शुभमन गिल द्वारा सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ने पर Twitter यूजर्स का कमाल का रिएक्शन

नई दिल्ली: शुभमन गिल (Sachin Tendulkar)  ने अपनी पिछली पांच पारियों में 64, 43, 98*, 82*, 33 खेलने के बाद सोमवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना पहला शतक लगाया. वेस्टइंडीज के खिलाफ सबीना पार्क में बारिश की वजह से मैच रोकना पड़ा था, तब गिल 98 पर बल्लेबाज कर रहे थे. अंपायरों ने बारिश की वजह से हो रही लगातार रुकावट के कारण भारत की पारी घोषित कर दी. जिसके बाद अपनी अगली सीरीज में गिल जिम्बाब्वे के खिलाफ (ZIM vs IND) पहले वनडे में भी एक शतक की तलाश कर रहे थे लेकिन विपक्षी टीम का स्कोर उतना बड़ा नहीं था कि वो अपनी ये इच्छा पूरी कर पाते. हरारे में उस दिन उन्होंने नाबाद 82 रन बनाए. दूसरे मैच में उन्हें तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए भेजा गया और वहां उन्हें 33 रन की पारी खेली. 

तीसरे और आखिरी वनडे (ZIM vs IND 3rd ODI) में उनके पास आखिरी मौका था सेलेक्टरों को अपने कौशल का एक मजबूत परिचय कराने का. केएल राहुल और शिखर धवन के जल्दी आउट होने के बाद गिल ने एक शानदार पारी खेलकर इस लंबे इंतजार को खत्म किया.

दाएं हाथ के बल्लेबाज ने 97 गेंद पर 130 बनाए, जिसमें 15 चौके और एक छक्का शामिल हैं. गिल की इस शानदार पारी के बदौलत भारत ने मेजबान टीम के सामने के 290 रन का कड़ा टारगेट सेट किया.

इसी के साथ पंजाब के इस बल्लेबाज ने रिकॉर्ड बूक्स में भी अपना नाम दर्ज करा लिया. वो जिम्बाब्वे के खिलाफ एक वनडे मैच में सबसे बड़ी पारी खेलने वाले बल्लेबाज बन गए. उन्होंने महान सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का 24 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा. पूर्व दिग्गज बल्लेबाज ने 1998 में बुलावायो में नाबाद 127 रन की पारी खेली थी.



इसी के साथ गिल (22 साल और 348 दिन) जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे में शतक लगाने वाले दूसरे सबसे युवा भारतीय बल्लेबाज भी बन गए. इससे पहले मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) ने 21 साल 287 दिन की उम्र में ये कारनामा किया था.

गिल के एक्स्ट्रा ऑर्डनरी प्रदर्शन के लिए उनको 'प्लेयर ऑफ द मैच' और सीरीज में सबसे ज्यादा 245 रन बनाने के लिए 'प्लेयर ऑफ द सीरीज' चुना गया. ये उनका लगातार दूसरा प्लेयर ऑफ द सीरीज खिताब है. इससे पहले वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज में भी दाएं हाथ के बल्लेबाज को प्लेयर ऑफ द सीरीज चुना गया था.

...

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 113 रन से हराया

सेंचुरियन : तेज गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के तीन-तीन विकेटों, मोहम्मद सिराज और ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के दो-दो विकेटों की बदौलत भारत ने दक्षिण अफ्रीका को पहले क्रिकेट टेस्ट मैच के पांचवें और अंतिम दिन गुरूवार को 113 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली। भारतीय टीम ने सेंचुरियन में इतिहास रच दिया है। वह पहली एशियाई टीम बनी है जिसने दक्षिण अफ़्रीका को इस मैदान पर हराया है। भारत ने अपनी दूसरी पारी में 174 रन बनाये और मेजबान टीम के सामने 305 रन का बेहद मुश्किल लक्ष्य रख दिया। भारत ने पहली पारी में 327 रन बनाये थे और दक्षिण अफ्रीका को 197 रन पर ढेर कर पहली पारी में 130 रन की महत्वपूर्ण बढ़त हासिल की थी। दक्षिण अफ्रीका ने लक्ष्य का पीछा करते हुए स्टंप्स तक चार विकेट खोकर 94 रन बना लिए थे और आखिरी दिन उसने लंच तक अपना स्कोर सात विकेट पर 182 रन पहुंचा दिया है। लेकिन लंच के बाद उसकी दूसरी पारी 191 रन पर सिमट गयी। 





...

कोरोना के लक्षण दिखने के कारण पहले टेस्ट से बाहर हुए थे ओलिवियर : क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका

सेंचुरियन :  सुपरस्पोर्ट पार्क में रविवार को भारत के खिलाफ पहले टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डुआने ओलिवियर को प्लेइंग इलेवन में शामिल न करने पर सवाल उठ रहे हैं, क्योंकि पहले दिन उनके गेंदबाजों ने खराब प्रदर्शन किया था, जिसके कारण पहला दिन भारतीय बल्लेबाजों के नाम रहा था।


अब, क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) के चयन संयोजक विक्टर म्पित्सांग ने कहा, ओलिवियर को कोरोना के लक्षण दिखने के कारण पहले टेस्ट से बाहर किया गया था।


विक्टर म्पित्सांग के हवाले से ईएसपीएन क्रिकइन्फो ने सोमवार को बताया, ओलिवियर अब अच्छी तरह से स्वस्थ हैं, लेकिन वह कई हफ्ते पहले कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जिसे उनको कई दिनों तक क्वारंटीन में रहना पड़ा था। इसके बाद उन्होंने भारत के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज होने से पहले कड़ा अभ्यास किया था।


दिलचस्प बात यह है कि रविवार को मैच के पहले दिन पत्रकारों द्वारा पूछे जाने पर म्पित्सांग ने इस मुद्दे पर कोई टिप्पणी नहीं की थी। ओलिवियर, जो चोटिल एनरिक नॉर्टजे की जगह टीम में शामिल हुए हैं। वह भारत के लिए दूसरे टेस्ट में वापसी करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।


ओलिवियर ने अपनी टीम लायंस के लिए चार प्रथम श्रेणी मैचों में 11.10 की औसत से 28 विकेट लिए थे, जिससे वह घरेलू प्रतियोगिता में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे।




...

एंजियोप्लास्टी के बाद आबिद अली को दो महीने आराम की सलाह

कराची : पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज आबिद अली को एंजियोप्लास्टी के बाद दो महीने आराम की सलाह दी गई है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इसकी पुष्टि की।


आबिद को कायदे आजम ट्रॉफी के मैच के दौरान बल्लेबाजी करते समय सीने में तेज दर्द उठा था जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। वहां उनकी एंजियोप्लास्टी हुई और स्टेंट डाले गए। दूसरी बार स्टेंट बृहस्पतिवार को डाला गया।


उनके करीबी सूत्रों ने बताया कि डॉक्टरों ने उन्हें दो महीने आराम की सलाह दी है जिसके बाद उनकी फिर जांच की जायेगी। पीसीबी ने सोशल मीडिया पर कहा कि उसकी मेडिकल टीम विदेश में ह्र्दयरोग विशेषज्ञों से सलाह ले रही है। 




...

विराट की बीसीसीआई से आर या पार की टक्कर

जोहानसबर्ग : विराट कोहली की कप्तानी और टीम में उनका बने रहना दक्षिण अफ्रीका के टेस्ट दौरे में उनकी कामयाबी पर निर्भर करेगा। विराट ने दक्षिण अफ्रीका दौरे पर रवाना होने से पूर्वमुंबई में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीसीसीआई के खिलाफ जो बयान दिया वह निश्चित रूप से बर्रे के छत्ते में हाथ डालने जैसा है। बतौर कप्तान विराट कभी भी अपने फ़ैसलों को लेकर दोहरे मन में नहीं होते। नेतृत्व करने का सबसे मुश्किल काम होता है- दूसरों के लिए फ़ैसले लेना और फिर उन फ़ैसलों का बोझ साथ लेकर चलना। विराट ने बतौर कप्तान अपने पहले टेस्ट मैच में रविचंद्रन अश्विन की जगह कर्ण शर्मा को टीम में शामिल किया। विपक्षी टीम के अनुभवी ऑफ़ स्पिनर ने उस मैच में 12 विकेट चटकाए और अपनी टीम को जीत दिलाई। वहीं लेग स्पिनर कर्ण को फिर कभी भारत के लिए खेलने का मौक़ा नहीं मिला। यह एक ऐसा निर्णय है जो किसी भी कप्तान को ज़िंदगी भर के लिए तकलीफ़ दे सकता है, डरा सकता है और भविष्य में कठिन फ़ैसले लेने से रोक सकता है। "अगर मैं अपने प्रमुख स्पिनर को खिलाता तो क्या चौथी पारी में लक्ष्य छोटा होता? क्या उस युवा लेग स्पिनर का करियर कुछ अलग होता अगर मैं उसे पूरी तरह तैयार होने पर ही मैदान पर उतारता?" ऐसे सवाल आपको परेशान कर सकते हैं। विराट बाक़ी सब से थोड़े अलग हैं। अगर वह जानते हैं कि उनका फ़ैसला टीम के हित में लिया गया है तो फिर वह उस पर सवाल नहीं उठाते हैं। उनके अनुसार झिझक मैदान पर आपसे ग़लतियां करवाती हैं। जब उनसे पूछा जाता है कि क्या अपनी 'सर्वश्रेष्ठ एकादश' खिलाने पर मैच का परिणाम कुछ और होता, तब उन्हें बहुत गुस्सा आता हैं। उनके अनुसार इसका यह अर्थ होता है कि उन्होंने जानबूझकर अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम को मैदान पर नहीं उतारा। यह चीज़ें विभिन्न संस्कृतियों में विभिन्न लोगों के लिए अलग तरह से काम करती है, हालांकि यह एक बेहतरीन गुण है। अपने पूरे करियर के दौरान विराट ने साहसी क़दम उठाए हैं, जो बाहर बैठे लोगों को जोखिम भरे लग सकते हैं। एक समय पर उन्होंने टीम के प्रमुख कोच और दिग्गज लेग स्पिनर अनिल कुंबले के साथ काम करने से मना कर दिया था। वह भी तब जब जनता की सहानुभूति और पुराने खिलाड़ियों का समर्थन कुंबले के साथ था।







...

हापुड़ की टीम फाइनल में पहुंची

ग्रेटर नोएडा : शहीद विजय सिंह पथिक क्रिकेट स्टेडियम में आयोजित मेरठ जोन की 22वीं अंतर्जनपदीय पुलिस क्रिकेट प्रतियोगिता के चौथे दिन शुक्रवार को बुलंदशहर एवं हापुड़ के बीच दूसरा सेमीफाइनल मैच खेला गया। इसमें हापुड़ ने बुलंदशहर को हराकर फाइनल में प्रवेश किया। शनिवार को फाइनल मुकाबला खेला जाएगा।


दूसरे सेमीफाइनल मैच में बुलंदशहर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया। बुलंदशहर की टीम निर्धारित 20 ओवर में 106 रन पर ऑल आउट हो गई। बुलंदशहर की तरफ से अल्ताफ खान ने 47 गेंद पर चार चौकों और दो छक्कों की मदद से 53 रन बनाए। हापुड़ के गेंदबाजी करते हुए धर्मेन्द्र यादव ने चार ओवर में नौ रन देकर चार विकेट झटके। रणवीर अवाना, मोहसीन अहमद, सचिन मलिक ने भी एक-एक विकेट चटकाया। हापुड़ ने 107 रनों के लक्ष्य को 12 ओवर में दो विकेट खोकर आसानी से पा लिया। हापुड़ के गेंदबाज धर्मेंद्र यादव को मैन ऑफ द मैच चुना गया। शनिवार को गौतमबुद्ध नगर और हापुड़ के मध्य फाइनल मैच होगा। मैच का संचालन सुभाष पांचाल और इंटरनेशनल वॉलीबॉल कोच ने किया। इस अवसर पर विक्रम सिंह, प्रतिसार निरीक्षक प्रथम, अब्दुल रशीद, प्रतिसार निरीक्षक द्वितीय, अशोक त्यागी, पीटीआई, राधेश्याम, पीटीआई, ललित चौहान, अंपायर, सुदीप गिरी, अंपायर, बृजभूषण तिवारी आदि उपस्थित रहे।

...

वेस्टइंडीज टीम के तीन और खिलाड़ी, दो सहयोगी स्टाफ पॉजिटिव

कराची :  वेस्टइंडीज टीम के तीन खिलाड़ी और दो सहयोगी स्टाफ के कोरोना वायरस जांच में पॉजिटिव पाये जाने के बाद मौजूदा पाकिस्तान दौरा खटाई में पड़ता नजर आ रहा है।


विकेटकीपर शाइ होप, बायें हाथ के स्पिनर अकील हुसैन और हरफनमौला जस्टिन ग्रीव्स पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड द्वारा कराई गई ताजा जांच में संक्रमित पाये गए।


सहायक कोच रॉडी एस्टविक और टीम डॉक्टर अक्षय मानसिंह भी पॉजिटिव पाये गए हैं।


क्रिकेट वेस्टइंडीज ने एक बयान में कहा, ‘‘तीनों खिलाड़ी आगामी मैच नहीं खेल सकेंगे और पांचों व्यक्ति पृथकवास में रहेंगे। चिकित्सा अधिकारी उनकी देखरेख करेंगे। उन्हें दस दिन या आरटी पीसीआर जांच नेगेटिव आने तक पृथकवास में रहना होगा।’’


वेस्टइंडीज के अब छह खिलाड़ी कोरोना संक्रमण का शिकार हो गए हैं जबकि डेवोन थॉमस ऊंगली में चोट के कारण बाहर हो गए हैं।


दोनों बोर्ड के अधिकारी गुरूवार को बैठक करके मौजूदा श्रृंखला के भविष्य पर फैसला लेंगे।


पाकिस्तान ने तीन मैचों की टी20 श्रृंखला में 2.0 की अजेय बढत ले ली है। तीसरा मैच गुरूवार को हाना है जिसके बाद वनडे श्रृंखला खेली जायेगी।


इससे पहले तेज गेंदबाज शेल्डन कोटरेल और हरफनमौला रोस्टन चेस तथा काइल मायेर्स भी कोरेाना संक्रमण के कारण टी20 श्रृंखला से बाहर हो गए थे।




...

डेविड वार्नर और हेले मैथ्यूज बने आईसीसी बेस्ट प्लेयर्स ऑफ द मंथ

दुबई : ऑस्ट्रेलिया के आक्रामक सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर और वेस्टइंडीज की ऑलराउंडर हेले मैथ्यूज नवंबर महीने में आईसीसी के बेस्ट पुरुष और महिला क्रिकेटर चुने गए हैं।


वॉर्नर ने अपने शानदार प्रदर्शन से पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज आबिद अली और न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज टिम साउदी को पीछे किया है।


वॉर्नर ने टी20 वल्र्ड कप 2021 में 48.16 की औसत से 289 रन बनाए थे। उनकी पारी के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को हराकर पहली बार टी20 वल्र्ड कप जीता था।


वॉर्नर ने टी20 वल्र्ड कप में शानदार प्रदर्शन कर ऑस्ट्रेलिया को वल्र्ड चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। वॉर्नर हाल ही में टी20 विश्व कप 2021 में प्लेयर आफ द टूर्नामेंट चुने गए थे। उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ फाइनल में 53 और पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल में 49 रन बनाए थे। वह वेस्टइंडीज के खिलाफ सुपर12 के मैच में भी प्लेयर आफ द मैच रहे थे।


महिला क्रिकेटरों की बात करें तो आईसीसी नवंबर महीने के लिए प्लेयर ऑफ द मंथ अवॉर्ड की रेस में बांग्लादेश की नाहिदा अख्तर, पाकिस्तान की अनम अमीन और वेस्टइंडीज की हेले मैथ्यूज को नॉमिनेट किया गया था। लेकिन मैथ्यूज यह पुरस्कार पानें में सफल रहीं।


मैथ्यूज ने नवंबर में चार वनडे मैचों में लगातार अच्छा प्रदर्शन करते हुए 141 रन बनाए और 13.11 की औसत से नौ विकेट हासिल किए थे। मैथ्यूज ने दूसरी बार नामांकन मिलने पर यह पुरस्कार जीता। वह जुलाई में भी पुरस्कार की दौड़ में थी, जब उनकी कप्तान स्टेफनी टेलर विजेता रही थीं।








...

विराट ने पांच साल तक मोर्चे से अगुवाई की, उनकी कप्तानी के हर पल का मजा लिया : रोहित

मुंबई : भारत के सीमित ओवरों की टीम के नये कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि विराट कोहली ने पांच साल तक टीम की मोर्चे से अगुवाई की और उन्होंने इस स्टार बल्लेबाज की कप्तानी में खेले हर एक पल का पूरा मजा लिया।


रोहित ने ‘बीसीसीआई टीवी’ से बातचीत में कहा कि टीम ने कोहली की कप्तानी में खेलने का पूरा आनंद लिया। कोहली ने टी20 विश्व कप के बाद टी20 टीम की कप्तानी छोड़ दी और बाद में उनकी जगह रोहित को वनडे टीम का भी कप्तान बनाया गया।


रोहित ने दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले भारतीय टेस्ट टीम के अभ्यास सत्र से इतर कहा,‘‘उसने पांच साल तक मोर्चे से टीम की अगुवाई की। हम हर मैच जीतने के इरादे से ही उतरते थे और पूरी टीम को यही संदेश दिया गया था।’’


उन्होंने कहा, ‘‘उसकी कप्तानी में खेलने का हमने पूरा आनंद उठाया। मैने उसकी कप्तानी में काफी क्रिकेट खेली और हर पल का मजा लिया। आगे भी लेता रहूंगा।’’


भारतीय टीम सितारों से भरी होने के बावजूद 2013 के बाद से कोई आईसीसी खिताब नहीं जीत सकी है।


रोहित ने कहा कि उन्हें चुनौतियों का अहसास है और वह इस कमी को पूरा करने की कोशिश करेंगे।


उन्होंने कहा, ‘‘हमें कई चीजों पर काम करना होगा। हमने आखिरी आईसीसी ट्रॉफी 2013 में जीती थी लेकिन उसके बाद से भी हमारा प्रदर्शन खराब नहीं रहा है। हमने एक टीम के रूप में अच्छा प्रदर्शन किया और जो मामूली सी कमी रह गई, उसे पूरी करने की कोशिश करेंगे। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काफी चुनौतीपूर्ण है और ऐसा होता है।’’


उन्होंने कहा, ‘‘भारत में कई विश्व कप होने हैं और टीम अपने दर्शकों के सामने अच्छे प्रदर्शन की कोशिश में होगी। हमारा फोकस खिताब जीतने पर है लेकिन उसके लिये एक ईकाई के रूप में प्रक्रिया का पालन करना होगा।’’


रोहित ने कहा,‘‘आप कठिन चुनौतियों का सामना कैसे करते हैं, वह महत्वपूर्ण है। अतीत में भी हम इस तरह की चुनौतियों का सामना करते आये हैं और उनसे उबर नहीं सके।हमें एक टीम के रूप में लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होगा।’’


उनके लिये पहला काम यह सुनिश्चित करना होगा कि टीम में हर खिलाड़ी को उसकी भूमिका का पता हो।


उन्होंने कहा, ‘‘जब भी मुझे भारतीय टीम की कप्तानी का मौका मिला तो मैने खिलाड़ियों से स्पष्ट संवाद की कोशिश की है। कोच और कप्तान के लिये यह जरूरी भी है। मैं खिलाड़ियों को यह समझाने की कोशिश करूंगा कि टीम में उनका चयन किसलिये हुआ है और उनकी क्या भूमिका है।’’


उन्होंने कोच राहुल द्रविड़ के बारे में कहा, ‘‘राहुल भाई के साथ मजा आ रहा है।हमने देखा है कि वह कैसे कठिन क्रिकेट खेलते थे।इत्मीनान का भी माहौल है जो जरूरी भी है।’’






...

एशिया कप और कैंप के लिए समिति ने की भारतीय अंडर-19 टीम की घोषणा

मुंबई : बीसीसीआई की अखिल भारतीय जूनियर चयन समिति ने 23 दिसंबर से यूएई में खेले जाने वाले एसीसी अंडर-19 एशिया कप के लिए 20 लोगों की भारतीय अंडर-19 टीम का चयन किया है। वहीं, चयनकर्ताओं ने एसीसी आयोजन से पहले 11-19 दिसंबर तक बेंगलुरु में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में खेले जाने के लिए 25 सदस्यीय टीम की भी घोषणा की है।


अगले साल जनवरी और फरवरी में वेस्टइंडीज में खेले जाने वाले आईसीसी पुरुष अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप के लिए भारतीय टीम की घोषणा जल्द की जाएगी।


भारत अंडर-19 एशिया कप टीम: हरनूर सिंह पन्नू, अंगक्रिश रघुवंशी, अंश गोसाई, एसके रशीद, यश ढुल (कप्तान), अनेश्वर गौतम, सिद्धार्थ यादव, कौशल तांबे, निशांत सिंधु, दिनेश बाना (विकेटकीपर), आराध्या यादव (विकेटकीपर), राजंगद बावा, राजवर्धन हैंगरगेकर, गर्व सांगवान, रवि कुमार, रिशिथ रेड्डी, मानव पारख, अमृत राज उपाध्याय, विक्की ओस्तवाल, वासु वत्स (फिटनेस मंजूरी के अधीन)।


एनसीए में शामिल होने वाले स्टैंडबाय खिलाड़ी : आयुष सिंह ठाकुर, उदय सहारन, शाश्वत डंगवाल, धनुष गौड़ा, पीएम सिंह राठौर।




...

भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से करारी शिकस्त दी, श्रृंखला 1-0 से जीती

मुंबई :  भारत ने जयंत यादव की शानदार गेंदबाजी से दूसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच के चौथे दिन सोमवार को सुबह पहले घंटे में ही न्यूजीलैंड के बाकी बचे पांच विकेट निकालकर 372 रन की रिकार्ड जीत से दो मैचों की श्रृंखला 1-0 से अपने नाम की।


दिन का खेल शुरू होने के ठीक 43 मिनट बाद भारत ने 540 रन के मुश्किल लक्ष्य का पीछा कर रही न्यूजीलैंड की टीम को 56.3 ओवर में 167 रन पर आउट कर दिया। रविचंद्रन अश्विन (34 रन देकर चार विकेट) ने हेनरी निकोल्स को ऋद्धिमान साहा के हाथों कैच कराकर भारत में अपना 300वां टेस्ट विकेट लेकर न्यूजीलैंड की पारी का अंत किया।


भारत की यह घरेलू धरती पर रन के लिहाज से सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले का रिकार्ड 337 रन का था जो उसने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2015 में दिल्ली में बनाया था।


कानपुर में अपने जज्बे का शानदार प्रदर्शन करके पहला टेस्ट मैच ड्रा कराने वाली न्यूजीलैंड की टीम यहां संघर्ष नहीं कर पायी तथा अतिरिक्त उछाल और टर्न के सामने उसके बल्लेबाजों ने आसानी से घुटने टेके। न्यूजीलैंड हालांकि इस मैच को ऐजाज पटेल के पारी में 10 विकेट के ऐतिहासिक कारनामे के लिये याद रखेगा।


भारतीय कोच राहुल द्रविड़ ने मैच के बाद कहा, ‘‘विजेता के रूप में श्रृंखला का अंत करना अच्छा है। कानपुर में भी जीत के करीब पहुंच गये थे लेकिन आखिरी विकेट नहीं ले पाये। यहां हमने कड़ी मेहनत की। परिणाम भले ही एकतरफा लग रहा हो लेकिन पूरी श्रृंखला में हमने कड़ी मेहनत की।’’


दिलचस्प तथ्य यह रहा कि पटेल ने न्यूजीलैंड की तरफ से दोनों पारियों में 73.5 ओवर गेंदबाजी की जबकि उनकी टीम दोनों पारियों में 84.4 ओवर तक ही बल्लेबाजी कर पायी।


न्यूजीलैंड ने सुबह पांच विकेट पर 140 रन से आगे खेलना शुरू किया और तीसरे दिन शाम के सत्र में अच्छी लय में दिख रहे जयंत ने जल्द ही उसके विकेट निकालने शुरू कर दिये। इससे पहले अपना आखिरी टेस्ट मैच 2017 में खेलने वाले जयंत ने 49 रन देकर चार विकेट लिये। उन्होंने अपने सभी चारों विकेट चौथे दिन सुबह के सत्र में लिये।


जयंत ने कहा, ‘‘सुबह विकेट में नमी थी जिससे मदद मिली। आप शाम के सत्र और आज सुबह में अंतर देख सकते हो। पिच से अधिक मदद मिल रही थी। ऐसे में गेंद सही क्षेत्र में पिच कराना महत्वपूर्ण था।’’


इस जीत से भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका दौरे पर बढ़े हुए आत्मविश्वास के साथ जाएगी जो तीन सप्ताह के अंदर शुरू होने वाला है।


जयंत ने सुबह रचिन रविंद्र को (18) को दूसरी स्लिप में चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच कराया और फिर फ्लाइट लेती गेंद पर काइल जैमीसन को पगबाधा आउट किया। टिम साउदी लंबा शॉट खेलने के प्रयास में बोल्ड हो गये जबकि विल सोमरविले ने जयंत को वापस आसान कैच दिया।






...

दूसरे टेस्ट से पहले मौसम और टीम संयोजन भारतीय टीम की परेशानी

मुंबई : छोटे ब्रेक के बाद वापसी कर रहे कप्तान विराट कोहली के सामने न्यूजीलैंड के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हो रहे दूसरे और आखिरी क्रिकेट टेस्ट में टीम संयोजन की बड़ी समस्या होगी और इसके साथ ही मुंबई में लगातार हो रही बारिश भी चिंता का सबब है।


पहले टेस्ट में न्यूजीलैंड की आखिरी जोड़ी की संयमित पारियों के कारण भारत तय लग रही जीत से वंचित रह गया था। अब नियमित कप्तान की वापसी के बाद टीम संयोजन में बदलाव तय हैं।


वानखेड़े स्टेडियम पर संभव है कि मेजबान टीम को चार ही दिन मिले क्योंकि पहले दिन भारी बारिश का अनुमान है। बारिश के कारण पिच में नमी होने से न्यूजीलैंड टीम नील वेगनेर के रूप में अतिरिक्त तेज गेंदबाज को उतार सकती है।


आम तौर पर भारतीय टीमों में बहुत ज्यादा बदलाव के पक्ष में टीम प्रबंधन नहीं रहता है लेकिन कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान कोहली के सामने समस्या यह है कि दो खिलाड़ी रन नहीं बना पा रहे हैं। कानपुर में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करके 105 और 65 रन बनाने के बावजूद श्रेयस अय्यर की अंतिम एकादश में जगह पक्की नहीं है।


करूण नायर के साथ भी यह तिहरा शतक जमाने के बाद हुआ था लेकिन यह तर्क दिया जा सकता है कि वह एक थकी हुई टीम के सामने औपचारिकता का पांचवां टेस्ट था और भारत पर कोई दबाव नहीं था।


अजिंक्य रहाणे लगातार 12 पारियों में नाकाम रहे हैं लेकिन पिछले मैच में कप्तानी करने वाले खिलाड़ी को खराब फॉर्म के कारण अगले मैच से बाहर नहीं किया जा सकता और वह भी उसके घरेलू मैदान पर।


उन्हें एक और मौका दिये जाने के मायने हैं कि टीम प्रबंधन की कड़ा कदम नहीं उठाने को लेकर आलोचना होगी। दूसरा मसला चेतेश्वर पुजारा का है जो अक्सर यह भूल जाते हैं कि टेस्ट क्रिकेट सिर्फ विकेट बचाकर खेलना नहीं है। इंग्लैंड में उनकी इस मानसिकता में तनिक बदलाव दिखा लेकिन कानपुर में वह फिर उसी चिर परिचित हो चले अंदाज में नजर आये।


वैसे टीम जब दक्षिण अफ्रीका जायेगी तो कोहली को पता है कि एक वही बल्लेबाज हैं जो कैगिसो रबाडा और एंनरिच नोर्किया की नयी कूकाबूरा गेंदें झेल सकते हैं।


पुजारा और रहाणे के समर्थक चैन की सांस ले सकते हैं कि कम से कम इस मैच में तो उन्हें बाहर किये जाने की संभावना कम है। कोहली के आलोचक यह तर्क भी दे सकते हैं कि खुद कप्तान ने किसी भी प्रारूप में दो साल से शतक नहीं बनाया है।


लगातार खराब फॉर्म से जूझ रहे मयंक अग्रवाल को बाहर किया जा सकता है। शुभमन गिल ने अपनी खराब रक्षण तकनीक के बावजूद पहले मैच में अर्धशतक जमाया था। उन्हें भविष्य की ओर देखते हुए टीम में बनाये रखा जा सकता है।


अग्रवाल की जगह कोहली लेंगे लेकिन सवाल यह है कि गिल के साथ पारी का आगाज कौन करेगा। चेतेश्वर पुजारा या विकेटकीपर बल्लेबाज के एस भरत को यह जिम्मेदारी दी जा सकती है।


मौजूदा फॉर्म को देखते हुए पुजारा खराब विकल्प होंगे। भरत ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में काफी रन बनाये हैं और 308 उनका सर्वोच्च स्कोर रहा है। वह रिधिमान साहा की जगह हैं जिनके गर्दन में जकड़न है।


केन विलियमसन की अगुवाई वाली न्यूजीलैंड को कानपुर में वेगनेर की कमी खली जो दूसरी पारी में भारतीय बल्लेबाजों को परेशान कर सकते थे। बारिश और धूप के अभाव के कारण तेज गेंदबाजों और स्पिनरों दोनों को उतारा जा सकता है।ऐसे में विल समरविले को बाहर किया जा सकता है।


दूसरी ओर ईशांत शर्मा के खराब फॉर्म को देखते हुए भारतीय टीम में मोहम्मद सिराज को मौका दिया जा सकता है। पिच अनुकूल होने के कारण तीन स्पिनरों की जगह बरकरार रहने की संभावना लग रही है।


टीमें :


भारत : विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, श्रेयस अय्यर, सूर्यकुमार यादव, रिधिमान साहा (विकेटकीपर), रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल, उमेश यादव, इशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज, जयंत यादव, श्रीकर भरत, प्रसिद्ध कृष्णा में से।


न्यूजीलैंड: केन विलियमसन (कप्तान), टॉम लैथम, रोस टेलर, हेनरी निकोल्स, टॉम ब्लंडेल (विकेटकीपर), विल यंग, ग्लेन फिलिप्स, डेरिल मिशेल, टिम साउदी, नील वैगनर, काइल जैमीसन, विलियम सोमरविले, अयाज पटेल, मिशेल सेंटनर, रचिन रवींद्र में से।


मैच भारतीय समयानुसार सुबह नौ बजकर 30 मिनट पर शुरू होगा।







...

आरसीबी द्वारा रिटेन किए जाने के बाद कोहली बोले, मेरा दिल और आत्मा टीम के साथ

नई दिल्ली : इंडियन प्रीमियर लीग फ्रेंचाइजी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) द्वारा रिटेन किए जाने के बाद, भारतीय टेस्ट और वनडे कप्तान विराट कोहली ने कहा कि मेरा दिल और आत्मा टीम के साथ है।


आरसीबी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर कोहली ने एक भावुक संदेश साझा करते हुए कहा कि आरसीबी के लिए उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन अभी बाकी है।


उन्होंने वीडियो में कहा, मेरा दिल और आत्मा आरसीबी के साथ है। टीम के साथ मेरी यात्रा जारी रहेगी। जब मुझसे संपर्क किया गया, तो मैंने कुछ और नहीं सोचा, क्योंकि टीम के साथ सालों से मेरी एक अद्भुत यात्रा रही है। फ्रेंचाइजी के साथ तीन और साल यह मेरे लिए बहुत मायने रखता है।


उन्होंने कहा, मेरा मानना है कि टीम के लिए मेरा सर्वश्रेष्ठ आना अभी बाकी है और मुझे इस बात का विशेष अहसास है कि अगले सीजन में क्या होने वाला है।


आरसीबी ने मेगा नीलामी से पहले अपने रिटेन किए गए खिलाड़ियों का खुलासा किया, जिसमें कोहली, ग्लेन मैक्सवेल और मोहम्मद सिराज शालिम हैं। शुरुआत से ही टीम के साथ रहे कोहली को 15 करोड़ रुपये में रिटेन किया गया। वहीं, मैक्सवेल को 11 करोड़ रुपये में टीम के साथ बने रहेंगे, जबकि सिराज को 7 करोड़ रुपये में बरकरार रखा है।







...

गावस्कर की सलाह पर केवल वर्तमान पर ध्यान दे रहे हैं अय्यर

कानपुर : श्रेयस अय्यर न तो अतीत में झांकना चाहते हैं और ना ही भविष्य के बारे में सोचना चाहते हैं। वह केवल वर्तमान पलों में जीना चाहते हैं जैसा कि उन्हें भारतीय टेस्ट ‘कैप’ प्रदान करते समय दिग्गज सुनील गावस्कर ने सलाह दी थी।


अपने पदार्पण टेस्ट मैच में शतक जड़ने वाले 16वें भारतीय क्रिकेटर बने अय्यर जानते हैं कि अगले मैच में कप्तान विराट कोहली की टीम में वापसी होने पर मध्यक्रम में कुछ बदलाव होंगे।


कुछ साल पहले करुण नायर को ऐसी स्थिति से गुजरना पड़ा था जबकि उन्हें तिहरा शतक जड़ने के बाद अगले मैच में बाहर बैठना पड़ा था।


अय्यर ने शुक्रवार को 105 रन की पारी खेलने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘सुनील गावस्कर सर ने मुझे कैप सौंपते समय महत्वपूर्ण बात की थी। उन्होंने कहा था आपको अतीत के बारे में सोचने की ज़रूरत नहीं है और आपको भविष्य के बारे में भी नहीं सोचना है। आपको केवल वर्तमान के बारे में सोचना है और अगली गेंद पर ध्यान केंद्रित करना है। मैंने यही किया।’’


उन्होंने कहा, ‘‘मैंने आज के बारे में सोचने पर ध्यान दिया और यह नहीं सोचा कि अगले मैच में क्या होगा क्योंकि अगर मैं उस बारे में सोचता तो वर्तमान में नहीं जी पाता और अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाता। जो कुछ भी होता है अच्छे के लिये होता है और मैं उसे स्वीकार करूंगा।’’


गावस्कर से टेस्ट कैप हासिल करना अय्यर के लिये परीकथा जैसा था और शतक जड़ना उसे अगले स्तर तक पहुंचाना। वह अभी इस अहसास का लुत्फ उठाना चाहते हैं।


उन्होंने कहा, ‘‘सुनील सर से कैप हासिल करना परीकथा जैसा था। मैं यह सोच रहा था कि राहुल सर मुझे कैप सौंपेंगे। दोनों ही इस खेल के दिग्गज हैं और दोनों में से कोई भी कैप प्रदान करता मुझे खुशी होती।’’


अय्यर ने कहा, ‘‘यह बहुत अच्छा अहसास था और जिस तरह से चीजें आगे बढ़ी उससे मैं खुश था लेकिन मैं जिस तरह से आउट हुआ उससे मैं संतुष्ट नहीं हूं।’’


गावस्कर ने भले ही उनसे कहा था कि वह न तो आगे के बारे में सोचें न अतीत पर ध्यान दें लेकिन अय्यर टेस्ट पदार्पण पर शतक बनाने को लेकर इतना सोचने लगे कि उन्हें रात भर नींद नहीं आयी।


अय्यर ने कहा, ‘‘जिस तरह से पहले दिन से सब कुछ अच्छा रहा उससे मैं वास्तव में खुश था। कल रात मैं अच्छी नींद नहीं ले पाया। विशेषकर जब आप रात भर बल्लेबाजी के बारे में सोच रहे हों। मुझे लगा कि मैंने कल वास्तव में अच्छी बल्लेबाजी की थी, लेकिन आज भी फिर से ध्यान केंद्रित करना था।’’


टीम के संदर्भ में अय्यर ने स्वीकार किया कि भारत के लिये दिन मुश्किल भरा रहा। भारत ने पहली पारी में 345 रन बनाये जिसके जवाब में न्यूजीलैंड ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक बिना किसी नुकसान के 129 रन बना लिये हैं।


उन्होंने कहा, ‘‘यह दिन हमारे लिये चुनौतीपूर्ण रहा क्योंकि उन्होंने अच्छी शुरुआत की। विकेट (पिच) से हमारे गेंदबाजों को वास्तव में मदद नहीं मिली। हमारा ध्यान सही क्षेत्र में गेंदबाजी करके कम से कम रन देने और दबाव बनाने पर था। ’’






...

द्रविड़ ने लौटायी पुरानी परंपरा, गावस्कर ने सौंपी श्रेयस को पदार्पण पर भारतीय कैप

कानपुर : पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने गुरुवार को श्रेयस अय्यर को भारत की ‘टेस्ट कैप’ प्रदान की। इस तरह से मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने भारतीय क्रिकेट के दिग्गजों से नये खिलाड़ियों को यह प्रतिष्ठित कैप (टोपी) दिलाने की पुरानी परंपरा फिर से जीवंत कर दी।


अय्यर भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले 303वें खिलाड़ी बने। न्यूजीलैंड के खिलाफ टॉस से पहले अपने जमाने के दिग्गज बल्लेबाज गावस्कर ने उन्हें कैप प्रदान की। द्रविड़ ने गावस्कर को इस विशेष कार्यक्रम के लिये आमंत्रित किया था।


इससे पहले टी20 श्रृंखला के दौरान द्रविड़ ने हर्षल पटेल को राष्ट्रीय टीम की कैप प्रदान करने के लिये सीमित ओवरों के सबसे सफल भारतीय गेंदबाजों में से एक अजित अगरकर को आमंत्रित किया था।


आस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों से राष्ट्रीय कैप हासिल करने की परंपरा रही है। भारत में भी पहले ऐसी परंपरा थी लेकिन पिछले कुछ समय से कप्तान या कोई सीनियर खिलाड़ी या सहयोगी स्टॉफ का सदस्य ही पदार्पण करने वाले खिलाड़ी को कैप सौंपता था।







...

रहाणे लय हासिल करने से सिर्फ एक पारी दूर : पुजारा

कानपुर : भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने मंगलवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट से पहले अजिंक्य रहाणे का समर्थन करते हुए कहा कि स्टैंड-इन कप्तान एक महान क्रिकेटर हैं और अपनी लय वापस पाने से सिर्फ एक पारी दूर हैं।


पुजारा ने अपने स्वयं के मानकों के अनुसार बल्ले से एक सामान्य वर्ष बिताया है, यहां वह 25 नवंबर को विश्व टेस्ट चैंपियन के खिलाफ पहले मैच में रहाणे के डिप्टी होंगे।


रहाणे का 11 टेस्ट में सिर्फ 19 से अधिक का औसत है और वह अपनी फॉर्म को फिर से हासिल करना चाहेंगे।


अपने साथी की खराब पफरेर्मेन्स के बारे में पूछे जाने पर, पुजारा ने एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, रहाणे एक महान खिलाड़ी हैं। ऐसे समय होते हैं जब कोई खिलाड़ी इन दौरों से गुजरता है। वह लय वापस पाने से सिर्फ एक पारी दूर है। उन्हें सीरीज में अच्छे रन मिलेंगे।


2019 से, 33 वर्षीय मुंबई के बल्लेबाज ने 40 टेस्ट खेले हैं और सात अर्धशतक और तीन शतक लगाए हैं।


रहाणे कानपुर में श्रृंखला के पहले टेस्ट में भारतीय टीम का नेतृत्व करेंगे, जिसमें विराट कोहली दूसरे टेस्ट के लिए लौटेंगे।


वह ड्रेसिंग रूम में नवनियुक्त मुख्य कोच राहुल द्रविड़ के साथ शामिल होंगे।







...

कप्तान के लिये अश्विन हमेशा आक्रामक विकल्प होता है : रोहित

कोलकाता :  भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में बीच के ओवरों में जब टीम को विकेटों की जरूरत होती है तो ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन हमेशा आक्रामक विकल्प होते हैं।


टी20 में नव नियुक्त कप्तान रोहित ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 3-0 से जीत में टीम की गेंदबाजी को सबसे बड़ा सकारात्मक पहलू करार दिया।


इस महीने के शुरू में टी20 विश्व कप में चार साल बाद सीमित ओवरों की टीम में वापसी करने वाले 35 वर्षीय अश्विन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की श्रृंखला में प्रभावशाली प्रदर्शन किया था तथा बीच के ओवरों में रन पर अंकुश लगाने के साथ विकेट भी हासिल किये।


रोहित ने तीसरे टी20 में 73 रन से जीत के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘वह किसी भी कप्तान के लिये हमेशा आक्रामक विकल्प होते हैं। जब आपके पास उन जैसा गेंदबाज टीम में होता है तो इससे आपको बीच के ओवरों में विकेट हासिल करने का मौका मिलता है और हम जानते हैं कि यह चरण कितना महत्वपूर्ण होता है।’’


उन्होंने कहा, ‘‘दुबई में खेलने के बाद से ही उन्होंने शानदार वापसी की है। वह बेहतरीन गेंदबाज हैं और हम सभी यह अच्छी तरह से जानते हैं।’’


रोहित ने कहा, ‘‘पिछले कई वर्षों से उन्होंने टेस्ट मैचों में खुद को साबित किया है और यहां तक कि सीमित ओवरों की क्रिकेट में उनका रिकार्ड बुरा नहीं है। उन्होंने दुबई और यहां दो मैचों में जिस तरह से गेंदबाजी की उससे उनकी योग्यता का पता चलता है।’’


अश्विन ने जयपुर में चार ओवर में 23 रन देकर दो और रांची में 19 रन देकर एक विकेट लिया था। अक्षर पटेल के साथ मिलकर उन्होंने बीच के ओवरों में रन प्रवाह रोका था।


रोहित ने कहा, ‘‘आप जानते हैं कि बीच के ओवरों में आपको रन गति पर अंकुश लगाने और विकेट हासिल करने की जरूरत पड़ती है और अश्विन ने अक्षर के साथ मिलकर हमारे लिये ऐसा किया। ये दोनों बीच के ओवरों में विकेट हासिल करने के विकल्प हैं। इसलिए एक कप्तान के लिये उन जैसे गेंदबाजों की मौजूदगी अच्छे विकल्प मुहैया कराती है।’’


रोहित से पूछा गया कि राहुल द्रविड़ और उन्होंने टी20 विश्व कप के लचर प्रदर्शन के बाद टीम को कैसे जीत की राह पर लौटाया, उन्होंने कहा, ‘‘हम टीम के अंदर स्वस्थ माहौल तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं। खिलाड़ियों को सुरक्षा प्रदान करने की कोशिश कर रहे हैं ताकि वे स्वच्छंद होकर खेल सकें। ’’


उन्होंने कहा, ‘‘हमारी जो पहली बैठक हुई थी तो हमने प्रत्येक खिलाड़ी को यह स्पष्ट रूप से बता दिया था कि अगर आप टीम के लिये कुछ करने की कोशिश कर रहे हैं तो उसे कभी नजरअंदाज नहीं किया जाएगा।’’


रोहित ने कहा, ‘‘यह कप्तान और कोच का काम है कि वे खिलाड़ियों को बतायें कि वे क्या समझते हैं और आप टीम के लिये क्या करने की कोशिश कर रहे हैं। ’’


उन्होंने कहा, ‘‘भारत में प्रतिभा की कमी नहीं है। आपके पास कई विकल्प होते हैं और इसलिए काम आसान नहीं होता। आप हर किसी को टीम में फिट करने की कोशिश करते हैं लेकिन केवल 11 ही खेल सकते हैं इसलिए यह आसान नहीं है।’’


भारत ने तीसरे टी20 मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट पर 184 रन बनाये और फिर न्यूजीलैंड को 111 रन पर आउट कर दिया।


रोहित ने कहा, ‘‘गेंदबाजी इस श्रृंखला में हमारे लिये सबसे सकारात्मक पक्ष रहा। हमने पहले दो मैचों में न्यूजीलैंड की विस्फोटक शुरुआत के बाद वास्तव में अच्छी वापसी की। न्यूजीलैंड की मजबूत टीम को 160 रन के करीब रोकना वास्तव में सराहनीय है।’’



...

तरोताजा होने के लिये भारत के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला से हटा : बोल्ट

जयपुर : भारतीय टेस्ट बल्लेबाजों के लिये यह राहत की बात है उन्हें टेस्ट श्रृंखला में ट्रेंट बोल्ट का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योंकि यह तेज गेंदबाज 12 सप्ताह तक लगातार क्रिकेट खेलने के बाद तरोताजा होने के लिये टी20 श्रृंखला के बाद स्वदेश लौट जाएगा।


बोल्ट तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की श्रृंखला के लिये अभी भारत में हैं लेकिन वह कोलकाता में सीमित ओवरों के आखिरी मैच के बाद स्वदेश लौट जाएंगे ताकि बांग्लादेश के खिलाफ घरेलू टेस्ट श्रृंखला से पूर्व तरोताजा हो सकें।


बोल्ट ने ‘न्यूजीलैंड क्रिकेट’ द्वारा जारी वीडियो में कहा, ‘‘विश्व कप बहुत बड़ा मंच है लेकिन भारत के खिलाफ भारत में खेलना संभवत: दूसरे नंबर पर है। मुझे लगता है कि हमारे खिलाड़ी निश्चित तौर पर इसके लिये तैयार हैं और परिस्थितियों से सामंजस्य बिठा रहे हैं। विकेटों का अच्छी तरह से अनुमान लगाना यहां महत्वपूर्ण होने जा रहा है।’’


बोल्ट टी20 विश्व कप से पहले इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दूसरे चरण का हिस्सा भी थे। उन्होंने कहा कि वह न्यूजीलैंड में गर्मियों में होने वाली श्रृंखलाओं पर अपना ध्यान लगाये हुए हैं।


उन्होंने कहा, ‘‘हर कोई निश्चित तौर पर न्यूजीलैंड में गर्मियों के सत्र का इंतजार कर रहा है। मैं टेस्ट क्रिकेट में खेलने के लिये उत्सुक हूं। मैं पिछले 12 सप्ताह से बाहर हूं और न्यूजीलैंड में गर्मियों के सत्र से पहले तरोताजा होना चाहता हूं।’’


बोल्ट ने कहा कि टी20 विश्व कप के फाइनल में आस्ट्रेलिया से मिली हार को पचा पाना आसान नहीं है।


उन्होंने कहा, ‘‘इस हार को पचा पाना अब भी मुश्किल है लेकिन जिंदगी इसी तरह से चलती है। हम होटल पहुंचे, अपना सामान तैयार किया, विमान में बैठे, जयपुर पहुंचे और अब फिर होटल में हैं।’’





...

बतौर बल्लेबाज और अधिक सफलता के लिये कोहली को सभी प्रारूपों में कप्तानी छोड़ देनी चाहिए: अफरीदी

कराची : पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी को लगता है कि भारतीय कप्तान विराट कोहली को बल्लेबाज के तौर पर और अधिक बेहतर प्रदर्शन करने के लिये खेल के सभी प्रारूपों में कप्तानी की भूमिका छोड़ देनी चाहिए।


‘समा टीवी चैनल’ पर बात करते हुए अफरीदी ने कहा कि बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) का रोहित शर्मा को भारतीय टी20 टीम का कप्तान नियुक्त करने का फैसला अच्छा है। कोहली ने भारत के टी20 विश्व कप में अभियान समाप्त होने पर टी20 कप्तानी छोड़ने का फैसला किया था, जिसके बाद बीसीसीआई ने यह फैसला किया।


अफरीदी ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि वह भारतीय क्रिकेट के लिये अद्भुत ताकत रहा है लेकिन मुझे लगता है कि यह अच्छा होगा, अगर वह अब सभी प्रारूपों में बतौर कप्तान संन्यास लेने का फैसला कर लें। ’’


उन्होंने कहा, ‘‘मैं एक साल के लिये रोहित के साथ खेला था और वह मजबूत मानसिकता वाला लाजवाब खिलाड़ी है। उसकी सबसे मजबूत चीज है कि जब जरूरी हो तो वह ‘रिलैक्स’ रह सकता है और जब बहुत जरूरी हो तो वह आक्रामकता भी दिखा सकता है। ’’


इस पाकिस्तानी स्टार ने कहा कि रोहित में अच्छे कप्तान के लिये मानसिक मजबूती है और उन्होंने अपनी आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस के लिये यह दिखा भी दिया है।


उन्होंने कहा, ‘‘वह शीर्ष स्तर का खिलाड़ी है, उनका शॉट चयन शानदार है और खिलाड़ियों के लिये अच्छे नेतृत्वकर्ता के लिये उनके पास मानसिकता भी है। ’’


अफरीदी आईपीएल के शुरू होने वाले वर्ष में डेक्कन चार्जर्स में रोहित के साथ खेले थे।


कोहली के टी20 कप्तानी छोड़ने के फैसले पर अफरीदी ने कहा कि वह इसकी उम्मीद कर रहे थे। अफरीदी को लगता है कि कोहली को कप्तानी छोड़कर सभी तीनों प्रारूपों में अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान लगाना चाहिए और इसका लुत्फ उठाना चाहिए।


अफरीदी ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि विराट को कप्तानी छोड़कर अपना बचे हुए क्रिकेट का लुत्फ उठाना चाहिए और मुझे लगता है कि उनका अभी काफी क्रिकेट बचा है। वह शीर्ष स्तर के बल्लेबाज हैं और वह दिमाग में किसी अन्य दबाव के बिना ‘फ्री’ होकर खेल सकते हैं। वह अपने क्रिकेट का आनंद लेंगे। ’’


तैंतीस वर्षीय कोहली ने हाल में आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की कप्तानी से भी हटने का फैसला किया था।


वहीं मुख्य कोच के तौर पर कार्यकाल खत्म कर चुके रवि शास्त्री ने हाल में एक साक्षात्कार में संकेत दिया था कि कोहली वनडे की कप्तानी भी छोड़ सकते हैं और सिर्फ टेस्ट टीम की अगुआई पर ही ध्यान लगायेंगे जो उनका पसंदीदा प्रारूप है।


कोहली ने 2019 के अंत से कोई टेस्ट शतक नहीं लगाया है। 






...

11 साल पहले हसी ने पाकिस्तान को चटाई थी धूल

दुबई : मार्कस स्टोइनिस-मैथ्यू वेड की बल्लेबाजी ने गुरुवार आईसीसी टी20 विश्व कप सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ माइकल हसी की यादें ताजा कर दीं, जिन्होंने साल 2010 के टी20 विश्व कप में कंगारूओं के लिए एक ही ओवर में तीन छक्के मारकर मैच पलट कर रख दिया था।


वेस्टइंडीज में 2010 में सेमीफाइनल के दौरान ग्रोस आइलेट में खेले गए मैच में माइकल हसी ने छह छक्कों की मदद से 24 गेंदों में नाबाद 60 रन बनाकर, पाकिस्तान द्वारा दिए गए 191 रनों के लक्ष्य को पूरा किया था। उनके प्रदर्शन की वजह से कंगारूओं की तीन विकेट से जीत हुई थी।


इस मैच में पाकिस्तान 18वें ओवर तक ऑस्ट्रेलिया को हराकर फाइनल जाता दिखाई दे रहा था। लेकिन, हसी ने एक असंभव पारी खेल पाकिस्तान के हाथों से जीत छीन ली थी।


उस समय हसी को सफेद गेंद का सबसे अच्छा फिनिशर माना जाता था। अगर कोई इस तरह के खेल को पलटने में सक्षम था तो वे हसी ही थे। सईद अजमल की गेंद पर उनके तीन छक्कों की बराबरी दुबई में मैथ्यू वेड से की गई, जिन्होंने शाहीन शाह अफरीदी की गेंद पर लगातार तीन छक्के मारकर 177 रन का पीछा किया।


गुरुवार को वेड की तुलना हसी से की गई। उन्होंने टी20 में इससे पहले 30 का आंकड़ा भी पार नहीं किया था और जब वह ओपनिंग करने आते थे। लेकिन उन्होंने 41 नाबाद रन बनाए।


वास्तव में उनके साथी मार्कस स्टोइनिस जो ज्यादा इस मैच को जीताने में सक्षम दिख रहे थे। उन्होंने 17वें ओवर में हारिस रऊफ को एक छक्का और एक चौका मारकर 13 रन बनाए दिए थे, जिससे कंगारूओं को मैच में मजबूती मिली थी।


इसके बाद, स्टोइनिस ने नाबाद 40 रन बनाए और वेड ने सिर्फ 17 गेंदों में 41 रनों की तूफानी पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई।


जीत के बाद वेड ने कहा, यह मैंने आत्मविश्वास के कारण कर पाया। मैं पूरे मैच में शांत था और मार्कस के साथ बल्लेबाजी करना शानदार रहा है, मैंने उसके साथ बहुत क्रिकेट खेला है। एक क्रिकेटर के रूप में मैंने उन्हें आगे बढ़ते देखा है जैसा कि वह आज है।


जहां 11 साल पहले हसी की शानदार पारी ने पाकिस्तान को सेमीफाइनल में जाने से रोक दिया था, इस बार यह ऑस्ट्रेलियाई फिनिशरों ने यह कारनामा कर दिखाया।


गौरतलब है कि 2010 में ऑस्ट्रेलिया फाइनल में इंग्लैंड से हार गई थी लेकिन इस बार ऑस्ट्रेलिया के पास पहली बार टी20 वर्ल्ड कप जीतने का पूरा मौका है। वह 14 नवंबर को न्यूजीलैंड के साथ खिताबी मुकाबले में भिड़ने के लिए तैयार हैं।




...

काम के बोझ का प्रबंधन करने का सही समय: कोहली

दुबई : भारत की टी20 अंतरराष्ट्रीय टीम के कप्तान के रूप में अपने अंतिम मैच में नामीबिया को नौ विकेट से हराने के बाद विराट कोहली टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में जगह नहीं बना पाने के कारण निराश दिखे लेकिन उन्होंने कहा कि यह उनके लिए अपने काम के बोझ का प्रबंधन करने का सही समय है।


कोहली पिछले काफी समय से क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में भारतीय टीम की अगुआई कर रहे हैं और मौजूदा टी20 विश्व कप से पहले ही उन्होंने घोषणा कर दी थी कि इस प्रारूप में भारतीय कप्तान के रूप में यह उनका अंतिम टूर्नामेंट होगा।


नामीबिया के 133 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने रोहित की 37 गेंद में दो छक्कों और सात चौकों से 56 रन की पारी के अलावा लोकेश राहुल (36 गेंद में नाबाद 54, चार चौके, दो छक्के) के साथ उनकी पहले विकेट की 86 रन की साझेदारी की बदौलत 28 गेंद शेष रहते एक विकेट पर 136 रन बनाकर जीत दर्ज की। राहुल ने सूर्यकुमार यादव (19 गेंद में नाबाद 25 रन) के साथ भी दूसरे विकेट के लिए 50 रन की अटूट साझेदारी की।


जडेजा (16 रन पर तीन विकेट), अश्विन (20 रन पर तीन विकेट) और जसप्रीत बुमराह (19 रन पर दो विकेट ) की धारदार गेंदबाजी के सामने नामीबिया की टीम आठ विकेट पर 132 रन ही बना सकी।


नामीबिया के खिलाफ जीत के बाद कोहली से जब आखिरी मैच में कप्तानी को लेकर भावनाओं के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘सबसे पहले तो राहत महसूस कर रहा हूं। जैसा कि मैंने पहले कहा कि यह सम्मान की बात है लेकिन चीजों को सही नजरिए से देखना होगा। यह मेरे लिए काम के बोझ का प्रबंधन करने का सही समय है। पिछले छह से सात साल में हमने जब भी मैदान में कदम रखा तो कड़ा क्रिकेट खेला जिसका शरीर पर काफी असर पड़ता है।’’


उन्होंने कहा, ‘‘यह काफी अच्छा रहा, खिलाड़ियों का शानदार समूह और हमने टीम के रूप में काफी अच्छा प्रदर्शन किया। मुझे पता है कि इस विश्व कप में हम काफी आगे तक नहीं गए लेकिन टी20 क्रिकेट में हमने कुछ अच्छे नतीजे हासिल किए और एक दूसरे के साथ खेलने का लुत्फ उठाया।’’


कोहली ने कहा कि अगर पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले दो मैचों में शुरुआती लगभग दो ओवर अच्छे


रहते तो चीजें अलग हो सकती थी।


उन्होंने कहा, ‘‘टी20 क्रिकेट में अधिक अंतर नहीं होगा। अगर आप पहले दो मैचों में शुरुआती लगभग दो ओवर में अधिक जज्बे के साथ खेलते तो चीजें अलग हो सकती थी। जैसा कि मैंने कहा कि हमने पर्याप्त साहस नहीं दिखाया। हम ऐसी टीम नहीं हैं जो टॉस हारने को बहाना बनाए।’’


मुख्य कोच रवि शास्त्री और अन्य सहयोगी स्टाफ के टीम के साथ अंतिम मुकाबले के बाद कोहली ने सभी को धन्यवाद दिया।


उन्होंने कहा, ‘‘इन सभी लोगों को धन्यवाद, इन वर्षों में उन्होंने शानदार काम किया और टीम को एकजुट रखा। टीम के आसपास शानदार माहौल रहा, वे हमारे बड़े परिवार का विस्तार हैं। उन्होंने भी भारतीय क्रिकेट में शानदार योगदान दिया है। हम सभी की ओर से उन सभी को धन्यवाद।’’


सूर्यकुमार यादव को तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी का मौका देने पर कोहली ने कहा, ‘‘सूर्य को क्रीज पर बिताने के लिए काफी समय नहीं मिला और मैंने सोचा कि यह उसके लिए अच्छी याद रहेगी। एक युवा खिलाड़ी के रूप में आप विश्व कप से कुछ अच्छी यादें लेकर जाना चाहते हो।’’


नामीबिया के कप्तान गेरहार्ड इरासमस ने कहा कि उन्होंने मैचों के बीच कम समय के कारण इस अनुभव का लुत्फ नहीं उठाया लेकिन स्वदेश लौटने पर वे महसूस कर पाएंगे कि उन्होंने कितना शानदार काम किया।


इरासमस ने कहा, ‘‘मैचों के बीच तेजी से उतार चढ़ाव देखने को मिला जिससे हम इस अनुभव का लुत्फ नहीं उठा पाए। स्वदेश लौटने पर हम महसूस कर पाएंगे कि हमने शानदार क्रिकेट खेला। व्यक्तिगत खिलाड़ी और टीम के रूप में हमारे पास काफी सकारात्मक पक्ष हैं और हमारे लिए यह अनुभव शानदार रहा। अगर हम अगले चरण पर जाना चाहते हैं तो यह हमारे लिए अच्छी बुनियाद है।’’


इरासमस ने कहा कि वे अगले साल आस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप को लेकर उत्सुक हैं। नामीबिया को सुपर 12 चरण में जगह बनाने के कारण सीधे पहले दौर में क्वालीफायर खेलने का मौका मिलेगा।


उन्होंने कहा, ‘‘(अगले साल विश्व कप में खेलना) यह एक और शानदार चीज है जिसे लेकर हम उत्सुक हैं। हम संभवत: नामीबिया में क्रिकेटरों की अगली पीढ़ी को प्रेरित करेंगे।’’


प्लेयर आफ द मैच चुने गए जडेजा ने कहा कि उन्होंने गेंदबाजी करने का पूरा लुत्फ उठाया।


जडेजा ने कहा, ‘‘एक गेंदबाज के रूप में आज मैंने गेंदबाजी करने का लुत्फ उठाया। गेंद सूखी थी इसलिए मैंने सूखी गेंद से गेंदबाजी का लुत्फ उठाया। कुछ गेंद टर्न कर रही थी और कुछ सीधी जा रही थी जिससे बल्लेबाजों को मुश्किल हो रही थी।’’


अश्विन के साथ गेंदबाजी करने पर जडेजा ने कहा, ‘‘मैं उनके साथ गेंदबाजी करने का लुत्फ उठाता हूं, मैं 10 साल से उनके साथ खेल रहा हूं। वह सफेद गेंद से शानदार प्रदर्शन कर रहा है। आईपीएल में भी उसने ऐसा किया।’’


कोहली की कप्तानी पर जडेजा ने कहा, ‘‘विराट ने शानदार कप्तानी की और मैं उनके साथ भी 10 से 12 साल से खेल रहा हूं। मैंने हमेशा उनकी कप्तानी का लुत्फ उठाया। वह सकारात्मक और आक्रामक है जो एक खिलाड़ी के रूप में आप चाहते हैं।’’


मुख्य कोच शास्त्री सहित सहयोगी स्टाफ के टीम के साथ अंतिम मैच पर जडेजा ने कहा, ‘‘उन्होंने सहयोगी स्टाफ के रूप में सात से आठ साल में शानदार काम किया है और हमने उनके साथ काम करने का लुत्फ उठाया।’’






...

लोग अगर मेरे कारण हंसते हैं तो अच्छा है : शास्त्री

दुबई : रवि शास्त्री इस बात से अच्छी तरह से वाकिफ हैं भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान सोशल मीडिया पर उन्हें मजाकिया अंदाज में पेश किया जाता था लेकिन इस पूर्व आलराउंडर ने कहा कि अगर उनके कारण लोग हंसते हैं तो फिर उन्हें कोई दिक्कत नहीं है।


इस 59 वर्षीय पूर्व क्रिकेटर का मुख्य कोच के रूप में कार्यकाल नामीबिया के खिलाफ सोमवार को टी20 विश्व कप में भारत के आखिरी मैच के साथ समाप्त हो गया। इस दौरान सोशल मीडिया पर अक्सर उनकी टांग खींची जाती थी।


शास्त्री ने मीडियाकर्मियों से कहा, ‘‘हर तरफ मजाक चलता रहता है। वे मेरे नाम पर हंसते हैं, मजा करते हैं। क्या फर्क पड़ता है। मैं नींबू पानी पीऊंगा या मेरे पास दूध और शहद होगा, लेकिन आप ड्रिंक करो। मेरे नाम पर मजे करो न।’’


उन्होंने कहा, ‘‘जब आप इस तरह की चीजें पोस्ट करते हैं तो कितने जन (लोग) हंसते हैं यार, कितने जन खुश होते हैं। ‘एंज्वाय’ (मजा) करो ना यार। जब तक टीम अच्छा प्रदर्शन करती है, मैं खुश हूं।’’


भारत की हार के बाद अक्सर होने वाली आलोचना के बारे में शास्त्री ने कहा, ‘‘ आलोचना। यह प्रदर्शन पर निर्भर करता है। अच्छा करो तो आपकी प्रशंसा होगी, अच्छा प्रदर्शन नहीं करो तो आपको लताड़ दिया जाएगा। शांति रखो। ओम शांति ओम।’’






...

एमसीसी के पूर्व प्रमुख ब्रैडशॉ का निधन

एडीलेड : मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) के पूर्व मुख्य कार्यकारी और दिन रात्रि टेस्ट मैचों के आयोजन में अहम भूमिका निभाने वाले कीथ ब्रैडशॉ का निधन हो गया है। वह 58 वर्ष के थे।


क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने मंगलवार को जारी बयान में ब्रैडशॉ को दुनिया भर में लोगों का चहेता क्रिकेट अधिकारी बताया। ब्रैडशॉ इंग्लैंड जाने से पहले 1980 के दशक में तस्मानिया के लिये प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला करते थे।


वह 2006 में लार्ड्स स्थित एमसीसी के मुख्य कार्यकारी बने थे। वह इंग्लैंड से बाहर के पहले व्यक्ति थे जिन्होंने यह पद संभाला था। वह 2008 से कैंसर से पीड़ित थे।


ब्रैडशॉ 2011 में आस्ट्रेलिया लौट आये थे और दक्षिण आस्ट्रेलिया क्रिकेट संघ के मुख्य कार्यकारी बने थे। उन्होंने एडीलेड ओवल में नवंबर 2015 में आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच पहले दिन रात्रि टेस्ट मैच के आयोजन में अहम भूमिका निभायी थी।




...

पाकिस्तान ने स्कॉटलैंड पर 72 रन से जीत हासिल की, सुपर 12 मैच खत्म

शारजाह :  पाकिस्तान ने रविवार को यहां शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए आईसीसी पुरुष टी20 विश्व कप में स्कॉटलैंड पर 72 रन से जीत के साथ अपने सुपर 12 मैचों का समापन किया।


बाबर आजम (47 गेंदों में 66 रन), शोएब मलिक (18 गेंदों पर नाबाद 54) और मोहम्मद हफीज (19 गेंदों पर 31 रन) ने पाकिस्तान को 189/4 पर ले जाने के बाद, पाकिस्तान ने स्कॉटलैंड को 20 ओवरों में 117/6 पर रोक दिया।


जॉर्ज मुन्से ने शाहीन शाह अफरी के पहले दो ओवरों में दो चौके लगाकर शुरुआत की। इमाद वसीम की गेंद पर काइल कोएत्जर ने चौका लगाया लेकिन पावर-प्ले के अंतिम ओवर में हसन अली ने उन्हें बोल्ड कर दिया। पावर-प्ले के बाद के रन सूखने लगे क्योंकि पाकिस्तान ने स्कॉटलैंड पर दबाव बनाना शुरू कर दिया।


स्कॉटलैंड को एक मजबूत झटका लगा क्योंकि मैथ्यू क्रॉस नॉन-स्ट्राइकर के छोर पर रन आउट हो गया और वसीम ने मुन्से की स्ट्रेट ड्राइव पर गेंद पर हाथ रखा। मुक्त होने के प्रयास में, मुंसे ने शादाब खान पर हमला करने की कोशिश की, लेकिन 11 वें ओवर में शार्ट थर्ड मैन पर आउट हो गए। दो गेंदों के बाद, खान के पास एक और विकेट था क्योंकि डायलन बज को एक गुगली ने बोल्ड किया था।


हालांकि परिणाम एक पूर्व निष्कर्ष था, स्कॉटलैंड ने अपरिहार्य में देरी करने की कोशिश की। माइकल लीस्क ने रिची बेरिंगटन के साथ पांचवें विकेट के लिए 41 रन की साझेदारी की। अफरीदी ने लीस्क को 16वें ओवर में क्लीन बोल्ड कर यह साझेदारी तोड़ दी।


स्कॉटलैंड के लिए एकमात्र योद्धा बेरिंगटन ने दो और चौके लगाए और अली की गेंद पर अपना अर्धशतक पूरा किया। लेकिन यह पर्याप्त नहीं था क्योंकि पाकिस्तान ने अपने ग्रुप 2 अभियान को एक सर्व-जीत रिकॉर्ड के साथ समाप्त कर दिया।


संक्षिप्त स्कोर : पाकिस्तान ने 20 ओवर में 189/4 (बाबर आजम 66, शोएब मलिक नाबाद 54, क्रिस ग्रीव्स 2-43, हमजा ताहिर 1-24) ने स्कॉटलैंड को 117/6 (रिची बेरिंगटन 54 नाबाद, जॉर्ज मुन्सी 17, शादाब खान 2-14, शाहीन शाह अफरीदी 1-24) को 72 रन से हराया।

...

मानसिक थकान के कारण गलत हो सकते हैं फैसले : रोहित

अबुधाबी : भारतीय टीम के उपकप्तान रोहित शर्मा ने स्वीकार किया कि टी20 विश्व कप में भारत के कुछ फैसले गलत साबित हुए हैं लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि लंबे समय घर से बाहर रहने से हुई मानसिक थकान के कारण ऐसा होता है।


अफगानिस्तान के खिलाफ बुधवार को 66 रन से मिली जीत में 74 रन की पारी खेलने वाले रोहित का इशारा पाकिस्तान और न्यूजीलैंड से मिली हार की ओर था।


उन्होंने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘इस मैच में रवैया अलग था। काश की पहले दो मैचों में भी हम ऐसा खेल पाते लेकिन ऐसा हुआ नहीं और लंबे समय से घर से बाहर रहने पर ऐसा होता है। कई बार फैसले गलत हो जाते हैं और पहले दो मैचों में भी यही हुआ।’’


रोहित ने कहा, ‘‘आजकल इतनी क्रिकेट खेली जा रही है और हम इतनी क्रिकेट खेल रहे हैं।ऐसे में जब भी आप मैदान पर उतरते हैं तो सही फैसले लेने होते हैं।’’


उन्होंने कहा, ‘‘आपको यह सुनिश्चित करना होता है कि मानसिक रूप से आप तरोताजा रहें। यही वजह है कि हम कुछ अच्छे फैसले नहीं ले सकें। बहुत क्रिकेट खेलने पर ऐसी चीजें होती है। कई बार खेल से अलग होकर मानसिक रूप से तरोताजा होना पड़ता है।’’


उन्होंने कहा ,‘‘लेकिन जब आप विश्व कप खेल रहे हैं तो फोकस उसी पर होना चाहिये। आपको पता होना चाहिये कि क्या करना है और क्या नहीं।’’


रोहित ने यह भी कहा कि दो खराब मैचों से टीम खराब नहीं हो जाती।


उन्होंने कहा, ‘‘दो मैचों में हम अच्छा खेल नहीं सके लेकिन इसके यह मायने नहीं है कि हम रातोरात खराब खिलाड़ी हो गए। इसके यह मायने नहीं है कि सभी खिलाड़ी और खेल को चलाने वाले बेकार है। आप आत्ममंथन करके वापसी करते हैं और हमने यही किया।’’


उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे हालात में आपको बेखौफ रहना होता है और बाहर क्या हो रहा है, उस पर ध्यान नहीं देना होता है। हमारी टीम बहुत अच्छी है जो बस दो मैचों में अच्छा नहीं खेल सकी।’’





...

अश्विन की मौजूदगी से टीम को हमेशा फायदा मिलता है : रोहित

अबुधाबी : भारतीय उपकप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि अंतिम एकादश में रविचंद्रन अश्विन की मौजूदगी से टीम को हमेशा फायदा मिलता है क्योंकि यह अनुभवी आफ स्पिनर सदैव विकेट की तलाश में रहता है। चार साल बाद टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले अश्विन ने अफगानिस्तान के खिलाफ चार ओवर में 14 रन देकर दो विकेट लिये।


रोहित ने मैच के बाद कहा, ‘‘वह शानदार गेंदबाज है और इसमें कोई शक नहीं है। उसने इतनी क्रिकेट खेली है और इतने विकेट लिये हैं। उसे पता था कि यह उसके लिये चुनौतीपूर्ण है क्योंकि वह तीन या चार साल बाद सीमित ओवरों का क्रिकेट खेल रहा था।’’’


उन्होंने कहा, ‘‘वह हमेशा विकेट की तलाश में रहता है और टीम में उसके जैसा खिलाड़ी होने पर फायदा रहता है। वह अपनी गेंदबाजी को बखूबी समझता है और उसने आईपीएल में भी शानदार गेंदबाजी की थी। उम्मीद है कि आगे भी वह हमारे लिये ऐसी ही गेंदबाजी करता रहेगा।’’


भारत के लिये अभी सेमीफाइनल की डगर मुश्किल है लेकिन भारत पाकिस्तान फाइनल की संभावना के बारे में पूछे जाने पर रोहित ने कहा, ‘‘आप फाइनल की बात कर रहे हैं जिसकी राह हमारे लिये अभी लंबी है। अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड मैच में कौन जीतता है और कौन हारता है। हम अभी इतने आगे की नहीं सोच रहे हैं। हमें अगले मैच के बारे में सोचना है और फिर अफगानिस्तान न्यूजीलैंड मैच हमारे लिये अहम है। सो फाइनल अभी दूर की कौड़ी है।’’




...

आस्ट्रेलिया को निराश होने की जरूरत नहीं लेकिन शीर्ष क्रम को अच्छा प्रदर्शन करना होगा : ली

दुबई : आस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली को विश्वास है कि आरोन फिंच की अगुवाई वाली टीम इंग्लैंड के हाथों करारी हार से उबरकर टी20 विश्व कप में वापसी करने में सफल रहेगी लेकिन इसके लिये उसके शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को अच्छा प्रदर्शन करना होगा।


इंग्लैंड ने पिछले सप्ताह आस्ट्रेलिया के खिलाफ बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए उसकी टीम को 125 रन पर आउट कर दिया था और फिर केवल 11.4 ओवर में लक्ष्य हासिल करके आठ विकेट से जीत दर्ज की थी।


ली ने आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) की आधिकारिक वेबसाइट पर अपने कॉलम में लिखा, ‘‘इंग्लैंड ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ बेजोड़ प्रदर्शन किया। वनडे में विश्व चैंपियन ने बेहतरीन खेल दिखाया।’’


उन्होंने कहा, ‘‘आस्ट्रेलिया ने भी कुछ चरणों में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन मैच के अन्य हिस्सों में लचर प्रदर्शन के कारण उसे करारी शिकस्त झेलनी पड़ी।’’


आस्ट्रेलिया के तीन मैचों में चार अंक हैं और उसे अब अपने बचे हुए मैच हर हाल में जीतने होंगे क्योंकि दक्षिण अफ्रीका चार मैचों में छह अंक लेकर उससे आगे है और उसका नेट रन रेट भी बेहतर है।


ली ने कहा, ‘‘आस्ट्रेलिया के लिये निराश होने वाली स्थिति नहीं है। मैं चीजों को सकारात्मक दृष्टिकोण से देखने की कोशिश करता हूं। बहुत सारे लोग कह रहे हैं, ‘उसे टीम में नहीं होना चाहिए’, ‘उसे बल्लेबाजी नहीं करनी चाहिए। और ऐसी ही कई बातें।’’


आस्ट्रेलिया के इस दिग्गज ने हिंदी का सहारा लेकर अपनी बात समझाने की कोशिश की।


उन्होंने कहा, ‘‘हिंदी में कहा जाता है, आराम से, आराम से। इसका मतलब है सहज होकर, धैर्यपूर्वक आगे बढ़ना। मुझे लगता है कि यह वास्तव में एक अच्छी अभिव्यक्ति है जिसका उपयोग टीम सहज होकर अपने काम पर ध्यान देने के लिये कर सकती है। सब कुछ ठीक हो जाएगा।’’


ली को लगता है कि आस्ट्रेलिया के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों डेविड वार्नर, कप्तान फिंच, स्टीव स्मिथ, आलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल और मार्कस स्टोइनिस को अच्छा प्रदर्शन करना होगा।


उन्होंने कहा, ‘‘शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को अच्छा प्रदर्शन करना होगा। स्टीवन स्मिथ, ग्लेन मैक्सवेल, मार्कस स्टोइनिस जैसे खिलाड़ियों को रन बनाने होंगे। वे पहले दो मैचों में अच्छी फॉर्म में थे, लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ चूक गये और यह खेल का हिस्सा है।’’


टूर्नामेंट से पहले ली ने कहा था कि भारत को हराना आसान नहीं होगा लेकिन इस पूर्व तेज गेंदबाज ने अब इंग्लैंड और पाकिस्तान को खिताब का प्रबल दावेदार बताया।

...

पवार ने पाकिस्तान से हारने के बाद भारतीय खिलाड़ियों की ‘ट्रोलिंग’ की निंदा की

मुंबई : एनसीपी प्रमुख और पूर्व आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) चेयरमैन शरद पवार ने टी20 विश्व कप में पाकिस्तान से मिली 10 विकेट की हार के बाद सोशल मीडिया पर कुछ भारतीय खिलाड़ियों की ‘ट्रोलिंग’ को शुक्रवार को ‘अशोभनीय’ करार दिया। कुछ खिलाड़ियों, विशेषकर तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को इस हार के बाद सोशल मीडिया पर निशाना बनाया गया था।


उन्होंने यहां एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘‘मेरी क्रिकेट के प्रशंसकों से अपील है कि उन्हें इस तरह की आलोचना से खिलाड़ियों को हतोत्साहित करने से खुद को दूर रखना चाहिए। ’’


उन्होंने किसी भी खिलाड़ी का नाम लिये बिना कहा, ‘‘भारतीय टीम के पाकिस्तान से हारने के बाद कुछ खिलाड़ियों के खिलाफ इस तरह की ‘ट्रोलिंग’ अशोभनीय थी। ’’


उन्होंने कहा, ‘‘हम जीतते भी हैं और हारते भी। लेकिन मैंने कभी भी इस स्तर की आलोचना नहीं देखी। मेरा मानना है कि हम न्यूजीलैंड के खिलाफ अगला मैच जीतेंगे जिससे लोगों का मूड भी बदल जायेगा। ’’ 





...

सैयद मुश्ताक अली टी20 में महाराष्ट्र की अगुवाई करेंगे रुतुराज

पुणे : भारतीय बल्लेबाजी की नयी सनसनी रुतुराज गायकवाड़ चार नवंबर से शुरू होने वाली सैयद मुश्ताक अली ट्राफी टी20 प्रतियोगिता में महाराष्ट् का नेतृत्व करेंगे।


महाराष्ट्र को एलीट ग्रुप ए में रखा गया है और वह लीग चरण के अपने मैच लखनऊ में खेलेगा। उसका पहला मुकाबला तमिलनाडु से होगा।


इंडियन प्रीमियर लीग में सर्वाधिक रन बनाने वाले गायकवाड़ के साथ नौशाद शेख को उप कप्तान बनाया गया है। कोलकाता नाइट राइडर्स के राहुल त्रिपाठी आईपीएल फाइनल में लगी चोट से अभी नहीं उबरे हैं और उन्हें टीम में नहीं लिया गया है।


सीनियर बल्लेबाज केदार जाधव को भी टीम में शामिल किया गया है।


महाराष्ट्र की टीम इस प्रकार है : रुतुराज गायकवाड़ (कप्तान), नौशाद शेख (उपकप्तान), केदार जाधव, यश नाहर, अजीम काजी, रंजीत निकम, सत्यजीत बछव, तरनजीत सिंह ढिल्लों, मुकेश चौधरी, आशा पालकर, मनोज इंगले, प्रदीप दाधे, शमशुजामा काजी, स्वप्निल फुलपागर, दिव्यांग हिंगानेकर, सुनील यादव, धनराजसिंह परदेशी, स्वप्निल गुगले, पवन शाह और जगदीश जोप।







...

कोहली ने पूरी खेल भावना से हार स्वीकार की : सना मीर

दुबई : पाकिस्तान की महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान सना मीर का मानना है कि विराट कोहली हार को पूरी खेल भावना से स्वीकार करने में भी आदर्श खिलाड़ी हैं जिससे भारतीय कप्तान के सुरक्षा भाव का भी पता चलता है।


भारत टी20 विश्व कप के अपने पहले मैच में पाकिस्तान से 10 विकेट से हार गया था। यह विश्व कप (वनडे और टी20) में पाकिस्तान की भारत पर पहली जीत है। मैच के बाद कोहली ने विजयी टीम के नायक मोहम्मद रिजवान को गले लगाया था।


मीर ने आईसीसी की आधिकारिक वेबसाइट पर अपने कॉलम में लिखा, ‘‘विराट कोहली ने पूरी शिष्टता के साथ हार स्वीकार की और मैं उनकी खेल भावना की प्रशंसा करती हूं। शीर्ष खिलाड़ियों का इस तरह का व्यवहार देखना वास्तव में बहुत अच्छा है।’’


उन्होंने आगे लिखा, ‘‘इससे उनके अंदर के सुरक्षा भाव का भी पता चलता है। इसका मतलब है कि वह वापसी करने को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं।’’


मीर ने कहा कि अगर भारत बड़ी जीत से टूर्नामेंट में वापसी करता है तो उन्हें आश्चर्य नहीं होगा।


उन्होंने कहा, ‘‘अगर भारत जल्द ही बड़ी जीत के साथ वापसी करता है तो मुझे हैरानी नहीं होगी और मुझे उम्मीद है कि हम टूर्नामेंट में भारत और पाकिस्तान को एक बार फिर से एक दूसरे के खिलाफ खेलते देख सकते हैं। ’’







...

पाकिस्तान की जीत पर भारत में फोड़े गए पटाखे तो भड़के वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर

नई दिल्ली :  ICC T20 World Cup 2021 में भारतीय टीम को पाकिस्तान के हाथों करारी हार का सामना करना पड़ा। भारत की इस हार से हर एक भारतीय निराश था, लेकिन भारत के कुछ हिस्सों में पाकिस्तान की जीत का जश्न पटाखे फोड़कर मनाया गया। इसको लेकर भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग नाखुश हैं और उन्होंने अपनी भड़ास इंटरनेट मीडिया के जरिए जाहिर की है।

वीरेंद्र सहवाग ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट शेयर करते हुए लिखा है, "दिवाली के दौरान पटाखों पर प्रतिबंध है, लेकिन कल (रविवार, 24 अक्टूबर) भारत के कुछ हिस्सों में पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने के लिए पटाखे फोड़े गए थे। अच्छा वे क्रिकेट की जीत का जश्न मना रहे होंगे। तो दीपावली पर पटाखे चलाने में क्या हर्ज है। ऐसा पाखंड़ (हिपोक्रेसी) क्यों, सारा ज्ञान तब ही याद आता है।"

वहीं, पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने लिखा है, "जो लोग पाकिस्तान की जीत पर पटाखे फोड़ रहे हैं वो भारतीय नहीं हो सकते। हमें अपनी टीम के साथ खड़ा होना चाहिए।"

बता दें कि पाकिस्तान को विश्व कप के इतिहास में पहली बार भारत के खिलाफ जीत मिली है। इस जीत के बाद भारत के कुछ हिस्सों से ऐसी खबरें आई हैं कि पाकिस्तान की जीत पर पटाखे चलाए गए हैं और कुछ जगह लड़ाईयां भी हुई हैं। पाकिस्तान की जीत को भारत में सेलिब्रेट करना, ये किसी देशद्रोह से कम नहीं है। जाहिर है कि पाकिस्तान प्रेम के चलते पटाखे चलाए गए होंगे। निश्चित रूप से ऐसा तो नहीं है कि क्रिकेट के खेल के लिए ऐसा किया गया होगा। 

दूसरी सबसे बड़ी बात वीरेंद्र सहवाग ने ये उठाई है कि जब भारत में हिंदू धर्म के सबसे बड़े त्योहार दिवाली पर पटाखे बैन हैं तो फिर क्रिकेट के मैच के बाद पटाखे चलाने का क्या तुक है और वो भी भारत की जीत नहीं, बल्कि पाकिस्तान की जीत पर भारत में पटाखे चलाने के क्या मायने हैं।


...

टी20 विश्व कप : हम जानते हैं कि खेल कहां गलत हुआ : कोहली

दुबई : भारतीय कप्तान विराट कोहली का मानना है कि उनकी टीम को इस बात का सटीक अंदाजा है कि पाकिस्तान के खिलाफ पहला मैच कहां गया और कहां चूक हुई। उन्होंने कहा कि पहले छह ओवरों में पाकिस्तान की शानदार गेंदबाजी का मतलब था कि भारत पुरुष टी20 विश्व कप के अपने शुरुआती मैच में अतिरिक्त 20-25 रन नहीं बना सका। भारत को रविवार को दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में पाकिस्तान ने दस विकेट से शिकस्त दी।


कोहली ने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कहा, एक टीम के तौर पर हमें यह समझने की जरूरत है कि बीच में वहां के हालात की हकीकत क्या थी। वहीं 20-25 अतिरिक्त रन अच्छे होते। लेकिन पहले छह में शानदार गेंदबाजी ने हमें अतिरिक्त रन हासिल नहीं होने दिया। हम वास्तव में जानते हैं कि खेल कैसे हाथ से चला गया और यह कहां गलत हो गया। हमारे पास इसकी पूर्ण स्पष्टता है, यह जानना अच्छी बात है कि आप एक टीम के रूप में कहां गलत हुए।


कोहली ने कहा, तो, आप काम कर सकते हैं और इसे सुधारने की कोशिश कर सकते हैं और आगे बढ़ सकते हैं क्योंकि इस टूर्नामेंट में हमारे पास अभी भी बहुत सारे मैच हैं। अगर हम अपनी प्रक्रियाओं का पालन करते हैं, तो हम निश्चित रूप से महसूस कर सकते हैं कि हम इन गलतियों पर काम कर सकते हैं।


यह बताते हुए कि मैच कैसे समाप्त हो गया, विशेष रूप से पाकिस्तान के पीछा के दौरान तस्वीर में आने के बाद, कोहली ने कहा, अगर पिच बल्लेबाजी करने के लिए थोड़ी बेहतर हो जाती है, तो आप शुरू हो जाते हैं। तब आप पीछा करने के बारे में अधिक आत्मविश्वास महसूस करना शुरू कर देते हैं। क्या हुआ। पाकिस्तान की पारी के दूसरे हाफ में जितनी अधिक ओस आई और वे स्ट्राइक रोटेट करने में सफल रहे।



...

भारत की शर्मनाक हार, पाकिस्तान ने रोका विजय अभियान

दुबई : बल्लेबाजों के लचर प्रदर्शन और गेंदबाजों के परिस्थितियों के अनुकूल गेंदबाजी करने में नाकाम रहने के कारण भारत को आईसीसी टी20 विश्व कप के सुपर 12 के ग्रुप दो मैच में रविवार को यहां पाकिस्तान से 10 विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा जिससे उसका अपने इस चिर प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ पिछले 29 वर्षों से चला आ रहा विजय अभियान भी थम गया।


भारत ने विश्व कप (वनडे और टी20) में 1992 के बाद इस मैच से पहले तक सभी 12 मैचों (वनडे में सात और टी20 में पांच) में जीत दर्ज की थी लेकिन पहले शाहीन शाह अफरीदी (31 रन देकर पांच) की अगुवाई में पाकिस्तानी गेंदबाजों के सामने उसके बल्लेबाज नहीं चले और बाद में रही सही कसर कप्तान बाबर आजम (52 गेंद पर नाबाद 68, छह चौके, दो छक्के) और मोहम्मद रिजवान (55 गेंदों पर नाबाद 78, छह चौके तीन छक्के) की पहले विकेट के लिये अटूट शतकीय साझेदारी ने पूरी कर दी।


भारत ने सात विकेट पर 151 रन बनाये थे लेकिन पाकिस्तान ने 17.5 ओवर में बिना किसी नुकसान के 152 रन बनाकर एकतरफा जीत दर्ज करके अपने विश्व कप अभियान की शानदार शुरुआत की।


भारत ने टॉस गंवाया और इसके एक समय वह तीन विकेट पर 31 रन बनाकर संघर्ष कर रहा था। विराट कोहली (49 गेंदों पर 57 रन, पांच चौके, एक छक्का) ने ऋषभ पंत (30 गेंदों पर 39 रन, दो चौके, दो छक्के) के साथ चौथे विकेट के लिये 40 गेंदों पर 53 रन की साझेदारी की जिससे भारत सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच पाया।


इसके उलट पाकिस्तानी बल्लेबाजों ने शुरू से ही भारतीय गेंदबाजों पर दबाव बनाया। कोहली के गेंदबाजों से लेकर क्षेत्ररक्षण की सजावट में वह आक्रामकता नहीं दिखी जिसके कारण उन्हें दुनिया के सफल कप्तानों में गिना जाता है। विश्व कप के बाद टी20 की कप्तानी छोड़ने का मन बना चुके कोहली को यह हार वर्षों तक सालती रहेगी।


रिजवान ने भुवनेश्वर के पहले ओवर में ही चौका और छक्का लगाया। कोहली को पावरप्ले में ही वरुण चक्रवर्ती को गेंद सौंपनी पड़ी। पाकिस्तान ने पहले छह ओवरों में बिना किसी नुकसान के 43 रन बनाये।


बाबर और रिजवान का ‘फुटवर्क, प्लेसमेंट और टाइमिंग’ बहुत अच्छा था जिसके सामने भारत के तेज गेंदबाजों और स्पिनरों की एक नहीं चली। इन दोनों ने स्ट्राइक रोटेट करके भारत पर दबाव बनाया। भारत के दोनों स्पिनरों ने आठ ओवर में 61 रन लुटाये जबकि तेज गेंदबाजों में पैनापन नहीं दिखा।


बाबर जल्द ही अपने आक्रामक रंग में उतर आये। उन्होंने रविंद्र जडेजा पर छक्के से शुरुआत की और फिर चक्रवर्ती के एक ओवर में दो छक्के लगाये। इनमें से दूसरे छक्के से उन्होंने अर्धशतक भी पूरा किया। भारतीय स्पिनरों को ओस के कारण गेंद पर पकड़ बनाने में परेशानी हो रही थी।


रिजवान ने 41 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया और जल्द ही वह अपने कप्तान की बराबरी पर पहुंच गये। इसके बाद उन्होंने मोहम्मद शमी पर छक्का और दो चौके लगाकर 18वें ओवर में अपनी टीम को लक्ष्य तक पहुंचा दिया।


इससे पहले भारत के लिये शुरुआत किसी भी तरह से अनुकूल नहीं रही। कोहली ने टॉस गंवाया और भारत ने उसके बाद 13 गेंद और छह रन के अंदर दोनों सलामी बल्लेबाजों रोहित शर्मा (शून्य) और केएल राहुल (तीन) के विकेट गंवा दिये।


रोहित की बायें हाथ के तेज गेंदबाज के सामने कोण लेकर अंदर आती गेंद पर कमजोरी फिर खुलकर सामने आयी। अफरीदी ने उन्हें पहले ओवर में पगबाधा आउट करने के बाद अगले ओवर की पहली गेंद पर राहुल की गिल्लियां बिखेरी।


सूर्यकुमार यादव (आठ गेंदों पर 11) को हसन अली (44 रन देकर दो) ने विकेट के पीछे रिजवान के हाथों कैच कराया जिससे पावरप्ले के बाद भारत का स्कोर तीन विकेट पर 36 रन हो गया।


कोहली का अफरीदी पर ‘कॉउ कार्नर’ पर लगाया गया छक्का दर्शनीय था, लेकिन सूर्यकुमार के आउट होने के बाद उन्हें भी संभलकर खेलना पड़ा। पंत के लेग स्पिनर शादाब खान पर शार्ट फाइन लेग पर लगाये गये चौके से भारत नौ ओवर में 50 रन के पार पहुंचा।


पंत ने हसन अली पर पारी के 12वें ओवर में एक हाथ से लगातार गेंदों पर स्क्वायर लेग और लांग ऑफ पर छक्के जड़े। लेकिन जब वह खतरनाक नजर आ रहे थे तब उन्होंने शादाब खान (22 रन देकर एक) की गेंद हवा में लहराकर आसान कैच थमा दिया।


इससे रन गति फिर धीमी पड़ गयी। भारत 15 ओवर में तिहरे अंक तक पहुंच पाया। भारत ने बीच के नौ ओवरों में 64 रन बनाये और पंत का विकेट गंवाया। उसने अंतिम पांच ओवरों में तीन विकेट के एवज में 51 रन जोड़े।


कोहली ने पाकिस्तान ने 45 गेंदों में अर्धशतक जमाया लेकिन छठे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरे रविंद्र जडेजा (13 गेंदों पर 13) संघर्ष करते नजर आये। कोहली 19वें ओवर में आउट हुए और इस तरह से पाकिस्तान के खिलाफ टी20 विश्व कप में लगातार चौथी पारी में नाबाद नहीं रह पाये। हार्दिक पंड्या भी 11 रन बना पाये।







...

भारत पर जीत के जश्न में पाकिस्तान में जमकर हुई आतिशबाजी, सड़कों पर उतरे प्रशंसक

कराची : आईसीसी विश्व कप में भारत के खिलाफ 12 मैचों की हार का सिलसिला टूटने के बाद पाकिस्तान के क्रिकेटप्रेमी जश्न मनाने सड़कों पर उतर आये और पूरे देश में जमकर आतिशबाजी हुई। पाकिस्तान ने दुबई में टी20 विश्व कप के पहले मैच में भारत को दस विकेट से हराया। खुशी में सराबोर प्रशंसकों ने कराची में कार के हॉर्न बजाये और पटाखे छोड़े। यहां सार्वजनिक स्थानों पर बड़ी स्क्रीन लगाई गई थी और कोरोना प्रतिबंधों में रियायतों के बाद होटलों में भी मैच के प्रसारण का बंदोबस्त था।


कुछ जगहों पर पुलिस ने जीत के जश्न में हवाई फायरिंग की घटनायें भी दर्ज की है। प्रधानमंत्री और विश्व कप 1992 विजेता पूर्व कप्तान इमरान खान ने ट्वीट किया, ‘‘पाकिस्तानी टीम और खासकर बाबर आजम को बधाई जिसने मोर्चे से अगुवाई की। रिजवान और शाहीन शाह अफरीदी ने भी शानदार प्रदर्शन किया। देश को आप पर नाज है।’’ पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष रमीज राजा ने ट्वीट किया ,‘‘अलहमदुलिल्ला। यह पहली जीत है और सबसे यादगार भी। पाकिस्तानियों के लिये यह गर्व का पल जिसके लिये पूरी टीम को धन्यवाद। यह यादगार सफर की शुरूआत है।’’ पाकिस्तान के प्रशंसकों ने कार की खिड़कियों से झंडे लहराये। कॉलेज के छात्र फरहान ने कहा, ‘‘हमने भारत को विश्व कप में पहली बार हराया ही नहीं है बल्कि जिस अंदाज में हराया है, वह काबिले तारीफ है।’’ मैच से पहले कराची की सड़कों पर वीराना छाया था लेकिन मैच खत्म होते ही जलसा शुरू हो गया। सेना प्रमुख ने भी टीम को बधाई देते हुए कहा कि देश को उन पर फख्र है। पूर्व टेस्ट स्पिनर इकबाल कासिम ने कहा, ‘‘मुझे लगा था कि पाकिस्तान यह मैच जीत सकता है लेकिन इस तरह एकतरफा जीत से हम हैरान है।’’ मुंबई पर आतंकी हमले के बाद से भारत और पाकिस्तान के द्विपक्षीय क्रिकेट संबंध बंद है। पाकिस्तान ने 2012 में सीमित ओवरों की संक्षिप्त श्रृंखला के लिये भारत का दौरा किया लेकिन दोनों टीमों का सामना आईसीसी टूर्नामेंटों और एशिया कप में ही होता आया है।






...

आईपीएल 2021: वाटसन ने हेजलवुड और मैकग्रा के बीच तुलना की

दुबई : ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर शेन वॉटसन ने चेन्नई सुपर किंग्स के तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा के बीच तुलना की है। उन्होंने बताया कि नियंत्रण और सटीकता के मामले में दोनों के बीच काफी समानताएं हैं।


वॉटसन ने स्टार स्पोर्ट्स सेलेक्ट डगआउट में कहा, हेजलवुड में मुझे जो चीज पसंद है, वह यह है कि उनकी उंगलियों से निकलने वाली गेंद पर उनका नियंत्रण है, और यही मैक्ग्रा के समान बनाता है। जो नियंत्रण मैकग्रा कि गेंदबाजी में तब हुआ करती थी जोश के पास यह छोटी उम्र से है, इसलिए मैने दोनों की तुलना की।


हेजलवुड ने आईपीएल 2021 में चेन्नई के लिए नौ मैचों में 8.51 की इकॉनमी रेट से आठ विकेट लिए हैं। ऑस्ट्रेलिया के लिए 17 टी20 में हेजलवुड ने 7.98 की इकॉनमी रेट से 21 विकेट लिए हैं। आईपीएल 2021 के फाइनल के बाद हेजलवुड टी 20 विश्व कप के लिए अपनी राष्ट्रीय टीम के साथ जुड़ेंगे।






...

टी20 विश्व कप : न्यूजीलैंड के स्पिनरों को गुर सिखा रहे हैं तेज गेंदबाज शेन बांड

दुबई : यह सुनने में भले ही थोड़ा अजीब लगे लेकिन न्यूजीलैंड क्रिकेट ने पूर्व तेज गेंदबाज शेन बांड को टी20 विश्व कप के दौरान विशेष तौर पर राष्ट्रीय टीम के स्पिनरों के साथ काम करने के लिये नियुक्त किया है।


बांड चौथे कोच के रूप में टीम के साथ रहेंगे। वह टीम के स्पिनरों के साथ काम करते हुए गेंदबाजी कोच शेन जर्गेनसेन की मदद करेंगे।


न्यूजीलैंड के मुख्य कोच गैरी स्टीड ने न्यूजीलैंड क्रिकेट से कहा, ‘‘वह विशेष तौर पर स्पिन गेंदबाजों के साथ काम कर रहे हैं। जब आप गेंदबाजों की बड़ी संख्या देखते हो तो यह अच्छा है। इससे शेन (जर्गेनसेन) को मदद मिलेगी।’’


उन्होंने कहा, ‘‘वह विशेष रूप से स्पिनरों के साथ काम कर रहे हैं और रणनीति तय कर रहे हैं। मुंबई (इंडियन्स) के (इंडियन प्रीमियर लीग से) बाहर होने के बाद बांड टीम से जुड़ गये हैं। ’’


बांड मुंबई इंडियन्स के गेंदबाजी कोच भी हैं।


स्टीड को विश्वास है कि उनकी टीम के मुख्य बल्लेबाज केन विलियमसन पाकिस्तान के खिलाफ 26 अक्टूबर को होने वाले टीम के पहले मैच से पूर्व फिट हो जाएंगे। पिछले सप्ताह आईपीएल मैच के दौरान विलियमसन की मांसपेशियों में खिंचाव आ गया था।


विलियमसन सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से आखिरी लीग मैच नहीं खेल पाये थे लेकिन स्टीड ने कहा कि उनकी चोट चिंताजनक नहीं है।


उन्होंने कहा, ‘‘केन फिट है। उनकी मांसपेशियों में हल्का खिंचाव है, लेकिन अब वह अच्छा महसूस कर रहा है। उनकी टीम (सनराइजर्स हैदराबाद) भी प्रतियोगिता से बाहर हो चुकी थी और मैं पक्के तौर पर नहीं कह सकता कि उनके नहीं खेलने का एक कारण यह भी रहा होगा।’’


विलियमसन आईपीएल के बाद न्यूजीलैंड की टीम से जुड़ गये हैं। आईपीएल से जो अन्य खिलाड़ी टीम से जुड़े हैं उनमें जेम्स नीशम और एडम मिल्ने भी शामिल हैं।




...

धोनी को मैच का सफल अंत करते हुए देखना भावुक पल : फ्लेमिंग

दुबई : चेन्नई सुपर किंग्स के मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की जमकर प्रशंसा करते हुए कहा कि इस महान विकेटकीपर बल्लेबाज को मैच का सफल अंत करते हुए देखना भावुक कर देने वाला क्षण था।


धोनी ने रविवार को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ पहले क्वालीफायर के अंतिम क्षणों में मैच का सफल अंत करने की अपनी काबिलियत का फिर से बेजोड़ नमूना पेश करके चेन्नई को चार विकेट से जीत दिलाकर नौवीं बार इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के फाइनल में पहुंचाया।


चेन्नई को आखिरी ओवर में 13 रन की जरूरत थी और धोनी ने टॉम कुरेन पर तीन चौके जड़कर अपनी टीम को जीत दिलायी। इससे पहले उन्होंने अवेश खान पर मिडविकेट क्षेत्र में छक्का लगाया था।


फ्लेमिंग ने मैच के बार वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘यह शानदार पारी थी। यह हमारे लिये भावनात्मक रूप से बहुत अच्छा था। जब भी वह (धोनी) क्रीज पर उतरते हैं तो हम उनके लिये प्रार्थना करते हैं क्योंकि हम जानते हैं कि उन पर दबाव है, उनसे उम्मीदें की गयी हैं और फिर से उन्होंने हमारे लिये मैच विजेता की भूमिका निभायी। इसलिए यह ड्रेसिंग रूम में भावुक करने वाला पल था। ’’


फ्लेमिंग से पूछा गया कि उनकी धोनी से क्या बात होती है, उन्होंने कहा, ‘‘ढेर सारी बातें होती है। हमने इन 20 ओवरों में सबसे अधिक बातें की हैं। तकनीकी को लेकर चर्चा होती है, रणनीति को लेकर बात होती है कि कैसे उस पर अमल करना है और कौन अधिक प्रभाव डाल सकता है।’’


धोनी की पारी से पहले रुतुराज गायकवाड़ ने 70 और रोबिन उथप्पा ने 63 रन की पारियां खेलकर चेन्नई की जीत की नींव रखी।


फ्लेमिंग ने उथप्पा की पारी के बारे में कहा, ‘‘हमें अपने प्रत्येक खिलाड़ी के प्रदर्शन पर गर्व है। इसलिए यह विशेष पारी थी। पहली गेंद से ही उसने अपने इरादे जतला दिये थे।’’






...

टॉम मूडी भारतीय टीम का कोच बनने के इच्छुक

सिडनी : आस्ट्रेलिया के पूर्व आलराउंडर टॉम मूडी चौथी बार भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच पद के लिये आवेदन कर सकते हैं।


फॉक्सस्पोर्ट्स.कॉम.एयू की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘ऐसा समझा जाता है पूर्व विश्व कप विजेता और अब नामी कोच की निगाह भारतीय टीम के कोच पद पर टिकी हैं जो कि टी20 विश्व कप के बाद रवि शास्त्री का कार्यकाल समाप्त होने पर खाली हो रहा है।’’


अभी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में सनराइजर्स हैदराबाद के साथ क्रिकेट निदेशक के रूप में काम कर रहे 56 वर्षीय मूडी पूर्व में भारतीय टीम का कोच बनने में दिलचस्पी दिखा चुके हैं। उन्होंने इससे पहले 2017 और 2019 सहित तीन बार भारतीय कोच पद के लिये आवेदन किया था लेकिन कभी उनके नाम पर विचार नहीं किया गया।


शास्त्री का भारतीय मुख्य कोच के रूप में कार्यकाल टी20 विश्व कप तक ही है तथा यह 59 वर्षीय पूर्व क्रिकेटर पहले ही स्पष्ट कर चुका है कि वह सेवा विस्तार के लिये नहीं कहेंगे। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) अब नये कोच की तलाश में है।


मूडी 2013 से 2019 तक सनराइजर्स के मुख्य कोच रहे और इस बीच फ्रेंचाइजी ने 2016 में अपना एकमात्र खिताब भी जीता। तब मूडी के हमवतन डेविड वार्नर उसके कप्तान थे।


उनकी जगह इंग्लैंड के विश्व कप विजेता कोच ट्रेवर बेलिस को सनराइजर्स का कोच बनाया गया था लेकिन फ्रेंचाइजी ने उन्हें क्रिकेट निदेशक नियुक्त किया था। वह श्रीलंकाई टीम को भी कोचिंग दे चुके हैं।


रिपोर्ट के अनुसार मूडी की भारतीय टीम का कोच बनने की आकांक्षा ने वार्नर को इस सत्र के शुरू में कप्तानी से हटाने और फिर उन्हें आखिर के कुछ मैचों से अंतिम एकादश से बाहर करने में अहम भूमिका निभायी।


इसमें कहा गया है, ‘‘ऐसा समझा जाता है कि सनराइजर्स के मालिकों का बीसीसीआई में काफी प्रभाव है और वे वार्नर को पिछले कुछ मैचों से बाहर रखने और युवाओं को मौका देने के फैसले की व्याख्या कर सकते हैं।’’


रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘वार्नर से भी कई अन्य आईपीएल फ्रेंचाइजी ने संपर्क किया है जो इस धाकड़ बल्लेबाज को अंतिम एकादश से बाहर करने के फैसले से हैरान हैं।’’




...

खराब दौर से गुजर रही मुंबई इंडियंस को हराकर वापसी करना चाहेगी दिल्ली कैपिटल्स

शारजाह :  पिछले मैच में मिली हार के बाद दिल्ली कैपिटल्स की नजरें आईपीएल में शनिवार को होने वाले मैच के जरिये जीत की राह पर लौटने पर लगी होंगी जबकि खराब फॉर्म से जूझ रही गत चैम्पियन मुंबई इंडियंस एक जीत के बाद लय बनाये रखने की फिराक में होगी। आठ जीत के बाद प्लेआफ में जगह लगभग पक्की कर चुकी दिल्ली को कोलकाता नाइट राइडर्स ने कम स्कोर वाले मैच में तीन विकेट से हराया था। दिल्ली अब 11 मैचों में 16 अंक लेकर दूसरे स्थान पर है और पिछली उपविजेता टीम की कोशिश शीर्ष दो में रहने की होगी ताकि फाइनल में पहुंचने के दो मौके मिल सके। आईपीएल के यूएई चरण में पिछले मैच में दिल्ली को पहली पराजय झेलनी पड़ी। केकेआर के गेंदबाजों ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी के कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए धीमी विकेट का पूरा फायदा उठाया। सितारों से सजी दिल्ली के बल्लेबाजों में से कोई भी 20 ओवरों में एक भी छक्का नहीं लगा सका।


सुनील नारायण की फिरकी के सामने दिल्ली नौ विकेट पर 127 रन ही बना सकी। चोटिल पृथ्वी साव की जगह खेल रहे स्टीव स्मिथ ने 34 गेंद में 39 रन बनाये जबकि ऋषभ पंत ने 36 गेंद में 39 रन जोड़े। निचले मध्यक्रम के बल्ले से सिर्फ 13 रन निकले। अनुकूल पिच पर दिल्ली की स्पिन तिकड़ी रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल और ललित यादव छाप छोडने की कोशिश करेंगे। दूसरी ओर मुंबई ने आईपीएल के यूएई चरण में लगातार तीन हार के बाद पिछले मैच में पहली जीत दर्ज की। रिकॉर्ड पांच बार की चैम्पियन मुंबई के बल्लेबाजों ने निराश किया। सूर्यकुमार यादव चार मैचों में 0, 8, 5 और 3 रन ही बना सके। सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और क्विंटोन डिकॉक अच्छी शुरूआत को बड़ी पारियों में नहीं बदल पाये जिससे मध्यक्रम पर दबाव बना। मुंबई के लिये अच्छी बात यह रही कि पंजाब किंग्स के खिलाफ छह विकेट से मिली जीत में सौरभ तिवारी (45 ) और हार्दिक पंड्या (40) फॉर्म में नजर आये। कीरोन पोलार्ड ने सात गेंद में नाबाद 15 रन बनाकर फिनिशर की भूमिका निभाई। तिवारी अपनी शानदार पारी के दम पर टीम में बने रह सकते हैं और देखना यह है कि खराब फॉर्म में चल रहे ईशान किशन को एक और मौका मिलता है या नहीं। गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह ने लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन स्पिनर फ्लॉप रहे हैं। राहुल चाहर और कृणाल पंड्या पर अच्छे प्रदर्शन का दबाव होगा।


टीमें :


मुंबई इंडियन्स: रोहित शर्मा (कप्तान) क्विंटन डिकॉक, ईशान किशन, सूर्यकुमार यादव, आदित्य तारे, अनमोलप्रीत सिंह, क्रिस लिन, सौरभ तिवारी, अनुकुल रॉय, अर्जुन तेंदुलकर, हार्दिक पंड्या, क्रुणाल पंड्या, जेम्स नीशाम, जयंत यादव, कीरोन पोलार्ड, मार्को जानसेन, युद्धवीर सिंह, एडम मिल्ने, धवल कुलकर्णी, जसप्रीत बुमराह, मोहसिन खान, नाथन कूल्टर-नाइल, पीयूष चावला, राहुल चाहर, ट्रेंट बोल्ट।


दिल्ली कैपिटल्स: ऋषभ पंत (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, पृथ्वी सॉव, रिपल पटेल, शिखर धवन, शिमरोन हेटमयार, श्रेयस अय्यर, स्टीव स्मिथ, अमित मिश्रा, एनरिक नॉर्जे, आवेश खान, बेन द्वारशुइस, इशांत शर्मा, कैगिसो रबाडा, कुलवंत खेजरोलिया, लुकमान मेरीवाला, प्रवीण दुबे, टॉम कुरेन, उमेश यादव, अक्षर पटेल, ललित यादव, मार्कस स्टोइनिस, रविचंद्रन अश्विन, सैम बिलिंग्स और विष्णु विनोद।


मैच का समय : दोपहर 3.30 से। 




...

आईपीएल 2021 : मैक्सवेल की विस्फोटक पारी के दम पर आरसीबी ने राजस्थान को 7 विकेट से हराया

दुबई :  ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल (नाबाद 50) की शानदार पारी के दम पर रॉयल चेलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) ने यहां दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए आईपीएल 2021 के 43वें मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स को सात विकेट से हराया।


आरसीबी के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। राजस्थान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में नौ विकेट पर 149 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी आरसीबी की टीम ने मैक्सवेल के 30 गेंदों पर छह चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 50 रन की पारी के दम पर 17.1 ओवर में तीन विकेट पर 153 रन बनाकर मैच जीता।


राजस्थान की ओर से मुस्ताफिजुर रहमान ने दो विकेट लिए। इस जीत के साथ ही आरसीबी 11 मैचों में सात मुकाबले जीत 14 अंक हासिल कर अंक तालिका में तीसरे स्थान पर है।


कोहली ने लक्ष्य का पीछा करते हुए देवदत्त पडीकल के साथ मिलकर टीम को बेहतर शुरुआत दिलाई और दोनों बल्लेबाजों ने पहले विकेट के लिए 48 रन जोड़े। लेकिन मुस्ताफिजुर ने पडीकल को बोल्ड कर राजस्थान को पहली सफलता दिलाई। पडीकल ने 17 गेंदों पर चार चौकों की मदद से 22 रन बनाए।


पडीकल के आउट होने के कुछ समय बाद ही कोहली तेजी से रन चुराने के चक्कर में रन आउट हो गए। कोहली ने 20 गेंदों पर चार चौकों की मदद से 25 रन बनाए। फिर मैक्सवेल और श्रीकर भरत ने आरसीबी की पारी को आगे बढ़ाया और दोनों बल्लेबाजों ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए तीसरे विकेट के लिए 69 रन जोड़े।


हालांकि, भरत अर्धशतक पूरा नहीं कर सके और बाउंड्री के चक्कर में कैच थमा बैठे। भरत ने 35 गेंदों पर तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 44 रन बनाए।


इसके बाद मैक्सवेल ने विस्फोटक पारी खेल टीम को जीत दिलाई। आरसीबी की पारी में एबी डीविलियर्स एक गेंद पर एक चौके की मदद से चार रन बनाकर नाबाद रहे।


इससे पहले, सलामी बल्लेबाज एविन लुइस और यशस्वी जायसवाल ने राजस्थान को शानदार शुरुआत दिलाई और दोनों ने पहले विकेट के लिए 77 रनों की साझेदारी की। हालांकि, डेनियल क्रिस्टियन ने जायसवाल को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा। जायसवाल ने 22 गेंदों में तीन चौकों और दो छक्को की मदद से 31 रन बनाए।


इसके बाद बल्लेबाजी करने आए कप्तान संजू सैमसन ने लुइस का साथ दिया और दोनों के बीच 23 रनों की साझेदारी हुई। लेकिन आरसीबी के लिए डेब्यू कर रहे जॉर्ज गार्टन ने लुइस को आउट कर इस बढ़ते साझेदारी का अंत किया। लुइस ने 37 गेंदों में पांच चौकों और तीन छक्कों के सहारे 58 रन बनाए।


इसके बाद राजस्थान के विकेट लगातार गिरते रहे और महिपाल लोमरोर (3), सैमसन (19), राहुल तेवतिया (2) और रियान पराग (9) रन बनाकर आउट हुए।


इसके बाद क्रिस मॉरिस ने राजस्थान की पारी को संभालने की कोशिश की पर वह भी 11 गेंदों में दो चौकों की मदद से 14 रन बनाकर आउट हो गए। मॉरिस के आउट होने के तुरंत बाद चेतन साकरिया भी दो रन बनाकर आउट हुए, जबकि कार्तिक त्यागी एक रन बनाकर नाबाद रहे।


आरसीबी की ओर से हर्षल पटेल ने तीन तथा युजवेंद्र चहल और शहबाज अहमद ने दो-दो विकेट लिए, जबकि गार्टन और क्रिस्टियन को एक-एक विकेट मिला।






...

राजस्थान रॉयल्स ने टॉस जीत कर बल्लेबाजी का फैसला किया

दुबई :  राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन ने इंडियन प्रीमियर लीग मैच में सोमवार को यहां सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया।


राजस्थान ने अंतिम एकदश में तीन जबकि हैदराबाद ने चार बदलाव किये है।


राजस्थान की टीम में एविन लुईस और क्रिस मॉरिस की वापसी हुई है जबकि जयदेव उनादकट को भी मौका दिया गया है।


हैदराबाद ने जेसन रॉय, प्रियम गर्ग, अभिषेक शर्मा और सिद्धार्थ कौल को टीम में शामिल किया है। 




...

मैं इस सीजन को मैच दर मैच खेलना चाहता हूं: नात्र्जे

दुबई : दिल्ली कैपिटल्स के तेज गेंदबाज एनरिक नात्र्जे ने शुक्रवार को कहा कि वह 19 सितंबर से यूएई में शुरू हो रहे आईपीएल 2021 के दूसरे हाफ में मैच दर मैच खेलना चाहेंगे। नात्र्जे ने आईपीएल 2020 में दिल्ली के लिए 16 मैचों में 22 विकेट लिए और टीम को टूनार्मेंट के फाइनल में पहुंचने में मदद की।


नात्र्जे ने फ्रैंचाइजी द्वारा जारी एक रीलीज में कहा, यह वह जगह थी जहां आईपीएल में मेरे लिए चीजें होने लगी थी। लेकिन मैं इसे इस सीजन को मैच दर मैच खेलना चाहता हूं। आईपीएल के बाद भी बहुत कुछ आ रहा है। हमें कोशिश करनी होगी और याद रखना होगा कि हमने यहां क्या किया। उम्मीद है कि हम यूएई में जो पिछली बार हमने किया उसे दोहरा सकें।


27 वर्षीय नात्र्जे का मानना है कि आईपीएल 2021 का दूसरा चरण भारत में होने वाले टूर्नामेंट के पहले भाग से बिल्कुल अलग होगा।


नात्र्जे ने कहा, एक जगह पर जो काम किया वह दूसरी जगह काम नहीं करेगा इसलिए हमें इसे खेल के हिसाब से लेना होगा। यूएई में आने वाले खेल उन खेलों से पूरी तरह से अलग होने जा रहे हैं जो हमने पहले सीजन में किए थे। टूनार्मेंट के दूसरे चरण में अलग रणनीति। हमें अभी से तैयार रहना होगा।


नॉर्टजे को लगता है कि यूएई में टी20 विश्व कप से पहले आईपीएल 2021 का दूसरा भाग खेलना निश्चित रूप से मेगा इवेंट में भाग लेने वाले सभी टी20 खिलाड़ियों के लिए एक बड़ा फायदा है। नात्र्जे ने कहा, टी 20 विश्व कप से पहले आईपीएल खेलना निश्चित रूप से एक बड़ा फायदा है। हमारे पास परिस्थितियों के अनुकूल होने और यूएई में यहां विकेटों का पहला अनुभव प्राप्त करने का मौका है। मुझे लगता है कि प्रत्येक टीम जितना संभव हो सके हर चीज का आकलन करना चाहती है, लेकिन सबसे पहले हमें आईपीएल के लिए परिस्थितियों का आकलन करना होगा क्योंकि यह निश्चित रूप से अपने आप में एक बड़ा टूर्नामेंट है।


टेबल टॉपर्स दिल्ली कैपिटल्स आईपीएल 2021 के अपने दूसरे चरण की शुरूआत 22 सितंबर को दुबई में सबसे निचले स्थान पर काबिज सनराइजर्स हैदराबाद से करेगी।







...

चौथे टेस्ट में रोहित शर्मा की दहाड़, विदेशी जमीन पर ठोका पहला शतक, तोड़ा राहुल द्रविड़ का ये रिकॉर्ड

लंदन : भारत के सीनियर क्रिकेटर रोहित शर्मा ने स्वीकार किया कि जब 2019 में उन्हें सलामी बल्लेबाज के तौर पर खेलने को कहा गया था तो यह उनके लिये अंतिम मौका था और उनका कहना है कि वह इस मौके का फायदा उठाकर खुश हैं।


रोहित ने शनिवार को इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट के तीसरे दिन 127 रन की पारी खेलकर विदेशों में अपना पहला शतक जमाया। उन्होंने कहा कि बतौर क्रिकेटर उन्होंने जो फैसले किये हैं, उसमें पारी का आगाज करने की भूमिका स्वीकार करना सबसे बड़ा था। रोहित ने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद कहा, ‘‘आप ऐसा कह सकते हैं। ’’


अपने आठवें टेस्ट शतक और सलामी बल्लेबाज के तौर पर पांचवें सैकड़े के बाद उन्होंने कहा, ‘‘मैं जानता था कि बल्लेबाजी क्रम में एक और स्थान की कोशिश में यह मेरा अंतिम मौका था। ’’


रोहित ने कहा कि जब बल्लेबाजी का आगाज करने की पेशकश हुई तो वह इस चुनौती के लिये मानसिक रूप से तैयार थे और देखना चाहते थे कि वह बल्लेबाजी के ऊपरी क्रम में कैसा कर सकते थे।


वह जानते थे कि ज्यादा मौके नहीं मिलेंगे क्योंकि मध्यक्रम बल्लेबाज के तौर पर वह इतना अच्छा नहीं कर सके थे।


रोहित ने कहा, ‘‘मैंने पहले मध्यक्रम में बल्लेबाजी की थी और चीजें उस तरह नहीं हुई थी जैसा मैं चाहता था। मैं जानता था कि यह मेरे लिये अंतिम मौका था और मैं क्या करने की कोशिश कर रहा था, प्रबंधन भी ऐसा ही चाहता था। ’’


खेल चुनौतियों का सामना करने के बारे में ही है। उन्होंने कहा, ‘‘जब आप एक खेल खेलते हो तो आप हमेशा इन मौकों और जोखिमों को देखते हो इसलिये मैं इसके लिये तैयार था और यह मेरे लिये हैरानी भरा नहीं था। ’’ रोहित ने कहा, ‘‘अगर मैं सफल नहीं होता तो यह मेरा अंतिम मौका होता। कुछ भी हो सकता था। ’





...

लीड्स टेस्ट : इंग्लैंड ने लार्ड्स टेस्ट में भारत को पारी और 76 रन से हराया

लीड्स (लंदन) : भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर हो गई। लीड्स टेस्ट में टीम इंडिया को इंग्लैंड ने पारी और 76 रनों से हरा दिया। खेल के चौथे दिन टीम इंडिया दूसरी पारी में 278 रनों पर आल आउट हो गई। इस मैच में भारतीय टीम ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था और पहली पारी में 78 रन पर ही सिमट गई थी। इंग्लैंड ने इसके जवाब में पहली पारी में 432 रन बनाए थे और 354 रन की बड़ी बढ़त ली थी। इसके जवाब में टीम इंडिया ने खेल के तीसरे दिन 2 विकेट खोकर 215 रन बनाए थे।


मैच के चौथे दिन विराट और पुजारा के आउट होते ही भारतीय बल्लेबाजों ने घुटने टेक दिए और टीम को बड़ी हार का सामना करना पड़ा। दूसरी पारी में ओली राबिन्सन ने गजब की गेंदबाजी की और 5 विकेट चटकाए। इंग्लैंड की धरती पर विराट कोहली को छठे टेस्ट मैच में हार मिली और वो यहां पर सबसे ज्यादा टेस्ट मैच हारने वाले भारतीय कप्तान के तौर पर दूसरे नंबर पर आ गए। यहां पर सबसे ज्यादा टेस्ट मैच (7) धौनी ने गंवाए थे। 


भारतीय टीम को दूसरी पारी में पहला झटका इंग्लैंड के तेज गेंदबाज क्रेग ओवर्टन ने दिया और उन्होंने केएल राहुल को 8 रन पर आउट किया। हिटमैन रोहित शर्मा ने दूसरी पारी में शानदार संघर्ष किया और 156 गेंदों पर 59 रन की पारी खेली, लेकिन उन्हें राबिन्सन ने पगबाधा आउट कर दिया। पुजारा ने शानदार पारी खेली, लेकिन 91 रन के स्कोर पर उन्हें राबिन्सन ने पगबाधा आउट कर दिया। कप्तान कोहली ने 55 रन की अच्छी पारी खेली, लेकिन राबिन्सन की गेंद पर रूट के हाथों लपके गए। रहाणे को सिर्फ 10 रन के स्कोर पर एंडरसन ने बटलर के हाथों कैच करवा दिया। 


भारत का छठा विकेट रिषभ पंत के तौर पर गिरा और वो एक रन बनाकर राबिन्सन की गेंद पर कैच आउट हुए। मो. शमी 6 रन बनाकर मोइन अली की गेंद पर आउट हुए। इसके बाद इशांत शर्मा दो रन बनाकर राबिन्सन के शिकार हुए। रवींद्र जडेजा ओवरटन की गेंद पर 30 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद उन्होंने सिराज को डक पर पवेलियन भेज दिया। जसप्रीत बुमराह 1 रन बनाकर नाबाद रहे। इंग्लैंड की ओर से राबिन्सन ने पांच विकेट झटके। 


रोरी बर्न्स व हसीब ने अपनी टीम को पहली पारी में बेहद ठोस शुरुआत दिलाई और दोनों के बीच पहले विकेट के लिए 135 रन की साझेदारी हुई। इस साझेदारी को मो. शमी ने रोरी को 61 रन पर आउट करके तोड़ा। रवींद्र जडेजा ने 68 रन पर हसीब हमीद को आउट कर टीम इंडिया को दूसरी सफलता दिलाई। डेविड मलान ने 70 रन की शानदार पारी खेली और मो. सिराज ने उन्हें पंत के हाथों कैच करवा दिया। जानी बेयरस्टो को मो. शमी ने 29 रन पर कोहली के हाथों जबकि जोस बटलर को 7 रन पर इशांत शर्मा के हाथों कैच आउट करवाया।


कप्तान जो रूट को बुमराह ने 121 रन पर आउट किया जबकि मोइन अली 8 रन बनाकर रवींद्र जडेजा का शिकार बने। सैम कुर्रन को 15 रन के स्कोर पर सिराज ने आउट किया। ओवर्टन को शमी ने 32 रन पर जबकि राबिन्सन बिना खाता खोले ही बुमराह का शिकार बने। भारत की तरफ से शमी ने चार जबकि, बुमराह, सिराज व जडेजा ने दो-दो विकेट लिए।


हेडिंग्ले टेस्ट की पहली पारी में जिस तरह से भारतीय बल्लेबाजी बिखर गई इसका अंदाजा शायद ही किसी को था। टीम को कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी खेलने में कामयाब नहीं हो पाया और रोहित शर्मा ने 19 जबकि अजिंक्य रहाणे ने 18 रन की सबसे बड़ी पारी खेली। इनके अलावा टीम इंडिया के अन्य बल्लेबाज दहाई आंकड़े तक भी नहीं पहुंच पाए। केएल राहुल शून्य, पुजारा एक रन, कप्तान कोहली 7 रन, रिषभ पंत 2 रन, जडेजा 4 रन, शमी शून्य, इशांत शर्मा 8 रन (नाबाद), बुमराह 0 रन तो वहीं मो. सिराज ने 3 रन की पारी खेली। इंग्लैंड के गेंदबाजों ने बेहद अनुशासित गेंदबाजी की और जेम्स एंडरसन व क्रेग ओवर्टन ने तीन-तीन जबकि राबिन्सन व सैम कुर्रन ने दो-दो सफलता अर्जित की। भारत के सारे विकेट तेज गेंदबाजों ने लिए।





...

भारत डब्ल्यूटीसी तालिका में 14 अंक लेकर शीर्ष पर

दुबई : भारतीय क्रिकेट टीम इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला के दूसरे मैच में 151 रन की बड़ी जीत के बाद विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) की नवीनतम तालिका में 14 अंक लेकर शीर्ष पर है।


बारिश से प्रभावित पहला टेस्ट मैच ड्रा छूटने पर भारत को चार अंक मिले जबकि लार्ड्स में जीत से उसने 12 अंक हासिल किये। भारत के हालांकि 16 के बजाय 14 अंक हैं क्योंकि धीमी ओवर गति के लिये उसके दो अंक काट दिये गये थे।


डब्ल्यूटीसी नियमों के अनुसार निर्धारित समय में एक ओवर कम करने पर टीमों को एक अंक गंवाना पड़ेगा। प्रत्येक मैच में जीत पर 12 अंक, टाई पर छह अंक और ड्रा होने पर चार अंक मिलते हैं।


भारत के बाद पाकिस्तान (12 अंक) का नंबर आता है जिसने दूसरे टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज को 109 रन से हराकर श्रृंखला बराबर की। वेस्टइंडीज ने पहला टेस्ट मैच जीता था और उसके भी 12 अंक हैं। वह तालिका में तीसरे स्थान पर है।


इंग्लैंड के दो अंक हैं और वह चौथे स्थान पर है। इंग्लैंड को भी नॉटिघम टेस्ट में जीत के लिये चार अंक मिले थे लेकिन उसने भी धीमी ओवर गति के कारण दो अंक गंवा दिये थे।


डब्ल्यूटीसी का यह चक्र 2023 तक चलेगा। न्यूजीलैंड ने जून में फाइनल में भारत को हराकर पहली विश्व टेस्ट चैंपियनशिप जीती थी।




...

पाकिस्तान ने वेस्टइंडीज को 329 रन का लक्ष्य दिया

किंगस्टन : वेस्टइंडीज ने 329 रन के मुश्किल लक्ष्य का पीछा करते हुए पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच के चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक एक विकेट पर 49 रन बनाये। बारिश से प्रभावित मैच के चौथे दिन पाकिस्तान का दबदबा रहा। उसने पहले वेस्टइंडीज को पहली पारी में 150 रन पर आउट किया और फिर अपनी दूसरी पारी में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करके 6.43 रन प्रति ओवर की दर से रन जुटाये। अपनी पहली पारी नौ विकेट पर 302 रन पर समाप्त करने वाले पाकिस्तान ने दूसरी पारी छह विकेट पर 176 रन पर समाप्त घोषित करके वेस्टइंडीज के सामने चुनौतीपूर्ण लक्ष्य रखा। वेस्टइंडीज ने सजग शुरुआत की लेकिन कीरेन पावेल (23) के रन आउट होने से उसे झटका लगा। स्टंप उखड़ने के समय कप्तान क्रेग ब्रेथवेट 17 और नाइटवाचमैन अलजारी जोसेफ आठ रन पर खेल रहे थे। वेस्टइंडीज अभी लक्ष्य से 280 रन दूर है जबकि पाकिस्तान श्रृंखला 1-1 से बराबर करने के लिये आखिरी दिन बाकी बचे नौ विकेट निकालने की कोशिश करेगा।


वेस्टइंडीज ने सुबह अपनी पहली पारी तीन विकेट पर 39 रन से आगे बढ़ायी लेकिन तेज गेंदबाज शाहीन शाह अफरीदी की घातक गेंदबाजी के सामने उसका कोई भी बल्लेबाज टिककर नहीं खेल पाया। अफरीदी ने 51 रन देकर छह और मोहम्मद अब्बास ने 44 रन देकर तीन विकेट लिये। वेस्टइंडीज की तरफ से नक्रुमाह बोनर ने सर्वाधिक 37 और जेरमाइन ब्लैकवुड ने 33 रन बनाये। पाकिस्तान ने अपनी दूसरी पारी में तेजी से रन बनाने को प्राथमिकता दी और इस प्रयास में उसने विकेट भी गंवाये। उसने केवल 27.2 ओवर बल्लेबाजी करने के बाद अपनी पारी समाप्त घोषित की। इमरान बट (44 गेंदों पर 37), आबिद अली (23 गेंदों पर 29) और कप्तान बाबर आजम (41 गेंदों पर 33) ने उपयोगी योगदान दिया। वेस्टइंडीज की तरफ से जैसन होल्डर और अलजारी जोसेफ ने दो – दो विकेट लिये। वेस्टइंडीज ने पहला टेस्ट मैच एक विकेट से जीता था। 








...

बायो बबल से खिलाड़ियों पर पड़ रहा है मानसिक दबाव, टी20 विश्व कप से पहले ब्रेक जरूरी : रिजवान

कराची : पाकिस्तान के टेस्ट उपकप्तान मोहम्मद रिजवान ने कहा कि बायो बबल में रहने से खिलाड़ियों पर मानसिक दबाव बढ रहा है और आगामी टी20 विश्व कप से पहले उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से ब्रेक की जरूरत है।


रिजवान ने गुरूवार को वर्चुअल सत्र में कहा, ‘‘हर समय बायो बबल में रहना आसान नहीं है।हम पिछले एक साल से अधिक समय से काफी क्रिकेट खेल रहे हैं। हमारे लिये यह अच्छा है लेकिन इससे खिलाड़ियों पर मानसिक दबाव बढ रहा है।’’


उन्होंने कहा कि सीनियर खिलाड़ियों को 17 अक्टूबर से 14 नवंबर तक होने वाले विश्व कप से पहले तरोताजा होने की जरूरत है।


पाकिस्तानी टीम के करीबी सूत्रों ने बताया कि मुख्य कोच मिसबाह उल हक और मुख्य चयनकर्ता मोहम्मद वसीम ने कप्तान बाबर आजम, रिजवान, तेज गेंदबाज शाहीन शाह अफरीदी और हसन अली को श्रीलंका में अफगानिस्तान के खिलाफ वनडे श्रृंखला में आराम देने पर बात की है।


पाकिस्तान और अफगानिस्तान बोर्ड इस सप्ताह तीन मैचों की श्रृंखला की तारीखों की घोषणा करने वाले हैं।ऐसे संकेत हैं कि अफगानिस्तान में तालिबान ने श्रृंखला को मंजूरी दे दी है।





...

कोहली के लिये टेस्ट क्रिकेट सबकुछ, इस प्रारूप के लिये उनका जुनून अच्छा : पीटरसन

लंदन : इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन का मानना है कि मैदान पर विराट कोहली का जोश और उत्साह देखकर लगता है कि टेस्ट क्रिकेट उनके लिये सबकुछ है और उनका यह जुनून इस प्रारूप के लिये अच्छा है जिसे इस समय सबसे ज्यादा प्यार की जरूरत है।


पीटरसन ने कहा कि कोहली अपनी मेहनत से सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ के नक्शेकदम पर चल पड़े हैं जो महान टेस्ट क्रिकेटर रहे हैं। उन्होंने ‘बेटवे’ के लिये अपने ब्लॉग में लिखा, ‘‘विराट कोहली को जितना मैं जानता हूं, मुझे पता है कि अपने नायकों का अनुसरण करने के लिये उसने कितनी मेहनत की है। उसके नायक सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ और टेस्ट क्रिकेट के बाकी लीजैंड हैं।’’


उन्होंने कहा, ‘‘कोहली को पता है कि खेल का लीजैंड बनने के लिये उसे टी20 के साथ टेस्ट क्रिकेट में भी अच्छा प्रदर्शन करना होगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यही वजह है कि वह इस प्रारूप को इतनी अहमियत देता है। वह भी ऐसे समय में जब टेस्ट क्रिकेट को इसकी सख्त जरूरत है। एक वैश्विक सुपरस्टार क्रिकेटर का टेस्ट क्रिकेट के लिये यह जुनून देखकर अच्छा लगता है।’’


कोहली की कप्तानी में भारत नंबर एक टेस्ट टीम बना और विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में भी पहुंचा जिसमें उसे न्यूजीलैंड ने हराया। भारत ने इस सप्ताह लाडर्स पर इंग्लैंड को दूसरे टेस्ट में 151 रन से हराया।


पीटरसन ने कहा, ‘‘वह चाहता है कि उसकी टीम हर हालात में अच्छा प्रदर्शन करे। पहले आस्ट्रेलिया में और अब इंग्लैंड में टीम को जीतते देखकर उसे अपार संतोष हुआ होगा। उसका जोश, उसका जुनून और टीम के प्रति समर्पण दिखाई देता है। टेस्ट क्रिकेट अभी भी उसके लिये सब कुछ है और इस तरह के पल उसके कैरियर को परिभाषित करेंगे।’’ उन्होंने तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज की तारीफ की जिन्होंने दूसरे टेस्ट में चार विकेट लिये। उन्होंने कहा, ‘‘मोहम्मद सिराज ने पांचवें दिन जिस तरह की गेंदबाजी की, वह काबिले तारीफ है।’’





...

भारत के खिलाफ श्रृंखला नहीं खेलेंगी मेगान शट और जेस जोनासेन

मेलबर्न : आस्ट्रेलिया के मेगान शट और जेस जोनासेन भारत के खिलाफ आगामी घरेलू श्रृंखलायें नहीं खेलेंगी। भारतीय टीम 19 सितंबर से शुरू हो रहे आस्ट्रेलिया दौरे पर तीन वनडे, तीन टी20 और एक दिन रात का टेस्ट खेलेगी।


तेज गेंदबाज शट ने चयनकर्ताओं से अनुरोध किया है कि निजी कारणों से उसके नाम पर विचार नहीं किया जाये जबकि स्पिन हरफनमौला जोनासेन चोट के कारण बाहर रहेंगी। बेलिंडा वाकारेवा भी निजी कारणों से यह श्रृंखला नहीं खेलेगी। स्टेला कैंपबेल और जॉर्जिया रेडमेन को पहली बार टीम में जगह दी गई है। राष्ट्रीय चयनकर्ता शॉन फ्लेगलेर ने कहा, ‘‘हमने बेलिंडा और मेगान के अनुरोध को स्वीकार कर लिया है। उनकी कमी खलेगी लेकिन उनके इस फैसले में हम उनके साथ है।’’


आस्ट्रेलियाई टीम : मेग लानिंग, रशेल हैंस, डार्सी ब्राउन, मेटलान ब्राउन, स्टेला कैंपबेल, निकोला कारे, हन्ना डार्लिंगटन, एशले गार्डनर, एलिसा हीली, ताहलिया मैकग्रा, सोफी मोलिनू, बेथ मूनी, एलिसे पैरी, जॉर्जिया रेडमेन, मोली स्ट्रानो, अन्नाबेल सदरलैंड, तायला व्लेमिंक, जॉर्जिया वेयरहैम।




...

विराट कोहली के आउट होने के तरीके पर भड़के माइकल वॉन, बोले 'अच्छी बैटिंग नहीं'

लंदन : इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने विराट कोहली के आउट होने की तरीके की आलोचना की है। लॉर्ड्स टेस्ट मैच के चौथे दिन कोहली सैम करन की गेंद पर विकेट के पीछे कैच हो गए। वॉन ने कहा है कि यह 'अच्छी बल्लेबाजी' नहीं है। वॉन ने कोहली को सलाह दी है कि उन्हें अपने ऑफ स्टंप को लेकर अधिक सजग रहने को कहा है।


कोहली ने अपनी पारी की अच्छी शुरुआत की लेकिन लंच से थोड़ा पहले सैम करन की गेंद पर विकेटकीपर जोस बटलर के हाथों कैच आउट हो गए। उस समय भारत का स्कोर 3 विकेट पर 55 रन था।


माइकल वॉन ने बीबीसी के पॉडकास्ट में बातचीत में कहा कि पिछले दौरे पर कोहली को अंदाजा था कि उनका ऑफ स्टंप कहां है। इंग्लैंड के उस दौरे पर भारतीय कप्तान को काफी कामयाबी मिली थी। हालांकि इस बार कोहली का वह टच कहीं खो गया है।


वॉन ने कहा, 'बहुत अच्छी गेंदबाजी, खराब बल्लेबाजी। विराट कोहली इससे बेहतर खिलाड़ी हैं। जब पिछले दौरे पर उन्हें इंग्लैंड में कामयाबी मिली थी तो उन्हें पता था कि उनका ऑफ स्टंप कहां हैं। उनका ट्रिगर मूवमेंट ऑफ स्टंप की ओर होता था और उन्हें इसकी जानकारी होती थी।'


इंग्लैंड के इस पूर्व कप्तान को लगता है कि इस बार कोहली की बल्लेबाजी में यह बात कहीं खो गई है। उन्होंने कहा, 'इस सीरीज में अब तक मुझे लगता है कि क्या उन्हें अपने ऑफ स्टंप का अंदाजा नहीं है क्योंकि वह काफी ज्यादा आगे जा रहे हैं और उनका सिर भी उससे आगे जा रहा है। ऐसा लग रहा है कि जैसे वह चौथे या पांचवें स्टंप के आसपास अपने ऑफ स्टंप को समझ रहे हैं। उन्हें इसे संतुलित करने की जरूरत है।'


वॉन ने कहा, 'कोहली ने एक वाइड गेंद खेली। इंग्लैंड के गेंदबाज कोहली से यही करवाना चाहते हैं। वह पांचवें स्टंप के आसपास गेंदबाजी करेंगे और उम्मीद करेंगे कि भारतीय कप्तान उसे छेड़ें। और कोहली ने ऐसा ही किया।'









...