शुभमन गिल द्वारा सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ने पर Twitter यूजर्स का कमाल का रिएक्शन

नई दिल्ली: शुभमन गिल (Sachin Tendulkar)  ने अपनी पिछली पांच पारियों में 64, 43, 98*, 82*, 33 खेलने के बाद सोमवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना पहला शतक लगाया. वेस्टइंडीज के खिलाफ सबीना पार्क में बारिश की वजह से मैच रोकना पड़ा था, तब गिल 98 पर बल्लेबाज कर रहे थे. अंपायरों ने बारिश की वजह से हो रही लगातार रुकावट के कारण भारत की पारी घोषित कर दी. जिसके बाद अपनी अगली सीरीज में गिल जिम्बाब्वे के खिलाफ (ZIM vs IND) पहले वनडे में भी एक शतक की तलाश कर रहे थे लेकिन विपक्षी टीम का स्कोर उतना बड़ा नहीं था कि वो अपनी ये इच्छा पूरी कर पाते. हरारे में उस दिन उन्होंने नाबाद 82 रन बनाए. दूसरे मैच में उन्हें तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए भेजा गया और वहां उन्हें 33 रन की पारी खेली. 

तीसरे और आखिरी वनडे (ZIM vs IND 3rd ODI) में उनके पास आखिरी मौका था सेलेक्टरों को अपने कौशल का एक मजबूत परिचय कराने का. केएल राहुल और शिखर धवन के जल्दी आउट होने के बाद गिल ने एक शानदार पारी खेलकर इस लंबे इंतजार को खत्म किया.

दाएं हाथ के बल्लेबाज ने 97 गेंद पर 130 बनाए, जिसमें 15 चौके और एक छक्का शामिल हैं. गिल की इस शानदार पारी के बदौलत भारत ने मेजबान टीम के सामने के 290 रन का कड़ा टारगेट सेट किया.

इसी के साथ पंजाब के इस बल्लेबाज ने रिकॉर्ड बूक्स में भी अपना नाम दर्ज करा लिया. वो जिम्बाब्वे के खिलाफ एक वनडे मैच में सबसे बड़ी पारी खेलने वाले बल्लेबाज बन गए. उन्होंने महान सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का 24 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा. पूर्व दिग्गज बल्लेबाज ने 1998 में बुलावायो में नाबाद 127 रन की पारी खेली थी.



इसी के साथ गिल (22 साल और 348 दिन) जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे में शतक लगाने वाले दूसरे सबसे युवा भारतीय बल्लेबाज भी बन गए. इससे पहले मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) ने 21 साल 287 दिन की उम्र में ये कारनामा किया था.

गिल के एक्स्ट्रा ऑर्डनरी प्रदर्शन के लिए उनको 'प्लेयर ऑफ द मैच' और सीरीज में सबसे ज्यादा 245 रन बनाने के लिए 'प्लेयर ऑफ द सीरीज' चुना गया. ये उनका लगातार दूसरा प्लेयर ऑफ द सीरीज खिताब है. इससे पहले वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज में भी दाएं हाथ के बल्लेबाज को प्लेयर ऑफ द सीरीज चुना गया था.

...

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 113 रन से हराया

सेंचुरियन : तेज गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के तीन-तीन विकेटों, मोहम्मद सिराज और ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के दो-दो विकेटों की बदौलत भारत ने दक्षिण अफ्रीका को पहले क्रिकेट टेस्ट मैच के पांचवें और अंतिम दिन गुरूवार को 113 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली। भारतीय टीम ने सेंचुरियन में इतिहास रच दिया है। वह पहली एशियाई टीम बनी है जिसने दक्षिण अफ़्रीका को इस मैदान पर हराया है। भारत ने अपनी दूसरी पारी में 174 रन बनाये और मेजबान टीम के सामने 305 रन का बेहद मुश्किल लक्ष्य रख दिया। भारत ने पहली पारी में 327 रन बनाये थे और दक्षिण अफ्रीका को 197 रन पर ढेर कर पहली पारी में 130 रन की महत्वपूर्ण बढ़त हासिल की थी। दक्षिण अफ्रीका ने लक्ष्य का पीछा करते हुए स्टंप्स तक चार विकेट खोकर 94 रन बना लिए थे और आखिरी दिन उसने लंच तक अपना स्कोर सात विकेट पर 182 रन पहुंचा दिया है। लेकिन लंच के बाद उसकी दूसरी पारी 191 रन पर सिमट गयी। 





...

गांगुली की हालत स्थिर

कोलकाता : बीसीसीआई अध्यक्ष और भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की हालत स्थिर है जिन्हें तीन दिन पहले कोरोना संक्रमण के बाद एहतियात के तौर पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वुडलैंड्स अस्पताल की एमडी और सीईओ डॉक्टर रूपाली बसु ने एक बयान में कहा, ‘‘अस्पताल में भर्ती होने के तीसरे दिन बीसीसीआई अध्यक्ष और भारत के पूर्व क्रिकेट कप्तान सौरव गांगुली की हालत स्थिर है। उनका रक्तचाप और ह्र्दयगति स्थिर है और शरीर में आक्सीजन का प्रवाह भी सामान्य है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कल रात उन्हें अच्छी नींद आई। उन्होंने नाश्ता और लंच भी किया। मेडिकल बोर्ड उनकी हालत पर नजर रखे हुए है।’’ गांगुली को इस साल की शुरूआत में दो बार अस्पताल में भर्ती होना पड़ा था जब उनकी आपात एंजियोप्लास्टी हुई थी।




...

आई लीग पर कोरोना का साया, कम से कम 7 खिलाड़ी संक्रमित, बायो बबल में रहने, खेलने के बावजूद आए पॉजिटिव

कोलकाता : आई लीग फुटबॉल बुधवार को कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गया जब विभिन्न टीमों के कई खिलाड़ी बायो बबल में रहने और खेलने के बावजूद पॉजिटिव पाये गए।


समझा जाता है कि दस से अधिक लोग संक्रमित पाये गए हैं जिनमें कम से कम सात खिलाड़ी हैं। रीयल कश्मीर एफसी के पांच, मोहम्मद स्पोर्टिंग और श्रीनिधि डेक्कन एफसी का एक एक खिलाड़ी मंगलवार को हुई जांच में पॉजिटिव पाया गया है।


लीग के एक सूत्र ने बताया,‘‘ रीयल कश्मीर के पांच खिलाड़ी और तीन अधिकारी और मोहम्मडन स्पोर्टिंग तथा श्रीनिधि डेक्कन एफसी का एक एक खिलाड़ी पॉजिटिव पाया गया है।’’


लीग की आपात बैठक आज शाम चार बजे बुलाई गई है ताकि इसे जारी रखने या रद्द करने पर फैसला लिया जा सके।





...

कोरोना के लक्षण दिखने के कारण पहले टेस्ट से बाहर हुए थे ओलिवियर : क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका

सेंचुरियन :  सुपरस्पोर्ट पार्क में रविवार को भारत के खिलाफ पहले टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डुआने ओलिवियर को प्लेइंग इलेवन में शामिल न करने पर सवाल उठ रहे हैं, क्योंकि पहले दिन उनके गेंदबाजों ने खराब प्रदर्शन किया था, जिसके कारण पहला दिन भारतीय बल्लेबाजों के नाम रहा था।


अब, क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) के चयन संयोजक विक्टर म्पित्सांग ने कहा, ओलिवियर को कोरोना के लक्षण दिखने के कारण पहले टेस्ट से बाहर किया गया था।


विक्टर म्पित्सांग के हवाले से ईएसपीएन क्रिकइन्फो ने सोमवार को बताया, ओलिवियर अब अच्छी तरह से स्वस्थ हैं, लेकिन वह कई हफ्ते पहले कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जिसे उनको कई दिनों तक क्वारंटीन में रहना पड़ा था। इसके बाद उन्होंने भारत के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज होने से पहले कड़ा अभ्यास किया था।


दिलचस्प बात यह है कि रविवार को मैच के पहले दिन पत्रकारों द्वारा पूछे जाने पर म्पित्सांग ने इस मुद्दे पर कोई टिप्पणी नहीं की थी। ओलिवियर, जो चोटिल एनरिक नॉर्टजे की जगह टीम में शामिल हुए हैं। वह भारत के लिए दूसरे टेस्ट में वापसी करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।


ओलिवियर ने अपनी टीम लायंस के लिए चार प्रथम श्रेणी मैचों में 11.10 की औसत से 28 विकेट लिए थे, जिससे वह घरेलू प्रतियोगिता में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे।




...

एंजियोप्लास्टी के बाद आबिद अली को दो महीने आराम की सलाह

कराची : पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज आबिद अली को एंजियोप्लास्टी के बाद दो महीने आराम की सलाह दी गई है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इसकी पुष्टि की।


आबिद को कायदे आजम ट्रॉफी के मैच के दौरान बल्लेबाजी करते समय सीने में तेज दर्द उठा था जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। वहां उनकी एंजियोप्लास्टी हुई और स्टेंट डाले गए। दूसरी बार स्टेंट बृहस्पतिवार को डाला गया।


उनके करीबी सूत्रों ने बताया कि डॉक्टरों ने उन्हें दो महीने आराम की सलाह दी है जिसके बाद उनकी फिर जांच की जायेगी। पीसीबी ने सोशल मीडिया पर कहा कि उसकी मेडिकल टीम विदेश में ह्र्दयरोग विशेषज्ञों से सलाह ले रही है। 




...

बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक : हरजिंदर सिंह को भारत का मिशन प्रमुख किया गया नियुक्त

नई दिल्ली :  भारतीय ओलंपिक संघ (आईओसी) ने हरजिंदर सिंह को बीजिंग 2022 शीतकालीन ओलंपिक के लिए भारत का मिशन प्रमुख (शेफ डी मिशन) नियुक्त किया है, जो 4 से 20 फरवरी तक आयोजित किया जाएगा।


हरजिंदर सिंह, जो आइस हॉकी एसोसिएशन के महासचिव हैं। उन्होंने दक्षिण कोरिया के प्योंगचांग में 2018 शीतकालीन खेलों में भारतीय दल का नेतृत्व किया था, जहां भारत के दो प्रतिनिधि थे। स्कीयर जगदीश सिंह और छह बार के ओलंपियन लुगर शिव केशवन।


अल्पाइन स्कीयर मोहम्मद आरिफ खान एकमात्र भारतीय हैं, जिन्होंने अब तक बीजिंग 2022 के लिए क्वालीफाई किया है।


शीतकालीन खेलों का पहला सीजन 1924 में फ्रांस में हुआ था। भारत ने 1964 से शुरू होकर 10 सीजनों में भाग लिया है। हालांकि, अभी उनका शीतकालीन ओलंपिक में पदक जीतना बाकी है।



...

उत्तराखंड के ब्रांड एंबेसडर बने भारतीय बल्लेबाज ऋषभ पंत

नई दिल्ली : इंडियन क्रिकेट टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को उत्तराखंड का ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ट्वीट कर पंत को ब्रांड एंबेसडर बनाए जाने की जानकारी दी।


मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए एक वीडियो जारी किया। उन्होंने कहा भारत के बेहतरीन क्रिकेट खिलाड़ियों में से एक, युवाओं के आदर्श और उत्तराखंड के लाल श्री ऋषभ पंत जी को हमारी सरकार ने राज्य के युवाओं को खेलकूद एवं जन-स्वास्थ्य के प्रति प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से राज्य ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया है।


वीडियो में मुख्यमंत्री को ऋषभ पंत से बातचीत करते और उनका हालचाल पूछते हुए देखा जा सकता है।


पंत ने ट्वीट किया, पुष्कर सिंह धामी सर, उत्तराखंड के लोगों के बीच खेल और स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए यहां का ब्रांड एंबेसडर बनाने का शुक्रिया। लोगों के बीच यह संदेश देने के लिए मैं पूरी कोशिश करूंगा और मुझे बहुत खुशी हो रही है कि आप देश को फिट बनाने के लिए ऐसे कदम उठा रहे हैं। रुड़की के एक छोटे से कस्बे से आने के बाद मुझे विश्वास है कि यहां के लोगों के अंदर कई क्षेत्रों में देश को गौरव महसूस कराने की क्षमता है।


बता दें कि ऋषभ पंत वैसे तो घरेलू क्रिकेट में दिल्ली के लिए खेलते हैं, लेकिन वह मूल रूप से उत्तराखंड के रहने वाले हैं। वह रुड़की के रहने वाले हैं। उन्होंने दिल्ली में क्रिकेट कोचिंग ली। इसके बाद में यहीं की रणजी टीम से क्रिकेट करियर को आगे बढ़ाया। फिलहाल पंत दक्षिण अफ्रीका दौरे पर हैं, जिसकी शुरुआत 26 दिसंबर से हो रही है।




...

मुख्य कोच फेर्रांडो का अचानक साथ छोड़ना ‘अप्रत्याशित’ : एफसी गोवा

पणजी : इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) की फ्रेंचाइजी एफसी गोवा ने सोमवार को कहा ने टीम के मुख्य कोच जुआन फेर्रांडो के सत्र के मध्य में अप्रत्याशित तरीके से साथ छोड़ना आश्चर्यचकित करने वाला कदम है।


फर्रांडो ने अपने अनुबंध में ‘रिलीज क्लॉज’ का मदद से गोवा की टीम का साथ छोड़ एक अन्य आईएसएल टीम एटीके मोहन बागान से करार कर लिया।


शुरुआती मैचों में खराब नतीजों के बाद एटीके मोहन बागान ने शनिवार को एंटोनियो हबास से नाता तोड़ लिया था।


एफसी गोवा ने कहा कि सहायक कोच क्लिफोर्ड मिरांडा फिलहाल टीम में अंतरिम कोच की भूमिका निभाएंगे।


एफसी गोवा के फुटबॉल निदेशक रवि पुस्कर ने यहां जारी बयान में कहा, ‘‘ हम जुआन के जाने से बहुत निराश हैं। क्लब छोड़ने का उनका फैसला अप्रत्याशित है और खास कर सत्र में बीच में यह कदम आश्चर्यचकित करने वाला है।’’


उन्होंने कहा, ‘‘ हमें इस बात की निराशा ज्यादा है कि कल सुबह तक हमें अंधेरे में रखा गया। मैं जुआन के उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं।’’


‘रिलीज क्लॉज’ कोई क्लब किसी अन्य क्लब के खिलाड़ी या कोच को जरूरी रकम का भुगतान अपनी टीम में शामिल कर सकता है।




...

विराट की बीसीसीआई से आर या पार की टक्कर

जोहानसबर्ग : विराट कोहली की कप्तानी और टीम में उनका बने रहना दक्षिण अफ्रीका के टेस्ट दौरे में उनकी कामयाबी पर निर्भर करेगा। विराट ने दक्षिण अफ्रीका दौरे पर रवाना होने से पूर्वमुंबई में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीसीसीआई के खिलाफ जो बयान दिया वह निश्चित रूप से बर्रे के छत्ते में हाथ डालने जैसा है। बतौर कप्तान विराट कभी भी अपने फ़ैसलों को लेकर दोहरे मन में नहीं होते। नेतृत्व करने का सबसे मुश्किल काम होता है- दूसरों के लिए फ़ैसले लेना और फिर उन फ़ैसलों का बोझ साथ लेकर चलना। विराट ने बतौर कप्तान अपने पहले टेस्ट मैच में रविचंद्रन अश्विन की जगह कर्ण शर्मा को टीम में शामिल किया। विपक्षी टीम के अनुभवी ऑफ़ स्पिनर ने उस मैच में 12 विकेट चटकाए और अपनी टीम को जीत दिलाई। वहीं लेग स्पिनर कर्ण को फिर कभी भारत के लिए खेलने का मौक़ा नहीं मिला। यह एक ऐसा निर्णय है जो किसी भी कप्तान को ज़िंदगी भर के लिए तकलीफ़ दे सकता है, डरा सकता है और भविष्य में कठिन फ़ैसले लेने से रोक सकता है। "अगर मैं अपने प्रमुख स्पिनर को खिलाता तो क्या चौथी पारी में लक्ष्य छोटा होता? क्या उस युवा लेग स्पिनर का करियर कुछ अलग होता अगर मैं उसे पूरी तरह तैयार होने पर ही मैदान पर उतारता?" ऐसे सवाल आपको परेशान कर सकते हैं। विराट बाक़ी सब से थोड़े अलग हैं। अगर वह जानते हैं कि उनका फ़ैसला टीम के हित में लिया गया है तो फिर वह उस पर सवाल नहीं उठाते हैं। उनके अनुसार झिझक मैदान पर आपसे ग़लतियां करवाती हैं। जब उनसे पूछा जाता है कि क्या अपनी 'सर्वश्रेष्ठ एकादश' खिलाने पर मैच का परिणाम कुछ और होता, तब उन्हें बहुत गुस्सा आता हैं। उनके अनुसार इसका यह अर्थ होता है कि उन्होंने जानबूझकर अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम को मैदान पर नहीं उतारा। यह चीज़ें विभिन्न संस्कृतियों में विभिन्न लोगों के लिए अलग तरह से काम करती है, हालांकि यह एक बेहतरीन गुण है। अपने पूरे करियर के दौरान विराट ने साहसी क़दम उठाए हैं, जो बाहर बैठे लोगों को जोखिम भरे लग सकते हैं। एक समय पर उन्होंने टीम के प्रमुख कोच और दिग्गज लेग स्पिनर अनिल कुंबले के साथ काम करने से मना कर दिया था। वह भी तब जब जनता की सहानुभूति और पुराने खिलाड़ियों का समर्थन कुंबले के साथ था।







...

एशियाई कप भारत में महिला फुटबॉल के बारे में जागरूकता पैदा करेगा : कुशाल दास

नई दिल्ली : अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) के महासचिव कुशाल दास ने शनिवार को कहा कि आगामी एएफसी एशियाई कप 2022 देश में महिलाओं के खेल को बढ़ावा देगा और इसके बारे में जागरूकता फैलायेगा।


एशियाई कप महाराष्ट्र के तीन स्थलों में आयोजित किया जायेगा। इस टूर्नामेंट की तैयारियों में जुटी भारतीय सीनियर महिला फुटबॉल टीम नव वर्ष में नई जर्सी पहनकर मैदान में उतरेगी।


टीम को ‘ब्लू टाइग्रेस’ के नाम से पुकारा जाता है। भारत अगले साल 20 जनवरी से छह फरवरी तक एशियाई कप की मेजबानी करेगा जिसमें टीम ‘स्ट्राइप्स’ (पट्टियों) वाली जर्सी पहनेगी।


दास ने कहा, ‘‘हमें पूरा भरोसा है कि एएफसी महिला एशियाई कप भारत 2022 लोगों को प्रेरित करेगा, भारत में महिलाओं के खेल के बारे में जागरूकता फैलायेगा और देश में युवा लड़कियों को खेल में आने के लिये और अपने सपने साकार करने के लिये प्रेरित करेगा। ’’


नई किट में बाघ के जैसी धारियों का डिजाइन बनाया गया है।







...

फेरारी ड्राइवर चार्ल्स लेक्लर्स कोरोना पॉजिटिव

अबु धाबी : फेरारी के ड्राइवर चार्ल्स लेक्लर्स सीजन के बाद अबु धाबी से घर लौटने के बाद कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इस बात की जानकारी शुक्रवार को उनके फेरारी क्लब ने दी है।


फेरारी ने ट्वीट किया, लेक्लर्स कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। एफआईए और टीम द्वारा आवश्यक प्रोटोकॉल के अनुसार, चार्ल्स का अबु धाबी से लौटने पर टेस्ट किया गया था। वह वर्तमान में कम लक्षणों के साथ ठीक महसूस कर रहे हैं, लेकिन वह घर में ही आइसोलेशन में रहेंगे।


यह दूसरी बार है जब लेक्लर्स कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इससे पहले, जनवरी में 2021 की शुरुआत में इनका टेस्ट किया गया था, जिसके बाद उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।


इस सीजन में लेक्लर्स ने शानदार प्रदर्शन किया था। उन्होंने दो बार फेरारी एसएफ 21 में जीत दर्ज की थी। इसके साथ ही वह अबु धाबी ग्रां प्री में 10वें स्थान पर रहे थे।





...

उच्च न्यायालय ने खेल अधिकारियों से आईओए की एजीएम का स्थल गुवाहाटी से हटाकर दिल्ली करने को कहा

नयी दिल्ली : दिल्ली उच्च न्यायालय ने खेल अधिकारियों से भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) की 19 दिसंबर को होने वाली आम सालाना बैठक (एजीएम) के स्थल को गुवाहाटी से हटाकर राष्ट्रीय राजधानी में दिल्ली करने को कहा है।


यह निर्देश उन आरोपों को देखते हुए आया है कि संघ की कार्यकारी समिति के चुनाव गैर कानूनी तरीके से कराये जा रहे थे।


न्यायमूर्ति मनमोहन और नज्मी वजीरी की विशेष पीठ ने एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश को बैठक में प्रशासक के रूप में नियुक्त किया और कहा कि बैठक दिल्ली में भारतीय ओलंपिक संघ भवन में होगी।


उच्च न्यायालय ने इससे पहले आईओए की कार्यकारी समिति के 19 दिसंबर को होने वाले चुनावों पर यथास्थिति बनाये रखने का निर्देश दिया था और कहा था कि वह 23 दिसंबर को इस मामले की सुनवाई करेगी।


उच्च न्यायायल ने 30 नवंबर को वरिष्ठ अधिवक्ता राहुल मेहरा के आवेदन पर अंतरिम आदेश जारी किया था।


मेहरा ने कहा था कि 19 दिसंबर को प्रस्तावित चुनाव पूरी तरह से गैर कानूनी तरीके से कराये जा रहे हैं और इन्हें जब तक नहीं कराया जाना चाहिए तब तक लंबित याचिकाओं की सुनवाई और अंतिम फैसला नहीं आ जाता। 





...

हापुड़ की टीम फाइनल में पहुंची

ग्रेटर नोएडा : शहीद विजय सिंह पथिक क्रिकेट स्टेडियम में आयोजित मेरठ जोन की 22वीं अंतर्जनपदीय पुलिस क्रिकेट प्रतियोगिता के चौथे दिन शुक्रवार को बुलंदशहर एवं हापुड़ के बीच दूसरा सेमीफाइनल मैच खेला गया। इसमें हापुड़ ने बुलंदशहर को हराकर फाइनल में प्रवेश किया। शनिवार को फाइनल मुकाबला खेला जाएगा।


दूसरे सेमीफाइनल मैच में बुलंदशहर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया। बुलंदशहर की टीम निर्धारित 20 ओवर में 106 रन पर ऑल आउट हो गई। बुलंदशहर की तरफ से अल्ताफ खान ने 47 गेंद पर चार चौकों और दो छक्कों की मदद से 53 रन बनाए। हापुड़ के गेंदबाजी करते हुए धर्मेन्द्र यादव ने चार ओवर में नौ रन देकर चार विकेट झटके। रणवीर अवाना, मोहसीन अहमद, सचिन मलिक ने भी एक-एक विकेट चटकाया। हापुड़ ने 107 रनों के लक्ष्य को 12 ओवर में दो विकेट खोकर आसानी से पा लिया। हापुड़ के गेंदबाज धर्मेंद्र यादव को मैन ऑफ द मैच चुना गया। शनिवार को गौतमबुद्ध नगर और हापुड़ के मध्य फाइनल मैच होगा। मैच का संचालन सुभाष पांचाल और इंटरनेशनल वॉलीबॉल कोच ने किया। इस अवसर पर विक्रम सिंह, प्रतिसार निरीक्षक प्रथम, अब्दुल रशीद, प्रतिसार निरीक्षक द्वितीय, अशोक त्यागी, पीटीआई, राधेश्याम, पीटीआई, ललित चौहान, अंपायर, सुदीप गिरी, अंपायर, बृजभूषण तिवारी आदि उपस्थित रहे।

...

मप्र को हराकर हरियाणा पुरूष हॉकी क्वार्टर फाइनल में

पुणे :  हरियाणा ने मध्यप्रदेश को 5.1 से हराकर शुक्रवार को हॉकी इंडिया सीनियर पुरूष राष्ट्रीय चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया। हरियाणा के लिये संजय ने 24वें और 39वें मिनट में गोल किया जबकि जोगिंदर ने 20वें, बॉबी सिंह ने 35वें और दीपक ने 38वें मिनट में गोल दागे। मध्यप्रदेश के लिये एकमात्र गोल 37वें मिनट में अमीन खान ने दागा। इससे पहले बंगाल, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, झारखंड, तमिलनाडु, छत्तीसगढ और महाराष्ट्र अंतिम आठ में पहुंच चुके हैं।




...

वेस्टइंडीज टीम के तीन और खिलाड़ी, दो सहयोगी स्टाफ पॉजिटिव

कराची :  वेस्टइंडीज टीम के तीन खिलाड़ी और दो सहयोगी स्टाफ के कोरोना वायरस जांच में पॉजिटिव पाये जाने के बाद मौजूदा पाकिस्तान दौरा खटाई में पड़ता नजर आ रहा है।


विकेटकीपर शाइ होप, बायें हाथ के स्पिनर अकील हुसैन और हरफनमौला जस्टिन ग्रीव्स पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड द्वारा कराई गई ताजा जांच में संक्रमित पाये गए।


सहायक कोच रॉडी एस्टविक और टीम डॉक्टर अक्षय मानसिंह भी पॉजिटिव पाये गए हैं।


क्रिकेट वेस्टइंडीज ने एक बयान में कहा, ‘‘तीनों खिलाड़ी आगामी मैच नहीं खेल सकेंगे और पांचों व्यक्ति पृथकवास में रहेंगे। चिकित्सा अधिकारी उनकी देखरेख करेंगे। उन्हें दस दिन या आरटी पीसीआर जांच नेगेटिव आने तक पृथकवास में रहना होगा।’’


वेस्टइंडीज के अब छह खिलाड़ी कोरोना संक्रमण का शिकार हो गए हैं जबकि डेवोन थॉमस ऊंगली में चोट के कारण बाहर हो गए हैं।


दोनों बोर्ड के अधिकारी गुरूवार को बैठक करके मौजूदा श्रृंखला के भविष्य पर फैसला लेंगे।


पाकिस्तान ने तीन मैचों की टी20 श्रृंखला में 2.0 की अजेय बढत ले ली है। तीसरा मैच गुरूवार को हाना है जिसके बाद वनडे श्रृंखला खेली जायेगी।


इससे पहले तेज गेंदबाज शेल्डन कोटरेल और हरफनमौला रोस्टन चेस तथा काइल मायेर्स भी कोरेाना संक्रमण के कारण टी20 श्रृंखला से बाहर हो गए थे।




...

एशियाई चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत के सामने पहली चुनौती कोरिया

ढाका : ओलंपिक कांस्य पदक विजेता भारतीय पुरूष हॉकी टीम कोरिया के खिलाफ मंगलवार को एशियाई चैम्पियंस ट्रॉफी के पहले मैच से नये सत्र का आगाज करेगी तो कई युवा खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर नजरें रहेंगी। भारत ने 2011 में टूर्नामेंट की शुरूआत से अब तक तीन बार खिताब जीता है। इसने 2016 में कुआंटन और 2018 में मस्कट में खिताब अपने नाम किया था। भारत को 14 दिसंबर को कोरिया से पहला मैच खेलना है। इसके बाद 15 दिसंबर को मेजबान बांग्लादेश से सामना होगा। तीसरा मैच 17 दिसंबर को पाकिस्तान से और 19 दिसंबर को एशियाई खेल चैम्पियन जापान से खेलना है। सेमीफाइनल 21 दिसंबर को और फाइनल 22 दिसंबर को होगा।


कप्तान मनप्रीत सिंह ने कहा ,‘‘ कोरिया बहुत अच्छी टीम है और हमारे आक्रमण को धीमा कर सकती है।हमने इसी जगह पर 2017 एशिया कप में लीग चरण में उनसे 1 . 1 से ड्रॉ खेला था। हमें आत्ममुग्धता से बचते हुए अपने बेसिक्स मजबूत रखने होंगे।’’


टूर्नामेंट की अहमियत के बारे में उन्होंने कहा ,‘‘ यह तोक्यो ओलंपिक के बाद हमारा पहला टूर्नामेंट है। हमारे लिये यह नये सत्र की शुरूआत है और जीत के साथ आगाज करने से आत्मविश्वास ऊंचा रहेगा।’’


इस टूर्नामेंट के लिये टीम में कई युवाओं को मौका दिया गया है।


मनप्रीत ने कहा ,‘‘ पिछले दो साल में हमारा फोकस ओलंपिक पर था तो कोर टीम में बदलाव नहीं किये गए। इससे युवा खिलाड़ियों में से कुछ को मौके नहीं मिल सके। ये सभी काफी मेहनत कर रहे हैं और इन्हें खुद को साबित करने का मौका दिया गया है।’’


टीम की फिटनेस के बारे में उन्होंने कहा ,‘‘ सभी खिलाड़ी फिट हैं। हमने भुवनेश्वर में शिविर में फिटनेस पर काफी मेहनत की है।’’


पिछली बार मस्कट में भारतीय टीम को पाकिस्तान के साथ संयुक्त विजेता घोषित किया गया था क्योंकि लगातार बारिश के कारण फाइनल नहीं हो सका था। 






...

डेविड वार्नर और हेले मैथ्यूज बने आईसीसी बेस्ट प्लेयर्स ऑफ द मंथ

दुबई : ऑस्ट्रेलिया के आक्रामक सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर और वेस्टइंडीज की ऑलराउंडर हेले मैथ्यूज नवंबर महीने में आईसीसी के बेस्ट पुरुष और महिला क्रिकेटर चुने गए हैं।


वॉर्नर ने अपने शानदार प्रदर्शन से पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज आबिद अली और न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज टिम साउदी को पीछे किया है।


वॉर्नर ने टी20 वल्र्ड कप 2021 में 48.16 की औसत से 289 रन बनाए थे। उनकी पारी के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को हराकर पहली बार टी20 वल्र्ड कप जीता था।


वॉर्नर ने टी20 वल्र्ड कप में शानदार प्रदर्शन कर ऑस्ट्रेलिया को वल्र्ड चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। वॉर्नर हाल ही में टी20 विश्व कप 2021 में प्लेयर आफ द टूर्नामेंट चुने गए थे। उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ फाइनल में 53 और पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल में 49 रन बनाए थे। वह वेस्टइंडीज के खिलाफ सुपर12 के मैच में भी प्लेयर आफ द मैच रहे थे।


महिला क्रिकेटरों की बात करें तो आईसीसी नवंबर महीने के लिए प्लेयर ऑफ द मंथ अवॉर्ड की रेस में बांग्लादेश की नाहिदा अख्तर, पाकिस्तान की अनम अमीन और वेस्टइंडीज की हेले मैथ्यूज को नॉमिनेट किया गया था। लेकिन मैथ्यूज यह पुरस्कार पानें में सफल रहीं।


मैथ्यूज ने नवंबर में चार वनडे मैचों में लगातार अच्छा प्रदर्शन करते हुए 141 रन बनाए और 13.11 की औसत से नौ विकेट हासिल किए थे। मैथ्यूज ने दूसरी बार नामांकन मिलने पर यह पुरस्कार जीता। वह जुलाई में भी पुरस्कार की दौड़ में थी, जब उनकी कप्तान स्टेफनी टेलर विजेता रही थीं।








...

ओलंपिक में मुक्केबाजी को बनाये रखने के लिये एआईबीए बना आईबीए, संविधान में किये संशोधन

नयी दिल्ली : ओलंपिक में मुक्केबाजी के भविष्य को सुरक्षित रखने के लिये अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ ने अपनी विशेष आभासी कांग्रेस में स्वतंत्र समूह द्वारा सुझाये गये कई महत्वपूर्ण संवैधानिक संशोधनों को मंजूरी देने के साथ ही आलोचनाओं के घेरे में रहे अपने रेफरी और जजों को फिर से प्रमाणित करने की प्रक्रिया शुरू करने की घोषणा की।


मुक्केबाजी खेल पेरिस ओलंपिक 2024 में बना रहेगा लेकिन इसे लास एंजिल्स खेल 2028 के प्रारंभिक खेलों की सूची में नहीं रखा गया है। इस खेल का भविष्य सुशासन पर निर्भर है जैसा कि अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) चाहती है।


अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ को पहले एआईबीए कहा जाता था लेकिन अब इसे छोटे रूप में आईबीए कहा जाएगा।


आईबीए कांग्रेस के संवैधानिक सुधारों को मंजूरी देने से पहले आईबीए ने प्रोफेसर उलरिच हास के नेतृत्व वाले स्वतंत्र शासन सुधार समूह (जीआरजी) की एक रिपोर्ट में की गयी सिफारिशों को सर्वसम्मति से स्वीकार किया था।


आईबीए अध्यक्ष उमर क्रेमलेव ने सोमवार को वैश्विक मीडिया के साथ वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मुझे इस पद पर ठीक एक साल हो गया है। हमने एक स्थिर भविष्य के लिये तैयारियां की हैं। हम नयी ऊंचाइयों पर पहुंचने के लिए तैयार हैं।’’


उन्होंने कहा, ‘‘आओ मुक्केबाजी के नये युग की शुरुआत करें। हमने एक नया अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ बनाने के लिए अपने समृद्ध इतिहास से सर्वश्रेष्ठ अवयवों को लिया है। हम पुराने मूल्यों के साथ नये तरीके से काम करेंगे।’’


क्रेमलेव ने कहा, ‘‘कांग्रेस ने सभी सिफारिशों को मंजूरी प्रदान कर दी है। जब 30 जून 2022 को चुनाव होंगे तो हम नये चेहरे देखेंगे।’’


आईओसी ने 2019 में मुक्केबाजी संघ को निलंबित कर दिया था। उसने कार्यबल के जरिये तोक्यो ओलंपिक में मुक्केबाजी प्रतियोगिता का आयोजन किया था। उसने एआईबीए के शासन, वित्त, रेफरी और जज प्रणाली पर गंभीर चिंता व्यक्त की थी।


क्रेमलेव ने जज और रेफरी प्रणाली में सुधार की अपनी प्रतिबद्धता फिर से दोहरायी और कहा कि रियो ओलंपिक 2016 के दौरान जिन अधिकारियों को हेराफेरी करने का दोषी पाया गया उन पर पूर्ण प्रतिबंध लगेगा और यहां तक कि दर्शकों के रूप में भी उनका स्वागत नहीं किया जाएगा।


उन्होंने इसके साथ ही कहा कि आईबीए की वित्तीय स्थिरता आईओसी के लिये प्रमुख मुद्दा रहा है जिसे काफी हद तक सुलझा दिया गया है।

...

विराट ने पांच साल तक मोर्चे से अगुवाई की, उनकी कप्तानी के हर पल का मजा लिया : रोहित

मुंबई : भारत के सीमित ओवरों की टीम के नये कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि विराट कोहली ने पांच साल तक टीम की मोर्चे से अगुवाई की और उन्होंने इस स्टार बल्लेबाज की कप्तानी में खेले हर एक पल का पूरा मजा लिया।


रोहित ने ‘बीसीसीआई टीवी’ से बातचीत में कहा कि टीम ने कोहली की कप्तानी में खेलने का पूरा आनंद लिया। कोहली ने टी20 विश्व कप के बाद टी20 टीम की कप्तानी छोड़ दी और बाद में उनकी जगह रोहित को वनडे टीम का भी कप्तान बनाया गया।


रोहित ने दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले भारतीय टेस्ट टीम के अभ्यास सत्र से इतर कहा,‘‘उसने पांच साल तक मोर्चे से टीम की अगुवाई की। हम हर मैच जीतने के इरादे से ही उतरते थे और पूरी टीम को यही संदेश दिया गया था।’’


उन्होंने कहा, ‘‘उसकी कप्तानी में खेलने का हमने पूरा आनंद उठाया। मैने उसकी कप्तानी में काफी क्रिकेट खेली और हर पल का मजा लिया। आगे भी लेता रहूंगा।’’


भारतीय टीम सितारों से भरी होने के बावजूद 2013 के बाद से कोई आईसीसी खिताब नहीं जीत सकी है।


रोहित ने कहा कि उन्हें चुनौतियों का अहसास है और वह इस कमी को पूरा करने की कोशिश करेंगे।


उन्होंने कहा, ‘‘हमें कई चीजों पर काम करना होगा। हमने आखिरी आईसीसी ट्रॉफी 2013 में जीती थी लेकिन उसके बाद से भी हमारा प्रदर्शन खराब नहीं रहा है। हमने एक टीम के रूप में अच्छा प्रदर्शन किया और जो मामूली सी कमी रह गई, उसे पूरी करने की कोशिश करेंगे। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काफी चुनौतीपूर्ण है और ऐसा होता है।’’


उन्होंने कहा, ‘‘भारत में कई विश्व कप होने हैं और टीम अपने दर्शकों के सामने अच्छे प्रदर्शन की कोशिश में होगी। हमारा फोकस खिताब जीतने पर है लेकिन उसके लिये एक ईकाई के रूप में प्रक्रिया का पालन करना होगा।’’


रोहित ने कहा,‘‘आप कठिन चुनौतियों का सामना कैसे करते हैं, वह महत्वपूर्ण है। अतीत में भी हम इस तरह की चुनौतियों का सामना करते आये हैं और उनसे उबर नहीं सके।हमें एक टीम के रूप में लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होगा।’’


उनके लिये पहला काम यह सुनिश्चित करना होगा कि टीम में हर खिलाड़ी को उसकी भूमिका का पता हो।


उन्होंने कहा, ‘‘जब भी मुझे भारतीय टीम की कप्तानी का मौका मिला तो मैने खिलाड़ियों से स्पष्ट संवाद की कोशिश की है। कोच और कप्तान के लिये यह जरूरी भी है। मैं खिलाड़ियों को यह समझाने की कोशिश करूंगा कि टीम में उनका चयन किसलिये हुआ है और उनकी क्या भूमिका है।’’


उन्होंने कोच राहुल द्रविड़ के बारे में कहा, ‘‘राहुल भाई के साथ मजा आ रहा है।हमने देखा है कि वह कैसे कठिन क्रिकेट खेलते थे।इत्मीनान का भी माहौल है जो जरूरी भी है।’’






...

एशिया कप और कैंप के लिए समिति ने की भारतीय अंडर-19 टीम की घोषणा

मुंबई : बीसीसीआई की अखिल भारतीय जूनियर चयन समिति ने 23 दिसंबर से यूएई में खेले जाने वाले एसीसी अंडर-19 एशिया कप के लिए 20 लोगों की भारतीय अंडर-19 टीम का चयन किया है। वहीं, चयनकर्ताओं ने एसीसी आयोजन से पहले 11-19 दिसंबर तक बेंगलुरु में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में खेले जाने के लिए 25 सदस्यीय टीम की भी घोषणा की है।


अगले साल जनवरी और फरवरी में वेस्टइंडीज में खेले जाने वाले आईसीसी पुरुष अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप के लिए भारतीय टीम की घोषणा जल्द की जाएगी।


भारत अंडर-19 एशिया कप टीम: हरनूर सिंह पन्नू, अंगक्रिश रघुवंशी, अंश गोसाई, एसके रशीद, यश ढुल (कप्तान), अनेश्वर गौतम, सिद्धार्थ यादव, कौशल तांबे, निशांत सिंधु, दिनेश बाना (विकेटकीपर), आराध्या यादव (विकेटकीपर), राजंगद बावा, राजवर्धन हैंगरगेकर, गर्व सांगवान, रवि कुमार, रिशिथ रेड्डी, मानव पारख, अमृत राज उपाध्याय, विक्की ओस्तवाल, वासु वत्स (फिटनेस मंजूरी के अधीन)।


एनसीए में शामिल होने वाले स्टैंडबाय खिलाड़ी : आयुष सिंह ठाकुर, उदय सहारन, शाश्वत डंगवाल, धनुष गौड़ा, पीएम सिंह राठौर।




...

अपने कौशल को निखारने में लगी है युवा शटलर अदिति भट्ट

नई दिल्ली : पिछले कुछ महीनों में शानदार परिणाम देने वाली युवा बैडमिंटन खिलाड़ी अदिति भट्ट अपने स्ट्रोक्स और दमखम पर ध्यान देकर अपेक्षाओं के दबाव को दूर करना चाहती हैं।


उत्तराखंड की 18 वर्षीय अदिति ने उबेर कप फाइनल्स में थाईलैंड के खिलाफ मुकाबले में विश्व में 13वें नंबर की बुसानन ओंगबामरंगफान के सामने कड़ी चुनौती पेश की थी।


वह तीन गेम तक चले मैच में हार गयी थी लेकिन अपने प्रदर्शन से उन्होंने खासा प्रभावित किया था और उन्हें साइना नेहवाल और पीवी सिंधू की तरह देश की अगली बैडमिंटन स्टार कहा जाने लगा।


डेनमार्क में अपने चार में से दो मैच जीतने वाली अदिति ने पीटीआई से कहा, ‘‘जब लोग कहते हैं कि आप भविष्य हो और हम आपको ओलंपिक में देखना चाहते हैं तो कई बार यह डराने वाला हो सकता है। लोग आपसे बहुत उम्मीद करते हैं लेकिन यह ठीक है, किसी तरह का दबाव नहीं है।’’


उन्होंने कहा, ‘‘ऊंची रैंकिंग वाली खिलाड़ियों (स्पेन की अनिया सेटियन और स्कॉटलैंड की रेचेल सुगडेन) के खिलाफ दो मैच जीतने के बाद मैं अच्छा प्रदर्शन करने के प्रति आश्वस्त थी लेकिन मैंने नहीं सोचा था कि मैं एक गेम (बुसानन के खिलाफ) जीतने में सफल रहूंगी। मैं अच्छा खेल रही थी और वह दबाव में थी क्योंकि वह जूनियर से खेल रही थी। यह शानदार मैच था।’’


अदिति को इसका लाभ हंगरी अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में मिला जहां वह फाइनल्स में पहुंची। उन्हें चयन ट्रायल्स के जरिये सुदीरमन कप और उबेर कप के लिये भारतीय टीम में चुना गया था।


उन्होंने कहा, ‘‘जब मुझे सुदीरमन कप और उबेर कप के लिये चुना गया तो यह सपना सच होने जैसा था। टीम में सभी सीनियर खिलाड़ियों जैसे अश्विनी पोनप्पा ने मेरी काफी मदद की।’’


उनका पहला मैच ओलंपिक चैंपियन चेन यू फी के खिलाफ था और अदिति ने कहा कि इससे उन्हें इस बात का अंदाजा हो गया कि सीनियर स्तर पर सफल होने के लिए उन्हें क्या करने की जरूरत है।


उन्होंने कहा, ‘‘मैं चेन के खिलाफ खेलने को लेकर उत्साहित और नर्वस दोनों थी। उसका कोर्ट मूवमेंट और सटीकता शानदार थी। मुझे अपने फुटवर्क, दमखम, सटीकता और स्ट्रोक पर वास्तव में अच्छी तरह से काम करना होगा।’’





...

भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से करारी शिकस्त दी, श्रृंखला 1-0 से जीती

मुंबई :  भारत ने जयंत यादव की शानदार गेंदबाजी से दूसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच के चौथे दिन सोमवार को सुबह पहले घंटे में ही न्यूजीलैंड के बाकी बचे पांच विकेट निकालकर 372 रन की रिकार्ड जीत से दो मैचों की श्रृंखला 1-0 से अपने नाम की।


दिन का खेल शुरू होने के ठीक 43 मिनट बाद भारत ने 540 रन के मुश्किल लक्ष्य का पीछा कर रही न्यूजीलैंड की टीम को 56.3 ओवर में 167 रन पर आउट कर दिया। रविचंद्रन अश्विन (34 रन देकर चार विकेट) ने हेनरी निकोल्स को ऋद्धिमान साहा के हाथों कैच कराकर भारत में अपना 300वां टेस्ट विकेट लेकर न्यूजीलैंड की पारी का अंत किया।


भारत की यह घरेलू धरती पर रन के लिहाज से सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले का रिकार्ड 337 रन का था जो उसने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2015 में दिल्ली में बनाया था।


कानपुर में अपने जज्बे का शानदार प्रदर्शन करके पहला टेस्ट मैच ड्रा कराने वाली न्यूजीलैंड की टीम यहां संघर्ष नहीं कर पायी तथा अतिरिक्त उछाल और टर्न के सामने उसके बल्लेबाजों ने आसानी से घुटने टेके। न्यूजीलैंड हालांकि इस मैच को ऐजाज पटेल के पारी में 10 विकेट के ऐतिहासिक कारनामे के लिये याद रखेगा।


भारतीय कोच राहुल द्रविड़ ने मैच के बाद कहा, ‘‘विजेता के रूप में श्रृंखला का अंत करना अच्छा है। कानपुर में भी जीत के करीब पहुंच गये थे लेकिन आखिरी विकेट नहीं ले पाये। यहां हमने कड़ी मेहनत की। परिणाम भले ही एकतरफा लग रहा हो लेकिन पूरी श्रृंखला में हमने कड़ी मेहनत की।’’


दिलचस्प तथ्य यह रहा कि पटेल ने न्यूजीलैंड की तरफ से दोनों पारियों में 73.5 ओवर गेंदबाजी की जबकि उनकी टीम दोनों पारियों में 84.4 ओवर तक ही बल्लेबाजी कर पायी।


न्यूजीलैंड ने सुबह पांच विकेट पर 140 रन से आगे खेलना शुरू किया और तीसरे दिन शाम के सत्र में अच्छी लय में दिख रहे जयंत ने जल्द ही उसके विकेट निकालने शुरू कर दिये। इससे पहले अपना आखिरी टेस्ट मैच 2017 में खेलने वाले जयंत ने 49 रन देकर चार विकेट लिये। उन्होंने अपने सभी चारों विकेट चौथे दिन सुबह के सत्र में लिये।


जयंत ने कहा, ‘‘सुबह विकेट में नमी थी जिससे मदद मिली। आप शाम के सत्र और आज सुबह में अंतर देख सकते हो। पिच से अधिक मदद मिल रही थी। ऐसे में गेंद सही क्षेत्र में पिच कराना महत्वपूर्ण था।’’


इस जीत से भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका दौरे पर बढ़े हुए आत्मविश्वास के साथ जाएगी जो तीन सप्ताह के अंदर शुरू होने वाला है।


जयंत ने सुबह रचिन रविंद्र को (18) को दूसरी स्लिप में चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच कराया और फिर फ्लाइट लेती गेंद पर काइल जैमीसन को पगबाधा आउट किया। टिम साउदी लंबा शॉट खेलने के प्रयास में बोल्ड हो गये जबकि विल सोमरविले ने जयंत को वापस आसान कैच दिया।






...

विश्व एथलेटिक्स के पूर्व विवादित प्रमुख लामिने डियाक का निधन

पेरिस : रूस के खिलाड़ियों (एथलीटों) के डोपिग मामले को दबाने के लिए रिश्वत लेने के आरोपी विश्व एथलेटिक्स के पूर्व प्रमुख लियाम डियाक का निधन हो गया।


उनके परिवार ने शुक्रवार को इसकी पुष्टि की। वह 88 साल के थे।


उनकी भतीजी ने एसोसिएटेड प्रेस से कहा, ‘‘ हां मैं पुष्टि कर सकती हूं कि मेरे चाचा लामिने डियाक का गुरुवार की रात को निधन हो गया। ’’


वह सेनेगल में कई राजनीतिक पदों पर रहने के बाद 1999 से 2015 तक विश्व एथलेटिक्स के प्रमुख रहे थे।


डोपिंग मामलों में शामिल रूस के एथलीटों द्वारा रिश्वत लेने और सेनेगल में राजनीतिक अभियानों रूस के हस्तक्षेप को दबाने के लिए डियाक को चार साल जेल की सजा सुनाई गई थी।


लगभग दो दशक तक ओलंपिक और एथलेटिक्स की दुनिया में शीर्ष पर रहने वाले डियाक को उनके कार्यकाल के दौरान भ्रष्टाचार के कई आरोपों में दोषी ठहराया गया और सितंबर 2020 में पेरिस में चार साल की सजा सुनायी गई। इसमें कुछ मामले रूस के डोपिंग घोटाले से संबंधित थे।




...

अंजू बॉबी जॉर्ज को विश्व एथलेटिक्स का वर्ष की सर्वश्रेष्ठ महिला का पुरस्कार

मोनाको : भारत की महान एथलीट अंजू बॉबी जॉर्ज को विश्व एथलेटिक्स ने देश में प्रतिभाओं को तराशने और लैंगिक समानता की पैरवी के लिये वर्ष की सर्वश्रेष्ठ महिला का पुरस्कार दिया है।


विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीतने वाली एकमात्र भारतीय अंजू ( पेरिस 2003 ) को बुधवार की रात आनलाइन सालाना पुरस्कारों के दौरान इस सम्मान के लिये चुना गया। वह यह पुरस्कार पाने वाली पहली भारतीय हैं।


यह पुरस्कार ऐसी महिला को दिया जाता है जिसने अपना जीवन एथलेटिक्स को समर्पित कर दिया हो। अंजू यह पुरस्कार पाने वाली दूसरी हस्ती हैं। उनसे पहले 2019 में शुरू हुआ यह पुरस्कार इथियोपिया की दोहरी ओलंपिक चैम्पियन डेरारतू तुलू को मिल चुका है।


महान फर्राटा धाविका पी टी उषा को 2019 में खेलों के विकास के लिये उनके योगदान के कारण ‘वेटरन पिन’ से सम्मानित किया गया था।


विश्व एथलेटिक्स ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘‘पूर्व अंतरराष्ट्रीय लंबी कूद खिलाड़ी भारत की अंजू बॉबी जॉर्ज अभी भी खेल से जुड़ी है। उसने 2016 में युवा लड़कियों के लिये प्रशिक्षण अकादमी खोली जिससे विश्व अंडर 20 पदक विजेता निकली है।’’


इसमें कहा गया, ‘‘भारतीय एथलेटिक्स महासंघ की सीनियर उपाध्यक्ष होने के नाते वह लगातार लैंगिक समानता की वकालत करती आई हैं। वह खेल में भविष्य में नेतृत्व के लिये भी स्कूली लड़कियों का मार्गदर्शन कर रही हैं।’’


अंजू ने कहा कि वह यह सम्मान पाकर गौरवान्वित और अभिभूत हैं।


उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘सुबह उठकर खेल के लिये कुछ करने से बेहतर अहसास कुछ नहीं है।मेरे प्रयासों को सराहने के लिये धन्यवाद।’


विश्व एथलेटिक्स ने कहा कि भारत में खेलों को बढावा देने के लिये उनके प्रयासों और अधिक महिलाओं को उनका अनुसरण करने के लिये प्रेरित करने की वजह से वह खिताब की प्रबल दावेदार रहीं।


अंजू ने विश्व एथलेटिक्स द्वारा ट्विटर पर डाले गए वीडियो में कहा, ‘‘मुझे यह जानकर बहुत खुशी हुई कि इस साल सर्वश्रेष्ठ महिला का पुरस्कार मुझे मिला है। एक खिलाड़ी के तौर पर सफर कठिन रहा लेकिन मेरा मानना है कि मैं वहां तक पहुंच सकी, जिसकी हकदार थी। अब खेल को कुछ देने की मेरी बारी है।’’


उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय एथलेटिक्स महासंघ की उपाध्यक्ष होने के नाते और अपनी अकादमी अंजू बॉबी जॉर्ज फाउंडेशन से मैं 13 महिला खिलाड़ियों को प्रशिक्षण दे रही हूं जो तीन साल के भीतर विश्व स्तर पर अपना सफर शुरू करने के लिये तैयार हैं।’’


उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपने समर्थकों, साथी खिलाड़ियों, कोचों, परिवार, महासंघ और मेरे सफर में साथ खड़े रहे हर व्यक्ति को धन्यवाद देना चाहती हूं।’’


केरल की रहने वाली अंजू ने आईएएएएफ विश्व चैम्पियनशिप पेरिस में 2003 में कांस्य पदक जीता और 2005 में मोनाको में आईएएएफ विश्व एथलेटिक्स फाइनल्स में स्वर्ण पदक विजेता रही।


वह 2004 एथेंस ओलंपिक में छठे स्थान पर रही थी लेकिन अमेरिका की मरियोन जोंस को डोपिंग मामले के कारण अयोग्य करार दिये जाने के बाद वह पांचवें स्थान पर आ गई।


पिछले साल अंजू को भारतीय एथलेटिक्स महासंघ की सीनियर उपाध्यक्ष चुना गया और इतने ऊंचे पद पर पहुंचने वाली वह पहली महिला है। उन्हें हाल ही में भारतीय ओलंपिक संघ की कार्यकारी समिति में एथलीट आयोग की प्रतिनिधि के तौर पर शामिल किया गया।


अंजू द्वारा तलाशी गई और उनके पति बॉबी जॉर्ज के मार्गदर्शन में अभ्यास करने वाली शैली सिंह ने हाल ही में लंबी कूद में विश्व अंडर 20 चैम्पियनशिप में रजत पदक जीता।


ओलंपिक चैम्पियन जमैका की एलेन थाम्पसन हेराह और नॉर्वे की कर्सटेन वारहोम को वर्ष का सर्वश्रेष्ठ एथलीट चुना गया। इससे पहले इन पुरस्कारों को विश्व एथलेटिक्स गाला पुरस्कार कहा जाता था। 




...

दूसरे टेस्ट से पहले मौसम और टीम संयोजन भारतीय टीम की परेशानी

मुंबई : छोटे ब्रेक के बाद वापसी कर रहे कप्तान विराट कोहली के सामने न्यूजीलैंड के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हो रहे दूसरे और आखिरी क्रिकेट टेस्ट में टीम संयोजन की बड़ी समस्या होगी और इसके साथ ही मुंबई में लगातार हो रही बारिश भी चिंता का सबब है।


पहले टेस्ट में न्यूजीलैंड की आखिरी जोड़ी की संयमित पारियों के कारण भारत तय लग रही जीत से वंचित रह गया था। अब नियमित कप्तान की वापसी के बाद टीम संयोजन में बदलाव तय हैं।


वानखेड़े स्टेडियम पर संभव है कि मेजबान टीम को चार ही दिन मिले क्योंकि पहले दिन भारी बारिश का अनुमान है। बारिश के कारण पिच में नमी होने से न्यूजीलैंड टीम नील वेगनेर के रूप में अतिरिक्त तेज गेंदबाज को उतार सकती है।


आम तौर पर भारतीय टीमों में बहुत ज्यादा बदलाव के पक्ष में टीम प्रबंधन नहीं रहता है लेकिन कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान कोहली के सामने समस्या यह है कि दो खिलाड़ी रन नहीं बना पा रहे हैं। कानपुर में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करके 105 और 65 रन बनाने के बावजूद श्रेयस अय्यर की अंतिम एकादश में जगह पक्की नहीं है।


करूण नायर के साथ भी यह तिहरा शतक जमाने के बाद हुआ था लेकिन यह तर्क दिया जा सकता है कि वह एक थकी हुई टीम के सामने औपचारिकता का पांचवां टेस्ट था और भारत पर कोई दबाव नहीं था।


अजिंक्य रहाणे लगातार 12 पारियों में नाकाम रहे हैं लेकिन पिछले मैच में कप्तानी करने वाले खिलाड़ी को खराब फॉर्म के कारण अगले मैच से बाहर नहीं किया जा सकता और वह भी उसके घरेलू मैदान पर।


उन्हें एक और मौका दिये जाने के मायने हैं कि टीम प्रबंधन की कड़ा कदम नहीं उठाने को लेकर आलोचना होगी। दूसरा मसला चेतेश्वर पुजारा का है जो अक्सर यह भूल जाते हैं कि टेस्ट क्रिकेट सिर्फ विकेट बचाकर खेलना नहीं है। इंग्लैंड में उनकी इस मानसिकता में तनिक बदलाव दिखा लेकिन कानपुर में वह फिर उसी चिर परिचित हो चले अंदाज में नजर आये।


वैसे टीम जब दक्षिण अफ्रीका जायेगी तो कोहली को पता है कि एक वही बल्लेबाज हैं जो कैगिसो रबाडा और एंनरिच नोर्किया की नयी कूकाबूरा गेंदें झेल सकते हैं।


पुजारा और रहाणे के समर्थक चैन की सांस ले सकते हैं कि कम से कम इस मैच में तो उन्हें बाहर किये जाने की संभावना कम है। कोहली के आलोचक यह तर्क भी दे सकते हैं कि खुद कप्तान ने किसी भी प्रारूप में दो साल से शतक नहीं बनाया है।


लगातार खराब फॉर्म से जूझ रहे मयंक अग्रवाल को बाहर किया जा सकता है। शुभमन गिल ने अपनी खराब रक्षण तकनीक के बावजूद पहले मैच में अर्धशतक जमाया था। उन्हें भविष्य की ओर देखते हुए टीम में बनाये रखा जा सकता है।


अग्रवाल की जगह कोहली लेंगे लेकिन सवाल यह है कि गिल के साथ पारी का आगाज कौन करेगा। चेतेश्वर पुजारा या विकेटकीपर बल्लेबाज के एस भरत को यह जिम्मेदारी दी जा सकती है।


मौजूदा फॉर्म को देखते हुए पुजारा खराब विकल्प होंगे। भरत ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में काफी रन बनाये हैं और 308 उनका सर्वोच्च स्कोर रहा है। वह रिधिमान साहा की जगह हैं जिनके गर्दन में जकड़न है।


केन विलियमसन की अगुवाई वाली न्यूजीलैंड को कानपुर में वेगनेर की कमी खली जो दूसरी पारी में भारतीय बल्लेबाजों को परेशान कर सकते थे। बारिश और धूप के अभाव के कारण तेज गेंदबाजों और स्पिनरों दोनों को उतारा जा सकता है।ऐसे में विल समरविले को बाहर किया जा सकता है।


दूसरी ओर ईशांत शर्मा के खराब फॉर्म को देखते हुए भारतीय टीम में मोहम्मद सिराज को मौका दिया जा सकता है। पिच अनुकूल होने के कारण तीन स्पिनरों की जगह बरकरार रहने की संभावना लग रही है।


टीमें :


भारत : विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, श्रेयस अय्यर, सूर्यकुमार यादव, रिधिमान साहा (विकेटकीपर), रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल, उमेश यादव, इशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज, जयंत यादव, श्रीकर भरत, प्रसिद्ध कृष्णा में से।


न्यूजीलैंड: केन विलियमसन (कप्तान), टॉम लैथम, रोस टेलर, हेनरी निकोल्स, टॉम ब्लंडेल (विकेटकीपर), विल यंग, ग्लेन फिलिप्स, डेरिल मिशेल, टिम साउदी, नील वैगनर, काइल जैमीसन, विलियम सोमरविले, अयाज पटेल, मिशेल सेंटनर, रचिन रवींद्र में से।


मैच भारतीय समयानुसार सुबह नौ बजकर 30 मिनट पर शुरू होगा।







...

आरसीबी द्वारा रिटेन किए जाने के बाद कोहली बोले, मेरा दिल और आत्मा टीम के साथ

नई दिल्ली : इंडियन प्रीमियर लीग फ्रेंचाइजी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) द्वारा रिटेन किए जाने के बाद, भारतीय टेस्ट और वनडे कप्तान विराट कोहली ने कहा कि मेरा दिल और आत्मा टीम के साथ है।


आरसीबी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर कोहली ने एक भावुक संदेश साझा करते हुए कहा कि आरसीबी के लिए उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन अभी बाकी है।


उन्होंने वीडियो में कहा, मेरा दिल और आत्मा आरसीबी के साथ है। टीम के साथ मेरी यात्रा जारी रहेगी। जब मुझसे संपर्क किया गया, तो मैंने कुछ और नहीं सोचा, क्योंकि टीम के साथ सालों से मेरी एक अद्भुत यात्रा रही है। फ्रेंचाइजी के साथ तीन और साल यह मेरे लिए बहुत मायने रखता है।


उन्होंने कहा, मेरा मानना है कि टीम के लिए मेरा सर्वश्रेष्ठ आना अभी बाकी है और मुझे इस बात का विशेष अहसास है कि अगले सीजन में क्या होने वाला है।


आरसीबी ने मेगा नीलामी से पहले अपने रिटेन किए गए खिलाड़ियों का खुलासा किया, जिसमें कोहली, ग्लेन मैक्सवेल और मोहम्मद सिराज शालिम हैं। शुरुआत से ही टीम के साथ रहे कोहली को 15 करोड़ रुपये में रिटेन किया गया। वहीं, मैक्सवेल को 11 करोड़ रुपये में टीम के साथ बने रहेंगे, जबकि सिराज को 7 करोड़ रुपये में बरकरार रखा है।







...

हमें एक टीम के रूप में और आत्मविश्वास से खेलना होगा : भारतीय महिला फुटबॉल कोच

नई दिल्ली : भारतीय महिला फुटबॉल टीम के मुख्य कोच थॉमस डेननरबी का कहना है कि ब्राजील के मनौस में वेनेजुएला के खिलाफ अपने अगले मैच में हमें और अधिक आत्मविश्वास से खेलने की जरूरत है।


वर्तमान में भारत मनौस में एक टूर्नामेंट में भाग ले रहा है, जहां वे पहले ही मेजबान ब्राजील (1-6) और चिली (0-3) से हार चुका है।


गुरुवार को वेनेजुएला के खिलाफ अपने तीसरे और अंतिम मैच को लेकर डेननरबी ने सुधार करने पर ध्यान दिया।


डेननरबी ने कहा, वेनेजुएला की खेलने की शैली चिली के समान है। वे मैदान पर एक अच्छा पासिंग गेम खेलते हैं।


उन्होंने आगे कहा, वे अपना समय लेकर गोल करने का मौका बनाते हैं, इसलिए हमें एक टीम के रूप में और अधिक आत्मविश्वास लाने की जरूरत है। अच्छी बात यह है कि हम चिली के खिलाफ एक टीम के रूप में खेले।


मुख्य कोच ने कहा, हां, मैच में हमने छोटी-छोटी गलतियां की और इसका खामियाजा हमें भुगतना पड़ा, लेकिन उन्होंने दो अच्छे गोल दागकर हमसे अच्छा प्रदर्शन किया।




...

गावस्कर की सलाह पर केवल वर्तमान पर ध्यान दे रहे हैं अय्यर

कानपुर : श्रेयस अय्यर न तो अतीत में झांकना चाहते हैं और ना ही भविष्य के बारे में सोचना चाहते हैं। वह केवल वर्तमान पलों में जीना चाहते हैं जैसा कि उन्हें भारतीय टेस्ट ‘कैप’ प्रदान करते समय दिग्गज सुनील गावस्कर ने सलाह दी थी।


अपने पदार्पण टेस्ट मैच में शतक जड़ने वाले 16वें भारतीय क्रिकेटर बने अय्यर जानते हैं कि अगले मैच में कप्तान विराट कोहली की टीम में वापसी होने पर मध्यक्रम में कुछ बदलाव होंगे।


कुछ साल पहले करुण नायर को ऐसी स्थिति से गुजरना पड़ा था जबकि उन्हें तिहरा शतक जड़ने के बाद अगले मैच में बाहर बैठना पड़ा था।


अय्यर ने शुक्रवार को 105 रन की पारी खेलने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘सुनील गावस्कर सर ने मुझे कैप सौंपते समय महत्वपूर्ण बात की थी। उन्होंने कहा था आपको अतीत के बारे में सोचने की ज़रूरत नहीं है और आपको भविष्य के बारे में भी नहीं सोचना है। आपको केवल वर्तमान के बारे में सोचना है और अगली गेंद पर ध्यान केंद्रित करना है। मैंने यही किया।’’


उन्होंने कहा, ‘‘मैंने आज के बारे में सोचने पर ध्यान दिया और यह नहीं सोचा कि अगले मैच में क्या होगा क्योंकि अगर मैं उस बारे में सोचता तो वर्तमान में नहीं जी पाता और अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाता। जो कुछ भी होता है अच्छे के लिये होता है और मैं उसे स्वीकार करूंगा।’’


गावस्कर से टेस्ट कैप हासिल करना अय्यर के लिये परीकथा जैसा था और शतक जड़ना उसे अगले स्तर तक पहुंचाना। वह अभी इस अहसास का लुत्फ उठाना चाहते हैं।


उन्होंने कहा, ‘‘सुनील सर से कैप हासिल करना परीकथा जैसा था। मैं यह सोच रहा था कि राहुल सर मुझे कैप सौंपेंगे। दोनों ही इस खेल के दिग्गज हैं और दोनों में से कोई भी कैप प्रदान करता मुझे खुशी होती।’’


अय्यर ने कहा, ‘‘यह बहुत अच्छा अहसास था और जिस तरह से चीजें आगे बढ़ी उससे मैं खुश था लेकिन मैं जिस तरह से आउट हुआ उससे मैं संतुष्ट नहीं हूं।’’


गावस्कर ने भले ही उनसे कहा था कि वह न तो आगे के बारे में सोचें न अतीत पर ध्यान दें लेकिन अय्यर टेस्ट पदार्पण पर शतक बनाने को लेकर इतना सोचने लगे कि उन्हें रात भर नींद नहीं आयी।


अय्यर ने कहा, ‘‘जिस तरह से पहले दिन से सब कुछ अच्छा रहा उससे मैं वास्तव में खुश था। कल रात मैं अच्छी नींद नहीं ले पाया। विशेषकर जब आप रात भर बल्लेबाजी के बारे में सोच रहे हों। मुझे लगा कि मैंने कल वास्तव में अच्छी बल्लेबाजी की थी, लेकिन आज भी फिर से ध्यान केंद्रित करना था।’’


टीम के संदर्भ में अय्यर ने स्वीकार किया कि भारत के लिये दिन मुश्किल भरा रहा। भारत ने पहली पारी में 345 रन बनाये जिसके जवाब में न्यूजीलैंड ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक बिना किसी नुकसान के 129 रन बना लिये हैं।


उन्होंने कहा, ‘‘यह दिन हमारे लिये चुनौतीपूर्ण रहा क्योंकि उन्होंने अच्छी शुरुआत की। विकेट (पिच) से हमारे गेंदबाजों को वास्तव में मदद नहीं मिली। हमारा ध्यान सही क्षेत्र में गेंदबाजी करके कम से कम रन देने और दबाव बनाने पर था। ’’






...

द्रविड़ ने लौटायी पुरानी परंपरा, गावस्कर ने सौंपी श्रेयस को पदार्पण पर भारतीय कैप

कानपुर : पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने गुरुवार को श्रेयस अय्यर को भारत की ‘टेस्ट कैप’ प्रदान की। इस तरह से मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने भारतीय क्रिकेट के दिग्गजों से नये खिलाड़ियों को यह प्रतिष्ठित कैप (टोपी) दिलाने की पुरानी परंपरा फिर से जीवंत कर दी।


अय्यर भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले 303वें खिलाड़ी बने। न्यूजीलैंड के खिलाफ टॉस से पहले अपने जमाने के दिग्गज बल्लेबाज गावस्कर ने उन्हें कैप प्रदान की। द्रविड़ ने गावस्कर को इस विशेष कार्यक्रम के लिये आमंत्रित किया था।


इससे पहले टी20 श्रृंखला के दौरान द्रविड़ ने हर्षल पटेल को राष्ट्रीय टीम की कैप प्रदान करने के लिये सीमित ओवरों के सबसे सफल भारतीय गेंदबाजों में से एक अजित अगरकर को आमंत्रित किया था।


आस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों से राष्ट्रीय कैप हासिल करने की परंपरा रही है। भारत में भी पहले ऐसी परंपरा थी लेकिन पिछले कुछ समय से कप्तान या कोई सीनियर खिलाड़ी या सहयोगी स्टॉफ का सदस्य ही पदार्पण करने वाले खिलाड़ी को कैप सौंपता था।







...

फरीदाबाद की बेटी ने प्रो नेशनल किक बॉक्सिंग लीग में जीता कांस्य पदक

फरीदाबाद : कहते है जब कोई इंसान मेहनत करता है, सफलता की सीढ़ियों पर चढ़ने की राह और आसान हो जाती है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है फरीदाबाद की बेटी जीवनजोत कौर ने, जिन्होंने हाल ही में पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में आयोजित हुई प्रो नेशनल किक बॉक्सिंग लीग में कांस्य पदक हासिल कर ना केवल फरीदाबाद का नाम रोशन किया, बल्कि हरियाणा की बेटियां खेलों में आज भी सबसे आगे हैं यह साबित किया।


20-24 नवंबर तक किक बॉक्सिंग इंडिया लीग द्वारा दार्जिलिंग स्थित ओपन स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में प्रो नेशनल किक बॉक्सिंग लीग प्रतियोगिता को वाको इंडिया फेडरेशन के संतोष अग्रवाल ने सफल आयोजन कराया। इसमें पूरे देश से आए अलग-अलग कैटेगरी के किक बॉक्सिंग खिलाड़ियों ने भाग लिया। इसमें गर्ल्स हरियाणा टीम से 5 खिलाड़ियों ने भाग लिया।


प्रतियोगिता में फरीदाबाद की जीवन ज्योत कौर ने अपने खेल में बेहतर प्रदर्शन करते हुए अलग-अलग राउंड जीतकर पहले छह में जगह बनाई और फाइनल राउंड उसी बेहतर प्रदर्शन को जारी रखते हुए कांस्य पदक हासिल कर हरियाणा की खेलों में श्रेष्ठता साबित करते हुए फरीदाबाद और हरियाणा का नाम का रोशन किया।


जीवन ज्योत कौर बताया कि इससे पहले वह टटॉमी प्रतियोगिता खेल चुकी हैं। ये उनका रिंग इवेंट में पहला पदक है। मेरे इस प्रदर्शन में मेरे कोच सचिन सर का बड़ा योगदान रहा, जिन्होंने मुझे इस काबिल बनाया और आगे भी अपने अच्छे प्रदर्शन को जारी रखने के लिए पूरी कोशिश करूंगी, ताकि अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक हासिल कर अपने राज्य और देश का नाम रोशन करने का सौभाग्य प्राप्त कर सकू।






...

डब्ल्यूबीबीएल प्लेयर ऑफ द ईयर जीतने के बाद हरमनप्रीत को महिला आईपीएल की उम्मीद

नई दिल्ली : भारतीय टी20 महिला टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर को उम्मीद है कि महिला बिग बैश लीग (डब्ल्यूबीबीएल) में उनके शानदार प्रदर्शन के बाद महिला इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की शुरुआत की जाएगी।


हरमनप्रीत ने कहा, मुझे लगता है कि हम इसे लंबे समय से देख रहे हैं और मुझे उम्मीद है कि महिला आईपीएल भी जल्द शुरू होगा और हम विदेशी खिलाड़ियों को भी वहां आमंत्रित करेंगे ताकि वे भी हमारे घरेलू खिलाड़ियों के साथ अपना अनुभव साझा कर सकें।


उन्होंने आगे कहा, प्रदर्शन करना हमारे हाथ में है और यही हम कर रहे हैं और बाकी चीजें पूरी तरह से बीसीसीआई पर निर्भर हैं। हम उस पर कुछ अतिरिक्त नहीं कर सकते हैं लेकिन हम केवल अनुरोध कर सकते हैं और ऐसा होना चाहिए।


हरमनप्रीत ने टूर्नामेंट में 66.50 के औसत और 135.25 के स्ट्राइक रेट से 399 रन बनाए, जिसमें तीन मैच जिताने वाले अर्धशतक भी शामिल हैं।


रेनेगेड्स की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने के अलावा, वह 7.46 की इकॉनमी रेट से 15 विकेट लेकर प्रमुख गेंदबाज भी थीं।




...

साइ सेंटर के सही समय पर सुझाव के कारण साइक्लिस्ट रोनाल्डो को दर्द में मिला आराम

नई दिल्ली : शीर्ष भारतीय साइक्लिस्ट एन रोनाल्डो सिंह स्लोवेनिया में अभ्यास के बाद पीठ में दर्द के कारण चल भी नहीं पा रहे थे लेकिन भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) के ‘एथलीट वेलनेस सेंटर’ के सही समय पर इलाज के बाद उन्हें दर्द में काफी आराम मिला।


रोनाल्डो सिंह को मंगलवार को पुर्तगाल के एंडिया की यात्रा से पहले नोवा मेस्टो में टीम की ट्रेनिंग के अंतिम दिन पीठ के निचले हिस्से में दर्द शुरू हो गया जो संभवत: कम पानी पीने की वजह से हुआ।


मंगलवार को आधी रात साइ को सूचित करने के कुछ ही मिनट के अंदर ‘एथलीट वेलनेस सेंटर’ ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिये उनके दर्द को कम करने के लिये मदद मुहैया करा दी।


शीर्ष फिजियोथेरेपिस्ट डा दानिश ने अपनी टीम के साथ कोच आर के शर्मा और रोनाल्डो को ‘टेन्स’ (ट्रांसक्यूटेन्स इलेक्ट्रिकल नर्व स्टिम्युलेशन) मशीन के इस्तेमाल का तरीका बताया।


उन्होंने कुछ व्यायाम (आइसोमेट्रिक) और कुछ दवाईयां भी बतायीं।


साइ विज्ञप्ति के अनुसार करीब 15 मिनट में रोनाल्डो का दर्द आधा हो गया और वह चलने लगे। 






...

जिले के 22 पहलवान राज्यस्तरीय कुश्ती प्रतियोगिता में लेंगे हिस्सा

गुरुग्राम : अंडर-15 जिलास्तरीय कुश्ती प्रतियोगिता मंगलवार को गांव दौलताबाद पवन पुत्र व्यायामशाला में हुई। प्रतियोगिता में लड़के, लड़कियों ने भाग लिया। हरियाणा कुश्ती एसोसिएशन के जिला महासचिव जयभगवान कटारिया ने बताया कि प्रतियोगिता में फ्री स्टाइल और ग्रीको रोमन स्पर्धा के मुकाबले शामिल थे। प्रतियोगिता में 200 से अधिक पहलवानों ने भाग लिया। सभी 22 विजेता पहलवान राज्यस्तर पर खेली जाने वाली प्रतियोगिता में भाग लेंगे।


लड़कों की फ्री स्टाइल स्पर्धा के 38 किग्रा भार वर्ग में में दक्ष, 41 में यश, 44 में अभिषेक, 48 में रोशन, 52 में चिराग, 57 में शिवा, 62 में हर्ष, 68 में अखिल, 75 में मोहित, 85 किग्रा भार वर्ग में गौरव विजेता रहे। वहीं ग्रीको रोमन स्पर्धा के 38 किग्रा भार वर्ग में आतिश, 57 में शाल्य, 62 में आकाश, 68 अभिषेक, 85 में प्रशांत विजेता रहे।


लड़कियों के वर्ग में 33 किग्रा भार वर्ग में प्रीति, 39 में साक्षी, 42 रितिका, 46 में ²ष्टि, 50 में इशा, 54 में दिव्या, 66 में श्रृष्टि विजेता रहीं।



...

रहाणे लय हासिल करने से सिर्फ एक पारी दूर : पुजारा

कानपुर : भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने मंगलवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट से पहले अजिंक्य रहाणे का समर्थन करते हुए कहा कि स्टैंड-इन कप्तान एक महान क्रिकेटर हैं और अपनी लय वापस पाने से सिर्फ एक पारी दूर हैं।


पुजारा ने अपने स्वयं के मानकों के अनुसार बल्ले से एक सामान्य वर्ष बिताया है, यहां वह 25 नवंबर को विश्व टेस्ट चैंपियन के खिलाफ पहले मैच में रहाणे के डिप्टी होंगे।


रहाणे का 11 टेस्ट में सिर्फ 19 से अधिक का औसत है और वह अपनी फॉर्म को फिर से हासिल करना चाहेंगे।


अपने साथी की खराब पफरेर्मेन्स के बारे में पूछे जाने पर, पुजारा ने एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, रहाणे एक महान खिलाड़ी हैं। ऐसे समय होते हैं जब कोई खिलाड़ी इन दौरों से गुजरता है। वह लय वापस पाने से सिर्फ एक पारी दूर है। उन्हें सीरीज में अच्छे रन मिलेंगे।


2019 से, 33 वर्षीय मुंबई के बल्लेबाज ने 40 टेस्ट खेले हैं और सात अर्धशतक और तीन शतक लगाए हैं।


रहाणे कानपुर में श्रृंखला के पहले टेस्ट में भारतीय टीम का नेतृत्व करेंगे, जिसमें विराट कोहली दूसरे टेस्ट के लिए लौटेंगे।


वह ड्रेसिंग रूम में नवनियुक्त मुख्य कोच राहुल द्रविड़ के साथ शामिल होंगे।







...

दिसंबर में बीडब्ल्यूएफ एथलीट आयोग का चुनाव लड़ेगी सिंधू

नई दिल्ली : भारत की दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पी वी सिंधू 17 दिसंबर से स्पेन में होने वाली विश्व चैम्पियनशिप के दौरान बीडब्ल्यूएफ एथलीट आयोग का चुनाव लड़ेगी। मौजूदा विश्व चैम्पियन सिंधू इस समय बाली में इंडोनेशिया ओपन सुपर 1000 टूर्नामेंट खेल रही है।वह छह पदों के लिये नामित नौ खिलाड़ियों में से एक हैं। खेल की शीर्ष ईकाई ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘‘एथलीट आयोग (2021 से 2025) का चुनाव 17 दिसंबर 2021 को टोटल एनर्जीज बीडब्ल्यूएफ विश्व चैम्पियनशिप के साथ स्पेन में होगा। मौजूदा खिलाड़ियों में से सिर्फ सिंधू दोबारा चुनाव के लिये खड़ी होंगी। उन्हें पहले 2017 में भी चुना गया था। वह इस चक्र के लिये छह महिला प्रतिनिधियों में से एक है।’’ सिंधू के साथ इंडोनेशिया की महिला युगल खिलाड़ी ग्रेसिया पोली भी होंगी जो तोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक विजेता रही हैं। सिंधू को मई में आईओसी के ‘बिलीव इन स्पोटर्स ’ अभियान के लिये भी एथलीट आयोग में चुना गया था। 





...

कप्तान के लिये अश्विन हमेशा आक्रामक विकल्प होता है : रोहित

कोलकाता :  भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में बीच के ओवरों में जब टीम को विकेटों की जरूरत होती है तो ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन हमेशा आक्रामक विकल्प होते हैं।


टी20 में नव नियुक्त कप्तान रोहित ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 3-0 से जीत में टीम की गेंदबाजी को सबसे बड़ा सकारात्मक पहलू करार दिया।


इस महीने के शुरू में टी20 विश्व कप में चार साल बाद सीमित ओवरों की टीम में वापसी करने वाले 35 वर्षीय अश्विन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की श्रृंखला में प्रभावशाली प्रदर्शन किया था तथा बीच के ओवरों में रन पर अंकुश लगाने के साथ विकेट भी हासिल किये।


रोहित ने तीसरे टी20 में 73 रन से जीत के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘वह किसी भी कप्तान के लिये हमेशा आक्रामक विकल्प होते हैं। जब आपके पास उन जैसा गेंदबाज टीम में होता है तो इससे आपको बीच के ओवरों में विकेट हासिल करने का मौका मिलता है और हम जानते हैं कि यह चरण कितना महत्वपूर्ण होता है।’’


उन्होंने कहा, ‘‘दुबई में खेलने के बाद से ही उन्होंने शानदार वापसी की है। वह बेहतरीन गेंदबाज हैं और हम सभी यह अच्छी तरह से जानते हैं।’’


रोहित ने कहा, ‘‘पिछले कई वर्षों से उन्होंने टेस्ट मैचों में खुद को साबित किया है और यहां तक कि सीमित ओवरों की क्रिकेट में उनका रिकार्ड बुरा नहीं है। उन्होंने दुबई और यहां दो मैचों में जिस तरह से गेंदबाजी की उससे उनकी योग्यता का पता चलता है।’’


अश्विन ने जयपुर में चार ओवर में 23 रन देकर दो और रांची में 19 रन देकर एक विकेट लिया था। अक्षर पटेल के साथ मिलकर उन्होंने बीच के ओवरों में रन प्रवाह रोका था।


रोहित ने कहा, ‘‘आप जानते हैं कि बीच के ओवरों में आपको रन गति पर अंकुश लगाने और विकेट हासिल करने की जरूरत पड़ती है और अश्विन ने अक्षर के साथ मिलकर हमारे लिये ऐसा किया। ये दोनों बीच के ओवरों में विकेट हासिल करने के विकल्प हैं। इसलिए एक कप्तान के लिये उन जैसे गेंदबाजों की मौजूदगी अच्छे विकल्प मुहैया कराती है।’’


रोहित से पूछा गया कि राहुल द्रविड़ और उन्होंने टी20 विश्व कप के लचर प्रदर्शन के बाद टीम को कैसे जीत की राह पर लौटाया, उन्होंने कहा, ‘‘हम टीम के अंदर स्वस्थ माहौल तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं। खिलाड़ियों को सुरक्षा प्रदान करने की कोशिश कर रहे हैं ताकि वे स्वच्छंद होकर खेल सकें। ’’


उन्होंने कहा, ‘‘हमारी जो पहली बैठक हुई थी तो हमने प्रत्येक खिलाड़ी को यह स्पष्ट रूप से बता दिया था कि अगर आप टीम के लिये कुछ करने की कोशिश कर रहे हैं तो उसे कभी नजरअंदाज नहीं किया जाएगा।’’


रोहित ने कहा, ‘‘यह कप्तान और कोच का काम है कि वे खिलाड़ियों को बतायें कि वे क्या समझते हैं और आप टीम के लिये क्या करने की कोशिश कर रहे हैं। ’’


उन्होंने कहा, ‘‘भारत में प्रतिभा की कमी नहीं है। आपके पास कई विकल्प होते हैं और इसलिए काम आसान नहीं होता। आप हर किसी को टीम में फिट करने की कोशिश करते हैं लेकिन केवल 11 ही खेल सकते हैं इसलिए यह आसान नहीं है।’’


भारत ने तीसरे टी20 मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट पर 184 रन बनाये और फिर न्यूजीलैंड को 111 रन पर आउट कर दिया।


रोहित ने कहा, ‘‘गेंदबाजी इस श्रृंखला में हमारे लिये सबसे सकारात्मक पक्ष रहा। हमने पहले दो मैचों में न्यूजीलैंड की विस्फोटक शुरुआत के बाद वास्तव में अच्छी वापसी की। न्यूजीलैंड की मजबूत टीम को 160 रन के करीब रोकना वास्तव में सराहनीय है।’’



...

महिला सहकर्मी को अश्लील मैसेज भेजने वाले टिम पेन ने आस्ट्रेलिया की टेस्ट कप्तानी छोड़ी

होबार्ट :  एक महिला सहकर्मी को अपनी अश्लील तस्वीर और भद्दे मैसेज भेजने के मामले की क्रिकेट आस्ट्रेलिया द्वारा जांच के बीच आस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान टिम पेन ने शुक्रवार को कप्तानी छोड़ दी।


यह मामला 2017 का है जिसके कुछ महीने बाद ही पेन को सात साल बाद टेस्ट टीम में वापसी का मौका मिला था। उस समय क्रिकेट आस्ट्रेलिया और क्रिकेट तस्मानिया की जांच में पेन को क्लीन चिट मिली थी।


आस्ट्रेलिया को कुछ दिन बाद ही चिर प्रतिद्वंद्वी इंग्लैंड से एशेज श्रृंखला खेलनी है। पहला टेस्ट आठ दिसंबर से ब्रिसबेन में खेला जायेगा।


पेन ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा ,‘‘ मैं आज आस्ट्रेलियाई पुरूष क्रिकेट टीम की कप्तानी छोड़ रहा हूं। यह बहुत कठिन फैसला है लेकिन मेरे , मेरे परिवार और क्रिकेट के लिये सही है।’’


उन्होंने कहा ,‘‘ करीब चार साल पहले मैने उस समय सहकर्मी रही एक महिला को टैक्स्ट मैसेज भेजे थे।’’


उन्होंने कहा ,‘‘ मैने उस घटना के लिये माफी मांगी थी और आज भी मांगता हूं। मैने अपनी पत्नी और परिवार से भी बात की थी और उनकी माफी तथा सहयोग के लिये शुक्रगुजार हूं।’’


पेन आस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा बने रहेंगे।


रिपोर्ट के अनुसार क्रिकेट तस्मानिया की एक महिला कर्मचारी ने दावा किया है कि पेन ने उन्हें अपने जननांगो की तस्वीर के साथ अश्लील मैसेज भेजे। उस महिला ने 2017 में ही नौकरी छोड़ दी थी।


पेन को 2018 में दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़खानी मामले के बाद आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम का कप्तान बनाया गया था। बोर्ड ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है और अगले टेस्ट कप्तान की तलाश जारी है।


पेन ने कहा ,‘‘ हमने सोचा कि यह मामला अब खत्म हो गया है और मैं पूरा फोकस टीम पर रख सकता हूं। लेकिन मुझे हाल ही में पता चला कि निजी मैसेज सार्वजनिक हो गए हैं। 2017 में मेरी वह हरकत आस्ट्रेलियाई क्रिकेट कप्तान बने रहने के लिये जरूरी मानदंडों के अनुकूल नहीं है।’’


उन्होंने कहा ,‘‘ अपनी पत्नी , परिवार और अन्य पक्षों को दर्द देने के लिये मैं क्षमाप्रार्थी हूं। इससे खेल की साख तो ठेस पहुंचाने के लिये भी मैं माफी मांगता हूं।’’


उन्होंने कहा ,‘‘ मेरे लिये यही सही है कि कप्तानी से तुरंत प्रभाव से इस्तीफा दे दूं। मैं नहीं चाहता कि एशेज श्रृंखला से पहले तैयारी में किसी तरह का व्यवधान पैदा हो। मैं आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम का समर्पित सदस्य बना रहूंगा।’’


क्रिकेट आस्ट्रेलिया के प्रमुख रिचर्ड फ्रेडेन्स्टेन ने कहा कि यह पेन का अपना फैसला है।


उन्होंने कहा ,‘‘ टिम को लगा कि उसके परिवार और आस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिये यही सही है।’’


क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने एक बयान में कहा ,‘‘ बोर्ड मानता है कि कुछ साल पहले इस मामले में पेन को क्लीन चिट मिल चुकी है लेकिन हम उसके फैसले का सम्मान करते हैं। इस तरह की भाषा या बर्ताव स्वीकार्य नहीं है। इस गलती के बावजूद पेन बेहतरीन कप्तान रहा है और उसकी सेवाओं के लिये हम उसे धन्यवाद देते हैं।’’



...

चीन की टेनिस स्टार के ईमेल से सुरक्षा को लेकर बढी चिंता

ताइपे : एक पूर्व शीर्ष सरकारी अधिकारी पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने के बाद से चीन की एक पेशेवर टेनिस खिलाड़ी लापता है और अपने सुरक्षित होने का दावा करने वाले उसके ईमेल से उसकी सुरक्षा को लेकर चिंता बढ गई है।


दुनिया भर में खिलाड़ियों और अन्य ने उसकी कुशलक्षेम और सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है।


अभी तक दुनिया भर से उठ रहे सवालों का जवाब नहीं मिला है।


चीनी अधिकारियों ने सार्वजनिक तौर पर कुछ नहीं कहा है। दो सप्ताह पहले ग्रैंडस्लैम युगल चैम्पियन फेंग शुआइ ने आरोप लगाया था कि एक पूर्व शीर्ष सरकारी अधिकारी ने उनका यौन शोषण किया है।


चीन के इस पहले ‘ मी टू’ मामले को घरेलू मीडिया में जगह नहीं मिली है और इस पर आनलाइन बहस भी सेंसर कर दी गई है।


महिला टेनिस संघ के सीईओ और अध्यक्ष स्टीव साइमन ने उन्हें भेजे गई ईमेल की वैधता पर सवाल उठाये हैं। इसमें फेंग ने कहा है कि वह सुरक्षित है और उत्पीड़न के आरोप गलत हैं। चीन के सरकारी प्रसारक सीसीटीवी की अंतरराष्ट्रीय ईकाई सीजीटीएन ने गुरूवार को यह ईमेल पोस्ट किया।


साइमन ने कहा है कि उन्हें यकीन नहीं है कि वह ईमेल शुआइ ने लिखा है और उन्होंने मामले की पूरी जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि उचित जवाब नहीं मिलने पर चीन से टूर्नामेंटों की मेजबानी छीनी जा सकती है।


नाओमी ओसाका और नोवाक जोकोविच ने भी इस मामले पर ट्वीट किया है।आनलाइन ‘वेयर इज फेंग शुआइ’ ट्रेंड कर रहा है। सेरेना विलियम्स ने ट्वीट किया है कि वह इस खबर से स्तब्ध और दुखी हैं। उन्होंने कहा ,‘‘हमें चुप नहीं रहना चाहिये। इस मामले की जांच होनी चाहिये।’’


अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ की प्रवक्ता हीथर बोलेर ने कहा कि वे चीनी टेनिस संघ के संपर्क में है और डब्ल्यूटीए तथा अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति से भी बात की जा रही है।



...

तरोताजा होने के लिये भारत के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला से हटा : बोल्ट

जयपुर : भारतीय टेस्ट बल्लेबाजों के लिये यह राहत की बात है उन्हें टेस्ट श्रृंखला में ट्रेंट बोल्ट का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योंकि यह तेज गेंदबाज 12 सप्ताह तक लगातार क्रिकेट खेलने के बाद तरोताजा होने के लिये टी20 श्रृंखला के बाद स्वदेश लौट जाएगा।


बोल्ट तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की श्रृंखला के लिये अभी भारत में हैं लेकिन वह कोलकाता में सीमित ओवरों के आखिरी मैच के बाद स्वदेश लौट जाएंगे ताकि बांग्लादेश के खिलाफ घरेलू टेस्ट श्रृंखला से पूर्व तरोताजा हो सकें।


बोल्ट ने ‘न्यूजीलैंड क्रिकेट’ द्वारा जारी वीडियो में कहा, ‘‘विश्व कप बहुत बड़ा मंच है लेकिन भारत के खिलाफ भारत में खेलना संभवत: दूसरे नंबर पर है। मुझे लगता है कि हमारे खिलाड़ी निश्चित तौर पर इसके लिये तैयार हैं और परिस्थितियों से सामंजस्य बिठा रहे हैं। विकेटों का अच्छी तरह से अनुमान लगाना यहां महत्वपूर्ण होने जा रहा है।’’


बोल्ट टी20 विश्व कप से पहले इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दूसरे चरण का हिस्सा भी थे। उन्होंने कहा कि वह न्यूजीलैंड में गर्मियों में होने वाली श्रृंखलाओं पर अपना ध्यान लगाये हुए हैं।


उन्होंने कहा, ‘‘हर कोई निश्चित तौर पर न्यूजीलैंड में गर्मियों के सत्र का इंतजार कर रहा है। मैं टेस्ट क्रिकेट में खेलने के लिये उत्सुक हूं। मैं पिछले 12 सप्ताह से बाहर हूं और न्यूजीलैंड में गर्मियों के सत्र से पहले तरोताजा होना चाहता हूं।’’


बोल्ट ने कहा कि टी20 विश्व कप के फाइनल में आस्ट्रेलिया से मिली हार को पचा पाना आसान नहीं है।


उन्होंने कहा, ‘‘इस हार को पचा पाना अब भी मुश्किल है लेकिन जिंदगी इसी तरह से चलती है। हम होटल पहुंचे, अपना सामान तैयार किया, विमान में बैठे, जयपुर पहुंचे और अब फिर होटल में हैं।’’





...

इंडोनेशिया मास्टर्स : सिंधू की निगाह खिताब पर, साइना और समीर हटे

बाली: दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पी वी सिंधू इंडोनेशिया मास्टर्स सुपर 750 बैडमिंटन टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती की अगुवाई करते हुए खिताब जीतने की कोशिश करेगी जबकि साइना नेहवाल और समीर वर्मा चोटिल होने के कारण इस प्रतियोगिता में भाग नहीं ले पाएंगे।


तोक्यो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता सिंधू पिछले लंबे समय से खिताब नहीं जीत पायी है। वह हाल में डेनमार्क में क्वार्टर फाइनल और फ्रांस में सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रही। उन्होंने अपना आखिरी खिताब 2019 विश्व चैंपियनशिप के रूप में जीता था। वह इस साल के शुरू में स्विस ओपन के फाइनल में पहुंची थी।


तीसरी वरीयता प्राप्त भारतीय की इंडोनिशया से अच्छी यादें जुड़ी हैं। वह दो साल पहले जकार्ता में फाइनल में पहुंची थी। वह अपने पहले मुकाबले में थाईलैंड की सुपानिदा कैटथोंग से भिड़ेगी।


सिंधू अगले दो दौर में स्पेन की क्लारा अजुरमेंदी और कनाडा की छठी वरीयता प्राप्त मिशेल ली से भिड़ सकती है। सेमीफाइनल में उन्हें जापान की शीर्ष वरीयता प्राप्त अकीने यामागुची का सामना करना पड़ सकता है।


लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना और समीर चोटिल होने के कारण इस टूर्नामेंट में भाग नहीं ले पाएंगे। साइना जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव से जबकि समीर पिंडली की मांसपेशियों में खिंचाव से परेशान हैं।


किदाम्बी श्रीलंका और लक्ष्य सेन पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी। लक्ष्य पुरुष एकल के अपने पहले मैच में जापान के कांता सुनेयामा से भिड़ेंगे, जबकि समीर के बाहर होने के बाद श्रीकांत का सामना क्वालीफायर से होगा।


ओलंपियन बी साई प्रणीत का सामना इंडोनेशिया के शेसर हिरेन रुस्तवितो से होगा जबकि एचएस प्रणय को अपने पहले मैच में छठी वरीयता प्राप्त इंडोनेशियाई जोनाथन क्रिस्टी का सामना करना है। पारुपल्ली कश्यप का सामना डेनमार्क के हैंस-क्रिस्टियन सोलबर्ग विटिंगस से होगा।


पुरुष युगल में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की छठी वरीयता प्राप्त जोड़ी मलेशिया के ओंग यू सिन और टियो ई यी से जबकि एमआर अर्जुन और ध्रुव कपिला की जोड़ी जापान के ताकुरो होकी और यूगो कोबायाशी से भिड़ेगी।


अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी की महिला युगल जोड़ी डेनमार्क की एलेक्जेंड्रा बोए और मेटे पॉल्सन से भिड़ेगी।


मिश्रित युगल में अश्विनी ने बी सुमित रेड्डी के साथ और सिक्की ने ध्रुव कपिला के साथ जोड़ी बनायी है।





...

बतौर बल्लेबाज और अधिक सफलता के लिये कोहली को सभी प्रारूपों में कप्तानी छोड़ देनी चाहिए: अफरीदी

कराची : पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी को लगता है कि भारतीय कप्तान विराट कोहली को बल्लेबाज के तौर पर और अधिक बेहतर प्रदर्शन करने के लिये खेल के सभी प्रारूपों में कप्तानी की भूमिका छोड़ देनी चाहिए।


‘समा टीवी चैनल’ पर बात करते हुए अफरीदी ने कहा कि बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) का रोहित शर्मा को भारतीय टी20 टीम का कप्तान नियुक्त करने का फैसला अच्छा है। कोहली ने भारत के टी20 विश्व कप में अभियान समाप्त होने पर टी20 कप्तानी छोड़ने का फैसला किया था, जिसके बाद बीसीसीआई ने यह फैसला किया।


अफरीदी ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि वह भारतीय क्रिकेट के लिये अद्भुत ताकत रहा है लेकिन मुझे लगता है कि यह अच्छा होगा, अगर वह अब सभी प्रारूपों में बतौर कप्तान संन्यास लेने का फैसला कर लें। ’’


उन्होंने कहा, ‘‘मैं एक साल के लिये रोहित के साथ खेला था और वह मजबूत मानसिकता वाला लाजवाब खिलाड़ी है। उसकी सबसे मजबूत चीज है कि जब जरूरी हो तो वह ‘रिलैक्स’ रह सकता है और जब बहुत जरूरी हो तो वह आक्रामकता भी दिखा सकता है। ’’


इस पाकिस्तानी स्टार ने कहा कि रोहित में अच्छे कप्तान के लिये मानसिक मजबूती है और उन्होंने अपनी आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस के लिये यह दिखा भी दिया है।


उन्होंने कहा, ‘‘वह शीर्ष स्तर का खिलाड़ी है, उनका शॉट चयन शानदार है और खिलाड़ियों के लिये अच्छे नेतृत्वकर्ता के लिये उनके पास मानसिकता भी है। ’’


अफरीदी आईपीएल के शुरू होने वाले वर्ष में डेक्कन चार्जर्स में रोहित के साथ खेले थे।


कोहली के टी20 कप्तानी छोड़ने के फैसले पर अफरीदी ने कहा कि वह इसकी उम्मीद कर रहे थे। अफरीदी को लगता है कि कोहली को कप्तानी छोड़कर सभी तीनों प्रारूपों में अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान लगाना चाहिए और इसका लुत्फ उठाना चाहिए।


अफरीदी ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि विराट को कप्तानी छोड़कर अपना बचे हुए क्रिकेट का लुत्फ उठाना चाहिए और मुझे लगता है कि उनका अभी काफी क्रिकेट बचा है। वह शीर्ष स्तर के बल्लेबाज हैं और वह दिमाग में किसी अन्य दबाव के बिना ‘फ्री’ होकर खेल सकते हैं। वह अपने क्रिकेट का आनंद लेंगे। ’’


तैंतीस वर्षीय कोहली ने हाल में आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की कप्तानी से भी हटने का फैसला किया था।


वहीं मुख्य कोच के तौर पर कार्यकाल खत्म कर चुके रवि शास्त्री ने हाल में एक साक्षात्कार में संकेत दिया था कि कोहली वनडे की कप्तानी भी छोड़ सकते हैं और सिर्फ टेस्ट टीम की अगुआई पर ही ध्यान लगायेंगे जो उनका पसंदीदा प्रारूप है।


कोहली ने 2019 के अंत से कोई टेस्ट शतक नहीं लगाया है। 






...

11 साल पहले हसी ने पाकिस्तान को चटाई थी धूल

दुबई : मार्कस स्टोइनिस-मैथ्यू वेड की बल्लेबाजी ने गुरुवार आईसीसी टी20 विश्व कप सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ माइकल हसी की यादें ताजा कर दीं, जिन्होंने साल 2010 के टी20 विश्व कप में कंगारूओं के लिए एक ही ओवर में तीन छक्के मारकर मैच पलट कर रख दिया था।


वेस्टइंडीज में 2010 में सेमीफाइनल के दौरान ग्रोस आइलेट में खेले गए मैच में माइकल हसी ने छह छक्कों की मदद से 24 गेंदों में नाबाद 60 रन बनाकर, पाकिस्तान द्वारा दिए गए 191 रनों के लक्ष्य को पूरा किया था। उनके प्रदर्शन की वजह से कंगारूओं की तीन विकेट से जीत हुई थी।


इस मैच में पाकिस्तान 18वें ओवर तक ऑस्ट्रेलिया को हराकर फाइनल जाता दिखाई दे रहा था। लेकिन, हसी ने एक असंभव पारी खेल पाकिस्तान के हाथों से जीत छीन ली थी।


उस समय हसी को सफेद गेंद का सबसे अच्छा फिनिशर माना जाता था। अगर कोई इस तरह के खेल को पलटने में सक्षम था तो वे हसी ही थे। सईद अजमल की गेंद पर उनके तीन छक्कों की बराबरी दुबई में मैथ्यू वेड से की गई, जिन्होंने शाहीन शाह अफरीदी की गेंद पर लगातार तीन छक्के मारकर 177 रन का पीछा किया।


गुरुवार को वेड की तुलना हसी से की गई। उन्होंने टी20 में इससे पहले 30 का आंकड़ा भी पार नहीं किया था और जब वह ओपनिंग करने आते थे। लेकिन उन्होंने 41 नाबाद रन बनाए।


वास्तव में उनके साथी मार्कस स्टोइनिस जो ज्यादा इस मैच को जीताने में सक्षम दिख रहे थे। उन्होंने 17वें ओवर में हारिस रऊफ को एक छक्का और एक चौका मारकर 13 रन बनाए दिए थे, जिससे कंगारूओं को मैच में मजबूती मिली थी।


इसके बाद, स्टोइनिस ने नाबाद 40 रन बनाए और वेड ने सिर्फ 17 गेंदों में 41 रनों की तूफानी पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई।


जीत के बाद वेड ने कहा, यह मैंने आत्मविश्वास के कारण कर पाया। मैं पूरे मैच में शांत था और मार्कस के साथ बल्लेबाजी करना शानदार रहा है, मैंने उसके साथ बहुत क्रिकेट खेला है। एक क्रिकेटर के रूप में मैंने उन्हें आगे बढ़ते देखा है जैसा कि वह आज है।


जहां 11 साल पहले हसी की शानदार पारी ने पाकिस्तान को सेमीफाइनल में जाने से रोक दिया था, इस बार यह ऑस्ट्रेलियाई फिनिशरों ने यह कारनामा कर दिखाया।


गौरतलब है कि 2010 में ऑस्ट्रेलिया फाइनल में इंग्लैंड से हार गई थी लेकिन इस बार ऑस्ट्रेलिया के पास पहली बार टी20 वर्ल्ड कप जीतने का पूरा मौका है। वह 14 नवंबर को न्यूजीलैंड के साथ खिताबी मुकाबले में भिड़ने के लिए तैयार हैं।




...

सरिता ने गीता फोगाट को हराकर जीता राष्ट्रीय खिताब

गोंडा :  सरिता मोर ने अपने दमखम और कौशल का अच्छा नमूना पेश करके शुक्रवार को यहां गीता फोगाट को हराकर राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप में महिलाओं के 59 किग्रा का खिताब जीता जबकि दिव्या काकरान और साक्षी मलिक जैसी स्थापित पहलवानों को हार का सामना करना पड़ा।


महिलाओं में 59 किग्रा सबसे मुश्किल भार वर्ग था क्योंकि विश्व चैंपियनशिप की तीन पदक विजेता खिताब की दौड़ में शामिल थी।


विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता सरिता मोर को केवल पूजा ढांडा (2018 विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता) से ही चुनौती मिली। उन्होंने दो मुकाबलों में अपनी प्रतिद्वंद्वियों को चित किया और एक मुकाबले को अंकों के आधार पर जीता।


गीता फोगाट ने तीन साल तक मातृत्व अवकाश पर रहने के बाद प्रतिस्पर्धी कुश्ती में वापसी की। विश्व चैंपियनशिप 2012 की कांस्य पदक विजेता 32 वर्षीय गीता ने फाइनल में प्रवेश भी किया जहां उन्हें 26 वर्षीय सरिता ने 8-0 से हराया।


गीता ने इससे पहले आखिरी बार 2017 में राष्ट्रीय चैंपियनशिप में हिस्सा लिया था और तब उन्होंने फाइनल में सरिता को हराया था।


सरिता ने बाद में कहा, ‘‘विश्व चैंपियनशिप के बाद मेरा मनोबल बढ़ा हुआ था। मैंने अपने आक्रमण पर काम किया और मुझे खुशी है कि मैंने जो अभ्यास किया उसका मुझे फायदा मिला।’’


गीता ने कहा कि फाइनल में 8-0 का स्कोर आहत करने वाला है लेकिन वह रजत पदक जीतकर खुश हैं।


उन्होंने कहा, ‘‘जीत और हार मायने नहीं रखती लेकिन जिस तरह की हार रही वह आहत करने वाली है। फाइनल में मैं अपनी रणनीति के अनुसार नहीं खेल पायी। मैंने सरिता को हावी होने का मौका दिया।’’


गीता की छोटी बहन संगीता ने 63 किग्रा का खिताब जीता। इस भार वर्ग में मनीषा ने साक्षी मलिक को 6-1 से हराकर बाहर किया। रियो ओलंपिक 2016 की कांस्य पदक विजेता साक्षी पिछले कुछ समय से संघर्ष कर रही है और उन्हें घरेलू प्रतियोगिताओं में हार का सामना करना पड़ रहा है।


संगीता को अपने पहले मुकाबले में पंजाब की लवलीन कौर से कड़ी चुनौती मिली लेकिन इसके बाद उन्होंने हर अगले मैच में अच्छा प्रदर्शन किया।


अंडर-23 विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता दिव्या काकरान को भी हार का सामना करना पड़ा। उन्हें पिंकी ने हराया जिन्होंने बाद में स्वर्ण पदक जीता। कुलविंदर को रजत पदक मिला।


शिवानी पंवार और सिमरन ने भी 50 किग्रा भार वर्ग में प्रभावित किया। शिवानी ने तोक्यो ओलंपिक में भाग लेने वाली सीमा बिस्ला को सेमीफाइनल में 7-2 से हराया और सिमरन को पराजित करके स्वर्ण पदक जीता।





...

काम के बोझ का प्रबंधन करने का सही समय: कोहली

दुबई : भारत की टी20 अंतरराष्ट्रीय टीम के कप्तान के रूप में अपने अंतिम मैच में नामीबिया को नौ विकेट से हराने के बाद विराट कोहली टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में जगह नहीं बना पाने के कारण निराश दिखे लेकिन उन्होंने कहा कि यह उनके लिए अपने काम के बोझ का प्रबंधन करने का सही समय है।


कोहली पिछले काफी समय से क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में भारतीय टीम की अगुआई कर रहे हैं और मौजूदा टी20 विश्व कप से पहले ही उन्होंने घोषणा कर दी थी कि इस प्रारूप में भारतीय कप्तान के रूप में यह उनका अंतिम टूर्नामेंट होगा।


नामीबिया के 133 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने रोहित की 37 गेंद में दो छक्कों और सात चौकों से 56 रन की पारी के अलावा लोकेश राहुल (36 गेंद में नाबाद 54, चार चौके, दो छक्के) के साथ उनकी पहले विकेट की 86 रन की साझेदारी की बदौलत 28 गेंद शेष रहते एक विकेट पर 136 रन बनाकर जीत दर्ज की। राहुल ने सूर्यकुमार यादव (19 गेंद में नाबाद 25 रन) के साथ भी दूसरे विकेट के लिए 50 रन की अटूट साझेदारी की।


जडेजा (16 रन पर तीन विकेट), अश्विन (20 रन पर तीन विकेट) और जसप्रीत बुमराह (19 रन पर दो विकेट ) की धारदार गेंदबाजी के सामने नामीबिया की टीम आठ विकेट पर 132 रन ही बना सकी।


नामीबिया के खिलाफ जीत के बाद कोहली से जब आखिरी मैच में कप्तानी को लेकर भावनाओं के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘सबसे पहले तो राहत महसूस कर रहा हूं। जैसा कि मैंने पहले कहा कि यह सम्मान की बात है लेकिन चीजों को सही नजरिए से देखना होगा। यह मेरे लिए काम के बोझ का प्रबंधन करने का सही समय है। पिछले छह से सात साल में हमने जब भी मैदान में कदम रखा तो कड़ा क्रिकेट खेला जिसका शरीर पर काफी असर पड़ता है।’’


उन्होंने कहा, ‘‘यह काफी अच्छा रहा, खिलाड़ियों का शानदार समूह और हमने टीम के रूप में काफी अच्छा प्रदर्शन किया। मुझे पता है कि इस विश्व कप में हम काफी आगे तक नहीं गए लेकिन टी20 क्रिकेट में हमने कुछ अच्छे नतीजे हासिल किए और एक दूसरे के साथ खेलने का लुत्फ उठाया।’’


कोहली ने कहा कि अगर पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले दो मैचों में शुरुआती लगभग दो ओवर अच्छे


रहते तो चीजें अलग हो सकती थी।


उन्होंने कहा, ‘‘टी20 क्रिकेट में अधिक अंतर नहीं होगा। अगर आप पहले दो मैचों में शुरुआती लगभग दो ओवर में अधिक जज्बे के साथ खेलते तो चीजें अलग हो सकती थी। जैसा कि मैंने कहा कि हमने पर्याप्त साहस नहीं दिखाया। हम ऐसी टीम नहीं हैं जो टॉस हारने को बहाना बनाए।’’


मुख्य कोच रवि शास्त्री और अन्य सहयोगी स्टाफ के टीम के साथ अंतिम मुकाबले के बाद कोहली ने सभी को धन्यवाद दिया।


उन्होंने कहा, ‘‘इन सभी लोगों को धन्यवाद, इन वर्षों में उन्होंने शानदार काम किया और टीम को एकजुट रखा। टीम के आसपास शानदार माहौल रहा, वे हमारे बड़े परिवार का विस्तार हैं। उन्होंने भी भारतीय क्रिकेट में शानदार योगदान दिया है। हम सभी की ओर से उन सभी को धन्यवाद।’’


सूर्यकुमार यादव को तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी का मौका देने पर कोहली ने कहा, ‘‘सूर्य को क्रीज पर बिताने के लिए काफी समय नहीं मिला और मैंने सोचा कि यह उसके लिए अच्छी याद रहेगी। एक युवा खिलाड़ी के रूप में आप विश्व कप से कुछ अच्छी यादें लेकर जाना चाहते हो।’’


नामीबिया के कप्तान गेरहार्ड इरासमस ने कहा कि उन्होंने मैचों के बीच कम समय के कारण इस अनुभव का लुत्फ नहीं उठाया लेकिन स्वदेश लौटने पर वे महसूस कर पाएंगे कि उन्होंने कितना शानदार काम किया।


इरासमस ने कहा, ‘‘मैचों के बीच तेजी से उतार चढ़ाव देखने को मिला जिससे हम इस अनुभव का लुत्फ नहीं उठा पाए। स्वदेश लौटने पर हम महसूस कर पाएंगे कि हमने शानदार क्रिकेट खेला। व्यक्तिगत खिलाड़ी और टीम के रूप में हमारे पास काफी सकारात्मक पक्ष हैं और हमारे लिए यह अनुभव शानदार रहा। अगर हम अगले चरण पर जाना चाहते हैं तो यह हमारे लिए अच्छी बुनियाद है।’’


इरासमस ने कहा कि वे अगले साल आस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप को लेकर उत्सुक हैं। नामीबिया को सुपर 12 चरण में जगह बनाने के कारण सीधे पहले दौर में क्वालीफायर खेलने का मौका मिलेगा।


उन्होंने कहा, ‘‘(अगले साल विश्व कप में खेलना) यह एक और शानदार चीज है जिसे लेकर हम उत्सुक हैं। हम संभवत: नामीबिया में क्रिकेटरों की अगली पीढ़ी को प्रेरित करेंगे।’’


प्लेयर आफ द मैच चुने गए जडेजा ने कहा कि उन्होंने गेंदबाजी करने का पूरा लुत्फ उठाया।


जडेजा ने कहा, ‘‘एक गेंदबाज के रूप में आज मैंने गेंदबाजी करने का लुत्फ उठाया। गेंद सूखी थी इसलिए मैंने सूखी गेंद से गेंदबाजी का लुत्फ उठाया। कुछ गेंद टर्न कर रही थी और कुछ सीधी जा रही थी जिससे बल्लेबाजों को मुश्किल हो रही थी।’’


अश्विन के साथ गेंदबाजी करने पर जडेजा ने कहा, ‘‘मैं उनके साथ गेंदबाजी करने का लुत्फ उठाता हूं, मैं 10 साल से उनके साथ खेल रहा हूं। वह सफेद गेंद से शानदार प्रदर्शन कर रहा है। आईपीएल में भी उसने ऐसा किया।’’


कोहली की कप्तानी पर जडेजा ने कहा, ‘‘विराट ने शानदार कप्तानी की और मैं उनके साथ भी 10 से 12 साल से खेल रहा हूं। मैंने हमेशा उनकी कप्तानी का लुत्फ उठाया। वह सकारात्मक और आक्रामक है जो एक खिलाड़ी के रूप में आप चाहते हैं।’’


मुख्य कोच शास्त्री सहित सहयोगी स्टाफ के टीम के साथ अंतिम मैच पर जडेजा ने कहा, ‘‘उन्होंने सहयोगी स्टाफ के रूप में सात से आठ साल में शानदार काम किया है और हमने उनके साथ काम करने का लुत्फ उठाया।’’






...

लोग अगर मेरे कारण हंसते हैं तो अच्छा है : शास्त्री

दुबई : रवि शास्त्री इस बात से अच्छी तरह से वाकिफ हैं भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान सोशल मीडिया पर उन्हें मजाकिया अंदाज में पेश किया जाता था लेकिन इस पूर्व आलराउंडर ने कहा कि अगर उनके कारण लोग हंसते हैं तो फिर उन्हें कोई दिक्कत नहीं है।


इस 59 वर्षीय पूर्व क्रिकेटर का मुख्य कोच के रूप में कार्यकाल नामीबिया के खिलाफ सोमवार को टी20 विश्व कप में भारत के आखिरी मैच के साथ समाप्त हो गया। इस दौरान सोशल मीडिया पर अक्सर उनकी टांग खींची जाती थी।


शास्त्री ने मीडियाकर्मियों से कहा, ‘‘हर तरफ मजाक चलता रहता है। वे मेरे नाम पर हंसते हैं, मजा करते हैं। क्या फर्क पड़ता है। मैं नींबू पानी पीऊंगा या मेरे पास दूध और शहद होगा, लेकिन आप ड्रिंक करो। मेरे नाम पर मजे करो न।’’


उन्होंने कहा, ‘‘जब आप इस तरह की चीजें पोस्ट करते हैं तो कितने जन (लोग) हंसते हैं यार, कितने जन खुश होते हैं। ‘एंज्वाय’ (मजा) करो ना यार। जब तक टीम अच्छा प्रदर्शन करती है, मैं खुश हूं।’’


भारत की हार के बाद अक्सर होने वाली आलोचना के बारे में शास्त्री ने कहा, ‘‘ आलोचना। यह प्रदर्शन पर निर्भर करता है। अच्छा करो तो आपकी प्रशंसा होगी, अच्छा प्रदर्शन नहीं करो तो आपको लताड़ दिया जाएगा। शांति रखो। ओम शांति ओम।’’






...

एमसीसी के पूर्व प्रमुख ब्रैडशॉ का निधन

एडीलेड : मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) के पूर्व मुख्य कार्यकारी और दिन रात्रि टेस्ट मैचों के आयोजन में अहम भूमिका निभाने वाले कीथ ब्रैडशॉ का निधन हो गया है। वह 58 वर्ष के थे।


क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने मंगलवार को जारी बयान में ब्रैडशॉ को दुनिया भर में लोगों का चहेता क्रिकेट अधिकारी बताया। ब्रैडशॉ इंग्लैंड जाने से पहले 1980 के दशक में तस्मानिया के लिये प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला करते थे।


वह 2006 में लार्ड्स स्थित एमसीसी के मुख्य कार्यकारी बने थे। वह इंग्लैंड से बाहर के पहले व्यक्ति थे जिन्होंने यह पद संभाला था। वह 2008 से कैंसर से पीड़ित थे।


ब्रैडशॉ 2011 में आस्ट्रेलिया लौट आये थे और दक्षिण आस्ट्रेलिया क्रिकेट संघ के मुख्य कार्यकारी बने थे। उन्होंने एडीलेड ओवल में नवंबर 2015 में आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच पहले दिन रात्रि टेस्ट मैच के आयोजन में अहम भूमिका निभायी थी।




...

पाकिस्तान ने स्कॉटलैंड पर 72 रन से जीत हासिल की, सुपर 12 मैच खत्म

शारजाह :  पाकिस्तान ने रविवार को यहां शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए आईसीसी पुरुष टी20 विश्व कप में स्कॉटलैंड पर 72 रन से जीत के साथ अपने सुपर 12 मैचों का समापन किया।


बाबर आजम (47 गेंदों में 66 रन), शोएब मलिक (18 गेंदों पर नाबाद 54) और मोहम्मद हफीज (19 गेंदों पर 31 रन) ने पाकिस्तान को 189/4 पर ले जाने के बाद, पाकिस्तान ने स्कॉटलैंड को 20 ओवरों में 117/6 पर रोक दिया।


जॉर्ज मुन्से ने शाहीन शाह अफरी के पहले दो ओवरों में दो चौके लगाकर शुरुआत की। इमाद वसीम की गेंद पर काइल कोएत्जर ने चौका लगाया लेकिन पावर-प्ले के अंतिम ओवर में हसन अली ने उन्हें बोल्ड कर दिया। पावर-प्ले के बाद के रन सूखने लगे क्योंकि पाकिस्तान ने स्कॉटलैंड पर दबाव बनाना शुरू कर दिया।


स्कॉटलैंड को एक मजबूत झटका लगा क्योंकि मैथ्यू क्रॉस नॉन-स्ट्राइकर के छोर पर रन आउट हो गया और वसीम ने मुन्से की स्ट्रेट ड्राइव पर गेंद पर हाथ रखा। मुक्त होने के प्रयास में, मुंसे ने शादाब खान पर हमला करने की कोशिश की, लेकिन 11 वें ओवर में शार्ट थर्ड मैन पर आउट हो गए। दो गेंदों के बाद, खान के पास एक और विकेट था क्योंकि डायलन बज को एक गुगली ने बोल्ड किया था।


हालांकि परिणाम एक पूर्व निष्कर्ष था, स्कॉटलैंड ने अपरिहार्य में देरी करने की कोशिश की। माइकल लीस्क ने रिची बेरिंगटन के साथ पांचवें विकेट के लिए 41 रन की साझेदारी की। अफरीदी ने लीस्क को 16वें ओवर में क्लीन बोल्ड कर यह साझेदारी तोड़ दी।


स्कॉटलैंड के लिए एकमात्र योद्धा बेरिंगटन ने दो और चौके लगाए और अली की गेंद पर अपना अर्धशतक पूरा किया। लेकिन यह पर्याप्त नहीं था क्योंकि पाकिस्तान ने अपने ग्रुप 2 अभियान को एक सर्व-जीत रिकॉर्ड के साथ समाप्त कर दिया।


संक्षिप्त स्कोर : पाकिस्तान ने 20 ओवर में 189/4 (बाबर आजम 66, शोएब मलिक नाबाद 54, क्रिस ग्रीव्स 2-43, हमजा ताहिर 1-24) ने स्कॉटलैंड को 117/6 (रिची बेरिंगटन 54 नाबाद, जॉर्ज मुन्सी 17, शादाब खान 2-14, शाहीन शाह अफरीदी 1-24) को 72 रन से हराया।

...

मानसिक थकान के कारण गलत हो सकते हैं फैसले : रोहित

अबुधाबी : भारतीय टीम के उपकप्तान रोहित शर्मा ने स्वीकार किया कि टी20 विश्व कप में भारत के कुछ फैसले गलत साबित हुए हैं लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि लंबे समय घर से बाहर रहने से हुई मानसिक थकान के कारण ऐसा होता है।


अफगानिस्तान के खिलाफ बुधवार को 66 रन से मिली जीत में 74 रन की पारी खेलने वाले रोहित का इशारा पाकिस्तान और न्यूजीलैंड से मिली हार की ओर था।


उन्होंने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘इस मैच में रवैया अलग था। काश की पहले दो मैचों में भी हम ऐसा खेल पाते लेकिन ऐसा हुआ नहीं और लंबे समय से घर से बाहर रहने पर ऐसा होता है। कई बार फैसले गलत हो जाते हैं और पहले दो मैचों में भी यही हुआ।’’


रोहित ने कहा, ‘‘आजकल इतनी क्रिकेट खेली जा रही है और हम इतनी क्रिकेट खेल रहे हैं।ऐसे में जब भी आप मैदान पर उतरते हैं तो सही फैसले लेने होते हैं।’’


उन्होंने कहा, ‘‘आपको यह सुनिश्चित करना होता है कि मानसिक रूप से आप तरोताजा रहें। यही वजह है कि हम कुछ अच्छे फैसले नहीं ले सकें। बहुत क्रिकेट खेलने पर ऐसी चीजें होती है। कई बार खेल से अलग होकर मानसिक रूप से तरोताजा होना पड़ता है।’’


उन्होंने कहा ,‘‘लेकिन जब आप विश्व कप खेल रहे हैं तो फोकस उसी पर होना चाहिये। आपको पता होना चाहिये कि क्या करना है और क्या नहीं।’’


रोहित ने यह भी कहा कि दो खराब मैचों से टीम खराब नहीं हो जाती।


उन्होंने कहा, ‘‘दो मैचों में हम अच्छा खेल नहीं सके लेकिन इसके यह मायने नहीं है कि हम रातोरात खराब खिलाड़ी हो गए। इसके यह मायने नहीं है कि सभी खिलाड़ी और खेल को चलाने वाले बेकार है। आप आत्ममंथन करके वापसी करते हैं और हमने यही किया।’’


उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे हालात में आपको बेखौफ रहना होता है और बाहर क्या हो रहा है, उस पर ध्यान नहीं देना होता है। हमारी टीम बहुत अच्छी है जो बस दो मैचों में अच्छा नहीं खेल सकी।’’





...

अश्विन की मौजूदगी से टीम को हमेशा फायदा मिलता है : रोहित

अबुधाबी : भारतीय उपकप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि अंतिम एकादश में रविचंद्रन अश्विन की मौजूदगी से टीम को हमेशा फायदा मिलता है क्योंकि यह अनुभवी आफ स्पिनर सदैव विकेट की तलाश में रहता है। चार साल बाद टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले अश्विन ने अफगानिस्तान के खिलाफ चार ओवर में 14 रन देकर दो विकेट लिये।


रोहित ने मैच के बाद कहा, ‘‘वह शानदार गेंदबाज है और इसमें कोई शक नहीं है। उसने इतनी क्रिकेट खेली है और इतने विकेट लिये हैं। उसे पता था कि यह उसके लिये चुनौतीपूर्ण है क्योंकि वह तीन या चार साल बाद सीमित ओवरों का क्रिकेट खेल रहा था।’’’


उन्होंने कहा, ‘‘वह हमेशा विकेट की तलाश में रहता है और टीम में उसके जैसा खिलाड़ी होने पर फायदा रहता है। वह अपनी गेंदबाजी को बखूबी समझता है और उसने आईपीएल में भी शानदार गेंदबाजी की थी। उम्मीद है कि आगे भी वह हमारे लिये ऐसी ही गेंदबाजी करता रहेगा।’’


भारत के लिये अभी सेमीफाइनल की डगर मुश्किल है लेकिन भारत पाकिस्तान फाइनल की संभावना के बारे में पूछे जाने पर रोहित ने कहा, ‘‘आप फाइनल की बात कर रहे हैं जिसकी राह हमारे लिये अभी लंबी है। अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड मैच में कौन जीतता है और कौन हारता है। हम अभी इतने आगे की नहीं सोच रहे हैं। हमें अगले मैच के बारे में सोचना है और फिर अफगानिस्तान न्यूजीलैंड मैच हमारे लिये अहम है। सो फाइनल अभी दूर की कौड़ी है।’’




...