप नारियल या आर्गन तेल भी लगा सकती हैं।


बाल कर्ल बनाए रखने के तरीके...


कर्ल और क्लिप-कुछ सेकेंड्स में कर्ली बाल पाने के लिए कई कर्लिंग रॉड्स और फ्लैट आइरन्स आती हैं। लेकिन कर्ल करने के बाद आपका अगला स्टेप होना चाहिए क्लिप। अगर आपके बाल बहुत कर्ल हैं तब तो ये बहुत जरूरी है। इसीलिए बालों को कर्ल करने के 5 सेकेंड बाद बालों से रॉड हटाएं और डकबिल क्लिप या बॉबी पिन लगा लें।


5 से 10 मिनट रूकें। अगर आप हीट डैमेज से बालों में होने वाले नुकसान के बारे में परेशान हैं तो रात भर सॉफ्ट स्पॉंज रोलर्स लगा कर सोएं। इससे आपको बिना बालों को डैमेज किए वही रिजल्ट मिलेगा। बालों से क्लिप खोलने के बाद बालों को उंगलियों से बिखेरें। आप कैसे भी कर्ल करें, हर बार उन्हें उंगलियों से ही बिखेरे, इससे कर्ल्स बालों में ज्यादा टाइम तक बने रहेंगे। आखिर में हेयर स्प्रे लगाएं, बस आप तैयार हैं। 





...

खाली वाईन बॉटल को इस तरह करें इस्तेमाल

अपनी वाईन की पुरानी बोतलों को अटाले में नहीं दें। इन्हें बचाकर रखें। यहां दिए गए बॉटल क्राफ्ट आइडियाज को यूज करके इन बोतलों से दीवाली की सजावट भी कर सकते हैं। थोड़ा क्रिएटिव हो जाएं। किसी फ्रेंड को गिफ्ट देना हो या अपने ही घर के लिए डेकोरेटिव पीस बनाना हो या फिर हॉलिडे डेकोरेशन के लिए कुछ नया चाहिए हो तो अपनी खाली वाईन बोतलों का यहां इस तरह से बेहतरीन इस्तेमाल किया जा सकता है।


दीपावली पर बाजार के लाइट या कंदील से बोर हो गए हों तो कुछ नया करें। अपनी खाली वाईन की बोतलें स्टोर रूम में से बाहर लाएं और इनमें एलईडी लाईट लगाकर अपने कमरे में या लिविंग रूम में बॉटल लाइटिंग से रौशनी करें। कमरे को नया लुक मिलेगा और आपकी क्रिएटिविटी की तारीफ भी होगी।


ठंड का मौसम आने वाला है और इस मौसम में सब कुछ कोजी ही अच्छा लगता है फिर चाहे वो फूलदान ही क्यों न हो। अपने फ्रेश फ्लावर्स को इस मौसम में अलग ही लुक दें। कोजी लुक दें। वाइन की बॉटल्स पर कॉटन की रस्सी या जूट की रस्सी लपेटें और पूरी तरह से ढंक दें। यहां कलरफुल यार्न भी यूज किया जा सकता है। क्योंकि सीजन ठंड का है तो डार्क और वॉर्म कलर का यार्न अच्छा लगेगा। ओकेजन और सीजन के अनुसार ही डेकोरेट करें।


अपने बोरिंग बाथरूम सप्लाइज भी बदल कर देखें। सबसे पहले शुरुआत करें सोप डिस्पेंसर्स के साथ। बाथरूम को केवल कुछ सिम्पल आइटम्स के साथ आसानी से कस्टमाइज किया जा सकता है। यहां आप खाली वाइन की बोतल का कुछ इस तरह से यूज करेंगे। आपकी खाली वाईन की बोतल न केवल ख्याल रखती है बल्कि ये आपकी लोकल वाइल्ड-लाइफ के बेहद काम आएगी। बर्ड फीडर बनाने के लिए इन वाइन की बॉटल्स से बेहतर क्या मिलेगा। कुछ करने की जरूरत नहीं है। साफ बॉटल को उठाकर उसमे फीड भरने तक की ही देर है और देखते ही देखते आपके आंगन में नन्हे मेहमानों की चहचहाने की आवाजें शुरू हो जाएंगी। 

...

एलोवेरा की मदद से घर पर तैयार करें यह तेल, बालों की हर समस्या होगी दूर

एलोवेरा का पौधा किसी वरदान से कम नहीं है। सेहत से लेकर सौंदर्य तक का ख्याल रखने के लिए एलोवेरा की मदद ली जाती है। आमतौर पर इसकी मदद से इम्युनिटी को बूस्ट करने से लेकर स्किन को ठंडक आदि प्रदान की जाती है। इतना ही नहीं, एलोवेरा बालों के लिए भी बेहद लाभदायी माना जाता है। वैसे तो आप एलोवेरा को कई तरह से इस्तेमाल करती होंगी, लेकिन आज हम आपको एलोवेरा की मदद से एक बेहद ही बेहतरीन तेल बनाने की विधि बता रहे हैं, जिसका उपयोग करने से बालों की हर समस्या को दूर किया जा सकता है...


होते हैं यह लाभ

हेयर व ब्यूटी एक्सपर्ट की मानें तो एलोवेरा बालों के लिए बेहद ही लाभदायी है। यह आपके बालों की ग्रोथ में मदद करता है। साथ ही इसके इस्तेमाल से बालों का झड़ना भी कम हो जाता है। इतना ही नहीं, बालों पर एक सुरक्षात्मक परत बनाता है और इसे हानिकारक पर्यावरणीय तत्वों से सुरक्षित रखता है और इसे लगातार हाइड्रेट भी रखता है। इसके अलावा, यह बालों को पोषण देता है और डैंड्रफ से भी निजात दिलाता है। इसलिए आपको किसी ना किसी रूप में एलोवेरा को अपने ब्यूटी और हेयर रूटीन में जरूर शामिल करना चाहिए। 


ऐसे बनाएं तेल

एलोवेरा की मदद से हेयर ऑयल बनाना बेहद ही आसान है। इसके लिए आप सबसे पहले एलोवेरा के पौधे से एक पत्ता लें और फिर चाकू की मदद से उसके ऊपर व नीचे का हिस्सा हटा लें। इसके बाद आप उसमें से जेल निकाल लें। उसके बाद आप नारियल के तेल में इस जेल को अच्छी तरह मिक्स करें। आप चाहें तो इसे मिक्स करने के लिए आप ब्लेंडर की मदद भी ले सकती हैं। एलोवेरा के ताजे जेल का इस्तेमाल करने से आपको अधिक लाभ होता है। इसलिए कोशिश करें कि आप मार्केट से मिलने वाले जेल के स्थान पर ताजा जेल का ही इस्तेमाल करें।


नोट: ब्यूटी एक्सपर्ट बताते हैं कि आप इस तेल का उपयोग बालों और त्वचा दोनों के लिए मॉइस्चराइज़र, हेयर मास्क या ओवरनाइट उपचार के रूप में कर सकते हैं। 




...

त्योहारों में चमकती रहे त्वचा

गर्मी को अलविदा कहता और सर्दियों का स्वागत करता यह महीना नवरात्र, दशहरा, करवाचैथ जैसे त्योहारों की बहार लेकर आ गया है। त्योहारों के आने से तन और मन दोनों खुश हो जाते हैं।


चमकती त्वचा और चेहरे का तेज खुद-ब-खुद मन की खुशी को जाहिर कर देता है। कुछ ऐसा ही हाल है अक्टूबर महीने का क्योंकि इस महीने त्योहार आपके दरवाजे पर दस्तक दे रहे होते हैं और मौसम में गुलाबी रंगत भी अपना रंग बिखेरने लगती है। इस मौसम और त्योहार में कैसे रखें अपने सौंदर्य को निखरा-निखरा, जानिए सखी के साथ।


-सूखी हल्दी की गांठ को नींबू के रस में मिलाकर लगाने से फेस के दाग-धब्बे तेजी से मिटने लगते हैं। रूखी त्वचा के दाग-धब्बे मिटाने के लिए दूध में चंदन घिसकर लगाएं।


-टमाटर में नींबू की दस-बारह बूंदें मिलाएं। इस मिश्रण को चेहरे पर लगाने से दाग-धब्बे दूर होते हैं।


-दिन में कम से कम 3-4 बार चेहरा ग्लिसरीनयुक्त साबुन से धोएं। किसी भी तरह के सौंदर्य प्रसाधन के इस्तेमाल से बचें।


-त्वचा की खूबसूरती को निखारने के लिए शहद से बने फेसपैक का इस्तेमाल करें। इससे चेहरे की कसावट भी बनी रहती है।


-चेहरे को रोज साफ करने के लिए जई के आटे को दूध या दही में घोल कर दस मिनट तक चेहरे पर लगाएं और उसके बाद गुनगुने पानी से धो लें।


-मौसमी फलों का लाभ उठाएं जैसे संतरा बहुत अच्छा सौम्य ब्लीचिंग एजेंट होता है और स्ट्रॉबेरी फेसपैक तैलीय त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है।


-चाय, कॉफी, मांस, मछली, शराब आदि का सेवन न करें। विटमिन-सी का सेवन त्वचा के लिए बहुत लाभदायक है। विटमिन सी के रूप में नींबू का सेवन करें।


-त्वचा में ताजगी लाने के लिए आप स्पा भी कर सकती हैं, इससे आपकी त्वचा खिल उठेगी। इसे त्योहारों से कम से कम 15 दिन पहले कराएं।


-सौंदर्य को बरकरार रखने के लिए सनस्क्रीन लगाना न भूलें।


गरबे के कुछ खास टिप्स


-मेकअप को अधिक समय तक चेहरे पर टिकाए रखने के लिए मेकअप करने से पूर्व चेहरे पर आइस क्यूब रगडें।


-गरबा करने के बाद घर आने पर मेकअप उतारना न भूलें।


-गरबा खेलते समय गहरे रंग की लिपस्टिक लगाएं ताकि आपके होंठों पर लिपस्टिक नजर आए। यदि आप शाइनिंग वाली लिक्विड लिपस्टिक लगाएंगी तो बेहतर होगा।


-यदि आपके बाल लंबे हैं तो बालों में पमिंग करवाएं और यदि आपके बाल छोटे हैं तो उन्हें मनचाहे शेप में सेट करवाएं।


-हाथ, पैरों व अंडरआम्र्स पर वैक्स करना बिलकुल न भूलें।


-गरबा में एनर्जी बनाए रखने के लिए जूस, फ्रूट और पानी का सेवन करती रहें।



...

अब इन आसान तरीकों से दूर करें मुहांसे

आजकल चेहरे पर मुहांसे होना एक आम समस्या है लेकिन ये मुहांसे चेहरे की सुंदरता को न केवल खत्म कर देता है बल्कि इसके दाग आपके चेहरे के ग्लो में एक दाग भी बन सकता है। मुहांसे किसी को भी हो सकते हैं चाहे लड़का हो या लड़की ऐसे में दादी मां के नुस्खे आपके लिए रामबाण सिद्ध हो सकते हैं। हम आपको कुछ घरेलू नुस्खे बता रहे हैं, जिनको अपना कर आप मुहासों से छुटकारा पा सकते हैं...

 

-संतरे के सूखे छिलके में थोड़ी सी बारीक पीसी और छानी मुल्तानी मिट्टी मिलाइए और गुलाब जल में घोल लें। घना घोल मुहासों और पूरे चेहरे पर लगाइए। आधे घंटे बाद चेहरा गुनगुने पानी के साथ धो लें। 2 हफ्तों में चेहरा मुहासों से मुक्त हो जाएगा।

 

-नीबू का रस 4 गुणा ग्लिसरीन में मिला कर चेहरे पर रगडने से मुहासे दूर हो चेहरा सुंदर हो जाता है।

 

-मसूर की दाल पानी में भिगो कर कच्चे दूध में पीस कर सुबह-शाम चेहरे पर लगाओ। 10 मिनट के बाद गर्म पानी से चेहरा धो लो।

 

-5-10 काली मिर्चों को गुलाब जल में पीस कर चेहरे पर लगाओ। प्रातःकाल चेहरा धो लो। कुछ ही दिनों में मुहासे दूर हो जाएंगे।

 

-30 ग्राम अजवायण बारीक पीसो और 25 ग्राम दही में मिला कर रात भर के लिए मुहासों पर लगाओ। प्रातःकाल चेहरा धो लो। तुलसी की पत्तियों का चूरन मिला कर लगाने से भी मुहासे दूर होते हैं। 



...

कद्दू के बीज के सौंदर्यवर्धक लाभ

कद्दू के बीज स्वास्थ्यवर्धक होने के साथ-साथ त्वचा और बालों के सौंदर्य के लिए काफी लाभकारी होते हैं। कद्दू के बीज में अमीनो एसिड, जिंक, विटामिन ई आदि बहुत सारे उपयोगी पोषक तत्व होते हैं। कद्दू के बीज कोशिकाओं को रिपेयर करने के साथ-साथ नई कोशिकाओं के निर्माण में भी काफी मददगार होते हैं। ये त्वचा की कोशिकाओं में नए कोलेजन बनाने में मदद करते हैं इसलिए खूबसूरत त्वचा के लिए कद्दू के बीज काफी फायदेमंद होते हैं। 


सौंदर्यवर्धक लाभ कद्दू के बीज के-


1.मुंहासों से बचाता है: कद्दू के बीजों में एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं जो कि मुंहासों की सूजन और लालपन को कम करने में मदद करते हैं। कद्दू के बीजों के पाउडर को दूध में मिलाकर चेहरे पर लगाने से मुंहासे नहीं होते हैं। 


2. झुर्रियों को कम करता है: कद्दू के बीजों में जिंक और विटामिन ई पर्याप्त मात्रा में होते हैं इसलिए यह त्वचा में कसावट लाते हैं और झुर्रियां पैदा नहीं होने देते हैं। इसलिए कद्दू के बीजों को अपनी डाइट में शामिल करें।


3. बालों को घना बनाते हैं: कद्दू के बीजों में आयरन और L-लाइसिन जैसे दो पोषक तत्व होते हैं जो कि बालों को झड़ने से रोकते हैं और ग्रोथ बढ़ाते हैं। बालों के लिए कद्दू के बीजों का सेवन करने और कद्दू के बीज के तेल की मालिश करना फायदेमंद होता है।


4.त्वचा को निखारता है: विटामिन ए नई कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है और कद्दू के बीजों में पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए होता है। कद्दू के बीजों का सेवन करने से शरीर में विटामिन ए की कमी नहीं होती है और त्वचा निखरी हुई बनती है।


5.बालों को रेशमी बनाता है: विटामिन ई बालों को पोषण देता है और रेशमी बनाता है। कद्दू के बीज में विटामिन ई पर्याप्त मात्रा में होता है जिससे ये बालों को सुंदर और रेशमी बनाने में मदद करते हैं।




...

आंखों के नीचे डार्क सर्कल खत्म करने के घरेलू और असरदार उपाय

डार्क सर्कल पीछे कई कारण हो सकते हैं। जिनमें सोने, हार्मोन्स में परिवर्तन होने, अव्यवस्थित लाइफस्टाल होने या फिर हेरेडेट्री होने की वजह से भी आंखों के नीचे काले घेरे बन जाते हैं। इसके उपायों के लिए बाजार में कई बहुत से ऐसे रासायनिक उत्पाद मौजूद है जो डार्क सर्कल को खत्म करने में कारगर है परंतु सेंसटिव स्क‍िन वाले इन उत्पादों को यूज नहीं कर पाते हैं। ऐसे में इन घरेलू नुस्खों को अपनाकर डार्क सर्कल्स को दूर किया जा सकता है:


1. एक खीरा लें और इसे ब्लेंड कर लें। अब इसके गूदे में एक चम्मच एलोवेरा जेल मिलाएं और पेस्ट बनाने के लिए इसे फिर से ब्लेंड करें। अब इस पेस्ट को डार्क सर्कल पर लगाएं और 15 मिनट के लिए लगा रहने दें। अब पानी से धो लें। 


2. डार्क सर्कल दूर करने के लिए टमाटर सबसे कारगर उपाय है. ये नेचुरल तरीके से आंखों के नीचे के काले घेरे को खत्म करने का काम करताहै. साथ ही इसके इस्तेमाल से त्वचा भी कोमल और फ्रेश बनी रहती है. टमाटर के रस को नींबू की कुछ बूंदों के साथ मिलाकर लगाने से जल्दी फायदा होता है.


3. डार्क सर्कल दूर करने के लिए आलू का भी प्रयोग किया जा सकता है. आलू के रस को भी नींबू की कुछ बूंदों के साथ मिला लें. इस मिश्रण को रूई की सहायता से आंखों के नीचे लगाने से काले घेरे समाप्त हो जाएंगे.


4. ठंडे टी-बैग्स के इस्तेमाल से भी डार्क सर्कल जल्दी समाप्त हो जाते हैं. टी-बैग को कुछ देर पानी में डुबोकर रख दें. उसके बाद इसे फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें. कुछ देर बाद इसे निकालकर आंखों पर रखकर लेट जाएं. 10 मिनट तक रोज ऐसा करने से फायदा होगा.


5. ठंडे दूध के लेप से भी आंखों के नीचे का कालापन दूर हो जाता है. कच्चे दूध को ठंडा होने के लिए रख दें. उसके बाद कॉटन की मदद से उसे आंखों के नीचे लगाएं. ऐसे दिन में दो बार करने से जल्दी फायदा होगा.


6. संतरे के छिलके को धूप में सुखाकर पीस लें. इस पाउडर में थोड़ी सी मात्रा में गुलाब जल मिलाकर लगाने से काले घेरे खत्म हो जाएंगे.


7. दही से काले घेरे कम करने के लिए दो चम्मच दही में दो चम्मच नींबू का रस मिलाएं। अब इस पेस्ट को आंखों के नीचे डार्क सर्कल पर लगाएं और 10-15 मिनट के लिए लगा छोड़ दें। अब पानी से इसे धो लें। बेहतरीन परिणाम के लिए इस पेस्ट को हफ्ते में दो बार लगाएं।




...

घर पर करें टोमेटो फेशियल, चेहरे पर आएगा पार्लर जैसा निखार

टमाटर चेहरे के खुले छिद्रों को बंद करने में मदद करता है। इसमें में मौजूद विटामिन-सी चेहरे की चमक को बढ़ाने का काम करता है। टमाटर चेहरे की अशुद्धियों को दूर कर चेहरे की रौनक बढ़ाने में शानदार काम करता है। क्या आप जानते हैं कि आप टमाटर के साथ घर पर ही फेशियल कर सकती हैं? अगर आप घर बैठे ही ब्राइट और फेयर स्किन टोन को पाने के लिए टमाटर फेशियल सबसे सेफ और प्रभावी तरीका है। घर पर 15 मिनट का फेशियल जो आपको पार्लर में किए जाने वाले फेशियल की तुलना में काफी बेहतर परिणाम दे सकता है। टमाटर के उपयोग से आप स्किन को ग्लोइंग बना सकती हैं। जी हां आज हम आपको टमाटर फेशियल के बारे में जानकारी देंगे, जिससे आपके चेहरे की एक नहीं बल्कि अनेकों परेशानियां दूर हो जाएंगी। तो चलिए जानते हैं टमाटर फेशियल करने का तरीका। 

 

क्लीजिंग

फेशियल के पहले स्टेप में हम क्लीजिंग करते हैं इसके लिए हमें टमाटर के गूदे और कच्चे दूध की जरूरत होती है। इन दोनों को एक साथ मिलाएं और अपने पूरे चेहरे और गर्दन पर कॉटन पैड की हेल्प से लगाएं।

 

स्क्रबिंग

फेशियल के दूसरे स्टेप में आपको स्क्रबिंग करना होता है। इसके लिए आधा टमाटर लें और कटे हुए हिस्से पर चीनी डालें। फिर अपने चेहरे पर इस टमाटर और चीनी के स्क्रब से धीरे से मसाज करें। इस स्टेप में आपको बहुत ज्यादा तेज नहीं करना है। नहीं तो चीनी के दाने स्किन को परेशान कर सकते हैं।

 

स्टीमिंग

टमाटर फेशियल के तीसरे स्टेप स्टीमिंग करनी चाहिए। इसके लिए इलेक्ट्रिक फेशियल स्टीमर को लें और इसे लगभग 5 मिनट तक गर्म होने दें। अपने चेहरे को लगभग 5 से 7 मिनट तक स्टीम करें।


मास्क

टमाटर फेशियल के चौथे स्टेप में आपको पैक बनाने के लिए टमाटर का गूदा, चंदन पाउडर और शहद की जरूरत होती है। इन सभी चीजों को एक साथ मिलाएं। फिर इसे अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएं और इसे लगभग 15 मिनट तक सूखने दें। अपने चेहरे को नॉर्मल नल के पानी से धोएं और अपने पसंदीदा मॉइस्चराइज़र या एलोवेरा जैल को लगाएं।




...

आम समस्या है फटी एड़ियां

पांव शरीर का आधार माने जाते हैं। पांव पर ही पूरे शरीर का भार होता है तथा पांव ही हमारे शरीर को गतिशील करते हैं। इसीलिए पांव का ख्याल अत्यंत महतवपूर्ण माना जाता है। सर्दियों में फटी एड़ियों की समस्या आम होती है तथा महिलाएं सबसे ज्यादा पीड़ित रहती हैं। मौसम में बदलाव के दौरान भीषण ठण्डी/गर्मी में शरीर में नमी की कमी, विटामिन की कमी, डायबटीज़, थायराईड, शरीर में मोटापे तथा 60 वर्ष से ज्यादा आयु वर्ग के लोगों को फटी एड़ियों की समस्या का सामना करना पड़ता है। इसलिए यदि आपको फटी एड़ियों की समस्या से लगातार जूझना पड़ रहा है तो यह अनुवांशिक या स्वास्थय कारणों से भी हो सकता है फटी एड़ियों की समस्या सामान्यतः पाँव के प्रति लापरवाही से बढ़ जाती है। हवाई चप्पल या खुले जूतों का प्रयोग करने से भी फटी एड़ियां उभर आती हैं। पाँव की एड़ियों में गहरी दरार पड़ जाने से कई बार असहनीय पीड़ा का सामना भी करना पड़ सकता है। आपके पाँव की त्वचा में अक्सर रूखापन आ जाता है तथा जब रूखापन बढ़ जाता है तो फटी एड़ियों का स्वरूप ले लेता है।


सर्दियों में ठण्डे बर्फीले मौसम की वजह से शरीर में नमी की कमी आ जाती है जिससे पाँव में खून का बहाव प्रभावित होता है । एड़ियों की त्वचा बाकी भागों की बजाय ज्यादा सख्त होती है तथा सर्दियों में नमी की वजह से इसका लचीलाप कम हो जाता है जिससे फटी एड़ियों का स्वरूप बन जाता है। शरीर में नमी की कमी के कारण जीवित कोशिकाएं कठोर हो जाती हैं तथा उसमें एड़ियों के भाग पर मृत कोशिकाएं बढ़ जाती हैं जोकि बाद में फटी एड़ियों का स्वरूप ले लेती हैं। लेकिन आप कुछ प्रकृतिक उपायों से इन फटी एड़ियों से छुटकारा पा सकती हैं। –

अपनी त्वचा में यौवनता तथा ताजगी लाने के लिए अपने पाँव को सप्ताह में एक बार घर में ‘‘फुट ट्रीटमैंट‘‘ जरूर दें। पाँव को गर्म पानी में डुबोने से एड़ियों की त्वचा मुलायम होती है जिससे मृत्क कोशिकाओं को हटाने में मदद मिलती है। प्रतिदिन पाँव तथा एड़ियों की उचित देखभाल सुनिश्चित करने के लिए नहाने से पहले अपने पाँव में शुद्ध बादाम तेल की रोजाना मालिश कीजिए! नहाने के बाद जब पाँव गीले हों तो पाँव पर क्रीम का इस्तेमाल कीजिए जिससे पाँव पर नमी बरकरार रखने में मदद मिलेगी। फुट क्रीम से पाँव की सर्कुलर मोशन में हल्के-हल्के मालिश कीजिए तथा इससे आपके पाँव मुलायम बने रहेंगे जिससे फटी एड़ियों की समस्या नहीं आएगी।


पाँव की समस्याओं के लिए शहद प्रकृतिक उपचार उपचार माना जाता है। शहद में एंटी बैकटीरियल तथा एंटी माइक्रोबियल गुण विद्यमान होते हैं जो कि फटी एड़ियों को साफ करके इनका प्रकृतिक उपचार कर सकते हैं । पांच लीटर गुनमुने पानी में एक कप शहद मिलाकर इसमें 20 मिनट तक पाँव सोख कर रखने से पाँव में कोमलता आती है। आप शहद को ‘‘फुट सक्रब‘‘ या फुट मास्क के तौर पर भी प्रयोग कर सकते हैं।

आपकी रसोई में भी फटी एड़ियों का प्रकृतिक ईलाज उपलब्ध है। नींबू को काटकर इसका आधा भाग लेकर इसे चीनी में मिलाएं तथा इसे अपने एड़ियों पर आहिस्ता-आहिस्ता रगड़ें और बाद में एड़ियों को साफ ताजे पानी से धो लीजिए। इस प्रक्रिया को हफ्ते मे दो बार अपनाने से बेहतर सकारात्मक परिणाम मिलेंगे।


रात को साने से पहले गर्म पानी में नमक डालकर अपने पैरों को आधा घण्टा तक भीगो कर रखें जिससे आपकी एड़ियों की त्वचा मुलायम हो जाएगी तथा इसके बाद बाथिंग स्पंज से रगड़कर एड़ियों से मृत कोशिकाओं को आहिस्ता-आहिस्ता हटा दीजिए। कभी भी धातू के स्पंज का इस्तेमाल मत कीजिए क्योंकि इससे एड़ियों के घाव गहरे हो सकते हैं। पाँव को धोने के बाद त्वचा पर क्रीम की मालिश कीजिए तांकि त्वचा क्रीम को पूरी तरह सोख ले। नींबू तथा हल्दी के गुणों वाली क्रीम सबसे बेहतर होगी। रात को सोने से पहले फटी एड़ियों को साॅफ्ट काॅटन के कपड़े की पट्टी बांधकर सोने से फट एड़ियों के घाव भरने में मदद मिलेगी। रात में सोने से पहले पाँव पर ‘‘फुटक्रीम‘‘ लगाकर पाँव को काॅटन के कपड़े की पट्टी बांधकर सोने से घाव को प्रकृतिक तरीके से ठीक होने में मदद मिलती है तथा बिस्तर भी खराब नहीं होता।


फटी एड़ियों के लिए नारियल तेल रामबाण की तरह काम करता है। नारियल तेल में विद्यमान एंटी इन्फलेमेटरी तथा एंटी माईक्रोबाईल गुण विद्यमान होते हैं। जिससे त्वचा की नमी बरकरार रखने में मदद मिलती है तथा नारियल तेल को सूखी त्वचा के उपचार के लिए सबसे बेहतर माना जाता है। नारियल तेल त्वचा में नमी बरकरार रखने के इलावा त्वचा की मृत कोशिकाओं को हटाने में भी मददगार साबित होता है। नारियल तेल को प्रतिदिन उपयोग में लाने से फटी एड़ियों की समस्या से बचा जा सकता है तथा यह पाँव की बाहरी त्वचा के टिशू को मजबूत करता है, रात को सोने से पहले नारियल तेल से त्वचा की मालिश करने से सुबह आपके पाँव कोमल तथा मुलायम बनकर उभरेंगे। यदि आप फटी एड़ियों की समस्या से जूझ रहे हैं तो दिन में दो बार नारियल तेल से अपने पाँव की मालिश कीजिए।


फटी एड़ियों के उपार में जैतून का तेल काफी प्रभावी माना जाता है। हफ्ते में दो बार जैतून के तेल की ट्रीटमैंट, फटी एड़ियों की समस्या का प्रभावी निदान प्रदान करती है। जैतून के गर्म तेल को काॅटन बाॅल से आहिस्ता-आहिस्ता पाँव में गोलाकार तरीके से लगाने से त्वचा तेल को सोख लेगी। उसके बाद पाँव को काॅटन के कपड़े से बांध लीजिए तथा थोड़ी देर बाद गुनगुने पानी से धो डालिए। रात को सोने से पहले प्रतिदिन जैतून के तेल से पाँव की मालिश करने से आपको बेहतरीन परिणाम मिल सकते हैं।


तिल का तेल फटी एड़ियों के पोषण तथा नमी प्रदान करने में प्रभावी माना जाता है। तिल के तेल में एंटी फंगल गुण होने के अलावा विटामिन, मिनरल तथा न्यूटरीऐंटस विद्यमान होते हैं। अपने पाँव में आहिस्ता-आहिस्ता तिल के तेल की मालिश कीजिए तथा तेल को आहिस्ता-आहिस्ता प्रकृतिक तौर पर पाँव को सोख लेने दीजिए तथा बाद में आप पाँव को सामान्य पानी में धो सकते हैं। तिल का तेल पाँव की त्वचा में कोमलता तथा नमी बरकरार रखता है तथा फटी एड़ियों का प्रकृतिक उपचार माना जाता है।


मौसम के हिसाब से पाँव में जूतों का चयन कीजिए। सर्दियों में हवाई चप्पल, सैंडल आदि के उपयोग से परहेज कीजिए तथा बंद जूतों को प्रयोग में लायें। सर्दियों में काॅटन के मौज़े को प्राथमिकता दें क्योंकि ऊनी या सिंथेटिक्स के मौज़े से पाँव की त्वचा रूखी हो सकती है। सर्दियों में साबून, शैम्पू के प्रयोग को जरूरत से ज्यादा उपयोग में ना लायें तथा विटामिन ई, कैल्शियम, जिंक, ओमेगा-3 आदि से भरपूर डाईट लें।

(लेखिका अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त सौंदर्य विशेषज्ञ हैं तथा हर्बल क्वीन के रूप में लोकप्रिय हैं)





...

कर्ली हेयर को स्टाइलिश बनाने के टिप्स

कर्ली बालों को अगर सॉफ्ट रखना है तो उन्‍हें केमिकल वाले रंगों से दूर रखें और उन पर ज्‍यादा एक्‍सपेरिमेंट न करें. अगर आप अपने कर्ली बालों पर ध्‍यान देंगी तो वे मुलायम और चमकदार बन जाएंगे. आइये जानते हैं कर्ली बालों को स्टाइलिश बनाने के कुछ खास टिप्स:-


-बालों को प्राकृतिक रूप से ही सूखने दें क्‍योंकि हेयर ड्रायर से सुखाए हुए बालों से सिर की त्‍वचा कठोर हो जाती है और बाल जल जाते हैं.


-कर्ली हेयर जल्द ही रूखे दिखते हैं, इसलिए इन्हें नियमित रूप से ट्रिम कराते रहें. अगर आप ऐसा नहीं करेंगी तो बालों के अगले सिरे कमजोर हो सकते हैं. इससे बाल टूटने लगते हैं.


-ऐसे शैंपू और कंडीशनर का चुनाव करें जो आपके बालों के टेक्‍सचर को सूट करे. ऐसे केमिकल वाले प्रोडक्‍ट से बचें जो बालों की समस्‍याओं को बढ़ा सकते हैं.


-एक कप में गरम पानी लें और उसमें 1 चम्‍मच एप्‍पल साइडर वेनिगर मिलाएं. नहाते वक्‍त शैंपू के बाद बालों पर इसे डाल कर बिना धोए इस पर कंडीशनर लगाएं.


-बालों में प्राकृतिक नमी को बरकरार रखने के लिए उन्‍हें ज्‍यादा न धोएं वरना वे रूखे हो जाएंगे.


-बालों में तेल लगाइए पर ज्‍यादा तेल लगाने की जरूरत नहीं है. बालों को रूखा न होने दें.


-नहाने के बाद बालों से अत्‍यधिक पानी को निचोड़ कर निकाल दें. फिर बालों में अपनी इच्‍छा से स्‍टाइल बनाएं और फिर बालों के सूखने का इंतजार करें. इससे बालों में अच्‍छे से नमी समा जाएगी और वे लंबे समय तक कोमल रहेंगे.




...

छोटे-छोटे टिप्स से घर को बनाएं सुंदर

अगर आपको अपना घर छोटा लगता है तो आप इस छोटे से घर में अपने सारे सामान को मैनेज करने से घबराते है और कोई नई चीजें खरीदने में भी संकोच करते है। अगर आप चाहते है कि आप का घर भी सुंदर और बड़ा दिखाई दें। आप अपने घर में सिर्फ जरूरत मंद चीजें ही रखें। ज्यादा वस्तुएं से घर तंग लगने लगता है। जो चीजें जरूरत की है उन्हीं चीजों को घर में इस तरह रखें ताकि घर सुंदर होने के साथ साथ बड़ा भी दिखाई दें। छोटे घर को सुंदर और आकार में बड़ा दिखाने के कुछ टिप्स


-घर में सिर्फ जरूरत की चीजें ही रखें। बेकार चीजों को घर से बाहर निकाल देना चाहिए। 


-घर में अगर जगह कम है तो घर में पड़ी चीजों को इस तरह रखें जिससे घर में इधर उधर जाते वक्त कोई रूकावट न आए। 


-हाथ से बनी चीजों को भी घर की दीवारों पर सजाने से घर की सुंदरता ओर बढ़ जाती है। 


-घर की दीवारों पर भी लाईट रंग करवाने चाहिए ताकि उस छोटे घर में भी तंग जगह का एहसास न हो। 


-घर में पर्दों का चुनाव भी सोच समझ कर करना चाहिए। छोटे से घर को सुंदर और बड़ा दिखाने के लिए पर्दें भी विशेष भूमिका निभाते है। 


-घर में बच्चों की किताबों की अलमारी और कपड़ों की अलमारी के लिए भी जगह कम हो तो अलमारी को दीवार में ही बनवाना चाहिए। 


-घर में कम फर्नीचर का इस्तेमाल करने से भी घर की खूबसूरती में चार चांद लग सकता है। 


-घर चाहें छोटा हो या बड़ा साफ सफाई का विशेष ध्यान देने से घर न केवल सुंदर दिखेंगा ब्लकि साफ होने के साथ-साथ आकार में भी बड़ा दिखाई देगा। 




...

घर पर स्क्रब करने का सही तरीका, चेहरा रहेगा खिला-खिला

फेस स्क्रब और बॉडी स्क्रब के अपने फायदे हैं। ये हमारी स्किन से डेड सेल्स हटाने में मददगार हैं। बदलते मौसम में यह दिक्कत नहीं ज्यादा होती है। खासतौर पर सर्दियों में ड्राइनेस के कारण स्किन जल्दी रूखी और बेजान नजर आने लगती है। इससे आपके चेहरे की रंगत फीकी पड़ जाती है। इस तरह की समस्या से बचने के लिए आप विंटर सीजन में हर दूसरे दिन घर पर ही स्क्रब करें। यहां जानें स्क्रब करने का आसान और सही तरीका...


- स्क्रबिंग द्वारा डेड सेल्स को हटाने से अंदर की हेल्दी स्किन बाहर आती है। साथ ही इस स्किन की सफाई हो जाने से यह खुलकर सांस ले पाती है, जिससे हमारी त्वचा अधिक ग्लोइंग लगती है।


- स्क्रबिंग एक ऐसी प्रकिया है, जो त्वचा को स्वस्थ और सुंदर बनती है। इस प्रक्रिया में त्वचा की बाहरी सतह पर जमा डेड सेल्स हटाने का काम किया जाता है। यह प्रॉसेस पार्लर में मौजूद मशीनों से या घर पर भी आसानी से की जा सकती है।


स्क्रब करने का सही तरीका


-नियमित रूप से स्किन को स्क्रब करने पर हमारी त्वचा के दाग-धब्बे दूर हो जाते हैं। स्क्रब का यूज करते समय पहले चेहरे को फेशवॉश से साफ करें और कॉटन के कपड़े से पौंछ लें।


-गुलाबजल में कॉटन भिगोकर चेहरे पल लगाएं और फिर उंगलियों पर स्क्रब लेकर सर्कुलर मोशन में घुमाएं। फॉरहेड और नेक को भी स्क्रब करें।


-5 से 6 मिनट तक पूरे चेहरे, गर्दन और गले पर स्क्रब करने के बाद हल्के गुनगुने पानी से चेहरा धोकर साफ करें और कॉटन के कपड़े से पौछ लें। अब अपनी पसंद का क्रीम लगाकर हल्की मसाज करें।


-जिन लोगों की स्किन ऑइली है या जिन्हें पिंपल्स की समस्या अक्सर हो जाती है, उनके लिए भी यह प्रक्रिया प्रभावकारी है। क्योंकि इससे त्वचा का अतिरिक्त तेल साफ हो जाता है। लेकिन जिस समय पिंपल्स चेहरे पर हों, उस समय इसे नहीं करना चाहिए।


-स्किन को स्क्रब करने पर त्वचा नरम व मुलायम भी रहती है। रफनेस कम होती है और सुंदरता बढ़ती है।


-ना केवल ऑइली स्किन वालों को बल्कि ड्राई स्किन वालों को भी इससे लाभ होता है। सफाई के बाद स्किन पर मॉइश्चराइजर लगाने से यह त्वचा में अंदर तक समा जाता है और लंबे समय तक स्किन को सॉफ्ट बनाए रखता है।


-स्क्रबिंग से त्वचा पर उम्र का असल जल्दी नहीं झलकता है। चेहरे की फाइनलाइन्स और उम्र के साथ खोनेवाली चमक पर यह कंट्रोल करता है। 



...

जींस के साथ पहन सकते है ऐसे टॉप्स, कार्डिगन और लम्बे श्रग

आफिस हो या पार्टी सदाबहार जींस हर मौके पर फबती है। लेकिन जींस को सही मैच के टाॅप या कुर्ते के साथ पहनना जरूरी होता है। उसी से आपका लुक निखर कर सामने आता है। क्या आपके लिए भी मुश्किल है ये तय करना कि जींस को कैसे टॉप या कुर्ते से मैच करके पहने तो हम आपके लिए लेकर आएं है कुछ आप्शन जो आपको आपकी जींस के साथ सही मैच करने में मदद करेगें।


लम्बे टॉप का कुल लुक: जब भी आप स्किन टच जींस पहनें तो इस पर लम्बे और थोड़े ढ़ीले टॉप चुनें। अगर जींस का रंग गहरा है तो इनपर हल्के या चटख रंग के टॉप चुनें। वहीं टॉप में गले का आकार वी या स्कूप चुनें।


कार्डिगन और लम्बे श्रग से पाएं स्टाइल: जींस के साथ लम्बा श्रग अच्छा लगता है। जींस पर छोटा या क्राप टॉप पहनें और ऊपर से श्रग डालें। सर्दी के मौसम में इसे कार्डिगन के साथ भी पहन सकती हैं।


जैकैट और ब्लेजर के साथ स्टाइलिश लुक: खासतौर पर सर्दी के मौसम में जींस सबसे सही ऑप्शन होता है। इस पर लैदर की जैकेट पहनकर आप खुद को स्टाइलिश लुक दे सकती हैं। इसके अलावा डेनिम की जैकेट और ब्लेजर भी खूब जंचेगा।


कुर्ती के साथ करें मैच: इन दिनों स्लिट या फ्रंट ओपन कुर्तियों का काफी चलन है। जींस के साथ कुर्तियां इंडो-वेस्टर्न लुक देने के साथ-साथ अलग स्टाइल भी देंगी। जींस के साथ आप शॉर्ट कुर्तियां भी पहन सकती हैं।


शर्ट के साथ दें फॉर्मल लुक: ऑफिस में जींस को शर्ट के साथ पहनने से फार्मल लुक आता है। आजकल शर्ट अंडर करके पहनने का भी फैशन है। ऐसे लुक पर जुड़ा आपको एकदम प्रोफेशनल दिखाता है।



...

शादी का लंहगा लेने जा रहे है, तो ध्यान रखे ये बातें

शादी एक लड़की के लिए बहुत मायने रखती है। और उसमें अपने पसंद की गहनें, मेकअप, लहंगा आदि न हो तो फिर बात ही क्या है। आज के दौर में फैशन का दौर है। छोटी सी पार्टी क्यो न हो उसमें भी पहले ड्रेस सोची जाती है कि क्या पहने। जिस लड़की की शादी हो तो फिर उसका तो पूरा हक है कि अपनी पसंद का लंहगा खरीदें। जिससे कि शादी के दिन वह बिल्कुल एक परी की तरह लगें और जिसे सभी देखते रह जाए।


जब लड़कियां लहंगा खरीदने जाती है तो उन्हें समझ नही आता कि किस तरह का लंहगा खरीदें या फिर उनके ऊपर कैसा अच्छा लगेगा। कभी-कभी होता है कि ठीक तरह या अपने फेयर के रंग को लहंगा न लेने से आपको बात में पछतावा होता है कि यह लंहगा आप पर ठीक नही लगता है। अगर आप शॉपिंग करने जा रही है और लंहगा लेना है तो याद रखें खरीदते समय ये बातें जिससें लहंगा चुनते समय समस्या उत्पन्न न हो।


-जब भी आप अपने लि लहंगा लेने जा रही हो तो इस बात का ध्यान रखे कि आपकी हाइट, स्किन का कलर. शारिरीक बनावट की तरह की है। क्योकि इसी से आप एक अच्छा लंहगा चुन सकती है। जिसे पहन कर आप बहुत खुबसूरत लगेगी।

-अगर आपकी हाइट ज्यादा है और आप पतली है तो आप घेरदार लहंगा लें। जिससे आपकी हाइट ज्यादा नही लगेगी और आप अच्छी भी लगेगी।

-लंहगा चुनते समय रंग का सबसे ज्यदा ख्याल रखा जाता है जिससे कि आप उसे पहने सो सुंदर लगे। इसीलिए अगर आपका रंग फेयर है यानी कि गोरा है तो आप किसी भी रंग का लहंगा ले सकती है। आप पर सभी रंग अच्छे लगेगे। आप चाहे तो सॉफ्ट पेस्टल, पिंक, पीच या लाइट सॉफ्ट ग्रीन कलर या फिर डार्क कलर ले सकती है। यह कलर आप पर अच्छे लगेगे।

-अगर आपकी हाइट कम है यै फिर आपकी हेल्थ ज्यादा है तो आप घेरदार लहंगा के बारें में तो बिल्कुल न सोचे। क्योंकि यह आपकी हाइट और मोटापा ज्यादा दिखाएगा। साथ ही लहंगा में जो डिजाइन हो वह बारीक कढ़ाई की या फिर डिजाइन की हो।

-आप लहंगा इतना भी भारी न हो कि आप उसे संभाल न सकें। अपने वजन के अनुसार ही लहंगे का चुनाव करें ताकि आप अपनी ही शादी में असहज न दिखाई दें।

-अगर आपका रंग डस्की है तो आप ब्राइट कलर का लहंगा चुने। इसके अलावा आप मजेंटा, लाल, नारंगी, नीला रंग भी चुन सकते है यह आप पर खूब जंचेगा।





...

डार्क सर्कल से है परेशान, तो अपनाएं ये घरेलू उपाय


आंखों के नीचे काले घेरे यानी डार्क सर्कल आजकल आम बात हो गई है। महिलाओं के साथ-साथ पुरुषों में भी ये समस्या बढ़ती जा रही है और इसकी अहम वजह भागदौड़ की दिनचर्या है, जिसमें आराम नहीं है। ऐसे में आंखों के नीचे होने वाले काले घेरे खूबसूरती और स्मार्टनेस को कम कर सकते हैं।


कई बार आंखों के नीचे होने वाले काले घेरे, अनहेल्दी लाइफस्टाइल का परिणाम होते हैं। बहुत ज्यादा काम करने, तनाव लेने, नींद न पूरी हो पाने और अन्य कारणों से आंखों के नीचे काले घेरे हो जाते हैं। डार्क सर्कल से आप निजात पाना चाहते है तो इन घरेलू उपायों को अपनाएं। जिससे कि आपकी सुंदरता पहले से अधिक बढ जाएं। जिसे लोग देखे तो देखते ही रह जाएं। जानिए इन घरेलू उपायों के बारें में।


टमाटर:- डार्क सर्कल में काले घेरे काफी फायदेमंद है। टमाटर में पोषक तत्त्वों और एंटी-ऑक्सीडेंट्स की भरपूर मात्रा पाई जाती है। जिसके कारण यह कई बीमारियों के साथ-साथ त्वचा के लिए काफी फायदेमंद है। इसका आम डार्क सर्कल भगाने में भी कर सकती है। इसके लिए आप एक कटोरी में टमाटर का रस लें और इसमें नींबू का भी रस डाले और अच्छी तरह मिक्स करें। इसके बाद इसे आंखों के नीचे रूई की सहायता से लगा लें। इसे 20 मिनट ऐसे ही छोड़ दें। इसके बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें। ऐसा सप्ताह में एक बार करने से आपको जल्द फायदा मिलेगा।


पढ़े और उपायों के बारें में...


आलू का रस:- इसका रस भी काफी फायदेमंद है। साथ ही आंखों में नीचे सोने के बाद पडने वाली सूजन को भी गायब कर देता है। इसके लिए आलू काटकर उसकी स्लाइड से रस निकाल लें। इस रस को रूई की सहायता से आंखों के नीचे ध्यान से लगाएं। इसके बाद 15 मिनट तक लगा रहने के बाद नार्मल पानी से अपनी आंख धो लें। इससे आपको जल्द फायदा दिखेगा।


बादाम का तेल:- बादाम का तेल सिर्फ बालों और आपकी स्किन के लिए ही लाभकारी नही है बल्कि आंखों के डार्क सर्कल के लिए काफी फायदेमंद है। क्योंकि इसमें अधिक मात्रा में विटामिन ई पाया जाता है जो आपकी त्वचा की समस्याओं को पूरा करने के साथ-साथ कमी को पूरा करता है। इसके लिए रात को सोने से पहले आंखों के नीचे बादाम तेल लगाकर धीमे हाथों से मसाज करें जिससे कि यह त्वचा में समा जाएं और इसे ऐसे ही रहने दे। दूसरे दिन उठने के बाद इसे साफ पानी से धो लें। ऐसा करने से जल्द ही आपकी आंखों के नीचे के डार्क सर्कल गायब हो जाएगे।


टी बैग्स:- आप यह बात तो जानते ही है कि चाय सेहत के लिए कितना फायदेमंद है। रोज सुबह चाय पीने से पूरा दिन आप तरो-ताजा महसूस करते है, लेकिन क्या आप जानते है कि चाय में इस्तेमाल होने वाली टी बैग डार्क सर्कल के लिए कितना फायदेमंद है। अगर चाय ग्रीन टी हो तो फिर क्या कहना। आंखों के नीचे के डार्क सर्कल से निजात पाने के लिए ग्रीन टी बैग्स को थोड़ी देर फ्रीज में रख दे जिससे कि वह बिल्कुल ठंडे हो जाए। इसके बाद इसे अपनी आंखो पर रखें। इन्हें कम से कम 15 मिनट के लिए रखें और फिर साफ पानी से आंखें धो लें।


हल्दी पाउडर:- हल्दी का इस्तेमाल सिर्फ किचन या चेहरा का रंग गोरा करने के लिए नही किया जाता है बल्कि इसका इस्तेमाल आप डार्क सर्कल हटाने में भी कर सकते है। इसके लिए एक कटोरी में दो चम्मच हल्दी पाउडर लें इसमें थोडा अनानास का रस डाल कर अच्छी तरह मिलाकर पेस्ट बना लें। इसके बाद इसे अपनी आंखों के नीचे काले घेरे में लगाएं और इसे 15 मिनट तर लगा रहने दें। इसके बाद इसे गीले कपड़े से धीमे से पोछ कर साफ पानी से आंखें धो लें। इससे आपको जल्द फायदा मिलेगा।


खीरा:- डार्क सर्कल को ट्रीट करने का सबसे अच्छा उपाय खीरा का इस्तेमाल करना होता है। खीरा एक अच्छा एस्ट्रीजेंट होता है और यह बेहतरीन क्लींनजर भी होता है जो आंखों के नीचे होने वाले काले घेरों को खत्म कर देता है। खीरे के स्लाइस काट लें और इसे थोडी देर के लिए फ्रीज में रख दें। इसके बाद जब यह ठंडे हो जाए तो इसे आपना आंखों पर रख लें। ऐसा दिन में दो बार करें, लगभग दस दिन में आपको लाभ मिल जाएगा।





...

त्वचा और बालों के लिए बेहद लाभकारी है आंवला पाउडर

आंवले का इस्तेमाल लगभग हर घर में किया जाता हैं। लेकिन उसके बहुत से फायदे है जो लोग आज भी नहीं जानते और बाहर के तरीके अपनाते हैं। त्वचा और बालों के लिए आंवले का इस्तेमाल एक राम बाण इलाज हैं। इसमें मौजूद औषधीय गुणों के कारण यह कई तरह की स्किन और बालों की समस्याओं को दूर करने का माद्दा रखता है। 


त्वचा के दाग-धब्बे हटाने के लिए :

1. त्वचा के दाग-धब्बों को हटाने के लिए आप आंवले को स्क्रब बना कर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। आधा चम्मच आंवला पाउडर, आधा चम्मच पीसी हुई शक्कर के साथ गुलाब जल को अच्छे से मिलाकर उसे चेहरे पर स्क्रब करें। आप हफ्ते में 3 बार स्क्रब का इस्तेमाल कर सकते हैं। जल्द ही आपको इसके फायदे नज़र आने लगेंगे। 


2. त्वचा के दाग-धब्बों को दूर करने के लिए आंवला का इस्तेमाल किया जाता है। इसके लिए आप तीन बड़े चम्मच आंवला पाउडर लेकर उसमें एक चम्मच हल्दी और दो बड़े चम्मच नींबू का रस डालकर मिक्स करें और एक फाइन पेस्ट बनाएं। अब आप इसे अपने चेहरे पर लगाकर 15−20 मिनट के लिए छोड़ दें। अंत में पानी की मदद से स्किन साफ करें। आप सप्ताह में एक बार इस पैक का इस्तेमाल कर सकती हैं।


बालों को चुस्त दुरुस्त रखने के लिए भी आंवला है लाभकारी:

1. अगर आप डैंड्रफ से परेशान है तो आंवला आपकी जान बचा सकता हैं। आंवले के पाउडर को दही और निम्बू के साथ मिलाकर अच्छे से घोल बना ले। इसके बाद उस घोल को बालों की जड़ में अच्छे से लगा ले। इसे सूखने तक बालों में लगे रहने दे। इसके बाद बालों को पानी से अच्छे से धो ले और बाद में शैम्पू कर ले। 


2. बालों को झड़ने से रोकने के लिए, शाइन और सिल्किनेस बढ़ाने के लिए भी आप आंवले का इस्तेमाल कर सकते हैं। पाउडर को पानी के साथ घोल कर पूरे बालों में लगाएं और सूखने के बाद उसे पानी से धो ले। हफ्ते में एक से दो बार आप ऐसा कर सकते हैं। ऐसा करते रहने से आपके बाल हमेशा स्वस्थ रहेंगे। साथ ही लम्बे समय तक काले भी रहेंगे। 






...

जिम का मिलेगा डबल फायदा, अगर एक्सरसाइज के बाद खाएंगे यह चीजें

आज के समय में लोग बॉडी बनाने और खुद को फिट रखने के लिए जिम का सहारा लेते हैं। लेकिन ऐसे भी बहुत से लोग होते हैं, जो वर्कआउट तो करते हैं, लेकिन उन्हें कुछ खास फायदा नजर नहीं आता। हो सकता है कि आपके वर्कआउट में कोई कमी न हो, लेकिन आप अपने आहार पर ध्यान न दे रहे हों। जो लोग वर्कआउट करते हैं या जिम जाते हैं, उन्हें अपनी डाइट पर अधिक फोकस करना चाहिए। जरा सी लापरवाही से आपको विपरीत परिणाम झेलने पड़ सकते हैं। तो चलिए जानते हैं जिम के बाद क्या खाएं−


प्रोटीन रिच फूड

अगर आप एक्सरसाइज के बाद अपने मसल्स की रिकवरी करना चाहते हैं तो सबसे पहले तो आपको एक्सरसाइज के आधे घंटे के भीतर कुछ न कुछ खाना चाहिए। दरअसल, वर्कआउट के दौरान हमारा शरीर न्यूटिएंट्स का इस्तेमाल करता है और इसलिए पोस्ट वर्कआउट मील शरीर को हील करने में मदद करता है। बेहतर होगा कि आप वर्कआउट के बाद आधे घंटे के भीतर एक प्रोटीन रिच फूड जरूर लेना चाहिए। अगर आप खुद को टोनअप करना चाहते हैं तो कार्ब्स से बचें। आप प्रोटीन रिच डाइट में पीनट बटर सैंडविच, सोया मिल्क, पनीर या बेसन चीला खा सकते हैं।


खाएं सैंडविच

अगर आप कुछ लाइट और पौष्टिक खाना चाहते हैं तो वर्कआउट के बाद सैंडविच खाया जा सकता है। आप ब्राउन ब्रेड में कई तरह की वेजिटेबल्स का इस्तेमाल करके खाएं। 


ब्राउन राइस

आप वर्कआउट के बाद ब्राउन राइस भी खा सकते हैं। यह एंटी−ऑक्सीडेंट से समृद्ध होते हैं और इनमें फाइबर भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। जो आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाते हैं और वजन घटाने में भी मदद करते हैं।


पानी भी है जरूरी

चूंकि एक्सरसाइज के दौरान आप काफी पसीना बहाते हैं, जिसके कारण शरीर से इलेक्टालाइट की कमी हो जाती है। ऐसे में यह बेहद जरूरी हो जाता है कि आप खुद को हाइडेट रखें। वैसे तो शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए पानी पिया जा सकता है। लेकिन अगर आप चाहें तो पानी के स्थान पर नारियल पानी पीएं। यह पोटेशियम का एक अच्छा स्त्रोत है, जो शरीर में फलूयड को बैलेंस करने में मदद करता है। साथ ही नारियल पानी के सेवन से आपको वर्कआउट के बाद होने वाले क्रैम्प की संभावना भी काफी कम हो जाती है। इसके अलावा आप पोस्ट वर्कआउट डाइट के रूप में लो फैट मिल्क और फ्रूट्स की मदद से कुछ स्मूदी बनाकर उसका सेवन भी कर सकते हैं।



...

त्वचा को कोमल बनाने के लिए अपनाएं टिप्स

त्वचा पर दाग-धब्बे, मुंहासे, पिंपल्स और ब्लैकहेड्स होने के कारण त्वचा की खूबसूरती छीन जाती है। इनके कारण त्वचा के रोमछिद्र बड़े होने, झुर्रियां, दानें होनें के कारण त्वचा की कोमलता भी खत्म हो जाती है। ऐसे में त्वचा को छूने पर खुरदुरापन महसूस होता है। हर कोई अपनी त्वचा को निखरी और कोमल बनाना चाहता है। ऐसे में अगर आप अपनी त्वचा की कोमलता को वापस पाना चाहते हैं तो हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ब्यूटी टिप्स। 


कोमल त्वचा पाने के तरीके-


1.शहद: त्वचा को कोमल और निखरी बनाने के लिए शहद उपयोगी होता है। शहद गाढ़ा होता है जो त्वचा पर मॉइश्चर की एक परत बना देता है, साथ ही इसमें एंटी-बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं जो पिंपल्स को खत्म कर देती हैं। मुंहासों और दाग-धब्बों को दूर करने के लिए शहद कैसे फायदेमंद होता है जानने के लिए क्लिक करें।


कैसे करें इस्तेमाल: शुद्ध शहद को 10 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें और फिर हल्के गर्म पानी से चेहरा धो लें। शहद और अंडे को मिलाकर फेसमास्क बना लें और 20 मिनट तक चेहरे पर लगाए रखने के बाद हल्के गर्म पानी से धो लें।


2.एलोवेरा जेल: एलोवेरा जेल त्वचा को कोमल बनाने के लिए लाभकारी होता है। इसकी सूदिंग प्रॉपर्टीज मुंहासे मिटाने के साथ त्वचा को हाइड्रेट भी रखती है और कोमल बनाए रखती हैं। 


कैसे करें इस्तेमाल: एलोवेरा जेल को चेहरे पर रातभर लगाकर रखें। एलोवेरा जेल को 2 चम्मच नींबू के रस और शहद में मिलाकर मिश्रण को चेहरे पर 20 मिनट लगाकर चेहरा धो लें।


3.खीरा: खीरे में एस्ट्रिजेंट प्रॉपर्टी के साथ ही पोषण देने के लिए आवश्यक मिनरल्स होते हैं। खीरे में सबसे ज्यादा पानी होता है। यह त्वचा के pH को बैलेंस रखता है और एसिड लेवल को बैलेंस करके त्वचा को कोमल और खूबसूरत बनाए रखता है। खीरे को त्वचा पर लगाना और खीरा खाना, दोनों ही त्वचा के लिए लाभकारी होता है।


कैसे करें इस्तेमाल: खीरे का रस निकालकर इसमें थोड़ा सा दूध मिला लें और इसे 20 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें। इसके बाद चेहरे को हल्के गर्म पानी से धो लें।


4.योगर्ट: प्रोटीन, लेक्टिक एसिड और एंजाइम्स से भरपूर योगर्ट को चेहरे पर लगाने से यह त्वचा को स्वस्थ और मुलायम बनाए रखता है।


कैसे करें इस्तेमाल: योगर्ट में नींबू का रस और एक चम्मच शहद मिलाकर चेहरे पर लगा लें और 20 मिनट बाद हल्के गर्म पानी से धो लें जिससे त्वचा मुलायम बनती है।


5.खूब पानी पीएं: पसीने और मूत्र के रुप में हमारे शरीर से पानी निकल जाता है। ऐसे में त्वचा को हाइड्रेट और कोमल बनाए रखने के लिए पानी पीना जरुरी होता है। खूबसूरत और कोमल त्वचा पाने के लिए दिनभर में 8-10 गिलास पानी जरुर पीएं।





...

टैनिंग दूर करने में मददगार है आम, ऐसे करे इस्तेमाल

गर्मी के दौरान लोगों के बीच आम स्वादिष्ट भोजन में से एक है। आम ना केवल स्वाद को संतुष्ट करता है बल्कि इसमें बहुत से स्वास्थ्य गुण भी होते हैं। यदि आम सही तरीके से उपभोग किया जाता है, तो यह समग्र स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है। आम के सेवन के अलावा, चेहरे पर भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। जब मैंगो पल्प त्वचा पर लागू करते हैं, तो यह कई त्वचा की समस्या को कम कर सकते हैं, जिनमें से एक त्वचा की टैनिंग है। गर्मी के दौरान त्वचा की टैनिंग आम समस्या होती है। समस्या से छुटकारा पाने के लिए लोगों ने कई सौंदर्य उपचार अपनाए हैं। ये उपचार महंगें होते हैं और लंबी अवधि में त्वचा के लिए अच्छा नहीं होते हैं। हालांकि, बहुत से लोग इस तथ्य से अवगत नहीं हैं कि टैनिंग की समस्या का इलाज प्राकृतिक उत्पाद जैसे आम की मदद से भी किया जा सकता है। आम टैनिंग को कम करने के लिए प्रभावी होते हैं।


आम से बना फेस पैक टैनिंग दूर करने के लिए:


मैंगो पल्प फेस पैक : आम में एक्सफोलिएंटिंग गुण होते हैं जो त्वचा को हाइड्रेटेड रखती हैं। यह टैनिंग के बाद आपकी त्वचा पर चमक वापस लाने में मदद करता है। बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए, मैंगो पल्प निकालें और 2-3 मिनट के लिए अपने चेहरे पर उसे रगड़ें। फिर 5 मिनट सुखने के लिए छोड़ दें और ठंडे पानी से धो लें। इसके अलावा उबटन की मदद से टैनिंग कैसे हटाएं, जानने के लिए क्लिक करें।


आम और बेसन से बना फेस फैक : यह फेस पैक टैनिंग की समस्या को दूर करता है और त्वचा पर वापस चमक लाता है। इस फेस पैक को बनाने के लिए, मैंगो पल्स, दो चम्मच बेसन, 1/2 चम्मच शहद और कुछ बादाम लें और उनका पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को चेहरे पर लगाकर 10 से 12 मिनट तक छोड़ दें और फिर इसे पानी से धो लें।


आम और दही से बना फेस पैक : यदि आपकी त्वचा तैलीय है तो यह फेस पैक आपके लिए अच्छा साबित हो सकता है। इस पैक को बनाने के लिए, मैंगो पल्क लें और उसमें एक चम्मच दही और एक चम्मच शहद मिलाएं। इसे अच्छी तरह मिलाएं और चेहरे पर लगाकर इसे 10 मिनट तक छोड़ दें और फिर इसे धो लें।



...

पीरियड्स टाइम में क्या खाएं और क्या नहीं, महिलाओं का जानना जरूरी

महिलाओं को महीने के 6-7 दिन पीरियड्स की समस्या से गुजरना पड़ता हैं। पीरियड्स के दौरान अधिकतर महिलाओं को दर्द, चिड़-चिड़ापन और कमजोरी महसूस होती हैं। वहीं अक्सर पीरियड्स आने से पहले महिलाओं की पीठ, पेड़ू या कमर में दर्द होता है, जोकि नैचुरल है। मगर खान-पान में थोड़ी-सी सावधानी बरतकर आप पीरियड्स के दौरान होने वाली परेशानियों से छुटकारा पा सकती हैं। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि पीरियड्स के दौरान आपको किन-किन बातों का ख्याल रखना चाहिए।

 

पानी

पीरियड्स के दौरान ठंडे की बजाए गर्म पानी पीएं। दिनभर में कम से कम 1-2 कप चाय या दूध भी पीएं। इस दौरान आप ज्यादा से ज्यादा गर्म चीजों का सेवन करें।


आटे का हलवा

आटे के हलवे में गुड़ डालकर खाएं। इससे पेट अच्छी तरह से साफ हो जाएगा और आपका दर्द भी कम होगा।


गर्म पानी से स्नान

साथ ही नहाने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल करें। वहीं अगर आपको ज्यादा दर्द होता है तो शॉवर लेते समय 1 मग गर्म पानी पेड़ू पर जरूर डालें।


ना करें दवाओं का सेवन

अक्सर महिलाएं दर्द से छुटकारा पाने के लिए दवा का सेवन करती हैं जोकि गलत है। इसकी बजाए आप नैचुरल तरीके इस्तेमाल कर सकती हैं।


तला-भुना से परहेज

पीरियड्स में तला-भुना खाने से इंस्ट्रोजन हॉर्मोन का लेवल बिगड़ जाता है। इससे पेट और कमर दर्द होने की समस्या हो सकती है। साथ ही ठंडी तहसील वाली चीजें, ज्यादा मीठा, रैड मीट, आचार या खट्टी चीजें खाने से भी परहेज करें।


एेलोवेरा जूस

अगर पीरियड्स में ज्यादा दर्द रहता है तो एेलोवेरा जूस में 1 चम्मच शहद अौर पानी मिलाकर पीएं। इससे दर्द, कमोजरी और अधिक ब्लीडिंग से राहत मिलेगी।


तुलसी का काढ़ा

तुलसी भी पीरियड्स में काफी लाभकारी है। पानी में 7-8 तुलसी के पच्चे उबालकर, उसमें 1 चम्मच शहद मिलाए और रोजाना पीए। इससे पीरियड्स की सभी प्रॉबल्म दूर होगी।


गर्म पानी से सेंक

पेट दर्द होने पर गर्म पानी की बोतल या थैली पेट के निचले हिस्से या दर्द वाली जगह पर रखें। इससे गंदगी व रूका रक्त बाहर निकल जाता है और दर्द से तुरंत राहत मिलती है।




...

गर्भवती महिलाओं को भी मोबाइल का यूज कम करना चाहिए, ये है वजह

इसमें कोई शक नहीं कि मोबाइल फोन जो अब स्मार्टफोन बन चुका है हमारी जिंदगी का ऐसा अहम हिस्सा बन चुका है जिसे हम अपनी जिंदगी से अब अलग नहीं कर सकते। मोबाइल के बिना अपनी लाइफ की कल्पना करना भी शायद मुश्किल ही लगे। टॉडलर्स यानी छोटे बच्चों से लेकर टीनएजर्स और बुजुर्गों तक... हर किसी के हाथ में स्मार्टफोन रहता है और बड़ी संख्या में लोगों की इसकी लत भी लग चुकी है। इस लिस्ट में गर्भवती महिलाएं भी शामिल हैं। लेकिन मोबाइल के एक्सेस यूज का न सिर्फ आप पर बल्कि गर्भ के अंदर पल रहे बच्चे पर भी बुरा असर पड़ता है। कैसे, यहां जानें...


बच्चे में बिहेवियर से जुड़ी दिक्कतें

मोबाइल फोन की स्क्रीन और उससे निकल रही ब्राइट ब्लू लाइट को लंबे समय तक देखते रहने से न सिर्फ आपकी आंखों को नुकसान होता है। बल्कि हाल ही में हुई एक स्टडी की मानें तो अगर प्रेग्नेंट महिला लंबे समय तक मोबाइल फोन यूज करे तो होने वाले बच्चे में बिहेवियर से जुड़ी दिक्कतें हो सकती हैं। वैज्ञानिकों ने डेनमार्क में इसको लेकर एक स्टडी की जिसमें प्रसव पूर्व और प्रसव के बाद मोबाइल फोन यूज करने का बच्चे के व्यवहार और इससे जुड़ी समस्याओं के बीच क्या लिंक ये जानने की कोशिश की गई।


हाइपरऐक्टिविटी और बिहेवियरल इशू का शिकार

इस स्टडी में ऐसी महिलाओं को शामिल किया गया जिनके बच्चे 7 साल के थे। स्टडी के दौरान महिलाओं को एक क्वेश्चेनेयर दिया गया था जिसमें उनके बच्चे की हेल्थ और बिहेवियर के साथ-साथ वे खुद फोन का कितना इस्तेमाल करती हैं, इससे जुड़े सवालों के जवाब देने थे। स्टडी के आखिर में यह बात सामने आयी कि जिन महिलाओं के बच्चे प्रसव से पूर्व और प्रसव के बाद स्मार्टफोन के प्रति एक्सपोज थे यानी जिन मांओं ने प्रेग्नेंसी के दौरान और डिलिवरी के बाद भी मोबाइल यूज ज्यादा किया उनके बच्चे हाइपरऐक्टिविटी और बिहेवियरल इशूज का शिकार थे।


प्रेग्नेंट महिलाएं इन बातों का रखें ध्यान

- मोबाइल फोन पर बहुत ज्यादा बात करने की बजाए टेक्स्ट भेजें या लैंडलाइन का उपयोग करें

- प्रेग्नेंसी के दौरान बहुत ज्यादा सोशल मीडिया को स्क्रॉल न करें

- जहां तक संभव हो हैंड्स फ्री किट यूज करें ताकरि सिर और शरीर के नजदीक रेडिएशन को कम किया जा सके। 





...

त्वचा को कोमल बनाने के लिए अपनाएं टिप्स

त्वचा पर दाग-धब्बे, मुंहासे, पिंपल्स और ब्लैकहेड्स होने के कारण त्वचा की खूबसूरती छीन जाती है। इनके कारण त्वचा के रोमछिद्र बड़े होने, झुर्रियां, दानें होनें के कारण त्वचा की कोमलता भी खत्म हो जाती है। ऐसे में त्वचा को छूने पर खुरदुरापन महसूस होता है। हर कोई अपनी त्वचा को निखरी और कोमल बनाना चाहता है। ऐसे में अगर आप अपनी त्वचा की कोमलता को वापस पाना चाहते हैं तो हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ब्यूटी टिप्स। 


कोमल त्वचा पाने के तरीके-


1.शहद: त्वचा को कोमल और निखरी बनाने के लिए शहद उपयोगी होता है। शहद गाढ़ा होता है जो त्वचा पर मॉइश्चर की एक परत बना देता है, साथ ही इसमें एंटी-बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं जो पिंपल्स को खत्म कर देती हैं। मुंहासों और दाग-धब्बों को दूर करने के लिए शहद कैसे फायदेमंद होता है जानने के लिए क्लिक करें।


कैसे करें इस्तेमाल: शुद्ध शहद को 10 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें और फिर हल्के गर्म पानी से चेहरा धो लें। शहद और अंडे को मिलाकर फेसमास्क बना लें और 20 मिनट तक चेहरे पर लगाए रखने के बाद हल्के गर्म पानी से धो लें।


2.एलोवेरा जेल: एलोवेरा जेल त्वचा को कोमल बनाने के लिए लाभकारी होता है। इसकी सूदिंग प्रॉपर्टीज मुंहासे मिटाने के साथ त्वचा को हाइड्रेट भी रखती है और कोमल बनाए रखती हैं। 


कैसे करें इस्तेमाल: एलोवेरा जेल को चेहरे पर रातभर लगाकर रखें। एलोवेरा जेल को 2 चम्मच नींबू के रस और शहद में मिलाकर मिश्रण को चेहरे पर 20 मिनट लगाकर चेहरा धो लें।


3.खीरा: खीरे में एस्ट्रिजेंट प्रॉपर्टी के साथ ही पोषण देने के लिए आवश्यक मिनरल्स होते हैं। खीरे में सबसे ज्यादा पानी होता है। यह त्वचा के pH को बैलेंस रखता है और एसिड लेवल को बैलेंस करके त्वचा को कोमल और खूबसूरत बनाए रखता है। खीरे को त्वचा पर लगाना और खीरा खाना, दोनों ही त्वचा के लिए लाभकारी होता है।


कैसे करें इस्तेमाल: खीरे का रस निकालकर इसमें थोड़ा सा दूध मिला लें और इसे 20 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें। इसके बाद चेहरे को हल्के गर्म पानी से धो लें।


4.योगर्ट: प्रोटीन, लेक्टिक एसिड और एंजाइम्स से भरपूर योगर्ट को चेहरे पर लगाने से यह त्वचा को स्वस्थ और मुलायम बनाए रखता है।


कैसे करें इस्तेमाल: योगर्ट में नींबू का रस और एक चम्मच शहद मिलाकर चेहरे पर लगा लें और 20 मिनट बाद हल्के गर्म पानी से धो लें जिससे त्वचा मुलायम बनती है।


5.खूब पानी पीएं: पसीने और मूत्र के रुप में हमारे शरीर से पानी निकल जाता है। ऐसे में त्वचा को हाइड्रेट और कोमल बनाए रखने के लिए पानी पीना जरुरी होता है। खूबसूरत और कोमल त्वचा पाने के लिए दिनभर में 8-10 गिलास पानी जरुर पीएं।






...

हायपर कोलेस्ट्राल से प्रभावित हृदय

विज्ञान के नित-नये अविष्कारों ने इंसान को चकाचैंध कर दिया है। चिकित्सा जगत में तो अजूबे अविष्कार हुए हैं। अलग-अलग यंत्र, मशीनें, अनेक औषधियां और न जाने कितनी सुविधाएं पर फिर भी रोगों का ताड़व कम नहीं हुआ है बल्कि अनेक व्याधियों ने इंसान को अपने पंजे में जकड़ रखा है। हृदय रोग, उच्च रक्तचाप, डायबिटिज आज के संघर्षशील युग की देन हैं। इसके अलावा आज हमें हायपरकोलेस्ट्राल के भी अधिकांश रोगी मिलते हैं। इसका कारण है हमारे आहार-विहार में विषमता, क्योंकि हमें ऐशोआराम की जिन्दगी पसन्द है। हम श्रम से कतराते हैं, ऐसी जिन्दगी का ही परिणाम है-हायपरकोलेस्ट्राल।


हृदय रोग को बढ़ानेवाला यह कोलेस्ट्राल है जिसे नियंत्रण में रखना शरीर के लिए अत्यावश्यक है। इसकी अधिक मात्रा हृदय व मस्तिष्क धमनियों को जितना नुकसान पहुंचाती है, वैसे ही इसकी प्राकृत मात्रा शरीर को स्वस्थ रखने में सक्षम रहती है। कोलेस्ट्राल का अंतर्भाव लिपिड में होता है। ये लिपिड 5 प्रकार के होते हैं और मनुष्य शरीर के महत्वपूर्ण घटक हैं। सभी प्राणियों के कोषों में कोलेस्ट्राल होता है व अधिकांशतः यह नाड़ी संस्थान में रहता है। इसका स्राव पित्तरस में होता है व यकृतीय संवहन में यह सहभागी होता है। चिकित्सीय दृष्टि से इसका अत्यन्त महत्व है। शरीर में निर्मित सभी प्रकार के स्टेराइड हार्मोन का भी आवश्यक अंग है। 


लिपिड के एकत्रीकरण, संवहन, ट्रांसपोर्ट व उत्सर्जन में विकृति होने पर अनेक व्याधियां उत्पन्न होती हैं जैसे मोटापा, यकृतप्लीहा का बढ़ना, एथेरोस्क्लेकोसिस, अग्न्याशय में सूजन, पित्तामशरी इत्यादि। इन सब में एथोरोस्क्लेरोसिस सबसे महत्वपूर्ण है जो कि लिपिड के एकत्रीकरण से होता है। धमनियों में कोलेस्ट्राल जमा होने से कड़कपन आ जाता है फलस्वरूप धमनियों का मार्ग संकरा हो जाता है जिससे धमनियों का मार्ग संकरा हो जाता है जिससे धमनियों में स्थित रक्त हृदय, मस्तिष्क व शरीर के अन्य भागों में कम पहुंचता है। यह रूकावट हृदय की धमनियों में होने से छाती में दर्द (एन्जाइना) या कभी-कभी हार्ट अटैक भी होता है। यह रूकावट नाड़ीवह संस्थान यानी मस्तिष्क में होने पर स्मरणशक्ति का नाश, मस्तिष्क के उच्चतम कार्यों में विकृति, लकवा व वृद्धावस्था में व्यवहार, स्वभावादि में अंतर आता है। 


इसके अलावा अन्य अंगों की धमनियों में यह कोलेस्ट्राल जमा होकर गैंगरीन उत्पन्न करता है। इस कोलेस्ट्राल से लेरिक सिंड्रोम नामक व्याधि भी होती है जिसमें मुख्यतः पेट व पैरों की धमनी में रूकावट होता है। उच्च रक्तचाप, मधुमेह के रोगी में कोलेस्ट्राल की मात्रा बढ़ने से रक्तवाहिनी में जमा होने की आशंका ज्यादा रहती है, अतः उच्च रक्तचाप व मधुमेह रोगी को कोलेस्ट्राल निवारक आहार लेना आवश्यक है जिसमें सलाद, हरी सब्जी, अंकुरित आहार, फल, छाछ की प्रचुर मात्रा हो।


कोलेस्ट्राल की मात्रा सामान्य करने में सबसे महत्वपूर्ण है-आहार, विहार पर नियंत्रण होना। आहार में चर्बीयुक्त पदार्थ जैसे तेल, घी, मांसाहार, शराब, आलू, चावल इत्यादि का सेवन कम करें। विहार में मानसिक तनाव से बचें। हायपर कोलेस्ट्राल के रूग्णों को अक्सर मोटापा अधिक रहता है अतएव उन्हें वजन पर नियंत्रण रखना अनिवार्य है। कोलेस्ट्राल कम करने के लिए आयुर्वेद संहिताओं में मेदोहर औषधियां वर्णित है। इनमें मुख्यतया त्रिकटु, कुटकी, लहसुन, पुनर्नवा, विडंग इत्यादि चिकित्सक के परामर्शानुसार लेना चाहिए। इसके अलावा आरोग्यवर्घिनी व त्रिफला गुग्गुल 2 चम्मच सुबस-शाम लेना चाहिए। साथ में मोटापा होने पर चिकित्सक के परामर्शानुसार ही औषधि लेनी चाहिए।


हायपरकोलेस्ट्राल के कारण अधिकतर हृदयगत धमनियां (कोरोनरी आर्टरीस) प्रभावित होती हैं जिससे हृदयगत विकार जैसे छाती में दर्द (एन्जाइना) जैसी (व्याधियां) होती हैं। आधुनिक चिकित्सानुसार इसमें एंजियोप्लास्टी करके धमनियों में से कोलेस्ट्राल को साफ करते हैं परन्तु फिर भी इन रूग्णों को सावधानियां रखनी पड़ती हैं जिससे फिर न एंजियोप्लास्टी करवानी पड़े। आयुर्वेद शास्त्र में कोलेस्ट्राल को कम करने व धमनियों का संकरापन दूर करने के लिए अनेक औषधियां हैं जिससे एंजियोप्लास्टी करने की संभावना कम होती है। अतएव योग्य चिकित्सक के मार्गदर्शन में मेदोहर व हृदय औषधि लेकर एंजियोप्लास्टी से बचा जा सकता है। 




...

बालों के टूटने से परेशान हैं, आजमाएं ये घरेलू उपाय

लंबे घने बाल किसको पसंद नहीं होते हैं। लेकिन हेयरफॉल अकसर आपकी इस चाहत को पूरा नहीं होने देता है। बालों के टूटने से परेशान होकर इसे रोकने के लिए आप सबकुछ करती हैं। आइए, आपको कुछ आसान घरेलू उपाय बताते हैं जिससे आप हेयरफॉल को मात दे सकती हैं। 


आयरन की कमी तो नहीं?

शरीर में आयरन की कमी होने से बाल टूटते-झड़ते हैं, साथ ही आपके बालों की ग्रोथ भी रुक जाती है। बाल शाइन करें, इसके लिए ब्रोकली, गोभी और हरी सलाद का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें।


नारियल पानी

नारियल पानी आपके बालों के लिए काफी फायदेमंद है। रोजाना खाली पेट नारियल पानी पीने से आपके बाल स्ट्रांग बनेंगे और इनके टूटने-झड़ने की समस्या से आपको छुटकारा मिलेगा।


पत्तेदार सब्जियां

हरी पत्तेदार सब्जियां, फल और हाई प्रोटीन युक्त आहार जैसे दाल, अंडा, स्प्राउट्स और विटमिन-सी युक्त फ्रूट्स का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें। इनके सेवन से आपके बाल अंदरूनी रुप से स्ट्रांग बनेंगे।


ऑलिव ऑइल

ऑलिव, नारियल या कनोला का तेल लेकर उसे गर्म कर लें। बालों की जड़ों में इससे मसाज करें। लगभग एक घंटे तक बालों में तेल लगा रहने दीजिए इसके बाद शैंपू से धो लें।


ग्रीन टी

एक कप गर्म पानी में ग्रीन टी के दो बैग डालकर इसे मिला लें। इसके बाद इसे बालों की जड़ों में लगाएं और एक घंटे तक लगा रहने दें। इसके बाद धो लें। ग्रीन टी में ऐंटीऑक्सिडेंट्स होते हैं, जो बालों को गिरने से रोकते हैं और बालों के बढ़ने में सहायक होते हैं।


हेड मसाज

हफ्ते में एक दिन हेड मसाज लेने से बालों की जड़ों में ब्लड सर्कुलेशन सही बना रहता है। इससे बाल स्ट्रॉग होते हैं और तनाव में कमी आती है। यही नहीं, यह बालों को स्ट्रेंथ भी देता है।


लहसुन का तेल

लहसुन के जूस, प्याज या अदरक के जूस की मालिश करने से भी आपको खासा फायदा मिलेगा। रात में सोते समय इसे सिर में लगा लें और सुबह धो लें। इससे आपके बालों की जड़ें मजबूत होंगी और बाल गिरने की समस्या कम हो जाएगी।




...

ब्राउन आइज पर ट्राई करें ये ट्रेंडी पेंसिल शेड्स

मेकअप करते वक्त आंखों की खूबसूरती पर विशेष ध्यान दिया जाता है। आंखों को अलग-अलग तरीके से हाइलाइट करके आप रोज अपनी लुक को क्रिएटिव बना सकते हैं। बस जरुरत है तो अपनी आंखों के रंग के हिसाब से इन्हें हाईलाइट करने की। 


मैटालिक शेड्स: ब्राउन आईज की खास बात यह होती है कि उनके उपर कोई भी कलर काफी अच्छा लगता है। मगर यदि आप किसी फंक्शन-पार्टी पर जाने की सोच रही हैं या फिर ऑफिस जाने के लिए रोज एक अलग लुक पाना चाहती हैं तो आप मैटालिक शेड्स में ब्राउन, गोल्डन या फिर ब्रॉन्ज आइलाइनर चुन सकती हैं। इस तरह के शेड्स आपकी आंखों पर अधिक फोकस करके उन्हें खूबसूरत बनाने का काम करते हैं।


व्हाइट आई पेंसिल: ब्राउन आंखों के लिए व्हाइट आई पेंसिल भी ठीक रहती है। व्हाइट कलर आइ पेंसिल आपकी आंखों को अट्रेक्टिव बनाने का काम करती हैं। मैटालिक शेड्स के साथ आप व्हाइट लाइनर का इस्तेमाल करके उनकी खूबसूरती को और भी बड़ा सकते हैं।


कंसीलर का इस्तेमाल: अगर आपकी आंखो के नीचे डार्क सर्कल्स हैं तो इन्हें लाइट शेड कंसीलर के साथ कवर करें। ऐसा करने से आप कंसील करने के साथ-साथ अपने अंडर आई एरिया को आसानी से हाईलाइट भी कर सकती हैं। इसके बाद आपको अलग से हाईलाइटिंग करने की जरूरत नहीं होगी।


नेचुरल लुक: कई लड़कियों को लाइट मेकअप करना पसंद होता है। ऐसे में यदि आपकी आंखे ब्राउन हैं और आप इन्हें लाइट मेकअप के साथ हाइलाइट करना चाहती हैं तो न्यूट्रल कलर्स जैसे पीच और ब्राउन कलरस के साथ इन्हें हाइलाइट करें। इससे आप अट्रेक्टिव दिखने के साथ-साथ नेचुरल दिखेंगी। 




...