फैयाज ने 30 सेकंड में नेहा पर चाकू से किए थे 14 वार

कर्नाटक के हुबली में नेहा हिरेमथ की हत्या का मामला गरमाता जा रहा है। अब नेहा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आने से फैयाज की हैवानियत का खुलासा हुआ है। पता चला है कि उसे केवल 30 सेकंड में 14 बार चाकू मारा गया था, पुलिस सूत्रों ने सोमवार को इसकी पुष्टि की।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से कई बड़े खुलासे

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि आरोपी फैयाज ने नेहा की छाती और गर्दन पर चाकू मारा था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए समाचार एजेंसी आईएएनएस को सूत्रों ने बताया, ''नेहा की गर्दन पर कई बार वार किए गए और इसी कारण उसकी नसें कट गईं, जिससे बड़ी मात्रा में खून बह गया, जिसके बाद नेहा ने दम तोड़ दिया।'' 

गला काटने की भी कोशिश की

पुलिस सूत्रों ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि पहले नेहा की छाती और पेट पर हमला किया, लेकिन जैसे ही वह गिर गई, फैयाज ने उसके पूरे शरीर पर लगातार चाकू से वार करना शुरू कर दिया। आरोपी ने उसका गला काटने की भी कोशिश की थी। 

धर्म परिवर्तन कराना चाहता था फैयाज

नेहा हिरेमथ हुबली के बीवीबी कॉलेज में एमसीए की पढ़ाई कर रही थी। उसकी हत्या प्रेमी फैयाज कोंडिकोप्पा ने की थी। दोनों बीसीए में साथ पढ़ते थे और दोस्त थे। फैयाज ने बीसीए के बाद अपनी पढ़ाई बंद कर दी थी। नेहा के पिता और कांग्रेस पार्षद ने कहा कि आरोपी कई सालों से उनकी बेटी का जबरन धर्म परिवर्तन कराना चाहता था। 


...

दिल्ली में 5 साल की मासूम बच्ची के साथ हुआ रेप

दिल्ली के बवाना इलाके में 5 साल की मासूम बच्ची की रेप के बाद हत्या कर दी गई। पुलिस ने आरोपी को पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि ये घटना 24 मार्च की है। आरोपी बच्ची को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गया। उसके बाद रेप के बाद हत्या करके शव को फैक्ट्री में छिपा दिया।

24 मार्च को शाम 5 बजे बच्ची लापता हुई

पुलिस ने बताया कि 24 मार्च को रात के करीब 10:27 बजे बवाना इलाके से पीसीआर को कॉल आया। इसमें बताया गया कि 5 साल की बच्ची लापता है। बच्ची के पैरेंट्स ने FIR दर्ज करवाई। बच्ची के पिता बवाना में ही एक चाय की दुकान चलाते हैं। दिन भर बच्ची उन्हीं के साथ रहती थी।

पुलिस ने बताया कि बच्ची को 24 मार्च को शाम 5 बजे आखिरी बार देखा गया। घरवालों ने जब बच्ची की खोज की तो वो नहीं मिली। ऐसे में उन्होंने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस बच्ची की तलाश में जुट गई। पुलिस और बच्ची के परिजनों ने तलाश जारी रखी।

CCTV में आरोपी के साथ जाते दिखी बच्ची

पुलिस ने 25 मार्च की सुबह जब CCTV खंगाले तो पता चला कि वो एक शख्स के साथ जा रही है। जब फुटेज को बच्ची के माता-पिता को दिखाया गया तो उन्होंने शख्स को पहचान लिया। पैरेंट्स ने शख्स की पहचान टोटन लोहार उर्फ खुदी के रूप में की। पुलिस जब टोटन के घर पहुंची तो वहां से वह फरार निकला।

वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी पश्चिम बंगाल भागा

आरोपी को जानने वाले एक व्यक्ति ने पुलिस को बताया कि टोटन पश्चिम बंगाल जा रहा है। इसके लिए वो नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर हावड़ा जाने के लिए पूर्वा एक्सप्रेस पकड़ने गया है। पुलिस की एक टीम तुंरत न्यू दिल्ली रेलवे स्टेशन गई तो पता चला गया कि स्टेशन से ट्रेन निकल चुकी थी।

आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस फ्लाइट से पश्चिम बंगाल गई

पुलिस की एक टीम को फ्लाइट से पश्चिम बंगाल के हावड़ा एयरपोर्ट भेजा गया। पुलिस की टीम हावड़ा पहुंचते ही हावड़ा रेलवे स्टेशन पर चली गई। वहां पूर्वा एक्सप्रेस का इंतजार करने लगी। जैसे ही आरोपी ट्रेन से बाहर निकला, पुलिस ने उसे पकड़ लिया और गिरफ्तार कर लिया।

27 मार्च की सुबह आरोपी को वापस दिल्ली लाकर पूछताछ की गई। आरोपी ने रेप और मर्डर की बात कबूल की। पुलिस ने शव सहित एक ब्लेड और एक ईंट बरामद की है। मामले में IPC की धारा 302, 376 और POCSO एक्ट जोड़ा गया है। फिलहाल आरोपी पुलिस कस्टडी में है।

दिल्ली महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित शहर

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) ने 2022 की अपनी रिपोर्ट में दिल्ली को महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित शहर बताया है। यह रिपोर्ट 3 दिसंबर 2023 को जारी की गई थी। इसमें बताया गया है कि 2022 में दिल्ली में हर दिन 3 रेप केस दर्ज किए गए।

NCRB की रिपोर्ट में बताया कि देश में महिलाओं के खिलाफ अपराध के कुल 4 लाख 45 हजार 256 केस दर्ज किए गए, यानी हर घंटे लगभग 51 FIR हुईं। 2021 में यह आंकड़ा 4 लाख 28 हजार 278 था।

2021 की तुलना में महिला अपराधों में 4% की बढ़ोतरी हुई है। पिछले साल हर एक लाख बच्चों में क्राइम रेट 36.6 था, जो साल 2021 (33.6) की तुलना में 3% ज्यादा है।

दिल्ली के अफसर पर दोस्त की नाबालिग बेटी से रेप का आरोप

दिल्ली सरकार के महिला एवं बाल विकास विभाग के डिप्टी डायरेक्टर पर नाबालिग लड़की से रेप करने का आरोप लगा है। न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक, लड़की इस अफसर के दोस्त की बेटी है, जिसे वह नवंबर 2020 में दोस्त की मौत के बाद अपने घर ले आया था। पुलिस ने बताया कि इस अधिकारी ने जनवरी 2021 तक कई बार नाबालिग का यौन शोषण किया। जब वह प्रेग्नेंट हो गई तो आरोपी की पत्नी ने उसे अबॉर्शन पिल्स दीं। 

दिल्ली AIIMS का डॉक्टर रेप-गर्भपात के आरोप में गिरफ्तार

दिल्ली AIIMS से PhD कर रहे डॉक्टर अमित यादव को गाजियाबाद पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार किया है। डॉक्टर अमित पर गाजियाबाद की एक युवती से सगाई करने, रेप के बाद गर्भपात कराने और फिर ब्लैकमेल करने का आरोप है। पुलिस आज आरोपी डॉक्टर को कोर्ट में पेश करेगी। 


...

यूपी के बदायूं में दो बच्चों की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या

यूपी के बदायूं में दो बच्चों का मर्डर कर दिया गया. आरोपी ने मासूमों को कुल्हाड़ी से काट डाला. गुस्साए लोगों ने पुलिस स्टेशन पर हंगामा किया. गाड़ियों में तोड़फोड़ और आगजनी भी की गई है. इलाके में तनाव है और पुलिस बल तैनात है. डबल मर्डर का आरोपी जावेद एनकाउंटर में ढेर हो गया है.

आरोपी ने भागने की कोशिश की- पुलिस

बरेली आईजी राकेश कुमार ने कहा, "आज शाम एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना घटी. पुलिस मौके पर पहुंची तो आरोपियों ने भागने की कोशिश की. आरोपी ने पुलिस पर फायरिंग की और जवाबी कार्रवाई में आरोपी की मौके पर ही मौत हो गई. आरोपी की उम्र 25-30 के बीच है...कार्रवाई जारी है. ''

राकेश कुमार ने कहा कि जब पुलिस को सूचना मिली तो वो मौके पर पहुंची. अपराधी का पीछा किया गया. अपराधी ने पुलिस पर फायर किया. पुलिस ने अपने बचाव में फायरिंग की. इस एक्सचेंज ऑफ फायर में अपराधी की मौके पर मौत हो गई. 

छत पर खेल रहे थे बच्चे- पुलिस

इसके साथ ही आईजी ने बताया कि दोनों बच्चे छत पर खेल रहे थे. इसी दौरान अपराधी वहां आया और बच्चे की हत्या कर दी. अपराधी के बारे में और जानकारी जुटाई जा रही है.

बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया- डीएम

वहीं, इस मामले पर बदायूं के डीएम मनोज कुमार ने कहा, "आज शाम को सूचना मिली कि बाबा कॉलोनी में एक युवक ने एक घर में घुसकर दो बच्चों की हत्या कर दी. उसको लेकर कुछ लोग आक्रोशित हो गए. उन्हें समझाया बुझाया गया है. बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए हम लोगों ने भिजवाया है. उन्हें आश्वस्त किया गया है कि न्यायपूर्ण कार्रवाई होगी. मरने वाले बच्चों की उम्र लगभग 11 साल और छह साल है. अभी कोई कारण स्पष्ट होकर सामने नहीं आ रहा है. ये जांच का विषय है."


...

कर्तव्य पथ पर दिनदहाड़े चाकू से हमला

राजधानी दिल्ली स्थित कर्तव्य पथ पर एक युवक पर चाकू से हमला किया गया है. दिल्ली के सबसे सेंसिटिव इलाकों में से एक कर्तव्य पथ पर हमले की जानकारी मिलते ही हड़कंप मच गया. हालांकि पुलिस ने चाकू से हमला करने वाले आरोपी को तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस के मुताबिक फोटोग्राफर और एक युवक के बीच झगड़ा हो गया था, जिसको लेकर कर्तव्य पथ पर चाकूबाजी हो गई.

जानकारी के मुताबिक मंगलवार की दोपहर को फोटोग्राफर और युवक के बीच झगड़ा हुआ जिसके बाद फोटोग्राफर पर चाकू से हमला कर दिया गया. आरोपी ने पीड़ित के हाथ और गले पर चाकू से वार किए. बताया जा रहा है कि पीड़ित शख्स इंडिया गेट पर फोटोग्राफी का काम करता है. पुलिस ने बताया है कि आरोपी का नाम योहान है और वो मानसिक रूप से भी ठीक नहीं लग रहा है. बताया गया है कि आरोपी शख्स तेलंगाना का रहने वाला है. आरोपी तेलंगाना से भी घर से भागा हुआ है और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है.

दिल्ली के सबसे ज्यादा सेंसिटिव इलाकों में से एक है कर्तव्य पथ

कर्तव्य पथ दिल्ली के सबसे सेंसिटिव इलाकों में से एक है. ये रोड राष्ट्रपति भवन को इंडिया गेट से जोड़ती है. ये वही रोड है, जिसपर महीने भर पहले ही 26 जनवरी की परेड हुई थी और देश दुनिया के नामचीन शख्स इकट्ठा हुए थे. इस इलाके में कई मंत्रालय और प्रशासनिक भवन भी हैं. ऐसे में यहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहते हैं. इन इंतजामों के बावजूद भी चाकूबाजी की घटना होने से इलाके में हड़कंप मच गया. हालांकि पुलिस ने समय रहते ही आरोपी शख्स को दबोच लिया. पुलिस अब इस मामले में आगे की पड़ताल कर रही है. साथ ही पीड़ित शख्स को भी उपचार के लिए भेज दिया गया है. 


...

कैब लूटने में नाकाम होने पर ड्राइवर को चाकू से गोदा

कोतवाली फेज-दो क्षेत्र में मंगलवार रात ग्राहक बनकर कैब में बैठे लुटेरे ने साथी के साथ मिलकर कैब लूटने का प्रयास किया। विफल होने पर चालक को चाकू से गोद डाला। गले पर रखा चाकू पकड़ने से चालक के हाथ की अंगुलियां भी कट गई हैं। गंभीर हालत में चालक का अस्पताल में उपचार चल रहा है।

एक साल पहले ही खरीदी थी नई कार

जिला फर्रुखाबाद के गांव नौगवां के संग्राम सिंह ने दर्ज कराई एफआइआर में बताया कि वह सेक्टर-105 में रहते हैं। साला विनीत कुमार स्विफ्ट डिजायर कार कैब में चलाता है। करीब एक वर्ष पहले ही उसने नई कार खरीदी थी।

20 फरवरी की रात करीब एक बजे विनीत लहूलुहान हालत में उसके घर पर पहुंचा। उसने बताया कि गाजियाबाद से दीपक नामक युवक ने कैब बुक की। वह उसे लेकर कोतवाली फेज-दो क्षेत्र में याकूबपुर पहुंचा।

यहां कार से उतराने के बाद जैसे ही चलने लगा तो ग्राहक बने दीपक दोबारा उसके पास आया और जैसे ही सीट बेल्ट लगाई तो उसने मुंह पर रुमाल लगाकर लूटपाट की नियत बेहोश करने का प्रयास किया।

विनीत ने रुमाल पकड़ लिया तो आरोपित ने उसके गर्दन पर चाकू रख दिया। विनीत ने हाथों से चाकू पकड़ लिया। जिससे उसकी अंगुलियां कट गईं। आरोपित ने हाथ से चाकू खींचकर गर्दन पर कई जगह हमला करके घायल कर दिया।

शोर मचाने पर भागे आरोपी

विनीत ने विरोध जताते हुए शोर मचाया तो पकड़ने के जाने के डर से दोनों आरोपित भाग गए और विनीत लहूलुहान हालत में किसी तरह अपने बहनोई के घर पहुंचा। विनीत का कहना है कि दीपक के साथ एक व्यक्ति और भी था, जिसे वह सामने आने पर पहचान सकता है। पुलिस ने हत्या के प्रयास की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।


...

दिल्ली में चाकू की नोक पर नाबालिग का शोषण

दिल्ली के हौज खास में 14 साल के एक लड़के का उसके ही तीन दोस्तों ने शोषण किया। आरोपियों ने पहले तो चाकू की नोक पर नाबालिग से अपने जूते चटवाए। फिर प्राइवेट पार्ट मुंह से टच करवाया।

तीनों आरोपियों ने इस घटना का वीडियो भी रिकॉर्ड किया और उसे इंस्टाग्राम पर अपलोड किया। आरोपियों की उम्र 12 से 14 साल के बीच है।

मामले का खुलासा तब हुआ, जब किसी ने वो वीडियो पीड़ित की मां के पास भेजा। मां ने तुरंत पुलिस को सूचना दी। फिलहाल तीनों आरोपी पकड़ लिए गए हैं और पूछताछ जारी है।

अब सिलसिलेवार पढ़िए पूरा घटनाक्रम..

पुलिस अधिकारी के मुताबिक, पीड़ित लड़का शनिवार (27 जनवरी) को हौज खास के सेंट्रल पार्क में खेलने गया था। शाम करीब 6.30 बजे घर लौट रहा था। तभी रास्ते में उसके तीन दोस्त मिले। जो उसे एक सुनसान जंगल ले गए।

तभी एक एक आरोपी ने सब्जी काटने वाला चाकू निकाला और पीड़ित को धमकाने लगा। पहले उसने अपने जूते चाटने पर मजबूर किया फिर अननैचुरल सेक्स किया। तीनों ने उस हरकत को अपने मोबाइल फोन में भी कैद कर लिया।

अधिकारी ने कहा कि आरोपी ने पीड़ित से इस घटना के बारे में किसी को न बताने की धमकी भी दी। इससे लड़का काफी डर गया और उसने अपने माता-पिता से भी यह बात छुपाई। बाद में जब मां के फोन में किसी ने रविवार को घटना का वीडियो भेजा, तब मामला सामने आया।

पुलिस ने बताया- आरोपियों ने दबदबा कायम करने के लिए ऐसा किया  

लड़के के बयान के आधार पर हौज खास पुलिस स्टेशन में IPC की धारा 377 (अप्राकृतिक यौन संबंध) और 506 (आपराधिक धमकी) और POCSO अधिनियम की धारा 12 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

एक अन्य पुलिस अधिकारी ने कहा कि ऐसा लगता है कि पीड़ित के पड़ोस में रहने वाले आरोपियों ने इलाके में अपना दबदबा कायम करने के लिए अपराध किया।

अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने इंस्टाग्राम पर वीडियो डालने वाले व्यक्ति का यूआरएल और अन्य जानकारी इकठ्ठा करना शुरु कर दी है। वीडियो को फोरेंसिक जांच के लिए लैब में भी भेजा गया है।

अफसर पर दोस्त की नाबालिग बेटी से रेप का आरोप: पत्नी ने अबॉर्शन पिल्स दी; लड़की के पिता गुजरे तो अपने घर रखा था

दिल्ली सरकार के महिला एवं बाल विकास विभाग के डिप्टी डायरेक्टर पर नाबालिग लड़की से रेप करने का मामला सामने आया था। लड़की इस अफसर के दोस्त की बेटी है, जिसे वह नवंबर 2020 में दोस्त की मौत के बाद अपने घर ले आया था। पुलिस ने बताया कि इस अधिकारी ने जनवरी 2021 तक कई बार नाबालिग का यौन शोषण किया। जब वह प्रेग्नेंट हो गई तो आरोपी की पत्नी ने उसे अबॉर्शन पिल्स दीं।


...

Noida में रूह कंपाने वाली वारदात: पहले चाकू से गोदा, फिर बाइक से बांधकर घसीटा

नोएडा में ई-रिक्शा चालक को बाइक से बांधकर घसीटने के मामले में रूह कंपा देने वाला वीडियो सामने आया है। इसमें दिखाई दे रहा है कि बेखौफ आरोपित किस तरह व्यक्ति को बांधकर घसीट रहे हैं।

 दो युवक बाइक पर बैठे हैं और एक व्यक्ति के पैर बाइक से बंधे हुए हैं। इसके बाद दोनों लोग उसे घसीटते हुए ले जा रहे हैं।

दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो इसी घटना का है। बाइक पर बैठे आरोपितों का नाम मृतक व्यक्ति की पत्नी के मुताबिक अनुज और नितिन हैं। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है।

पूरी कहानी मृतक की पत्नी की जुबानी

मृतक मेहंदी हसन की पत्नी नजमा ने बताया कि वह मूलरूप से जिला बदायूं के इस्लानगर के गांव मोहन नगला के रहने वाले हैं। पिछले कई वर्षों से नोएडा में रह रहे हैं। उनके चार बच्चे हैं। पति ई-रिक्शा चलाते हैं, जबकि वह बतौर घरेलू सहायिका सोसायटियों में काम करती हैं।

उन्होंने बताया कि शनिवार शाम पति उन्हें ई-रिक्शा से सोसायटी से लेकर घर आए थे। जब नजमा ने घर रुकने के लिए कहा तो कुछ देर और ई-रिक्शा चलाने की बात कहकर घर से निकल गए।

उसके कई घंटे बाद सूचना मिली कि उन्हें चाकू से मारकर घायल कर दिया है और बाइक से पैर बांधकर घसीटते हुए ले गए हैं। मौके पर जाकर देखा तो वहां खून पड़ा था, इसके बरौला चौकी पहुंचे तो वहां भी खून मिला। पीड़िता ने आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।



...

सुप्रीम कोर्ट ने बिलकिस बानो केस में गुजरात सरकार के फैसले को किया रद्द

गुजरात के चर्चित बिलकिस बानो केस में सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार (08 जनवरी 2024) को अहम फैसला सुनाया. सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस बीवी नागरत्ना की बेंच ने बिलकिस बानो केस में 11 दोषियों को बरी करने के गुजरात सरकार के फैसले को रद्द कर दिया. इतना ही नहीं SC ने कहा कि भौतिक तथ्यों को दबाकर और भ्रामक तथ्य बनाकर दोषियों ने सुप्रीम कोर्ट से गुजरात राज्य को माफी पर विचार करने का निर्देश देने की मांग की थी.

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में क्या क्या कहा?

1- सुप्रीम कोर्ट ने बिलकिस बानो केस में 11 दोषियों को दी गई छूट को इस आधार पर खारिज कर दिया कि गुजरात सरकार के पास सजा में छूट देने का कोई अधिकार नहीं था. 

2- SC ने  बिलकिस बानो केस में दोषियों की रिहाई के खिलाफ याचिकाओं को सुनवाई योग्य माना. 

3- SC ने कहा, 13 मई 2022 के जिस आदेश में सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को रिहाई पर विचार के लिए कहा था, वह दोषियों ने भौतिक तथ्यों को दबाकर और भ्रामक तथ्य बनाकर हासिल किया था. 

4- जस्टिस नागरत्ना ने कहा कि अपराधियों को सजा इसलिए दी जाती है, ताकि भविष्य में अपराध रुकें.

5- जस्टिस नागरत्ना ने अपने फैसले में कहा कि अपराधी को सुधरने का मौका दिया जाता है. लेकिन पीड़िता की तकलीफ का भी एहसास होना चाहिए. 

6- SC ने कहा, हमने कानूनी लिहाज से मामले को परखा है. पीड़िता की याचिका को हमने सुनवाई योग्य माना है. इसी मामले में जो जनहित याचिकाएं दाखिल हुई हैं, हम उनके सुनवाई योग्य होने या न होने पर टिप्पणी नहीं कर रहे. 

7- सर्वोच्च अदालत ने कहा, जिस कोर्ट में मुकदमा चला था, रिहाई पर फैसले से पहले गुजरात सरकार को उसकी राय लेनी चाहिए थी

8- SC ने कहा, जिस राज्य में आरोपियों को सजा मिली, उसे ही रिहाई पर फैसला लेना चाहिए था. दोषियों को महाराष्ट्र में सजा मिली थी. इस आधार पर रिहाई का आदेश निरस्त हो जाता है. 

9- कोर्ट ने कहा, यह एक ऐसा मामला है जहां इस अदालत के आदेश का इस्तेमाल छूट देकर कानून के शासन का उल्लंघन करने के लिए किया गया था. 

10- सुप्रीम कोर्ट ने कहा, हमारा मानना है कि इन दोषियों को स्वतंत्रता से वंचित करना उचित है. एक बार उन्हें दोषी ठहराए जाने और जेल में डाल दिए जाने के बाद उन्होंने अपनी स्वतंत्रता का अधिकार खो दिया है. साथ ही, यदि वे दोबारा सजा में छूट चाहते हैं तो यह जरूरी है कि उन्हें जेल में रहना होगा. सुप्रीम कोर्ट ने सभी 11 दोषियों को 2 हफ्ते में सरेंडर करने के लिए कहा है.

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, 2002 में गुजरात में गोधरा स्टेशन पर साबरमती एक्सप्रेस के कोच को जला दिया गया था. इसके बाद गुजरात में दंगे फैल गए थे. इन दंगों की चपेट में बिलकिस बानो का परिवार भी आ गया था. मार्च 2002 में भीड़ ने बिलकिस बानो के साथ रेप किया था. तब बिलकिस 5 महीने की गर्भवती थीं. इतना ही नहीं, भीड़ ने उनके परिवार के 7 सदस्यों की हत्या भी कर दी थी. बाकी 6 सदस्य वहां से भाग गए थे.

कई सालों की सुनवाई के बाद सीबीआई कोर्ट ने 11 को दोषी ठहराया था और उम्रकैद की सजा सुनाई थी. इनमें से एक दोषी ने गुजरात हाईकोर्ट में अपील दायर कर रिमिशन पॉलिसी के तहत उसे रिहा करने की मांग की थी. गुजरात हाईकोर्ट ने इसे खारिज कर दिया. इसके बाद दोषियों ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. मई 2022 में सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में गुजरात सरकार से फैसला लेने के लिए कहा था. इसके बाद गुजरात सरकार ने रिहाई पर फैसला करने के लिए कमेटी का गठन किया था. कमेटी की सिफारिश पर गुजरात सरकार ने सभी 11 दोषियों को रिहा कर दिया था. 

ये आरोपी हुए थे रिहा

जसवंत नाई, गोविंद नाई, शैलेश भट्ट, राध्येशम शाह, बिपिन चंद्र जोशी, केसरभाई वोहनिया, प्रदीप मोर्दहिया, बकाभाई वोहनिया, राजूभाई सोनी, मितेश भट्ट और रमेश चंदना. जेल में 15 साल गुजारने के साथ-साथ कैद के दौरान उनकी उम्र और व्यवहार को ध्यान में रखते हुए उन्हें 15 अगस्त, 2022 को रिहा कर दिया गया था. बताया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सभी 11 दोषियों को जेल जाना पड़ेगा. 


...

तेलंगाना में सबसे ज्यादा साइबर क्राइम

देश में साइबर क्राइम के मामले में तेलंगाना सबसे आगे हैं। यहां हर तरह के साइबर क्राइम दूसरे राज्यों की तुलना में सबसे ज्यादा होते हैं। 2022 में तेलंगाना में बैंकिंग फ्रॉड के 3223, OTP फ्रॉड के 2179 और साइबर ब्लैकमेलिंग के 234 केस दर्ज किए गए।

तेलंगाना के बाद महाराष्ट्र, बिहार और उत्तर प्रदेश को साइबर क्राइम हॉट स्पॉट कहा जा सकता है। महाराष्ट्र में फेक प्रोफाइल के सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए गए। वहीं बिहार में एटीएम फ्रॉड के मामल सबसे ज्यादा हुए।

गृह मंत्रालय की एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है। दरअसल, गृह मंत्रालय ने नेशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल, डेटा पोर्टल और NCRB के माध्यम से देश के विभिन्न राज्यों में हो रहे साइबर क्राइम के विभिन्न प्रकारों के आधार पर एक रिपोर्ट तैयार की है।

इससे यह पता चलता है कि किस राज्य में किस प्रकार के साइबर अपराध सबसे ज्यादा है। ताकि राज्यों के हिसाब से साइबर क्राइम के विभिन्न प्रकारों को समझ कर इससे निपटने की नई रणनीति तैयार की जा सके। न में 51 और यूपी में 37 केस दर्ज किए गए।

फेक न्यूज फैलाने में तेलंगाना के बाद MP-महाराष्ट्र आगे

गृह मंत्रालय की रिपोर्ट बताती है कि देशभर में सोशल मीडिया पर फेक न्यूज फैलाने का अपराध 6 राज्यों में सबसे अधिक होता है। इनमें तेलंगाना, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और आंध्र प्रदेश टॉप पर हैं। देशभर में 2022 में फेक न्यूज फैलाने के 230 मामले दर्ज किए गए थे, जिनमें से तेलंगाना में 81, तमिलनाडु में 37 मामले आए थे।

तेलंगाना और महाराष्ट्र में साइबर ब्लैकमेलिंग के मामले भी सबसे ज्यादा दर्ज किए गए। तेलंगाना में 2022 में साइबर ब्लैकमेलिंग के 234, महाराष्ट्र में 95, असम में 70, राजस्था

बिहार में एटीएम फ्रॉड के सबसे ज्यादा 638 केस

2022 में देशभर में एटीएम फ्रॉड के 1690 केस दर्ज हुए। इस मामले में बिहार सबसे आगे हैं। अकेले बिहार में 638 एटीएम फ्रॉड केस दर्ज हुए हैं। इसके बाद दूसरे नंबर पर तेलंगाना (624) और तीसरे नंबर पर महाराष्ट्र (144) का नाम आता है।

महाराष्ट्र में फेक प्रोफाइल के सबसे ज्यादा मामले

सोशल मीडिया पर किसी व्यक्ति का फेक प्रोफाइल बनाकर ठगी के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र और राजस्थान में सामने आए हैं। देशभर में ऐसे कुल 157 मामले दर्ज किए गए थे। महाराष्ट्र में 48, राजस्थान में 33, बिहार में 26 और तेलंगाना में 14 मामले दर्ज किए गए थे।

साइबर फ्राड में पिंक वाट्सऐप 'डकैती' का नया वर्जन: ठगी के 5 तरीके और वो कहानियां जिससे सीखकर आप बच सकते हैं

साइबर क्रिमिनल्स इन दिनों पिंक वाट्सऐप के जरिए ‘डकैती’ कर रहे हैं। लोगों को लगता है कि ये वाट्सऐप का नया वर्जन है, लेकिन ये उनके बैंक बैलेंस को खाली करने के साथ फोन को भी हैक कर लेता है।

जब तक साइबर क्राइम एक्सपर्ट ठगी के एक तरीके को ट्रैक करते हैं तब तक ठग दूसरा नया तरीका ढूंढ लेते हैं।


...

दिल्ली में 17 साल की लड़की पर एसिड अटैक

दिल्ली के आनंद पर्वत इलाके में गुरुवार को 54 साल के एक आदमी ने 17 साल की लड़की पर एसिड फेंक दिया। इसके बाद आरोपी ने खुद भी एसिड पी ली। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

पुलिस ने बताया कि आरोपी ने लड़की के घर के सामने उस पर हमला किया था। आरोपी की पहचान प्रेम सिंह के रूप में की गई। पीड़ित मामूली रूप से झुलसी थी। इलाज के बाद डॉक्टरों ने उसे डिस्चार्ज कर दिया।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, प्रेम सिंह पर नाबालिग लड़की से रेप का आरोप था। इस मामले में वह जेल में बंद था। अपने घर पर एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए 29 नवंबर को अंतरिम जमानत पर बाहर आया था।

केस वापस लेने का दबाव बना रहा था

लड़की ने पुलिस को बताया कि रेप मामले में उसकी मां ने प्रेम सिंह के खिलाफ केस दर्ज कराया था। जेल से बाहर आने के बाद वह लड़की के परिवार को लगातार धमकी दे रहा था।

गुरुवार की सुबह 7:30 बजे भी आरोपी ने लड़की को रेप का मामला वापस लेने के लिए धमकी दी थी। लड़की ने अपनी शिकायत वापस लेने से मना कर दिया। जिसके बाद आरोपी ने एसिड पर उससे हमला कर दिया।

दिल्ली में एक साल पहले भी ऐसी घटना हुई

पिछले साल 14 दिसंबर को दिल्ली में एक ऐसी ही घटना हुई थी। द्वारका इलाके में 17 साल की लड़की अपनी छोटी बहन के साथ जा रही थी, तभी बाइक पर सवार 2 लोग आए। पीछे बैठे लड़के ने तेजाब फेंक दिया।

लड़की को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसका चेहरा झुलस गया था। इस मामले में तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। पूछताछ में पता चला कि आरोपियों ने एसिड फ्लिपकार्ट से ऑनलाइन खरीदा था।

NCRB की रिपोर्ट में दावा- दिल्ली महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) ने 3 दिसंबर को 2022 की रिपोर्ट जारी की। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि दिल्ली महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित शहर है। यहां 2022 में एक दिन में 3 रेप केस दर्ज किए गए।

NCRB की 546 पेज की रिपोर्ट में बताया कि देश में महिलाओं के खिलाफ अपराध के कुल 4 लाख 45 हजार 256 केस दर्ज किए गए, यानी हर घंटे लगभग 51 FIR हुईं। 2021 में यह आंकड़ा 4 लाख 28 हजार 278 था।

बॉयफ्रेंड ने दहेज में BMW, सोना और जमीन की डिमांड की, महिला डॉक्टर ने सुसाइड किया

केरल के तिरुवनंतपुरम में दहेज की मांग से परेशान 26 साल की महिला डॉक्टर ने आत्महत्या कर ली। उनकी शादी बॉयफ्रेंड से तय हुई थी। लड़के के परिवार ने दहेज में BMW कार, 15 एकड़ जमीन और सोने की मांग की थी। इतना दहेज देने से मना करने पर लड़के वालों ने शादी तोड़ दी थी।

पालघर में 8 साल की बच्ची की हत्या:नाबालिग पड़ोसी ने गला घोंटा; 2 दिन शव घर में छिपाया

महाराष्ट्र के पालघर में 16 साल के लड़के ने पड़ोस में रहने वाली 8 साल की बच्ची की गला दबाकर हत्या कर दी। बच्ची लड़के को चिढ़ाती थी, जिससे नाराज होकर लड़के ने यह कदम उठाया।

हत्या के बाद मासूम के शव को एक प्लास्टिक बैग में बंद कर फेंक दिया। पुलिस को 3 दिन बाद बच्ची का शव मिला। पुलिस ने आरोपी लड़के को हिरासत में लिया।


...