मार्च में 12 दिन बंद रहेगा शेयर बाजार

भारतीय शेयर बाजार के लिए मार्च का महीना कम कारोबारी दिनों वाला साबित होने वाला है. ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि वित्त वर्ष 2024 के आखिरी महीने यानी मार्च 2024 में पूरे 12 दिन भारतीय शेयर बाजार बंद रहेगा और केवल 19 दिनों ही इसमें ट्रेड होगा. 31 मार्च 2024 को वित्त वर्ष 2023-24 का समापन हो जाएगा.

मार्च में पड़ रहीं तीन छुट्टी- 2 राष्ट्रीय और एक ग्लोबल इवेंट

मार्च में 2 बड़े त्योहार और एक वैश्विक शोक दिवस आ रहा है जिनके उपलक्ष्य में इन तीन दिनों पर शेयर बाजार बंद रहेंगे. 8 मार्च को हिंदुओं का पर्व महाशिवरात्रि है और इस दिन शुक्रवार है जिसमें शेयर बाजार बंद रहेगा. 25 मार्च को रंग वाली होली (धुलेंडी) के उपलक्ष्य में सोमवार को शेयर बाजार बंद रहेंगे. इसके अलावा ईसाइयों के शोक दिवस गुड फ्राइडे के उपलक्ष्य में 29 मार्च शुक्रवार को इंडियन स्टॉक मार्केट बंद रहेंगे.

शेयर बाजार में बड़ा संयोग- तीन छुट्टी और तीनों ही लॉन्ग वीकेंड

8 मार्च शुक्रवार- महाशिवरात्रि

भगवान शिव की आराधना का महापर्व महाशिवरात्रि इस बार 8 मार्च को है और इस दिन स्टॉक मार्केट में कामकाज नहीं होगा. इसके अगले दिन शनिवार और रविवार क्रमशः 9 और 10 मार्च को पड़ रहे हैं. लिहाजा 3 दिन शेयर बाजार बंद रहेंगे. 8 मार्च को ही अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस भी मनाया जाता है.

25 मार्च सोमवार- होली

रंगों का त्योहार होली इस साल 25 मार्च को है और दिन है सोमवार. यानी 23 और 24 मार्च को शनिवार-रविवार के चलते शेयर बाजार बंद रहेंगे और ये वीकेंड भी लॉन्ग वीकेंड साबित होगा.

29 मार्च शुक्रवार- गुड फ्राइडे

गुड फ्राइडे मुख्य रूप से दुनिया भर में फैले ईसाइयों द्वारा मनाया जाता है. ये ईसा मसीह के सूली पर चढ़ने की याद में शोक दिवस के रूप में माना जाता है. ईसाइयों के बीच ये मान्यता है कि इस दिन यीशू को सूली पर चढ़ाया गया था. इस दिन ग्लोबल बाजार भी बंद रहेंगे और अमेरिकी बाजारों के साथ भारतीय बाजारों में भी अवकाश रहेगा.

मार्च में 12 दिन स्टॉक मार्केट हॉलिडे पर एक शनिवार रहेगा वर्किंग

शनिवार 2 मार्च को NSE और BSE ने स्पेशल ट्रेडिंग सेशन आयोजित करने का ऐलान किया है जिसके चलते मार्च का पहला शनिवार वर्किंग रहेगा. 2 मार्च को इक्विटी और इक्विटी डेरिवेटिव्स सेगमेंट में ट्रेडिंग होगी. इस दिन डिजास्टर रिकवरी साइट (DR Site) पर इंट्रा डे स्विच ओवर किया जाएगा. इस दिन दो स्पेशल ट्रेडिंग सेशन आयोजित होंगे जिसमें पहला ट्रेडिंग सेशन सुबह 9.15 बजे से 10 बजे तक और दूसरा ट्रेडिंग सेशन 11.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक आयोजित किया जाएगा.

इस स्पेशल सेशन को पहले 20 जनवरी को होना था लेकिन अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के चलते 22 जनवरी को घरेलू शेयर बाजार बंद रखे गए थे. इसके एवज में 20 जनवरी (शनिवार) को शेयर बाजार ओपन रखा गया था जिस दिन सामान्य कामकाज हुआ था.

...

4.5 हजार गुना बड़ा हो गया यूपी बजट

वर्ष 2024-25 का उत्तर प्रदेश का बजट कल यानी कि 5 फरवरी सोमवार को पेश किया जाएगा. उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना कल इस बजट को विधानमंडल में पेश करेंगे. एक अनुमान के मुताबिक यह बजट अब तक का सबसे बड़ा बजट होने वाला है , इसका आकार लगभग 7.50 लाख करोड रुपए से अधिक का होने का अनुमान है.  सूत्रों की माने तो इस बजट में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कई बड़ी सौगातों को धन आवंटित हो सकता है.

बजट के पहले होगी कैबिनेट बैठक

बजट पेश होने से पहले कैबिनेट बैठक होगी. ये बैठक सीएम योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में होगी इसमें बजट के मसौदे को मंजूरी दिलाई जाएगी. इसके बाद वित्त मंत्री सुरेश खन्ना विधानसभा में बजट पेश करेंगे ही बजट. पिछले दिनों केंद्र सरकार के अंतरिम बजट को उत्तर प्रदेश सरकार का यह बजट काफी कुछ सपोर्ट करते हुए नजर आएगा.

औद्योगिक गलियारों को बढ़ावा देने पर रहेगा फोकस

सूत्रों की माने तो कल पेश होने वाले उत्तर प्रदेश के इस बजट में तीन से चार नए औद्योगिक गलियारे बनाने के लिए वित्त मंत्री की तरफ से एक बड़ा बजट आवंटित किया जा सकता है. उत्तर प्रदेश में मौजूद औद्योगिक गलियारों के विकास के साथ नई औद्योगिक गलियारे बनाने पर सरकार का फोकस है, जिससे बड़े स्तर पर इन्वेस्टमेंट उत्तर प्रदेश में आए और 1 ट्रिलियन डॉलर इकोनामी बनाने में उत्तर प्रदेश अग्रणी भूमिका निभा सके.

धार्मिक स्थलों के विकास पर भी रहेगा फोकस

औद्योगिक गलियारों के साथ ही धार्मिक स्थलों के विकास पर भी विशेष फोकस बजट में देखने को मिल सकता है.अयोध्या, काशी और मथुरा जैसे धार्मिक स्थलों के विकास पर सरकार का विशेष फोकस दिखने वाला है तो वही कुंभ की तैयारी के लिए भी स्पेशल पैकेज सरकार इस बजट में आवंटित कर सकती है.

मेट्रो का होगा विस्तार 

योगी आदित्यनाथ की सरकार इस बजट में मेट्रो के विस्तार पर भी बड़ा पैसा खर्च करने वाली है. जानकारी के मुताबिक इस बात की उम्मीद जताई जा रही है कि योगी आदित्यनाथ की सरकार लखनऊ में मेट्रो के विस्तार के साथ ही गोरखपुर, प्रयागराज ,वाराणसी में मेट्रो को बनाने के लिए भी बड़ा बजट देने वाली है.

किसानों को मिलेगी सौगात

योगी आदित्यनाथ की सरकार इस बजट में किसानों को भी बड़े स्तर पर सौगात देने का मन बना रही है. इसमें सरकार बिजली में रियायत देने के साथ ही गन्ना भुगतान के लिए पैसे का आवंटन तो वहीं एमएसपी बढ़ाने के लिए भी बड़ा बजट आवंटित कर सकती है.

पेश होगा पेपरलेस बजट

योगी सरकार में वित्त मंत्री सुरेश खन्ना इस बार आठवां बजट पेश करने जा रहे हैं. इस कार्यकाल के पहले भी सुरेश खन्ना योगी आदित्यनाथ की सरकार का बजट पेश करते आए हैं. 2023 का बजट पेपरलेस बजट था और इस बार का भी बजट पेपरलेस बजट रहने वाला है.




...

इंफ्रास्ट्रक्चर की मजबूती के लिए 11.11 लाख करोड़ रुपये का प्रावधान

मोदी सरकार ने देश के आधारभूत ढांचे की मजबूती के लिए बजट में भारी भरकम बढ़ोतरी करने का एलान किया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इंफ्रास्ट्रक्चर बजट में 11.1 फीसदी की बढ़ोतरी का एलान करते हुए इसे बढ़ाकर 11,11,111 करोड़ रुपये कर दिया है जो कि जीडीपी का 3.4 फीसदी है.  

देश का इंफ्रास्ट्रक्चर होगा वर्ल्ड क्लास 

आधारभूत ढांचे की मजबूती पर जोर देते हुए वित्त मंत्री ने कैपिटल एक्सपेंडिचर के बजट  को लगातार चौथे वर्ष बढ़ाने का फैसला किया है. इंफ्रास्ट्रक्चर बजट को 11.1 फीसदी बढ़ाकर 11.11 लाख करोड़ रुपये कर दिया गया है जो कि जीडीपी का 3.4 फीसदी है.  

तीन आर्थिक रेलवे कॉरिडोर का होगा निर्माण 

कैपिटल एक्सपेंडिचर के बजट के बढ़ाने जाने के बाद ये उम्मीद की जा रही कि सरकार का फोकस आधारभूत ढांचे की मजबूती के साथ रेलवे पर रहने वाला है. तीन प्रमुख आर्थिक रेलवे कॉरिडोर  कार्यक्रम को लागू किया जाएगा जिसमें एनर्जी, मिनल्स सीमेंट कॉरिडोर  शामिल है. इसके अलावा पोर्ट कनेक्टिविटी और हाई डेनसिटी कॉरिडोर तैयार किया जाएगा. 

40,000 बोगियों को वंदे भारत स्टैंडर्ड में बदला जाएगा 

मल्टी-मोडल कनेक्टिविटी के लिए पीएम गति शक्ति के तहत इन प्रोजेक्ट्स की पहचान की गई है. इससे देश में लॉजिस्टिक कॉस्ट को बढ़ाने में कमी मिलेगी. इन प्रोजेक्ट्स के चलते हाई ट्रैफिक कॉरिडोर  में कंजेशन दूर करने से पैसेंजर ट्रेनों के ऑपरेशन में सुधार होगा. जिससे रेल यात्रा सुरक्षित होगी और ट्रेनों के स्पीड को बढ़ाने में भी मदद मिलेगी.  वित्त मंत्री ने एलान किया कि 40,000 नॉर्मल बॉगियों को वंदे भारत के स्टैंडर्ड के बराबर ट्रेनों में बदला जाएगा जिससे रेल यात्रा सुरक्षित और आरामदायक बनाया जा सके. 

पूर्ण बजट में बढ़ सकता है प्रावधान  

अंतरिम बजट में 11.11 लाख करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. लेकिन नई सरकार के गठन के बाद जब फुल बजट पेश किया जाएगा तो इस रकम को बढ़ाया भी जा सकता है. पिछले साल 2023-24 के बजट में कैपिटल एक्सपेंडिचर के लिए 10 लाख करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया था.  


...

वित्त मंत्री का अंतरिम बजट

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार, एक फरवरी को बजट पेश किया। उन्होंने 58 मिनट लंबा भाषण दिया। यह अंतरिम बजट है, क्योंकि अप्रैल-मई में आम चुनाव होने हैं। नई सरकार बनने के बाद पूर्ण बजट जुलाई में पेश होने की उम्मीद है। वित्त मंत्री सीतारमण के कार्यकाल का यह छठा बजट है।

हमने अंतरिम बजट की परंपरा को जारी रखा

वित्त मंत्री ने कहा, 'हमने अंतरिम बजट की परंपरा को जारी रखा है। दरअसल, अंतरिम बजट में किसी तरह की लोकलुभावन घोषणाएं नहीं की जाती हैं। यही वजह है कि सरकार ने किसी तरह की घोषणाएं करने से परहेज किया है।'

इनकम टैक्स कलेक्शन तीन गुना बढ़ा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया, 10 साल में इनकम टैक्स कलेक्शन तीन गुना बढ़ गया है। मैंने टैक्स रेट में कटौती की है। 7 लाख की आय वालों को कोई कर देय नहीं है। 2025-2026 तक घाटा को और कम करेंगे। राजकोषीय घाटा 5.1% रहने का अनुमान है। 44.90 लाख करोड़ रुपए का खर्च है और 30 लाख करोड़ का रेवेन्यू आने का अनुमान है।

टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं

डायरेक्ट या इनडायरेक्ट टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं।

रक्षा खर्च में 11.1% की बढ़ोतरी, अब यह GDP का 3.4% होगा।

आशा बहनों को भी आयुष्मान योजना का लाभ दिया जाएगा।

तिलहन के अनुसंधान को बढ़ावा दिया जाएगा। हर महीने 300 यूनिट बिजली फ्री दी जाएगी।

बीते 10 साल में दोगुना FDI आया

सीतारमण ने कहा कि FDI यानी फर्स्ट डेवलप इंडिया। 2014-23 के दौरान 596 अरब डॉलर विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (FDI) आया। यह 2005-2014 के दौरान आए FDI से दोगुना था। हम विदेशी पार्टनर्स से बाइलेटरल इन्वेस्टमेंट ट्रीटी कर रहे हैं।

40 हजार सामान्य रेल कोचेज वंदे भारत जैसे होंगे

ब्लू इकोनॉमी 2.0 के तहत नई योजना शुरू होगी। इलेक्ट्रिक गाड़ियों को बढ़ावा देंगे। 50 साल के लिए 1 लाख करोड़ के ब्याज मुक्त लोन देंगे। लक्षद्वीप के इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा देंगे। 40 हजार सामान्य रेल कोच वंदे भारत जैसे कोच में बदलेंगे।

इन्फ्रास्ट्रक्चर को और मजबूत बनाएंगे

वित्त मंत्री ने कहा, अटल जी ने कहा था- जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान। अब मोदी जी ने कहा- जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान, जय अनुसंधान। नए दौर की टेक्नोलॉजी और डेटा लोगों के जीवन और व्यापार में बदलाव ला रहा है। रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता के लिए नई योजना लाई गई है। इन्फ्रास्ट्रक्चर में विकास के लिए सरकार ने 11.1% ज्यादा खर्च का प्रावधान किया है।

बजट में महिलाओं-बच्चों पर ध्यान, मध्यम वर्ग के लिए आवास योजना

निर्मला ने बताया, हमारी सरकार सर्वाइकल कैंसर के वैक्सीनेशन पर ध्यान देगी। मातृ और शिशु देखरेख की योजनाओं को व्यापक कार्यक्रम के अंतर्गत लाया गया। 9-14 साल की लड़कियों के टीकाकरण पर ध्यान दिया जाएगा।

सरकार मिडिल क्लास के लिए आवास योजना लाएगी। अगले 5 साल में 2 करोड़ घर बनाए जाएंगे। पीएम आवास के तहत 3 करोड़ घर बनाए गए हैं।

3 करोड़ लखपति दीदी बनाने का लक्ष्य

वित्त मंत्री ने कहा- 'मत्स्य संपदा योजना से 55 लाख को नया रोजगार मिला। 5 इंटीग्रेटेड एक्वापार्क स्थापित किए जाएंगे। करीब 1 करोड़ महिलाएं लखपति दीदी बनीं। अब 3 करोड़ लखपति दीदी बनाने का लक्ष्य है।'

हमारा GDP यानी गवर्नेंस, डेवलपमेंट और परफॉर्मेंस पर जोर

हमने पारदर्शी, जवाबदेह, लोक केंद्रित और विश्वास आधारित प्रशासन दिया है। देश में निवेश की स्थिति अच्छी है। हमने 390 यूनिवर्सिटी की स्थापना की है। GST से वन मार्केट, वन टैक्स किया। भारत-मिडिल ईस्ट-यूरोप इकोनॉमिक कॉरिडोर एक परिवर्तनकारी पहल है।

निर्मला बोलीं- 4 करोड़ किसानों को पीएम फसल बीमा योजना का लाभ

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, 'पीएम जनधन योजना के तहत आदिवासी समाज तक पहुंचना है। विशेष जनजातियों के लिए विशेष योजना लेकर आए हैं। इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास में तेजी आई है। सरकारी योजनाएं जनता तक पहुंच रही हैं।

- हर घर जल योजना से पानी पहुंचाया जा रहा है। 78 लाख स्ट्रीट वेंडर को मदद दी गई है। - 4 करोड़ किसानों को पीएम फसल बीमा योजना का लाभ दिया जाता है। पीएम किसान योजना से 11.8 करोड़ लोगों को आर्थिक मदद मिली है। - आम लोगों के जीवन में बदलाव लाने का प्रयास किया जा रहा है। युवाओं को सशक्त बनाने पर भी काम किया है।

- तीन हजार नए आईटीआई खोले गए हैं। 54 लाख युवाओं को प्रशिक्षित किया गया है। एशियाई खेलों में भारत के युवाओं को कामयाबी मिली है। - तीन तलाक को गैरकानूनी घोषित किया है। महिलाओं को संसद में आरक्षण देने के लिए कानून लेकर आए हैं।

सीतारमण के बजट की खास बातें

- स्किल इंडिया मिशन में 1.4 करोड़ युवाओं को ट्रेंड किया गया। 3000 नए आईटीआई बनाए गए।

हम सबका साथ, सबका विकास के पथ पर आगे बढ़ रहे हैं। हमारा काम में सेक्युरलिज्म रखने पर जोर है। हमारा गरीब को एम्पॉवर्ड करने पर जोर है।

- बीते सालों में सरकार 25 करोड़ लोगों की गरीबी दूर करने में कामयाब रही है। हमारी सरकार का उद्देश्य सामाजिक न्याय कायम करना है। सरकार सर्वांगीण और सर्वसमावेशी विकास के लिए काम कर रही है।

- पीएम मुद्रा योजना के तहत 22.5 लाख करोड़ मूल्य के 43 करोड़ लोन मंजूर किए गए। महिला उद्यमियों को 30 करोड़ मुद्रा योजना ऋण दिए गए। 11.8 करोड़ किसानों को वित्तीय सहायता दी गई।

- सरकार ने 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाला। गरीब कल्याण योजना में ₹ 34 लाख करोड़ खातों में भेजे।

सीतारमण ने कहा- हमने भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद को खत्म किया

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा, 'हर घर जल, सभी के बिजली, गैस, वित्तीय सेवाएं और बैंक अकाउंट खोलने के लिए काम किया है| खाद्यान्न की चिंताओं को दूर किया है। 80 करोड़ लोगों को निशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराया है। मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा किया है, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की आय बढ़ी है। 2047 तक भारत एक विकसित राष्ट्र बन जाएगा। हम लोगों को सशक्त बनाने का काम कर रहे हैं। हमने भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद को खत्म किया है।'

वित्तमंत्री ने कहा- हम सबका साथ, सबका विश्वास और सबके प्रयास के मंत्र से आगे बढ़े

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट भाषण पढ़ना शुरू कर दिया है। निर्मला ने कहा, देश की जनता भविष्य की तरफ देख रहे हैं। वे आशान्वित हैं। पीएम मोदी के नेतृत्व में हम आगे बढ़ रहे हैं। जब पीएम मोदी ने 2014 में काम शुरू किया तब बहुत ज्यादा चुनौतियां थीं। जनता के हित में काम शुरू किए हैं। जनता को ज्यादा से ज्यादा रोजगार के अवसर दिए हैं। देश में नया उद्देश्य और उम्मीद जगी है। जनता ने हमें दूसरी बार सरकार में चुना। हमने व्यापक विकास की बात की। सबका साथ, सबका विश्वास और सबके प्रयास के मंत्र से आगे बढ़े।

संसद की कार्यवाही शुरू। लोकसभा स्पीकर ने कहा कि सभी सांसदों को बजट की प्रतियां उपलब्ध कराई जाएंगी।

बजट से पहले हवाई ईंधन के दाम घटे

बजट से पहले ऑयल कंपनियों ने हवाई ईंधन यानी एविएशन टर्बाइन फ्यूल (ATF) की कीमत में कटौती की है। दिल्ली में एक हजार लीटर ATF की कीमत में 1,221 रुपए की कमी आई है।

ATF के दाम हर एक हजार लीटर के आधार पर तय किए जाते हैं। यानी इसकी कीमत प्रति लीटर की जगह प्रति किलो लीटर मापी जाती है।

कीमत में कटौती के बाद डोमेस्टिक एयरलाइनों के लिए टरबाइन फ्यूल की कीमत दिल्ली में 1,00,772.17 रुपए प्रति किलोलीटर हो गई है। वहीं कोलकाता में ATF की कीमत अब 1,09,797.33 रुपए प्रति किलोलीटर, मुंबई में 94,2476 रुपए प्रति किलोलीटर और चेन्नई में 1,04,840.19 रुपए प्रति किलोलीटर पर आ गई है।

राष्ट्रपति ने निर्मला सीतारमण का मुंह मीठा कराया

राष्ट्रपति भवन में गुरुवार सुबह ली गई तस्वीर, इसमें राष्ट्रपति निर्मला सीतारमण का मुंह मीठा कराती हुई नजर आ रही हैं।

बजट को मंजूरी दिलाने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण कैबिनेट मीटिंग से पहले राष्ट्रपति भवन पहुंची थीं। वहां बजट को मंजूरी देने के बाद राष्ट्रपति ने निर्मला सीतारमण का मुंह मीठा कराया।

बजट मंजूरी के लिए संसद भवन में कैबिनेट मीटिंग

संसद में बजट पेश किए जाने से पहले संसद भवन में ही कैबिनेट की मीटिंग जारी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसकी अध्यक्षता कर रहे हैं।

बजट की कापियां संसद पहुंचीं

बजट पेश होने से पहले इसकी कॉपियां संसद भवन पहुंच गई हैं। इससे पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी बारिश के बीच ही वित्त मंत्रालय पहुंची थीं।

अंतरिम-बजट से पहले शेयर-बाजार फ्लैट खुला, सेंसेक्स 40 अंक चढ़ा

मोदी सरकार के अंतरिम बजट से पहले भारतीय शेयर बाजार आज फ्लैट ओपन हुआ। सेंसेक्स 28 अंक की गिरावट के साथ 71,723 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। वहीं निफ्टी में 11 अंक की तेजी है, ये 21,737 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। वहीं, RBI की कार्रवाई के बाद पेटीएम के शेयर में करीब 20% की गिरावट है।

निर्मला सीतारमण ने अपनी टीम के साथ फोटो सेशन कराया

वित्त मंत्रालय से निकलने के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने पूरी बजट टीम के साथ फोटो सेशन कराया। इसके बाद वित्त मंत्री राष्ट्रपति भवन के लिए निकलीं। राष्ट्रपति से बजट की मंजूरी लेने के बाद वह संसद में पहुंचेंगी और फिर बजट पेश करेंगी।

लगातार दूसरे दिन बारिश हो रही है दिल्ली में

केवी सुब्रमण्यम ने कहा- इस बजट में बड़े बदलाव की संभावना कम

IMF के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर कृष्णमूर्ति वेंकट सुब्रमण्यम ने अंतरिम बजट से पहले कहा कि सबसे पहले, हमें यह ध्यान रखना होगा कि यह वोट ऑन अकाउंट है...पूर्ण बजट चुनाव के बाद जून या जुलाई में पेश किया जाएगा...इसलिए, इस बजट में ज्यादा कदम नहीं उठाए जाएंगे। चूंकि 7.3% की विकास दर की संभावना के साथ अर्थव्यवस्था बहुत अच्छी स्थिति में है, मुझे लगता है कि सरकार ने पिछले सालों में जो किया है उसे आगे बढ़ाएगी। शायद कुछ कदम उठाए जाएंगे...शायद महिलाओं के लिए कुछ होगा...कुल मिलाकर, मैं देख रहा हूं कि पिछले सालों में किए गए अच्छे कदम दोहराए जाएंगे।

इस बार बजट में हो सकती हैं 3 घोषणाएं

1. किसान सम्मान निधि की रकम 6 हजार से 8 हजार हो सकती है

किसान सम्मान निधि के तहत मिलने वाली रकम को 6 हजार रुपए से बढ़ाकर 8 हजार रुपए किया जा सकता है। अभी इस योजना के तहत छोटे और सीमांत किसानों को 2-2 हजार रुपए की तीन किस्तें एक साल में दी जाती है। वहीं बजट में महिला किसानों के लिए ये राशि सालाना 6,000 से बढ़कर 12,000 रुपए हो सकती है।

2. सेक्शन 80C की टैक्स छूट लिमिट 2.5 लाख रुपए हो सकती है

इस बार सरकार इनकम टैक्स के सेक्शन 80C के तहत मिलने वाली टैक्स छूट को बढ़ाकर 2.5 लाख रुपए कर सकती है। इनकम टैक्स के सेक्शन 80C के तहत EPF, PPF, इक्विटी लिंक्‍ड सेविंग्स स्‍कीम, सुकन्‍या समृद्धि योजना, नेशनल सेविंग्स सर्टिफ‍िकेट, 5 साल की FD, नेशनल पेंशन सिस्‍टम और सीनियर सिटीजन सेविंग स्‍कीम आती है।

3. आयुष्मान योजना में बीमा कवर 10 लाख रुपए हो सकता है

सरकार अपनी आयुष्मान भारत योजना के तहत बीमा कवर को दोगुना कर 10 लाख रुपए कर सकती है। इसका पूरा नाम भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान योजना है। इसकी शुरुआत 2018 में हुई थी। यह योजना देश के कम आय वर्ग वाले नागरिकों को स्वास्थ्य सुरक्षा देती है। इस योजना में अभी 5 लाख रुपए तक का इलाज फ्री में मिलता है।

निर्मला सीतारमण वित्त मंत्रालय पहुंचीं

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वित्त मंत्रालय पहुंच गई हैं। यहां वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी पहले ही पहुंच गए हैं। वित्त मंत्री सबसे पहले बजट बनाने वाली टीम से मिलेंगी और उनके साथ फोटो सेशन होगा।

वित्त मंत्रालय के अधिकारियों से मुलाकात करेंगी। उसके बाद वित्त मंत्री राष्ट्रपति भवन जाने के लिए निकलेंगी। राष्ट्रपति से बजट 2024-2025 की मंजूरी ली जाएगी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मंत्रालय के लिए निकलीं

फुल और अंतरिम बजट होता क्या है? इनमें क्या अंतर है?

केंद्रीय बजट देश का सालाना फाइनेंशियल लेखा-जोखा होता है। यूं कहें कि बजट किसी खास वर्ष के लिए सरकार की कमाई और खर्च का अनुमानित विवरण होता है।

बजट के जरिए सरकार यह तय करने का प्रयास करती है कि आगामी वित्त वर्ष में वह अपनी कमाई की तुलना में किस हद तक खर्च कर सकती है। सरकार को हर वित्त वर्ष की शुरुआत में बजट पेश करना होता है। भारत में वित्त वर्ष का पीरियड 1 अप्रैल से 31 मार्च तक होता है।

वहीं अंतरिम बजट सरकार को आम चुनावों का फैसला होने और नई सरकार बनने के बाद फुल बजट की घोषणा करने तक, देश को चलाने के लिए धन उपलब्ध कराता है। अंतरिम बजट शब्द आधिकारिक नहीं है। आधिकारिक तौर पर इसे वोट ऑन अकाउंट कहा जाता है।


...

राम-मंदिर प्राण-प्रतिष्ठा के चलते 22-जनवरी को बंद रहेगा शेयर बाजार

भारतीय शेयर बाजार सोमवार (22 जनवरी) को राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के मौके पर बंद रहेगा। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर इस दिन कोई कारोबार नहीं होगा। अयोध्या में राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह के चलते महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में 22 जनवरी को अवकाश घोषित किया है।

शनिवार को पूरे दिन -सुबह 9:00 से 3:30 बजे तक बाजार में होगा कारोबार

 स्टॉक मार्केट में छुट्‌टी घोषित की गई है। हालांकि, इसकी जगह अब शेयर बाजार को कल यानी शनिवार (20 जनवरी) को खोलने का आदेश जारी हुआ है। अभी तक शनिवार को बस दो घंटे के लिए बाजार को खोलने की योजना थी। हालांकि, नए सर्कुलर के मुताबिक, शनिवार को अब पूरे दिन -सुबह 9:00 से दोपहर 3:30 बजे तक बाजार में कारोबार होगा, जबकि इस दिन बाजार की छुट्‌टी रहती है। वहीं रविवार (21 जनवरी) को छुट्‌टी के चलते हमेशा की तरह बाजार बंद रहेगा।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने भी 22 जनवरी को देशभर में अपने सभी ऑफिसों में छुट्टी की घोषणा की है।

2,000 का नोट बदलने या जमा करने की सुविधा भी 22 जनवरी को बंद रहेगी

इसके अलावा भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के ऑफिसों में भी 2,000 का नोट बदलने या जमा करने की सुविधा 22 जनवरी को अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दिन बंद रहेगी।

कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग ने केंद्रीय संस्थानों और केंद्रीय औद्योगिक प्रतिष्ठानों के संबंध में आदेश जारी किया था कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक, बीमा कंपनियां और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (आरआरबी) में 22 जनवरी (सोमवार) को आधे दिन का अवकाश रहेगा।

केंद्रीय बैंक ने बयान में कहा, 'भारत सरकार द्वारा घोषित आधे दिन के अवकाश के कारण 2000 रुपए के बैंक नोटों के विनिमय/जमा की सुविधा सोमवार 22 जनवरी को भारतीय रिजर्व बैंक के 19 निर्गम कार्यालयों में से किसी में भी उपलब्ध नहीं होगी।'

सेंसेक्स 496 अंक की तेजी के साथ 71,683 के स्तर पर बंद हुआ

वहीं आज यानी 19 जनवरी को शेयर बाजार में तेजी देखने को मिली। सेंसेक्स 496 अंक की तेजी के साथ 71,683 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी में भी 160 अंक की तेजी रही, यह 21,622 के लेवल पर बंद हुआ। सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 26 में तेजी और 4 में गिरावट देखने को मिली। ONGC का शेयर निफ्टी का टॉप गेनर रहा।


...

भारत में स्टारलिंक की सैटेलाइट इंटरनेट सर्विसेज जल्द शुरू होंगी

एलन मस्क की कंपनी स्टारलिंक को अगले हफ्ते तक भारत में अपनी स्पेस-बेस्ड ब्रॉडबैंड सर्विसेज को लॉन्च करने की मंजूरी मिल सकती है। ईटी टेलीकॉम की हालिया रिपोर्ट में इस बात की जानकारी दी गई है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि यह जानकारी स्टारलिंक की ओर से अपने शेयरहोल्डिंग पैटर्न के बारे में डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड (DPIIT) को क्लेरिफिकेशन यानी स्पष्टीकरण भेजे जाने के बाद मिली है।

टेलीकम्युनिकेशन डिपार्टमेंट बुधवार तक स्टारलिंक को जारी कर सकता है लेटर ऑफ इंटेंट

ईटी टेलीकॉम के एक सूत्र का कहना है, 'स्टारलिंक ने DPIIT को जवाब दिया है और अगले कुछ दिनों में या इस महीने के आखिरी तक डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन (DoT) कंपनी को लेटर ऑफ इंटेंट (LoI) जारी कर सकता है।'

इस बीच मनीकंट्रोल की एक रिपोर्ट में सूत्रों का हवाला देते हुए कहा गया है कि डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन बुधवार को स्टारलिंक को लेटर ऑफ इंटेंट जारी कर सकता है।

अप्रूवल के बाद सैटेलाइट कम्युनिकेशंस विंग भी स्टारलिंक को मंजूरी दे देगी

ईटी टेलीकॉम और मनीकंट्रोल दोनों की रिपोर्ट में कहा गया है कि डिपार्टमेंट अगले हफ्ते तक टेलीकॉम सेक्रेटरी नीरज मित्तल और कम्युनिकेशन सेक्रेटरी अश्विनी वैष्णव से अप्रूवल के लिए एक लेटर तैयार कर रहा है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि अप्रूवल के तुरंत बाद सैटेलाइट कम्युनिकेशंस विंग (SCW) भी एलन मस्क के नेतृत्व वाली कंपनी स्टारलिंक को मंजूरी दे देगी।

नीरज मित्तल और अश्विनी वैष्णव दोनों इस समय देश से बाहर हैं। मित्तल वाशिंगटन डीसी में PanIIT-2024 इवेंट में और वैष्णव वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (WEF) के लिए दावोस में हैं।

भारत में स्टारलिंक की जर्नी

एलन मस्क की स्टारलिंक ने नवंबर 2022 में भारत में ग्लोबल मोबाइल पर्सनल कम्युनिकेशन बाय सैटेलाइट सर्विसेज (GMPCS) के लिए आवेदन किया था।

अप्रूवल मिलने के बाद स्टारलिंक यह लाइसेंस हासिल करने वाली रिलायंस जियो और सुनील मित्तल की वन वेब के बाद भारत में तीसरी कंपनी बन सकती है।

GMPCS लाइसेंस मिलने के बाद स्टारलिंक भारत में व्यक्तियों और ऑर्गेनाइजेशन को मैसेजिंग सर्विसेज, वॉयस सर्विसेज और ब्रॉडबैंड प्रोवाइड करने में सक्षम बन जाएगी।

लाइसेंस के लिए सरकार के अप्रूवल के अलावा सैटकॉम प्लेयर स्टारलिंक को स्पेस रेगुलेटर - इंडियन नेशनल स्पेस प्रमोशन एंड ऑथराइजेशन सेंटर (IN-SPACe) से भी मंजूरी लेनी होगी।

IN-SPACe भारत में स्पेस एक्टिविटी अप्रूवल्स के लिए एक सिंगल-विंडो एजेंसी है। इसके अप्रूवल के बाद स्टारलिंक को डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन (DoT) से स्पेक्ट्रम अलॉटमेंट लेना होगा।

2021 के आखिरी में सब्सक्राइबर्स से सर्विसेज के लिए एडवांस में पैसे लेने के लिए टेलीकॉम मिनिस्ट्री ने स्टारलिंक को फटकारा था, जबकि कंपनी ने लाइसेंस भी नहीं खरीदा था।

मिनिस्ट्री ने स्टारलिंक से उन लगभग 5,000 सब्सक्राइबर्स को पैसे वापस करने के लिए कहा था, जिन्होंने भारत में इसकी सर्विसेज के लिए प्री-ऑर्डर किया था।

भारत में सैटेलाइट इंटनेट सर्विसेज देंगे एलन मस्क: उनकी कंपनी स्टारलिंक को जल्द मिल सकता है लाइसेंस; एयरटेल-जियो भी रेस में

एलन मस्क की कंपनी स्टारलिंक को देश में वॉइस और डेटा कम्युनिकेशन सर्विसेज देने के लिए जल्द लाइसेंस मिल सकता है। ET की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि डेटा स्टोरेज और ट्रांसफर नॉर्म्स पर मिले स्टारलिंक की ओर रिस्पॉन्स से भारत सरकार संतुष्ट है।


...

बिना इंटरनेट के भी चेक कर सकते हैं PF Balance, बस इस नंबर पर भेजें मैसेज

पीएफ फंड (PF Fund) में कर्मजारी के साथ कंपनी भी हर महीने निश्चित राशि का निवेश करते हैं। इस वजह से एक्सपर्ट भी सलाह देते हैं कि हमें समय-समय पर पीएफ अकाउंट का स्टेटमेंट चेक करना चाहिए।

दरअसल, समय-समय पर पीएफ अकाउंट बैलेंस चेक करने से यह पता चल जाता है कि कंपनी भी फंड में निवेश कर रही है।

इसी के साथ अभी तक कितना निवेश हुआ है। अब पीएफ अकाउंट बैलेंस (PF Account Balance) चेक करने का प्रोसेस आसान हो गया है। आप बिना इंटरनेट के भी अकाउंट बैलेंस चेक कर सकते हैं। इसके लिए आपको केवल एसएमएस (SMS) करना होगा। इसके अलावा आप कॉल से भी बैलेंस पता कर सकते हैं।

मैसेज के जरिये चेक करें बैलेंस

आपको अगर मैसेज के जरिये बैलेंस चेक करना है तो इसके लिए आप EPFOHO लिखकर अपना UAN No. लिखकर 7738299899 पर मैसेज कर सकते हैं। इसके तुरंत आपको आपका पीएफ बैलेंस पता चल जाएगा।

कॉल के जरिये चेक करें बैलेंस

मैसेज के अलावा आप एक मिस कॉल के जरिये भी बैलेंस चेक कर सकते हैं। इसके लिए आपको पीएफ अकाउंट में रिजस्टर्ड मोबाइल नंबर से 9966044425 पर मिस कॉल देना होगा। मिस कॉल के बाद आपके फोन पर मैसेज आएगा। इस मैसेज में आपको पीएफ बैलेंस सेंड किया गया होगा।

उमंग ऐप से कैसे चेक करें बैलेंस

आपको अपने फोन में उमंग ऐप (Umang App) को इंस्टॉल करना होगा।

इसके बाद आपको ऐप में लॉग-इन करना होगा।

अब आप ऐप में सर्च पर जाकर View Passbook सर्च करें।

इसके बाद आप अपना यूएएन नंबर दर्ज करें।

अब आपके रजिस्टर्ड फोन में ओटीपी आएगा उसे भरें।

इसके बाद आपको मेंबर आईडी को सेलेक्ट करना है और ई-पासबुक (E-Passbook) को डाउनलोड करना है।

ईपीएफओ की वेबसाइट से कैसे चेक करें बैलेंस

आपको ईपीएफओ के अधिकारिक पोर्टल पर जाना है।

इसके बाद आपको सर्विस पर क्लिक करना और ड्रॉपडाउन मेनू से, "For employees" को सेलेक्ट करना है।

अब आप सर्विस टैब में “Member Passbook” को सेलेक्ट करें।

इसके बाद आपको लॉग-इन के लिए यूएएन नंबर और पासवर्ड दर्ज करना है।

अब आप आसानी से ईपीएफ पासबुक देख सकते हैं। इसके अलावा आप अपना वर्तमान बैलेंस भी चेक कर सकते हैं।


...

हरे निशान में बंद हुआ शेयर बाजार, रिलायंस के स्टॉक्स में रही शानदार तेजी

भारतीय शेयर बाजार के लिए गुरुवार का कारोबारी सत्र बेहद शानदार रहा. बाजार में तेजी के नेतृत्व रिलायंस इंडस्ट्रीज ने किया जिसके चलते एनर्जी स्टॉक्स में जोरदार तेजी देखने को मिली. इसके अलावा कंज्यूमर ड्यूरेबल्स सेक्टर के स्टॉक्स में भी खरीदारी देखी गई. मिडकैप और स्मॉलकैप स्टॉक्स में रौनक बरकरार है. आज का कारोबार खत्म होने पर बीएसई सेंसेक्स 64 अंकों की तेजी के साथ 71,721 पर क्लोज हुआ है. जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 28 अंकों के उछाल के साथ 21,647 अंकों पर बंद हुआ है.    

सेक्टरोल अपडेट

आज के कारोबार में एनर्जी, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, ऑटो, इंफ्रा, हेल्थकेयर और ऑयल एंड गैस स्टॉक्स में तेजी रही. मिडकैप और स्मॉलकैप स्टॉक्स में भी खरीदारी देखने को मिली है. जबकि आईटी, पार्मा, एफएमसीजी, मेटल्स, रियल एस्टेट और मीडिया शेयरों में गिरावट रही. सेंसेक्स के 30 शेयरों में 13 तेजी के साथ और 17 गिरकर बंद हुए. जबकि निफ्टी के 50 शेयरों में 25 तेजी के साथ और 25 गिरकर क्लोज हुए. 

पहली बार मार्केट कैप 370 लाख करोड़ पार 

शेयर बाजार में शानदार तेजी के चलते बीएसई पर लिस्टेड स्टॉक्स का मार्केट कैप पहली बार ऐतिहासिक हाई 370 लाख करोड़ रुपये के पार क्लोज हुआ है. आज के ट्रेड में लिस्टेड स्टॉक्स का मार्केट कैप 370.48 लाख करोड़ रुपये रहा है जो पिछले सत्र में 368.77 लाख करोड़ रुपये रहा था. आज के सत्र में निवेशकों की संपत्ति में 1.71 लाख करोड़ रुपया का उछाल आया है. 

चढ़ने गिरने वाले शेयर्स

आज के ट्रेड में रिलायंस 2.58 फीसदी, एक्सिस बैंक 1.38 फीसदी, अल्ट्राटेक सीमेंट 1.29 फीसदी, इंडसइंड बैंक 1.17 फीसदी, पावर ग्रिड 1.09 फीसदी, टाटा मोटर्स 0.94 फीसदी, टेक महिंद्रा 0.65 फीसदी , टीसीएस 0.61 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ है. जबकि इंफोसिस 1.62 फीसदी, एचयूएल 1.62 फीसदी, विप्रो 1.28 फीसदी, लार्सन 1.18 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ है. 


...

बजट 2024 की तारीख आई सामने, इस दिन वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेश करेंगी अंतरिम बजट

बजट 2024 की तारीख सामने आ गई है. 1 फरवरी 2024 को अंतरिम बजट संसद के पटल पर रखा जाएगा और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को अंतरिम बजट पेश करेंगी. देश के लिए बीते एक साल का आर्थिक लेखाजोखा कैसा रहा और आने वाले वित्त वर्ष में किन कार्यों के लिए पैसे की जरूरत होगी, इस पर वित्त मंत्री सीतारमण संसद में बजट के दौरान जानकारी देंगी.

आर्थिक सर्वेक्षण कब आएगा- जानिए

बजट पेश होने से एक दिन पहले यानी 31 जनवरी को देश का आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया जाएगा. चीफ इकनॉमिक एडवाइजर और वित्त मंत्रालय से जुड़ी उनकी टीम के जरिए तैयार किए गए आर्थिक सर्वेक्षण को 31 जनवरी को पेश किया जायेगा. संसद के बजट सेशन के अंतर्गत ये जनवरी की आखिरी तारीख को संसद के सामने रखा जाएगा.

ये अंतरिम बजट है या वोट ऑन अकाउंट?

अंतरिम बजट में चुनावी साल में देश के खर्चे चलाने के लिए सरकार के पास कितना पैसा है और उसका कैसे इस्तेमाल किया जाएगा, इस पर चर्चा होती है और इसे ही वोट ऑन अकाउंट कहा जाता है.

इस साल का लेखाजोखा है बेहद अहम

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के खत्म होने के कुछ ही महीने पहले ये बजट काफी महत्वपूर्ण हो जाता है. इसी साल लोकसभा चुनाव होने वाले हैं और इससे पहले देश की वित्तीय स्थिति को बताने वाला ये बेहद अहम दस्तावेज होगा. चुनावी साल में देश में दो बजट पेश होते हैं जिसमें से पहला बजट मौजूदा सरकार प्रस्तुत करती है और दूसरा बजट नई सरकार के गठन के बाद प्रस्तुत किया जाता है.



...

निचले स्तरों से खरीदारी की बदौलत शेयर बाजार में लौटी शानदार तेजी

भारतीय शेयर बाजार के लिए आज का कारोबारी सत्र बेहद शानदार रहा. पूरे दिन बाजार में उठापटक और गिरावट देखने के बाद आखिरी घंटे में बाजार में खरीदारी लौटी. जिसके बाद शेयर बाजार शानदार तेजी के साथ बंद हुआ है. बीएसई सेंसेक्स 271 अंकों के उछाल के साथ 71,657 अंकों पर क्लोज हुआ था. जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 74 अंकों की गिरावट के साथ 21,618 पर क्लोज हुआ है. 

सेक्टर का हाल

आज के ट्रेड में बैंकिंग, ऑटो, आईटी, फार्मा, मेटल्स, मीडिया, एनर्जी, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, हेल्थकेयर और ऑयल एंड गैस सेक्टर के स्टॉक्स में तेजी के साथ बंद हुए. जबकि एफएमसीजी, रियल एस्टेट स्टॉक्स गिरावट के साथ बंद हुए. आज के कारोबार में मिडकैप स्टॉक्स शानदार तेजी के साथ बंद हुए जबकि स्मॉलकैप स्टॉक्स गिरावट के साथ बंद हुए. सेंसेक्स के 30 शेयरों में 14 स्टॉक्स तेजी के साथ और 16 गिरावट के साथ बंद हुए. जबकि निफ्टी के 28 शेयर तेजी के साथ और 22 नीचे गिरकर क्लोज हुए.  

निवेशकों को फायदा 

शेयर बाजार में तेजी के चलते आज के ट्रेड में निवेशकों को फायदा हुआ है. बीएसई पर लिस्टेड स्टॉक्स का मार्केट कैप 1.26 लाख करोड़ रुपये के उछाल के साथ 368.77 लाख करोड़ रुपये पर बंद हुआ है. जबकि पिछले सत्र में मार्केट कैप 367.51 लाख करोड़ रुपये रहा था. 

चढ़ने-गिरने वाले स्टॉक्स

आज के ट्रेड में एचसीएल टेक 1.62 फीसदी, आईसीआईसीआई बैंक 0.99 फीसदी, इंडसइंड बैंक 0.87 फीसदी, टाटा मोटर्स 0.71 फीसदी, रिलायंस 0.49 फीसदी, जेएसडब्ल्यू स्टील 0.35 फीसदी, टेक महिंद्रा 0.35 फीसदी, एचडीएफसी बैंक 0.32 फीसदी, टाइटन कंपनी 0.23 फीसदी, एशियन पेंट्स 0.21 फीसदी, टीसीएस 0.11 फीसदी, टाटा स्टील 0.07 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ है. जबकि एनटीपीसी 3.47 फीसदी, अल्ट्राटेक सीमेंट 1.50 फीसदी, इंफोसिस 1.45 फीसदी, पावर ग्रिड 1.38 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ है. 


...