न्यूयॉर्क स्टेडियम पर जल्द चलेगा 'अमेरिकी प्रशासन का बुल्डोजर', भारत की पाकिस्तान पर जीत का रहा है गवाह

आईसीसी टी20 विश्व कप 2024 का आयोजन वेस्टइंडीज और अमेरिका की संयुक्त की मेजबानी में हो रहा है। पहली बार किसी आईसीसी इवेंट के मैच में यूएस की टीम हिस्सा ले रही है और अमेरिका में ही ये मैच हो रहे है। इसके लिए आईसीसी ने पहले फ्लोरिडा और टेक्सस के मैदानों को चुना था, लेकिन न्यूयॉर्क के नसाऊ काउंटी स्टेडियम में मुकाबले खेले जाने का फैसला लिया गया।

इस स्टेडियम में भारतीय टीम ने अपने तीन मैच खेले और तीनों मैचों में भारत को जीत हासिल हुई। बीते दिन अमेरिका को भारत ने 7 विकेट से धूल चटाई और सुपर-8 में अपनी जगह पक्की की। इस मैच के बाद अब इस स्टेडियम को कल से तोड़ने का काम किया जाएगा। न्यूज एजेंसी एएनआई ने एक वीडियो शेयर की, जिसमें स्टेडियम को तोड़ने के लिए बुलडोजर वेन्यू पर देखने जा रहे है।

नसाऊ काउंटी स्टेडियम को जल्दी ही तोड़ा जाएगा

दरअसल, न्यूयॉर्क के नसाऊ काउंटी इंटरनेशनल स्टेडियम को आईसीसी टी20 विश्व कप 2024 के लिए तैयार कराने में करीब 248 करोड़ रुपए का खर्चा लगा था, जिसमें पहले क्रिकेट के पहल मॉड्यूलर स्टेडियम को तैयार किया गया था। हाल ही में भारत ने अमेरिका को इस स्टेडियम में खेले गए मैच में 7 विकेट से रौंदकर अपनी जीत की हैट्रिक लगाई। 

इस मैच के बाद एएनआई ने एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर की है, जिसमें वेन्यू पर बुलडोजर को देखा जा रहा है, जो जल्द ही इस इस स्टेडियम को ध्वस्त करने वाले है। इस स्टेडियम में कुल बैठने की क्षमता 34000 है और इस स्टेडियम ने भारत के तीनों ग्रुप मैच की मेजबानी की, जिसमें भारत बनाम पाकिस्तान मैच भी शामिल रहा। 

यहां पर आईसीसी ने स्टेडियम को तैयार कराने में करीब 248 करोड़ रुपए का खर्च किया था जिसमें क्रिकेट के पहले मॉड्यूलर स्टेडियम को तैयार कराया गया था। अब स्टेडियम में 12 जून को भारत और अमेरिका के बीच मुकाबला खेले जाने बाद इसके ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया को भी शुरू कर दिया गया है।

बता दें कि नसाऊ काउंटी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम को बनाने की शुरुआत सितंबर 2023 में हुई थी जिसके बाद इसे 106 दिनों के अंदर तैयार कराया गया था। अब इस स्टेडियम को सिर्फ 6 हफ्तों के अंदर तोड़ दिया जाएगा।  

इस स्टेडियम में आखिरी मैच भारत बनाम यूएसए का खेला गया, जिसमें जीत हासिल कर टीम इंडिया ने टी20 विश्व कप के सुपर 8 में जगह बनाई। अब भारतीय टीम अपने आखिरी ग्रुप मैच में कनाडा से भिड़ेगी। 


...

क्रिकेट में पहली बार भिड़ेंगे इंडिया-अमेरिका

इंटरनेशनल क्रिकेट में अमेरिका और भारत के मुकाबले का कोई इतिहास नहीं है।

हां, हॉकी के मैदान में दोनों देशों के बीच एक यादगार मैच खेला गया था। दोनों देशों की हॉकी टीम 92 साल पहले 11 अगस्त 1932 को लॉस एंजिल्स ओलिंपिक गेम्स में भिड़ी थीं। तब भारत ने अमेरिका को 24-1 से हराया था।

आज टी-20 वर्ल्ड कप में अमेरिका और भारत क्रिकेट के मैदान पर पहली बार आमने-सामने होंगी। वर्ल्ड कप में पहली बार उतरी अमेरिका ने सभी को चौंकाया है। पहले कनाडा को हराया और फिर पाकिस्तान को मात दी।

इंडिया के खिलाफ उतरने वाली अमेरिकी स्क्वॉड की एक और बात चौंकाती है। इस स्क्वॉड में 8 प्लेयर भारतीय मूल के हैं। इनमें कप्तान मोनांक पटेल, हरमीत सिंह, जसप्रीत सिंह, नोसथुष केंजिगे, नितीश कुमार, मिलिंद कुमार, सौरभ नेत्रवल्कर, और निसर्ग पटेल शामिल हैं। पाकिस्तान मूल के भी दो खिलाड़ी हैं, अली खान और शयान जहांगीर।

मैच डिटेल्स...

टी-20 वर्ल्ड कप 2024

मैच नंबर 25: भारत Vs अमेरिका

तारीख: 12 जून

जगह: नसाउ इंटरनेशल क्रिकेट स्टेडियम, न्यूयॉर्क

समय: टॉस- 7:30 PM, मैच स्टार्ट- 8:00 PM

नसाउ में मौजूद संदीपन बनर्जी ने अमेरिका के वाइस कैप्टन एरोन जोंस से बातचीत की। इंडिया से मैच पर जोंस ने कहा कि उनकी टीम कॉन्फिडेंट है। तैयारी भी पूरी है। पिच पर जोंस ने कहा कि अमेरिका में काफी क्रिकेट खेला है और यहां की पिचों से वाकिफ है। यहां की पिचों का बर्ताव थोड़ा असमान होता है।

जब जोंस से पूछा गया कि आप विराट कोहली के फैन हैं। उनसे बातचीत का मौका मिलेगा। इस पर जोंस ने कहा कि विराट ही नहीं, पूरी टीम इंडिया के खिलाफ खेलना एक्साइटिंग होगा। जब जोंस से पूछा गया कि IPL खेलना चाहेंगे तो वे बोले- जरूर। मौका मिला तो भविष्य में IPL जरूर खेलना चाहूंगा।

मैच की अहमियत

लीग राउंड में यह भारत का तीसरा मुकाबला है और टीम इंडिया ने दो मैच जीते हैं। इंडिया ने आयरलैंड और पाकिस्तान को हराया है। भारतीय टीम अमेरिका के खिलाफ मैच जीत लेती है, तो सुपर-8 राउंड के लिए क्वालिफाई कर जाएगी। यही समीकरण अमेरिका के लिए भी है।

मौसम, टॉस का रोल- संदीपन बनर्जी ने बताया कि पिच के बर्ताव में किसी बदलाव की संभावना नहीं है। ये बल्लेबाजों के लिए वैसी ही मुश्किल पैदा करेगी, जैसी अब तक करती आई है। मौसम साफ रहेगा। पाकिस्तान के खिलाफ मैच के दौरान जिस तरह बारिश हुई, वैसा देखने को नहीं मिलेगा।

स्टार्स पर नजरें…

विराट कोहली- टूर्नामेंट में एक हजार से ज्यादा रन बना चुके हैं। वे टी-20 वर्ल्ड कप के 27 मैचों में 14 फिफ्टी जमा चुके हैं।

रोहित शर्मा- टी-20 वर्ल्ड कप में रोहित एक हजार से ज्यादा रन बना चुके हैं। कोहली (1146) के बाद भारत के सेकंड टॉप स्कोरर हैं। रोहित ने पिछले मुकाबले में पाकिस्तान के खिलाफ 13 रन बनाए थे। टी-20 इंटरनेशनल में रोहित का स्कोर 4039 रन है।

जसप्रीत बुमराह : इस वर्ल्ड कप में 5 विकेट निकाल चुके हैं। पिछले मुकाबले में पाकिस्तान के खिलाफ 3 विकेट लिए थे और प्लेयर ऑफ द मैच बने थे।

अर्शदीप सिंह- इस वर्ल्ड कप में 3 विकेट ले चुके हैं। पिछले मैच में उन्हें एक विकेट मिला था। लेकिन अर्शदीप ने पाकिस्तान के खिलाफ 20वां ओवर फेंका था। इस ओवर में पाकिस्तान को 18 रन चाहिए थे और अर्शदीप ने 11 रन ही दिए थे। भारत को जीत दिलाई थी।

वर्ल्ड कप में अमेरिका के हीरोज

1. एरोन जोन्स की धमाकेदार पारी

टी-20 वर्ल्ड कप का पहला मैच अमेरिका और कनाडा के बीच खेला गया। अमेरिका ने टॉस जीतकर बॉलिंग चुनी। कनाडा ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट खोकर 194 रन बनाए। नवनीत धालीवाल ने 61 रन बनाए। चेज कर रही अमेरिका की शुरुआत खराब रही।

टीम ने स्टीवन टेलर के रूप में पहला विकेट शून्य के स्कोर पर गंवाया। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए एरोन जोन्स ने मैच पलट दिया। उन्होंने 40 बॉल पर 94 रन बनाए। पारी में 10 चौके और 4 सिक्स लगाए और अमेरिका ने यह मैच 7 विकेट से जीत लिया।

2. सौरभ का सुपर ओवर

6 जून को अमेरिका और पाकिस्तान के बीच खेला गया मैच ऐतिहासिक बन गया। टॉस जीतकर अमेरिका ने बॉलिंग चुनी। पकिस्तान ने पहले बैटिंग करते हुए 159 रन बनाए। चेज करने उतरी अमेरिका की टीम के कप्तान मोनांक पटेल ने फिफ्टी लगाई। 20 वें ओवर में मैच को टाई हो गया। मैच सुपर ओवर में गया।

अमेरिका ने सुपर ओवर में 18 रन बनाए। कप्तान मोनांक पटेल ने 18 रन को बचाने के लिए सौरभ को बॉलिंग दी। सौरभ ने सुपर ओवर में मात्र 13 रन दिए और अमेरिका ने इस वर्ल्ड कप का सबसे बड़ा उलटफेर करते हुए पाकिस्तान को हरा दिया। सौरभ मैच के सुपर हीरो बन गए।

मुंबई में जन्मे और भारत के लिए अंडर-19 और रणजी खेल चुके सौरभ ने टी-20 इंटरनेशनल में 11 विकेट लिए हैं।

पॉसिबल प्लेइंग-11

भारत- रोहित शर्मा (कप्तान), यशस्वी जायसवाल, विराट कोहली, सूयकुमार, ऋषभ पंत/संजू सैमसन, हार्दिक पंड्या, रवींद्र जडेजा/शिवम दुबे, जसप्रीत बुमराह, अर्शदीप सिंह, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल।

अमेरिका- मोनांक पटेल (कप्तान), एरोन जोन्स, एंड्रीस गौस, कोरी एंडरसन, अली खान, हरमीत सिंह, नितीश कुमार, नोशतुश केंजीगे, सौरभ नेत्राल्वाकर, शैडली वान शल्कविक, स्टीवन टेलर, शायन जहांगीर।


...

ऋषभ पंत को मिला बेस्ट फील्डर का मेडल

टी-20 वर्ल्ड कप में भारत-पाकिस्तान के मैच में शानदार विकेट कीपिंग करने वाले ऋषभ पंत को बेस्ट फील्डर का मेडल दिया गया। यह मेडल भारत के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री ने उन्हें पहनाया। इस दौरान उन्होंने टीम के ओवरऑल प्रदर्शन और ऋषभ पंत के कम बैक की प्रशंसा की। आयरलैंड के खिलाफ हुए पिछले मैच में अर्शदीप सिंह को यह मेडल मिला था।

दरअसल, न्यूयॉर्क के नसाउ स्टेडियम में हुए भारत-पाकिस्तान मैच में भारत ने दो विकेट जल्दी खो दिए। इसके बाद मैदान पर उतरे ऋषभ पंत ने 31 गेंदो में 42 रन की पारी खेलकर टीम को 119 के सम्मान जनक स्कोर तक पहुंचाया। दूसरी इनिंग में ऋषभ ने लाजवाब फील्डिंग की उन्होंने फखर जमान, इमाद वसीम और शादाब खान के कैच लपके। इस परफॉर्मेंस के चलते उन्हें बेस्ट फील्डर का मेडल मिला।

यह पंत की मेहनत ही है जिसकी वजह से वे वापसी कर सके- शास्त्री

मेडल देने के बाद रवि शास्त्री ने कहा- जब मैंने ऋषभ के एक्सीडेंट के बारे में सुना था, तो मेरे आंखों में आंसू थे। हॉस्पिटल में जब मैंने उसे देखा तो हालात बहुत खराब थे। यह उनकी मेहनत ही है जिसकी वजह से वे वापसी कर सके और भारत-पाक जैसे बड़े मुकाबले में शानदार गेम दिखा सके। ऋषभ की बेहतरीन बल्लेबाजी की काबिलियत के बारे में सब जानते हैं। लेकिन, जिस तरह से उन्होंने विकेटकीपिंग और फील्डिंग की वो ऋषभ की मेहनत को दर्शाता है।

अपना सबसे छोटा टोटल डिफेंड कर जीता भारत

टी-20 वर्ल्ड कप में भारत-पाक के हाइवोलटेज मुकाबले में भारत ने आपना सबसे छोटा डिफेंड किया। टीम ने पहले खेलते हुए 120 रन का टारगेट दिया। जवाब में जस्प्रीत बुमराह की शानदार गेंदबाजी के सामने पाकिस्तान 7 विकेट के नुकसान पर 113 रन ही बना सकी और भारत ने टी-20 वर्ल्ड कप का अपना दूसरा मैच 6 रन से जीता।

पॉजिटिव माहौल बनाने के लिए दे रहे मेडल

वनडे वर्ल्ड कप की तर्ज पर इस टी-20 वर्ल्ड कप में भी BCCI की ओर से मैच के बेस्ट फील्डर को एक मेडल दिया जा रहा है। खिलाड़ियों को यह मेडल मैच के बाद ड्रेसिंग रूम में दिया जाता है। ये ICC का कोई ऑफिशियल फील्डर का अवॉर्ड नहीं है, लेकिन टीम इंडिया में पॉजिटिव माहौल बनाने के लिए BCCI ने इसे वनडे वर्ल्ड कप से शुरू किया था।


...

टी-20 वर्ल्डकप- साउथ अफ्रीका की बांग्लादेश पर चौथी जीत

साउथ अफ्रीका ने टी-20 वर्ल्ड कप में बांग्लादेश पर 4 रन की रोमांचक जीत हासिल की है। अफ्रीकी टीम ने बांग्लादेश को टी-20 वर्ल्ड कप में लगातार चौथे मैच में हराया है, दोनों के बीच अब तक 4 मैच ही खेले गए हैं।

नसाउ काउंटी क्रिकेट स्टेडियम में साउथ अफ्रीका ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी। टीम ने 20 ओवर में 6 विकेट पर 113 रन बनाए। 114 रन चेज कर रही बांग्लादेशी टीम 20 ओवर में 7 विकेट पर 109 रन ही बना सकी। लेग स्पिनर केशव महाराज इस जीत के हीरो रहे। उन्होंने आखिरी ओवर में 11 रन डिफेंड किए। महाराज ने इस ओवर में 2 विकेट भी लिए। उन्होंने कुल 3 विकेट लिए। हेनरिक क्लासन प्लेयर ऑफ द मैच रहे। उन्होंने 44 बॉल पर 46 रनों की पारी खेली।

एक रोचक फैक्ट

बांग्लादेश टी-20 इंटरनेशनल में साउथ अफ्रीका को अब तक नहीं हरा सका है। दोनों टीमों 9 मैच खेल चुकी हैं।

प्लेयर्स परफॉर्मेंस: मिलर-क्लासन ने स्कोर 100 पार पहुंचाया; महाराज को 3 विकेट

टॉस जीतकर बैटिंग कर रही साउथ अफ्रीका की ओर से हेनरिक क्लासन ने 44 बॉल पर 46 रन बनाए। वहीं, डेविड मिलर ने 29 रन का योगदान दिया। दोनों ने 5वें विकेट के लिए 79 बॉल पर 79 रनों की अहम साझेदारी की और टीम को 100 का आंकड़ा पार कराया। तंजीत हसन शाकिब ने 3 विकेट लिए। तस्कीन अहमद को 2 विकेट मिले। रिशाद हुसैन को भी एक सफलता मिली।

रन चेज में बांग्लादेश की ओर से तौहीद ह्रदोय ने सबसे ज्यादा 37 रन की पारी खेली। महमूदुल्लाह ने 20 रन बनाए। केशव महाराज ने 3 विकेट चटकाए, जबकि कगिसो रबाडा और एनरिक नॉर्त्या ने 2-2 विकेट लिए।

साउथ अफ्रीका के मैच विनर

बांग्लादेश की हार के कारण

मिडिल ओवर्स में दबाव नहीं बना सके बांग्लादेश ने पहले बैटिंग कर रही साउथ अफ्रीका को 23 रन पर 4 झटके दे दिए थे, लेकिन बांग्लादेशी गेंदबाज पावरप्ले के बाद मिडिल ओवर्स में विकेट नहीं हासिल कर सके। टीम को 5वीं सफलता 18वें ओवर की 5वीं बॉल पर मिली।

क्लासन-मिलर की साझेदारी नहीं तोड़ सके 23 रन के स्कोर पर साउथ अफ्रीका ने 4 विकेट गंव दिए थे। यहां से क्लासन और मिलर ने 79 बॉल पर 79 रनों की साझेदारी की। बांग्लादेशी गेंदबाज यह साझेदारी नहीं तोड़ सके।

लिटन दास से मिलर का कैच छूटा 11वें ओवर में लिटन दास से डेविड मिलर का कैच ड्रॉप हो गया। यहां मिलर 13 रन बनाकर खेल रहे थे। उन्होंने 29 रन की पारी खेली और क्लासन के साथ 79 रनों की अहम साझेदारी की। अगर लिटन कैच पकड़ लेते तो साउथ अफ्रीका को कम स्कोर पर रोका जा सकता था।

टॉप ऑर्डर फेल रहा, स्लो-स्टार्ट किया बांग्लादेश का टॉप ऑर्डर फेल रहा। टीम के टॉप-4 बैटर 35 रन ही बना सके। साथ ही रन चेज में बांग्लोदश की शुरुआत थोड़ी धीमी रही। टीम शुरुआती 6 ओवर में एक विकेट खोकर 29 रन ही बना सकी।

टिकने के बाद तेजी से रन नहीं बना सके बांग्लादेश ने 50 रन पर 4 विकेट गंवा दिए थे, लेकिन महमूदुल्लाह और तौहीद ह्रदोय टिकने के बाद मैच फिनिश नहीं कर सके।

यहां मैच रिपोर्ट...

अफ्रीका की खराब शुरुआत, पावरप्ले में 4 विकेट गंवाए

साउथ अफ्रीका ने टॉस जीतकर बैटिंग चुनी, लेकिन बांग्लादेशी गेंदबाजों ने मार्करम के इस फैसले को गलत साबित कर दिया। अफ्रीकी टीम ने पावरप्ले में 25 रन बनाने में 4 विकेट गंवा दिए हैं। टीम के टॉप-4 बैटर्स महज 22 रन ही बना सके। इनमें से 18 रन डी कॉक और 4 रन ऐडन मार्करम ने बनाए। रीजा हेंड्रिक्स और ट्रिस्टन स्टब्स शून्य पर आउट हुए।

क्लासन-मिलर की फिफ्टी पार्टनरशिप, स्कोर 100 पार पहुंचाया

23 रन पर चौथा विकेट गंवाने के बाद हेनरिक क्लासन ने डेविड मिलर के साथ 5वें विकेट के लिए 79 बॉल पर 79 रन की साझेदारी की। इस साझेदारी ने टीम को 100 पार पहुंचा दिया।

रन चेज में बांग्लादेश की स्लो-बैटिंग

114 रन का टारगेट चेज कर रही बांग्लादेश ने धीमी शुरुआत की। टीम ने पावरप्ले में महज 29 रन बनाने में एक विकेट गंवा दिया।

तौहीद-महमूदुल्लाह ने बांग्लादेश की वापसी कराई, पर मैच हारे

बांग्लादेश ने 50 रन पर 4 विकेट गंवा दिए थे। ऐसे में तौहीद ह्रदोय और महमूदुल्लाह ने 5वें विकेट के लिए 45 बॉल पर 44 रन की साझेदारी की, लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके।

दोनों टीमों की प्लेइंग इलेवन

साउथ अफ्रीका: एडेन मार्करम (कप्तान), रीजा हेंड्रिक्स, क्विंटन डी कॉक, हेनरिक क्लासन, केशव महाराज, डेविड मिलर, एनरिक नॉर्त्या, कगिसो रबाडा, ट्रिस्टन स्टब्स, मार्को यानसन, ओटनेल बार्टमैन।

बांग्लादेश: नजमुल हुसैन शांतो (कप्तान), तंजीद हसन, जेकर अली, लिटन दास (विकेट कीपर), तौहीद ह्रदोय, शाकिब अल हसन, महमूदुल्लाह, रिशाद हुसैन, तस्कीन अहमद, तंजीम हसन साकिब और मुस्तफिजुर रहमान।


...

2023 वनडे वर्ल्ड कप फाइनल की हार पर फिर छलका रोहित शर्मा का दर्द

रोहित शर्मा की कप्तानी वाली भारतीय क्रिकेट टीम ने 19 नवंबर, 2023 को वनडे वर्ल्ड कप 2023 का फाइनल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गंवाया था. इस हार को 6 महीने से ज़्यादा वक़्त गुज़र चुका है, लेकिन फिर भी फैंस इसे भुला नहीं पा रहे हैं. टीम इंडिया दूसरा वनडे वर्ल्ड कप जीतने से सिर्फ एक कदम दूर थी, लेकिन उस कदम की दूसरी टीम तय नहीं कर सकी. अब रोहित शर्मा का एक बार वनडे वर्ल्ड कप फाइनल को लेकर दर्द छलका. 

रोहित शर्मा की कप्तानी वाली टीम इंडिया इन दिनों वेस्टइंडीज़ और अमेरिका की मेज़बानी में खेले जा रहे टी20 वर्ल्ड कप 2024 में हिस्सा ले रही है. भले ही टीम इंडिया टी20 विश्व कप खेल रही है लेकिन कप्तान रोहित शर्मा के दिल से अभी तक 2023 वनडे वर्ल्ड कप फाइनल की हार की कसक नहीं गई. रोहित शर्मा ने बताया कि उन्हें इस बात का एहसास करने में 2-3 दिन लग गए थे कि हम फाइनल हार गए.

'एडिडास इंडिया' से बात करते हुए रोहित शर्मा ने कहा, "जब मैं वर्ल्ड कप फाइनल के बाद अगले दिन उठा, तो मुझे नहीं पता था कि पिछली रात क्या हुआ. मैं अपनी पत्नी के साथ बात कर रहा था और बोला, 'पिछली रात जो भी हुआ वो बुरा सपना था? मुझे लगता है फाइनल अगले दिन है.' मुझे यह एहसास करने में 2-3 दिन लग गए थे कि हम हार गए. अगले मौके के लिए अगले 4 साल."

लगातार 10 मैच जीतकर फाइनल में पहुंची थी टीम इंडिया 

बता दें कि भारत की सरज़मीं पर खेले गए 2023 के वनडे वर्ल्ड कप में टीम इंडिया रोहित शर्मा की कप्तानी में लगातार 10 मैच जीतकर फाइनल में पहुंची थी. फाइनल में पहुंचने तक भारतीय टीम ने एक भी मैच नहीं गंवाया था. लेकिन दुर्भाग्य से मेन इन ब्लू को फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा. इस तरह टीम इंडिया ने सिर्फ एक कदम की दूरी से वनडे वर्ल्ड कप की दूसरी ट्रॉफी गंवा दी थी. 


...

अफगानिस्तान की टी-20 वर्ल्डकप में दूसरी सबसे बड़ी जीत

अफगानिस्तान की टीम ने युगांडा को 125 रनों से हरा दिया है। इस मैच में अफगानिस्तान के लिए गेंदबाजों और बल्लेबाजों ने कमाल का प्रदर्शन किया। अफगानिस्तानी टीम के लिए रहमानुल्लाह गुरबाज और इब्राहिम जादरान ने दमदार बल्लेबाजी की। इन खिलाड़ियों की वजह से ही अफगानिस्तानी टीम जीत हासिल कर सकी। अफगानिस्तान और युगांडा के बीच मैच में कई बड़े रिकॉर्ड्स बने हैं। 

टी20 वर्ल्ड कप में चौथी सबसे बड़ी जीत

अफगानिस्तान के खिलाफ मैच में युगांडा के कप्तान ब्रायन मसाबा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। जो गलत साबित हुआ। मैच में अफगानिस्तान ने पहले बैटिंग करते हुए 183 रन बनाए। इसके बाद युगांडा की टीम 58 रनों पर ऑलआउट हो गई और अफगानिस्तान की टीम ने 125 रनों से मैच जीत लिया। ये टी20 वर्ल्ड कप के इतिहास में चौथी सबसे बड़ी जीत है। टी20 वर्ल्ड कप में सबसे बड़ी जीत दर्ज करने का रिकॉर्ड श्रीलंका के नाम है। श्रीलंका ने टी20 वर्ल्ड कप 2007 में केन्या के खिलाफ 172 रनों से मैच जीता था। 

टी20 विश्व कप में सबसे बड़ी जीत:

172 रन - श्रीलंका, 2007

130 रन - अफगानिस्तान, 2021

130 रन - दक्षिण अफ्रीका , 2009

125 रन - अफगानिस्तान, 2024

116 रन - इंग्लैंड , 2012

टी20 वर्ल्ड कप में ओपनिंग करते हुए दूसरी सबसे बड़ी साझेदारी

रहमानुल्लाह गुरबाज और इब्राहिम जादरान ने पहले विकेट के लिए 152 रनों की साझेदारी की। टी20 वर्ल्ड कप के इतिहास में ओपनिंग करते हुए ये दूसरी सबसे बड़ी साझेदारी है। टी20 वर्ल्ड कप में सबसे बड़ी साझेदारी करने का रिकॉर्ड जोस बटलर और एलेक्स हेल्स के नाम है। इन दोनों प्लेयर्स ने टी20 वर्ल्ड कप 2022 में भारत के खिलाफ ओपनिंग करते हुए 170 रन बनाए थे। 

टी20 वर्ल्ड कप में सबसे बड़ी साझेदारी करने वाले बल्लेबाज: 

जोस बटलर और एलेक्स हेल्स- 170 रन

इब्राहिम जादरान और रहमानुल्लाह गुरबाज- 154 रन

बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान- 152 रन

क्रिस गेल और ड्वेन स्मिथ- 145 रन 

टी20 वर्ल्ड कप में चौथा सबसे कम स्कोर

युगांडा की टीम ने 184 रनों के टारगेट का पीछा करते समय सिर्फ 58 रनों पर ढेर हो गई। टी20 विश्व कप के इतिहास में यह चौथा सबसे कम स्कोर है। टी20 वर्ल्ड कप में सबसे कम स्कोर बनाने का रिकॉर्ड नीदरलैंड्स के नाम दर्ज है। नीदरलैंड्स की टीम टी20 वर्ल्ड कप 2014 में 39 रनों पर ऑलआउट हो गई थी। 

टी20 वर्ल्ड कप में सबसे कम स्कोर: 

39 - नीदरलैंड्स, 2014

44 - नीदरलैंड्स, 2021

55 - वेस्टइंडीज , 2021

58 - वेस्टइंडीज, 2024

60 - न्यूजीलैंड , 2014


...

टी20 वर्ल्ड कप पर छाया है बुढ़ापे का खुमार, 10 खिलाड़ी 30 साल से ऊपर

2 जून से टी20 वर्ल्ड कप का महाकुंभ शुरू होने वाला है, जिसकी मेजबानी वेस्टइंडीज और यूएसए कर रहे होंगे. 20 टीमें इस आगामी टूर्नामेंट में भाग ले रही होंगी, लेकिन भारतीय टीम पर ध्यान दें तो उम्रदराज खिलाड़ियों की संख्या बहुत अधिक है. याद दिला दें कि 2022 वर्ल्ड कप के बाद खबर सामने आई थी कि BCCI टी20 फॉर्मेट में युवाओं को तैयार करना चाहती है. मगर 2024 आते-आते बोर्ड ने एक बार फिर अनुभव के साथ जाने का निर्णय लिया है. आगामी वर्ल्ड कप में रोहित शर्मा टीम की कप्तानी करेंगे, जिनकी उम्र 37 साल है. उनके अलावा 15-सदस्यीय स्क्वाड में 10 खिलाड़ियों की उम्र 30 या उसके पार जा चुकी है.

10 खिलाड़ी 30 के पार

कप्तान रोहित शर्मा 37 की उम्र को पार कर चुके हैं, वहीं विराट कोहली अच्छी फॉर्म में तो हैं लेकिन वो भी 35 के पार जा चुके हैं. सूर्यकुमार यादव, हार्दिक पांड्या और युजवेंद्र चहल समेत टीम के 10 खिलाड़ियों की उम्र 30 या उसके पार है. वहीं स्क्वाड के केवल पांच खिलाड़ियों की उम्र 30 से कम है. ऋषभ पंत, अर्शदीप सिंह, यशस्वी जायसवाल और संजू सैमसन ही युवाओं की लिस्ट में शामिल किए जा सकते हैं. चारों रिजर्व खिलाड़ियों की उम्र 30 से कम है, लेकिन उन्हें मौका तभी मिल सकता है जब 15 मेंबर स्क्वाड में से किसी को टूर्नामेंट से बाहर होना पड़े.

कब खेलेगा भारत अपना पहला मैच?

भारतीय टीम वर्ल्ड कप में अपने अभियान की शुरुआत 5 जून को आयरलैंड के खिलाफ मैच से करेगा. भारत को ग्रुप ए में रखा गया है, जिसमें भारत-आयरलैंड के अलावा पाकिस्तान, कनाडा और मेजबान देश यूएसए भी शामिल है. वहीं भारत अपने चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान से 9 जून को भिड़ेगा.

भारतीय स्क्वाड में खिलाड़ियों की उम्र

रोहित शर्मा (37), विराट कोहली (35), यशस्वी जायसवाल (22), सूर्यकुमार यादव (33), ऋषभ पंत (26), संजू सैमसन (29), हार्दिक पांड्या (30), शिवम दुबे (30), रवींद्र जडेजा (35), अक्षर पटेल (30), कुलदीप यादव (29), युजवेंद्र चहल (33), अर्शदीप सिंह (25), मोहम्मद सिराज (30), जसप्रीत बुमराह (30)


...

सिर्फ गंभीर की वजह से चैंपियन नहीं बनी KKR, अभिषेक नायर ने पर्दे के पीछे से किया कमाल

कोलकाता नाइट राइडर्स ने आईपीएल 2024 का खिताब जीत लिया है. टीम तीसरी बार चैंपियन बनी है. केकेआर में गौतम गंभीर की वापसी हुई. इसका टीम को काफी फायदा मिला. गंभीर पिछले सीजन में लखनऊ सुपर जायंट्स के साथ थे. लेकिन केकेआर में आते ही टीम चैंपियन बन गई. गंभीर की काफी तारीफ हो रही है. केकेआर के चैंपियन बनने के पीछे गंभीर के साथ-साथ एक और शख्स की अहम भूमिका है. वे हैं बैटिंग कोच अभिषेक नायर

आईपीएल 2024 के दौरान अभिषेक नायर को लेकर बहुत ही कम बात हुई. लेकिन पर्दे के पीछे से उन्होंने केकेआर के लिए काफी कुछ किया. नायर टीम के बैटिंग कोच हैं और वे इसी सीजन में जुड़े थे. अभिषेक ने इस सीजन में कई बल्लेबाजों के साथ काम किया और उन्हें निखारा. केकेआर के खिलाड़ी वरुण चक्रवर्ती ने मैच के बाद अभिषेक नायर का जिक्र किया और उन्हें खिलाड़ियों को तैयार करने का श्रेय भी दिया.

केकेआर के लिए अभिषेक नायर ने निभाई अहम भूमिका -

वेंकटेश ने आईपीएल 2024 में केकेआर के लिए प्रभावी प्रदर्शन किया. उन्होंने 14 मैचों में 370 रन बनाए. इस दौरान 4 अर्धशतक लगाए. वेंकटेश ने मैच के बाद अपनी बैटिंग के सुधार का श्रेयस अभिषेक नायर को दिया. वेंकटेश के साथ-साथ और भी खिलाड़ी नायर की कोचिंग में तैयार हुए.

रोहित-कार्तिक के साथ काम कर चुके हैं नायर -

अभिषेक नायर की पहले भी काफी तारीफ हुई है. मुंबई इंडियंस के दिग्गज खिलाड़ी रोहित शर्मा और आरसीबी के प्लेयर दिनेश कार्तिक भी नायर के साथ अपनी बैटिंग पर काम कर चुके हैं. इन प्लेयर्स ने नायर को काफी पहले इसको लेकर क्रेडिट दिया था.

बॉलिंग यूनिट को भरत अरुण की वजह से हुआ फायदा -

केकेआर ने आईपीएल 2024 के दौरान हर डिपार्टमेंट में अच्छा परफॉर्म किया. बैटिंग के साथ-साथ बॉलिंग भी दमदार रही. केकेआर के लिए बॉलिंग कोच भरत अरुण ने अहम भूमिका निभाई. हर्षित राणा और वैभव अरोड़ा की गेंदों की वजह से कई खिलाड़ी परेशान हुए. अरुण ने इन दोनों खिलाड़ियो के साथ काफी करीब से काम किया. वैभव ने 11 विकेट झटके. वहीं हर्षित ने 19 विकेट लिए.


...

'एक ही गेंदबाज है, जो स्पिनर की तरह बॉलिंग कर रहा है', Harbhajan Singh ने भारतीय क्रिकेटर की जमकर की तारीफ

भारतीय टीम के पूर्व दिग्‍गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह को राजस्‍थान रॉयल्‍स के लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने खूब प्रभावित किया। भज्‍जी ने युजी की जमकर तारीफ की और कहा कि वो अकेला ऐसा गेंदबाज है, जो स्पिनर की तरह गेंदबाजी कर रहा है।

हरभजन सिंह ने स्‍टार स्‍पोर्ट्स से बातचीत में कहा, ''युजवेंद्र चहल अकेला गेंदबाज है, जो स्पिनर की तरह गेंदबाजी कर रहा है। मैं कहूंगा कि एक स्पिनर, जो स्पिनर की तरह गेंदबाजी कर रहा है।'' हरभजन सिंह ने चहल और अन्‍य स्पिनर्स के बीच गेंदबाजी का फर्क बताया। उन्‍होंने बताया कि विकेट लेने की भूख चहल को सबसे जुदा बनाती है।

भज्‍जी ने क्‍या कहा

गेंद को स्पिन कराना, उसके पास फ्लाइट है, उसके पास मिश्रण है और वो इसका काफी बुद्धिमानी तरीके से उपयोग करता है। जब मैं उन्‍हें और अन्‍य स्पिनर्स को गेंदबाजी करते देखता हूं तो काफी फर्क नजर आता है। आपको सोचना पड़ता है कि मैं आपको आउट करूंगा। यही युजवेंद्र चहल कर रहे हैं।

राजस्‍थान रॉयल्‍स प्‍लेऑफ में पहुंची

बता दें कि युजवेंद्र चहल ने मौजूदा आईपीएल में 12 मैचों में 15 विकेट चटकाए और राजस्‍थान रॉयल्‍स को प्‍लेऑफ में पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। संजू सैमसन के नेतृत्‍व वाली राजस्‍थान रॉयल्‍स आईपीएल 2024 के प्‍लेऑफ में क्‍वालीफाई करने वाली दूसरी टीम बनी। दिल्‍ली कैपिटल्‍स ने मंगलवार को लखनऊ सुपरजायंट्स को 19 रन से मात दी, जिससे रॉयल्‍स प्‍लेऑफ में क्‍वालीफाई कर गई।

बता दें कि राजस्‍थान रॉयल्‍स की टीम ने अब तक 12 मैच खेले, जिसमें 8 जीत दर्ज की और चार शिकस्‍त झेली। रॉयल्‍स के दो मैच बचे हैं और उसकी कोशिश टॉप-2 में जगह पक्‍की करके क्‍वालीफाई करने की होगी।


...

T20 World Cup 2024 पर आतंकवाद का साया, मिली धमकी

त्रिनिदाद के प्रधानमंत्री डॉक्‍टर कीथ रॉले ने खुलासा किया कि वेस्‍टइंडीज और अमेरिका की संयुक्‍त मेजबानी में होने वाले टी20 वर्ल्‍ड कप को आतंकी हमले की धमकी मिली है। रॉले ने कहा कि खतरे को संभालने के लिए राष्‍ट्रीय सुरक्षा तैयारियों और प्रतिक्रिया तत्‍परता पर अतिरिक्‍त प्रयास लगाया जाएगा।

पता हो कि टी20 वर्ल्‍ड कप 2024 की शुरुआत 1 जून से होगी, जिसमें कुल 20 टीमें हिस्‍सा लेंगी। इस समय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक खतरा विशेषकर वेस्‍टइंडीज पर मंडरा रहा है, जो सुपर-8 चरण, सेमीफाइनल और फाइनल की मेजबानी करेगा। रॉले के हवाले से त्रिनिदाद डेली एक्‍सप्रेस ने कहा, ''दुर्भाग्‍य से आतंकवाद का खतरा अपनी अनेक और विविध अभिव्यक्तियों में 21वीं सदी की दुनिया में हमेशा मौजूद रहने वाला खतरा है।''

रॉले ने विशेषकर किसी संस्‍था का नाम नहीं लिया, लेकिन रिपोर्ट्स में बताया गया है कि इस्‍लामिक स्‍टेट ने अपने प्रचार माध्‍यम से यह धमकी दी है। प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ''यह इस पृष्ठभूमि में है कि सभी राष्ट्र, हमारे क्षेत्र की तरह, जब बड़ी या कमजोर सभाओं की मेजबानी करते हैं, तो व्यक्त या निहित सभी खतरों को गंभीरता से लेने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा तैयारियों और प्रतिक्रिया तत्परता में अतिरिक्त प्रयास करते हैं।''


...