रेलवे सुरक्षा बल कॉन्स्टेबल और SI भर्ती के लिए बड़ी खबर, RRB ने जारी किया ये नोटिस

एजुकेशन डेस्क, नई दिल्ली। आरपीएफ में कॉन्स्टेबल और एसआइ भर्ती के लिए आवेदन किए उम्मीदवारों के लिए महत्वपूर्ण अपडेट। रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) ने रेल मंत्रालय के अधीन रेलवे सुरक्षा बल (RPF) में कॉन्स्टेबल (एग्जीक्यूटिव) और सब-इंस्पेक्टर (एग्जीक्यूटिव) के कुल 4660 पदों पर भर्ती के लिए निर्धारित आवेदन तिथियों को आगे बढ़ा दिया है। बोर्ड द्वारा बुधवार, 14 मई को जारी नोटिस के अनुसार रेलवे सुरक्षा बल की इस भर्ती (Railway RPF Constable SI Recruitment 2024) के लिए आवेदन शुल्क का भुगतान 18 मई से 20 मई के बीच कर सकेंगे।

उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए कि RPF ने कॉन्स्टेबल और एसआइ भर्ती (RPF Constable SI Recruitment 2024) के लिए आवेदन की तिथियों में विस्तार सिर्फ उन्हीं उम्मीदवारों के लिए किया है, जिन्होंने निर्धारित आखिरी तारीख 14 मई 2024 तक अपना पंजीकरण कर लिया था और तकनीकी समस्याओं के चलते निर्धारित परीक्षा शुल्क का भुगतान ऑनलाइन माध्यमों से नहीं कर सके थे। इन उम्मीदवारों को RRB ने परीक्षा शुल्क भुगतान का एक और मौका दिया है।

ऐसे करें आवेदन शुल्क का भुगतान

ऐसे में जिन उम्मीदवारों ने आरपीएस कॉन्स्टेबल या एसआइ भर्ती के लिए अपना पंजीकरण 14 मई तक किया है, वे अपने परीक्षा शुल्क का भुगतान करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर अपनी डिटेल के माध्यम से लॉग-इन करें। इसके बाद शुल्क भुगतान के लिंक पर क्लिक करके निर्धारित प्रक्रिया से उम्मीदवार शुल्क भर सकेंगे।

बता दें कि रेलवे सुरक्षा बल कॉन्स्टेबल और एसआइ भर्ती के लिए अधिसूचना 15 अप्रैल को जारी की थी और इसके साथ ही आवेदन प्रक्रिया भी शुरू हो गई थी।


...

सीबीएसई बोर्ड ने जारी किए 12वीं के नतीजे,

सीबीएसई बोर्ड 12वीं का रिजल्ट घोषित कर दिया गया है. वे कैंडिडेट्स जिन्होंने इस साल की सीबीएसई बोर्ड की बारहवीं की परीक्षा दी हो, वे ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर परिणाम देख सकते हैं. ऐसा करने के लिए आप इनमें से किसी भी एक वेबसाइट पर जा सकते हैं. यहां देखें वेबसाइट्स की सूची –

cbseresults.nic.in

results.cbse.nic.in

cbse.nic.in

cbse.gov.in

digilocker.gov.in

results.gov.in 

ऑनलाइन ऐसे चेक करें परिणाम

रिजल्ट ऑनलाइन चेक करने के लिए आपको सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. इसके लिए ऊपर दी किसी भी वेबसाइट पर जा सकते हैं.

यहां 12वीं के नतीजों का लिंक दिया होगा, उस पर क्लिक करें.

ऐसा करते ही एक नया पेज खुलेगा. इस पेज पर आपको अपने डिटेल डालने होंगे.

डिटेल डालें और सबमिट कर दें. इतना करते ही रिजल्ट आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर दिख जाएगा.

यहां से इसे चेक कर लें, डाउनलोड कर लें और चाहें तो प्रिंट भी निकाल सकते हैं.

ऑफलाइन ऐसे चेक कर सकते हैं नतीजे

ऑफलाइन या फोन के मैसेज सेक्शन से रिजल्ट देखने के लिए सबसे पहले मोबाइल के मैसेज सेक्शन में जाएं.

यहां टाइप करें CBSE12 रोल नंबर, डीओबी, स्कूल नंबर, सेंटर नंबर और भेज दें - 7738299899 पर.

इतना करते ही नतीजे आपके फोन में टेक्स्ट मैसेज के रूप में आ जाएंगे.

इन तरीकों से भी देख सकते हैं परिणाम

इसके अलावा आप UMANG ऐप से भी नतीजे चेक कर सकते हैं. इसके लिए इसे फोन में डाउनलोड कर लें. ऐप खोलें और जो डिटेल मांगे जा रहे हों, वे डालें और सबमिट कर दें. नतीजे आपके फोन पर आ जाएंगे.

अगला तरीका है डिजिलॉकर से रिजल्ट देखने का. इसके लिए digilocker.gov.in पर जाएं या इसके ऐप फोन पर डाउनलोड करें. एलओसी क्रेडेंशियल्स से पिन जेनरेट करें और फिर उसका इस्तेमाल करके पिन डाउनलोड करें. अब क्लास चुनें, पिन डालें और बाकी डिटेल भरकर जमा कर दें. 

इतने स्टूडेंट्स को था रिजल्ट का इंतजार

सीबीएसई बोर्ड 12वीं में इस बार करीब 18 लाख बच्चों ने भाग लिया था. इन सभी को नतीजों की प्रतीक्षा थी जो पूरी हो गई है. अब कुछ ही देर में दसवीं का रिजल्ट भी जारी होने वाला है. इस साल सीबीएसई बोर्ड 12वीं के एग्जाम 15 फरवरी से 2 अप्रैल 2024 के बीच आयोजित किए गए थे.

वेबसाइट्स पर नजर बनाए रखें, कुछ ही देर में दसवीं के नतीजे भी जारी होने वाले हैं. यहीं से आपको लेटेस्ट अपडेट्स भी पता चलते रहेंगे और आगे की प्रक्रिया की जानकारी भी.


...

2 और 8 मई को घोषित होंगे पश्चिम बंगाल बोर्ड माध्यमिक और उच्च माध्यमिक के नतीजे

एजुकेशन डेस्क, नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल बोर्ड से माध्यमिक और उच्च माध्यमिक की वार्षिक परीक्षाओं में सम्मिलित हुए लाखों छात्र-छात्राओं के लिए बड़ी खबर। पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (WBBSE) की माध्यमिक (कक्षा 10) की बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम 2 मई 2024 को घोषित किए जाएंगे। इसी प्रकार, पश्चिम बंगाल उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद (WBCHSE) की उच्च माध्यमिक (कक्षा 12) की बोर्ड परीक्षाओं के नतीजे 8 मई को जारी किए जाएंगे।

दोनों बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम जारी किए जाने की तारीख (WB 10th 12th Result 2024 Dates) की जानकारी राज्य के शिक्षा मंत्री ब्रात्य बसु ने साझा की। WBBSE 10वीं और WBCHSE 12वीं की परीक्षाओं के परिणामों जारी किए जाने के सम्बन्ध में शिक्षा मंत्री ने कहा कि पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा बोर्ड आगामी दो मई को माध्यमिक के नतीजे घोषित करेगा जबकि पश्चिम बंगाल उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद आठ मई को उच्च माध्यमिक के नतीजे की घोषणा करेगा।

बता दें कि कि इस साल माध्यमिक परीक्षा दो फरवरी को शुरू होकर 12 फरवरी को खत्म हुई थी। उच्च माध्यमिक परीक्षा 16 से 29 फरवरी तक चली थी। परीक्षा के तीन महीने के भीतर दोनों परीक्षाओं के नतीजे घोषित होने जा रहे हैं। अगले साल माध्यमिक परीक्षा 14 फरवरी को शुरू होगी व 24 फरवरी को खत्म होगी जबकि उच्च माध्यमिक परीक्षा तीन मार्च से शुरू होकर 18 मार्च तक चलेगी।

WB 10th 12th Result 2024: इन स्टेप में देखें परिणाम

ऐसे में पश्चिम बंगाल माध्यमिक और उच्च माध्यमिक परीक्षाओं के नतीजों की इंतजार जल्द ही समाप्त होने जा रहा है। दोनों की कक्षाओं के परिणाम निर्धारित तारीखों (West Bengal 10th 12th Result 2024 Dates) पर जारी किए जाने के बाद इन्हें चेक करने के लिए लिंक को आधिकारिक रिजल्ट पोर्टल, wbresults.nic.in पर एक्टिव किया जाएगा।

स्टूडेंट्स इस वेबसाइट पर विजिट करना होगा और फिर अपनी सम्बन्धित कक्षा के परिणाम लिंक पर क्लिक करना होगा। फिर नये पेज पर स्टूडेंट्स को अपना रोल नंबर भरकर सबमिट करना होगा। इसके बाद छात्र-छात्राएं अपना परिणाम और विषयवार प्राप्तांक (Mark Sheet) स्क्रीन पर देख सकेंगे।


...

यूपी बोर्ड 10वीं, 12वीं का रिजल्ट, नतीजे आज दोपहर 2 बजे होंगे जारी

उत्तर प्रदेश हाई स्कूल एवं इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्ट आज दोपहर 2 बजे घोषित कर दिया जाएगा। रिजल्ट ऑनलाइन माध्यम से बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट upmsp.edu.in एवं upresults.nic.in पर जारी किया जायेगा। रिजल्ट जारी होते ही छात्र-छात्राएं इन वेबसाइट पर जाकर अपने परिणाम की जांच कर पायेंगे।

अगर आपको रिजल्ट चेक करने में किसी भी प्रकार की समस्या हो रही हो तो आपकी सहूलियत के लिए हम यहां पर रिजल्ट चेक करने के तरीके को बता रहे हैं, इसको फॉलो कर आप आसानी से अपने रिजल्ट की जांच कर सकते हैं।

वेबसाइट और एमएसएम से चेक किये जा सकेंगे नतीजे

आपको बता दें यूपी बोर्ड रिजल्ट जारी होने के बाद स्टूडेंट्स ऑनलाइन माध्यम से ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर नतीजे चेक कर सकेंगे। इसके अतिरिक्त आप ऑफलाइन माध्यम से एसएमएस के माध्यम से भी रिजल्ट चेक कर सकेंगे।

ऑफिशियल वेबसाइट से रिजल्ट चेक करने की स्टेप्स

यूपी बोर्ड रिजल्ट 2024 चेक करने के लिए आपको सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट upmsp.edu.in एवं upresults.nic.in पर विजिट करना होगा।

वेबसाइट के होम पेज पर आपको जिस भी कक्षा (10वीं या 12वीं) का रिजल्ट चेक करना है उस पर क्लिक करें।

अब आपको नए पेज पर रोल नंबर दर्ज करके सबमिट करना होगा।

इसके बाद आपका रिजल्ट स्क्रीन पर ओपन हो जायेगा जहां से आप इसे चेक करने के साथ ही मार्कशीट की प्रति भी डाउनलोड कर सकेंगे।

वैकल्पिक तौर पर स्टूडेंट्स अपना परिणाम जागरणजोश के 10वीं, 12वीं और 10वीं/12वीं रिजल्ट लिंक से भी चेक कर सकते हैं।

55 लाख स्टूडेंट्स का इंतजार बस कुछ घंटों में होगा खत्म

इस वर्ष यूपी बोर्ड मैट्रिक एवं इंटरमीडिएट कक्षाओं को मिलाकर 55 लाख से अधिक स्टूडेंट्स ने परीक्षाओं में भाग लिया था। बोर्ड परीक्षा का आयोजन 22 फरवरी से 9 मार्च 2024 तक किया गया था। इन सभी स्टूडेंट्स का परिणाम आज दोपहर 2 बजे समाप्त होने वाला है।


...

पहली रैंक के साथ यूपीएससी टॉपर बने आदित्य श्रीवास्तव

आदित्य श्रीवास्तव... यह नाम अब सबकी जुबान पर है। लखनऊ के इस लाल ने संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) 2023 के फाइनल रिजल्ट में टॉप किया है। पहली रैंक के साथ अब IAS के लिए चयनित हुए आदित्य ने टॉप किए जाने को लेकर खुशी जताई है। उन्होंने कहा कि वह टॉप-70 में आने की कामना कर रहे थे लेकिन टॉप कर जाना अपने आप में जबर्दस्त एहसास है। उन्होंने अपने शौक के बारे में भी बातें की। इसमें खाने से लेकर फिल्म तक पर बात बताई। वहीं पढ़ाई में आर्टिफिशल इंटेलिजेंस (AI) के इस्तेमाल का फायदा भी बताया।

आदित्य श्रीवास्तव ने हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ बातचीत में खास बातें बताई। अभी हैदराबाद में IPS ऑफिसर के तौर पर ट्रेनिंग ले रहे आदित्य ने टेलिफोनिक बातचीत के जरिए अपनी बातें सामने रखीं। उन्होंने कहा कि मैं टॉप-70 में रैंक लाकर आईएएस बनने की कामना कर रहा था। लेकिन पहली रैंक हासिल करना तो सरप्राइज जैसा है। इस खास मौके पर मैं अपने माता-पिता को मिस कर रहा हूं।

स्मार्ट पढ़ाई, ChatGPT का यूज

मंगलवार को देश की सबसे कठिन मानी जाने वाली परीक्षा यूपीएससी का रिजल्ट आया। हैदराबाद पुलिस ट्रेनिंग संस्थान में दोपहर को आदित्य लंच कर रहे थे, तभी रिजल्ट आया। इसके बाद माता-पिता को फोन करके आदित्य ने इस बात की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दृढ़ संकल्प से कुछ भी संभव है। मैंने कड़ी मेहनत की बजाय स्मार्ट वर्क पर फोकस किया। बेसिक किताबों से शुरुआत कर पिछले कुछ सालों के पेपर्स का विश्लेषण करना फायदेमंद साबित हुआ। मैंने पढ़ाई में गूगल के साथ ही चैटजीपीटी का खूब सहयोग लिया।

डायनासोर के बारे में खास दिलचस्पी

आईआईटी कानपुर से बी.टेक और एम.टेक की पढ़ाई के बाद यूपीएससी की तैयारी में जुट गए आदित्य श्रीवास्तव को क्रिकेट खेलने और खाना खाने के शौकीन हैं। खाने में मटन का स्वाद उन्हें बहुत पसंद है। आदित्य को डायनासोर के बारे में पढ़ने और जानकारी हासिल करने का बहुत अधिक शौक है। उन्होंने इस सब्जेक्ट पर बनी जुरासिक पार्क फिल्म भी बहुत मन से देखी।

तीसरे प्रयास में कर गए IAS टॉप

आदित्य श्रीवास्तव की ऑल इंडिया रैंक-1 है। आदित्य ने इंटर तक सिटी मांटेसरी स्कूल से पढ़ाई की। यहीं नहीं शुरूआत से ही उन्होंने टॉप किया। 10वीं क्लास की पढ़ाई पूरी होने से पहले ही मन में IAS का सपना लेकर आदित्य ने तैयारी शुरू कर दी थी। हालांकि, पहले अटेंप्ट में आदित्य को सफलता नहीं मिली, वह 3 नंबर से रह गए। इसके बाद उन्होंने 40 लाख रुपए के सालाना पैकेज पर नौकरी शुरू की। इस बार आदित्य ने UPSC में पहला स्थान हासिल कर देश में नंबर वन का खिताब अपने नाम किया है।

लखनऊ से स्कूल, IIT कानपुर से पढ़ाई

पिता अजय श्रीवास्तव ने बताया कि आदित्य ने 2014 में लखनऊ में CMS की अलीगंज ब्रांच से इंटर किया है। इंटर में उनके 98.4 प्रतिशत अंक थे। इसके बाद कानपुर आईआईटी से इलेक्ट्रिकल ग्रेड से ग्रेजुएशन किया। वहां पर भी आदित्य टॉपर रहे। फिलहाल आदित्य हैदराबाद में आईपीएस की ट्रेनिंग कर रहे हैं। उन्होंने ये परीक्षा पिछले साल दूसरे अटेंप्ट में क्वालिफाई कर ली थी। तब उनको IPS की 226 रैंक हासिल हुई थी। अभी IPS की ट्रेनिंग के लिए हैदराबाद में हैं।

आदित्य ने 2019 में आईआईटी कानपुर से ही एमटेक पूरा किया। इसके बाद बेंगलुरु की एक एमएनसी कंपनी में कुछ दिन तक जॉब की थी। जहां उनका सालाना पैकेज करीब 40 लाख रुपए था। मां अभा श्रीवास्तव ने बताया कि उनके बेटे ने सेल्फ स्टडी करके ये सफलता प्राप्त की है। आदित्य ने इसकी तैयारी करने के लिए किसी भी कोचिंग सेंटर में शिक्षा नहीं ली।


...

बाबरी, गुजरात दंगे और हिंदुत्व की राजनीति, NCERT की किताबों से हटाए गए ये टॉपिक्स

नेशनल काउंसिल फॉर एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग (NCERT) ने 12वीं क्लास की राजनीतिक विज्ञान या कहें पॉलिटिकल साइंस की किताब में ढेरों बदलाव किए हैं. किताब से बाबरी मस्जिद, हिंदुत्व की राजनीति, 2002 के गुजरात दंगों और अल्पसंख्यकों के जुड़े कुछ संदर्भ हटा दिए गए हैं. इस किताब को एकेडमिक सेशन 2024-25 से लागू कर दिया जाएगा. हाल के वर्षों में किताबों में कई संवेदनशील टॉपिक्स को हटाया गया है. 

एनसीईआरटी ने गुरुवार (4 अप्रैल) को इन बदलावों को अपनी वेबसाइट पर सार्वजनिक कर दिया. सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) से मान्यता प्राप्त स्कूलों में एनसीईआरटी की किताबों को पढ़ाया जाता है. देश में इस बोर्ड से मान्यता प्राप्त स्कूलों की संख्या 30 हजार के करीब हैं. भारत के लगभग हर हिस्से में सीबीएसई बोर्ड के स्कूल मौजूद हैं. उम्मीद की जा रही है कि ऐसा ही बदलाव अन्य राज्यों के बोर्ड्स की किताबों में भी देखने को मिल सकता है. 

अयोध्या पर क्या लिखा गया? 

पॉलिटिकल साइंस के 'भारतीय राजनीति: नए अध्याय' नाम के आठवें चैप्टर में 'अयोध्या विध्वंस' के संदर्भ को हटा दिया गया है. चैप्टर में 'राजनीतिक लामबंदी की प्रकृति के लिए राम जन्मभूमि आंदोलन और अयोध्या विध्वंस की विरासत क्या है?' इसे बदलकर 'राम जन्मभूमि आंदोलन की विरासत क्या है?' कर दिया गया. एनसीईआरटी का कहना है कि ऐसा इसलिए किया गया है, ताकि सवालों के जवाबों को नए बदलाव के साथ जोड़ा जा सके. 

गुजरात दंगों समेत बदले गए ये टॉपिक

'भारतीय राजनीति: नए अध्याय' चैप्टर में ही बाबरी मस्जिद और 'हिंदुत्व की राजनीति' के संदर्भ को भी हटाया गया है. इस चैप्टर में आगे ये भी बताया गया है कि किस तरह से सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ के फैसले के बाद अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हुआ. 'लोकतांत्रिक अधिकार' नाम के 5वें चैप्टर में गुजरात दंगों का जिक्र हटाया गया है. एनसीईआरटी का कहना है कि ये घटना 20 साल पुरानी है और न्यायिक प्रक्रिया के जरिए इसे सुलझा लिया गया है. 

कुछ स्थान जहां पहले मुस्लिम समुदाय का उल्लेख किया गया था, उन्हें भी बदल दिया गया है. 5वें चैप्टर में ही मुसलमानों को विकास के लाभों से 'वंचित' करने का संदर्भ हटा दिया गया है. मुस्लिमों को लेकर किताब में लिखा गया है कि किस तरह से उन्हें अलग माना जाता है, जो उनके खिलाफ नफरत और हिंसा के पूर्वाग्रह को बढ़ा देता है. पहले यहां इस बात का जिक्र था कि उनके साथ गलत व्यवहार और भेदभाव किया जाता है. 


...

DSSB ने विभिन्न पदों निकली भर्ती 10वीं-12वीं पास इस सरकारी नौकरी के लिए अप्लाई

दिल्ली सबऑर्डिनेट सर्विसेस सेलेक्शन बोर्ड ने कुछ समय पहले 600 से ज्यादा विभिन्न पदों पर योग्य उम्मीदवारों से आवेदन आमंत्रित किए थे. इनके लिए नोटिस कुछ समय पहले जारी हुआ था और अब रजिस्ट्रेशन लिंक एक्टिव कर दिया गया है. वे कैंडिडेट्स जो डीएसएसएसबी के इन पदों के लिए आवेदन करना चाहते हों, वे ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर फॉर्म भर सकते हैं.

भरे जाएंगे इतने पद

इस रिक्रूटमेंट ड्राइव के माध्यम से कुल 650 पदों पर कैंडिडेट्स की भर्ती होगी. ये पद केयरटेकर, एकाउंट्स असिस्टेंट, कैंटीन अटेंडेंट, पीजीटी, स्टोर कीपर, असिस्टेंट आर्किटेक्ट, डेंटल मैकेनिक, पब्लिक हेल्थ नर्सिंग ऑफिसर, पर्सनल असिस्टेंट, सेल्समैन, पीजीटी, मेट्रन, प्रोग्रामर, जूनियर असिस्टेंट, मोटर वेहिकल इंस्पेक्टर आदि के हैं. आवेदन कल यानी 19 मार्च से शुरू हुए हैं.  

ये है लास्ट डेट

इन पदों पर आवेदन करने का लिंक कल खुला है और अप्लाई करने की आखिरी तारीख 17 अप्रैल 2024 है. इस तारीख के पहले बताए गए प्रारूप में फॉर्म भर दें. आवेदन केवल ऑनलाइन होंगे, इसके लिए आपको डीएसएसएसबी की आधिकारिक वेबसाइट – dsssb.delhi.gov.in पर जाना होगा.

ये करें अप्लाई

इन पदों पर आवेदन के लिए योग्यता पद के मुताबिक है और अलग-अलग है. मोटे तौर पर किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं-12वीं पास और किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किए उम्मीदवार आवेदन कर सकते हैं. एज लिमिट भी पद के मुताबिक अलग-अलग है.

देना होगा इतना शुल्क

इन पदों पर आवेदन करने के ले शुल्क 100 रुपये तय किया गया है. महिला, एससी, एसटी और पीएच श्रेणी के कैंडिडेट्स को शुल्क नहीं देना है. सैलरी भी पद के मुताबिक अलग-अलग है. कई पदों के लिए महीने के 1 लाख रुपये से भी ज्यादा वेतन दिया जाएगा.

सेलेक्शन कैसे होगा

इन पदों पर चयन के लिए आपको लिखित परीक्षा देनी होगी. इसे पास करने के बाद आगे के चरण आयोजित किए जाएंगे. जैसे डीवी राउंड और पद के मुताबिक स्किल टेस्ट या इंटरव्यू. सभी चरण पास करने पर चयन अंतिम होगा. परीक्षा तारीख से लेकर दूसरा कोई भी अपडेट जानने के लिए समय-समय पर वेबसाइट विजिट करते रहें.


...

दिल्ली हाईकोर्ट ने सुनाया फैसला एजुकेशनल सर्टिफिकेट और डिग्री पर केवल पिता का नहीं बल्कि माता का नाम भी होना चाहिए

दिल्ली हाईकोर्ट ने एक लॉ स्टूडेंट की सुनवाई के दौरान बड़ा फैसला सुनाया है. कोर्ट ने कहा है कि शैक्षिक प्रमाण-पत्रों और डिग्रियों पर जहां अभिभावक का नाम होता है वहां, माता और पिता दोनों का नाम हो. कोर्ट ने साफ कहा है कि केवल पिता के नाम का कोई मतलब नहीं है. एक लॉ स्टूडेंट की याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति सी हरिशंकर की पीठ ने कहा कि प्रमाण-पत्रों पर मुख्य भाग में माता-पिता दोनों का नाम अनिवार्य रूप से अंकित होना चाहिए. इसमें किसी प्रकार की बहस की जरूरत नहीं है.

कहां का है मामला

ये मामला गुरू गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी का है. ये पिटिशन लॉ ग्रेजुएट रितिका प्रसाद ने दाखिल की थी. उनका कहना था कि उन्होंने पांच साल के बीए एलएलबी कोर्स में एडमिशन लिया था. जब कोर्स पूरा हो गया तो उन्हें जो डिग्री दी गई उसमें केवल पिता का नाम लिखा था माता का नहीं. रितिका का कहना था कि डिग्री पर मां और पिता दोनों का नाम होना चाहिए.

क्या कहना है कोर्ट का

कोर्ट का कहना है कि ये मामला देखने में सीधा लग सकता है पर इसके पूर्ण आयाम की चर्चा कि जाए तो ये एक बड़ा सामाजिक महत्व का मुद्दा है. इस संबंध में यूजीसी ने 6 जून 2014 को एक सर्कुलर जारी किया था लेकिन इसकी अनदेखी की गई. कोर्ट ने इस पर भी खेद जताया है.

यूनिवर्सिटी को दिया गया 15 दिन का समय

कोर्ट ने यूनिवर्सिटी को 15 दिन का समय दिया है. इस मोहतल के अंदर ही उन्हें दूसरा सर्टिफिकेट इश्यू करना है जिस पर मां और पिता दोनों का नाम हो. कोर्ट ने ये भी कहा कि यह गर्व की बात है कि आज बार में शामिल ज्यादातर युवाओं में लड़कियां हैं. और अच्छी बात ये है कि ग्रेजुएशन करने वाले स्टूडेंट्स में से 70 परसेंट लड़कियां हैं. कोर्ट ने आगे कहा कि मान्यता की समानता बहुत जरूरी है. इस पर सवाल उठाना अपमानजनक होगा. 


...

मनरेगा के नियमों में हुए कुछ बदलाव , निजी जमीन पर काम कराने के लिए कुछ दिशानिर्देशों का करना होगा पालन

महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) से निजी जमीन पर काम कराया जाता है। इसमें पौधारोपण, पोखर खोदाई जैसी योजनाएं शामिल हैं। लेकिन अब निजी जमीन पर काम कराने के लिए कुछ दिशानिर्देशों का पालन करना होगा। अब जमीन पर मालिकाना हक का पूरा ब्योरा देना होगा।

साथ ही उसमें जमीन मालिक का जाबकार्डधारी होना या उसके परिवार के किसी जाबकार्डधारी सदस्य का काम करना भी जरूरी होगा। हालांकि, यह नियम पहले से है कि जाबकार्ड रहने पर ही निजी जमीन पर मनरेगा का काम करा सकते हैं। लेकिन अब उसमें काम करने की अनिवार्यता भी रखी गई है।

लाभुक का जाबकार्डधारी होना अनिवार्य

मनरेगा आयुक्त सह मुख्य कार्यपालक इस संबंध में दिशानिर्देश जारी किया है। इसमें मनरेगा के तहत कराए जाने वाले कार्यों को लेकर कई बिंदु पर दिशानिर्देश दिए गए हैं। बिना जाबकार्ड के निजी जमीन पर मनरेगा की योजना नहीं दी जाएगी। इसमें कहा गया है कि निजी जमीन पर योजना के लिए लाभुक का जाबकार्ड धारी होना जरूरी है। योजना में लाभुक या उनके परिवार के किसी वयस्क सदस्य जिनके पास जाबकार्ड हो, उन्हें अनिवार्य रूप से काम करना होगा।

निजी जमीन पर योजना क्रियान्वित कराने के लिए विभाग में आवेदन देना होगा। जिस निजी जमीन पर मनरेगा का काम कराया जाना है, उसके दस्तावेज की जानकारी भी देनी होगी। निजी जमीन से संबंधित पूरा विवरण देना होगा। इसमें जमीन का खाता-खेसरा संख्या, जमीन की चौहद्दी आदि बतानी होगी।

जमीन के मालिकाना हक का देना होगा सबूत

निजी जमीन के मालिकाना हक संबंधित कागजात की कापी भी काम कराने की स्वीकृति वाले आवेदन में लगाना होगा। निजी जमीन पर होनेवाली वैसी येाजनाएं जिनमें अधिसंख्य अकुशल मजदूर की आवश्यकता होगी, वहां पर मजदूर की सूची लाभुक की ओर से विभाग को दी जाएगी। मनरेगा से निजी जमीन पर पोखर खोदाई, पौधारोपण आदि कराया जाएगा।

विभाग की ओर से योजनाओं की निगरानी के लिए भी दिशानिर्देश दिए गए हैं। सभी पंचायतों में निगरानी समिति का गठन करना है। यह समिति मनरेगा की हर योजनाओं की निगरानी करेगी ताकि कार्यों में गुणवत्ता और पारदर्शिता बनी रहे। योजना का काम पूरा होने के बाद तकनीकी स्वीकृति देने वाले अधिकारी इसका प्रमाणपत्र भी जारी करेंगे।


...

रेलवे सुरक्षा बल में निकली बंपर भर्ती, 4660 कॉन्स्टेबल एवं SI के पदों के लिए अधिसूचना जारी

रेलवे पुलिस फोर्स यानी कि RPF में सब-इंस्पेक्टर एवं कॉन्स्टेबल के रिक्त पदों पर बंपर भर्ती का एलान किया गया है। ऐसे अभ्यर्थी जो इस भर्ती का इंतजार कर रहे थे उनको बता दें कि इस वैकेंसी के लिए नोटिफिकेशन जारी कर आवेदन तिथियों को घोषित कर दिया गया है। रोजगार समाचार में प्रकाशित विज्ञापन के अनुसार इस भर्ती के लिए आवेदन प्रक्रिया 15 अप्रैल 2024 से शुरू की जानी है।

पात्रता एवं मापदंड

आरपीएफ कॉन्स्टेबल पदों पर आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों का किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं कक्षा उत्तीर्ण होना आवश्यक है। इसके अलावा सब इंस्पेक्टर (SI) पदों पर आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों का किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से स्नातक उत्तीर्ण होना आवश्यक है।

आयु सीमा

कॉन्स्टेबल पदों पर आवेदन के लिए उम्मीदवारों की न्यूनतम आयु 18 वर्ष एवं अधिकतम आयु 28 वर्ष तय की गयी है वहीं एसआई पदों पर फॉर्म भरने के लिए उम्मीदवारों की न्यूनतम आयु 21 वर्ष एवं अधिकतम आयु 28 वर्ष से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। आरक्षित श्रेणी से आने वाले उम्मीदवारों को ऊपरी आयु सीमा में छूट प्रदान की जाएगी। आयु की गणना 1 जुलाई 2024 को ध्यान में रखकर की जाएगी।


...